Saturday, January 23, 2021

घने कोहरे के साथ सुबह की शुरुआत, दिन में धूप दे सकती है राहत

 


मेरठ ।   वेस्‍ट यूपी में मौसम का मिजाज कुछ बदलता हुआ दिख रहा है। दो दिनों से धूप के बाद शुक्रवार को दिन में काफी ठंड रही और कोहरा भी बना रहा। हालांकि कुछ देर के निकली धूप ने सुकून पहुंचाया। शनिवार को भी सुबह की शुरुआत घने कोहरे के साथ हुई। दिन में धूप निकलने के संकेत हैं। शनिवार को न्‍यूनतम पारा 8 डिग्री और अधिकतम पारा 20 डिग्री तक रहने की संभावना है। घने कोहरे का असर आम जनजीवन पर पड़ा। आज सूरज के दर्शन दुर्भल ही लग रहे हैं। पारे में भी गिरावट आई है। वहीं सुबह और शाम के समय अभी शीत लहर का प्रकोप जारी रहेगा। वेस्‍ट यूपी में पारा कुछ गिरने से राहत मिली है। शुक्रवार को न्‍यूनतम पारा 8 डिग्री और अधिकतम पारा 22 डिग्री तक रहने की संभावना है।

शिमला, कुल्लू से कम मेरठ का तापमान

मेरठ का अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 15.6 डिग्री रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम सात डिग्री रहा। कुल्लू, मसूरी और वैष्णोदेवी दरबार की तुलना में मेरठ में ठंड अधिक रही। दिल्ली और मुजफ्फरनगर में रात का पारा कम रहा, पर दिन में पारा मेरठ से ज्यादा रहा। शीतलहर का प्रकोप पश्चिम उत्तर प्रदेश के साथ मध्य और पूर्वी उत्तर प्रदेश में भी है। लखनऊ में भी अधिकतम तापमान मेरठ के समान रहा। अलीगढ़ में 14.4 डिग्री दर्ज किया गया।

पहाड़ों की ठंड का असर

पर्वतीय इलाकों की ठंड एक बार फिर हवा के साथ पश्चिम उत्तर प्रदेश में उतर आई है। शुक्रवार का दिन गलन और कोहरे की चपेट में रहा। मौसम ने अचानक करवट ली है। सुबह के समय घना कोहरा रहा। दोपहर डेढ़ बजे तक सूर्य देव ने कुछ मिनटों के लिए एक-दो बार दर्शन दिए। इसके बाद बादलों को भेदते हुए किसी तरह धूप धरती पर उतरी। पर गर्माहट न होने के कारण कंपकंपी दूर नहीं हुई। शाम होते ही पारा फिर एकदम से डूबता दिखा। वातावरण में अत्यधिक गलन होने के कारण लोगों का हाल बेहाल हो गया।

शीत लहर से सामना

शुक्रवार को सुबह साढ़े सात बजे से 11.30 बजे तक तापमान केवल 1.2 डिग्री चढ़ पाया। एनसीआर और पश्चिम उत्तर प्रदेश में मौसम बदल गया है। गुरुवार को जहां मौसम साफ था, वहीं शुक्रवार को सुबह के समय घना कोहरा छाया रहा। मौसम विभाग ने सुबह 7:30 बजे 20 मीटर से कम दृश्यता दर्ज की। आद्र्रता का अधिकतम प्रतिशत 100 रहा। कृषि प्रणाली संस्थान के प्रधान मौसम विज्ञानी डा. एन सुभाष ने बताया कि वातावरण में नमी उच्च स्तर और पारा लुढ़कने के कारण अधिक ऊंचाई वाले बादलों का निर्माण हो गया। ठीक से धूप न निकलने के कारण लोगों को हाड़ कंपाने वाली ठंड का सामना करना पड़ा।

यह है पूर्वानुमान

मेरठ समेत पश्चिम, मध्य और पूर्वी उत्तर प्रदेश के अधिकांश जनपदों में जोरदार ठंड का प्रकोप रहने की संभावना है। आरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम विशेषज्ञों ने एनसीआर और पश्चिम उत्तर प्रदेश में कहीं-कहीं बूंदाबांदी और गरज चमक के साथ बौछारें पडऩे की आशंका जताई है । सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय के मौसम केंद्र के प्रभारी डा. यूपी शाही ने बताया कि जम्मू कश्मीर, हिमाचल और उत्तराखंड में बारिश और हिमपात की आशंका है। अगले पांच दिनों तक कोहरा और शीतलहर का प्रकोप रहेगा।

 

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...