इंटरनेट पर अश्लीलता खोजी तो आएगा अलर्ट मेसेज, फिर सर्च करने वालों पर होगी कार्रवाई


लखनऊ. अगर आपने इंटरनेट पर अश्लील साइट देखने के बाद गंदी हरकत की तो अब खैर नहीं. इसके लिए उत्तर प्रदेश पुलिस की 1090 सेवा ने नई योजना बनाई है. इंटरनेट पर अश्लीलता देखने वालों पर अब 1090 की एक टीम नजर रखेगी. ऐसा करना वालों को सचेत किया जाएगा. यह सारी जानकारी पुलिस के पास दर्ज भी हो जाएगी. भविष्य में यदि उस इलके में छेड़खानी या दुष्कर्म जैसी वारदात होती है तो वही डेटा काम आएगा और अपराधी पकड़ लिया जाएगा.

एडीजी नीरा रावत ने बताया कि इंटरनेट के बढ़ते हुए प्रयोग को देखते हुए 1090 ने भी लोगों तक पहुंचने के लिए इसी माध्यम का प्रयोग किया. एडीजी के मुताबिक इंटरनेट के एनालिटिक्स को स्टडी करने के लिए oomuph नाम की एक कंपनी से रखा गया है. वो डेटा के माध्यम इंटरनेट क्या सर्च किया जा रहा है इस पर नजर रखेगी. अगर कोई व्यक्ति इंटरनेट पर अश्लीलता देखते है तो उसके संकेत एनालिटिक्स टीम को मिल जाएंगे.

टीम उसके बारे में 1090 टीम को बता देगी. 1090 की टीम उस व्यक्ति को ऐसी सामग्री से सचेत रहने के लिए जागरूकता के मेसेज भेजेगी. ऐसा करने से अपराध की शुरुआत पर ही रोक लगाई जा सकेगी. यदि फिर भी महिलाओं से छेड़छाड़ की तो 1090 कार्रवाई करेगा. नीरा रावत ने बताया कि पायलेट प्रोजेक्ट के तहत सूबे के छह जिलों में यह व्यवस्था शुरू कराई गई थी, जिसमें काफी अच्छा रिस्पांस आया है.

 11.6 करोड़ इंटरनेट यूजर्स

अब सूबे के सभी जिलों में यह व्यवस्था होगी. सूबे में करीब 11.6 करोड़ इंटरनेट यूजर्स हैं. मुख्य रूप से वे सभी लोग 1090 के टारगेट में हैं. उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा महिला सुरक्षा के लिए शुरू की गई मिशन शक्ति योजना को वूमेन पावर लाइन (1090) और शक्तिशाली बनाएगा. इसके लिए महिला और बाल सुरक्षा के लिए 1090 ने चक्रव्यूह तैयार कर लिया. वह शोहदों को हर तरफ से घेरकर पकड़ा जाएगा.