जरूर देखें जैसलमेर के ये सुंदर म्यूजियम्स

 

राजस्थान में घूमने के लिए बहुत सी जगहें और बहुत सी चीजें हैं. इन जगहों को घूमने के बाद आप उन्हें भूल नहीं पाएंगे. राजस्थान बहुत बड़ा राज्य है वहां ऐतिहासिक धरोहरों की कोई कमी नहीं है. इतिहास की बहुत सारी चीजें यहां आपको मिल जाएंगी. तो अगर आप चीजों को और जगह को एक्सप्लोर करने में दिलचस्पी रखते हैं तो आप राजस्थान के जैसलमेर के इन म्यूजियम्स को जरूर घूमें.

राजस्थान का गोल्डन सिटी जैसलमेर एक परियों की कहानी जैसा दिखता है. 12वीं सदी का ये शहर थार रेगिस्तान से घिरा हुआ है जो एक अछूती कल्पना को साकार करता है. शहर के इतिहास का पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका इसके म्यूजियम्स हैं. जैसलमेर के म्यूजियम शहर के समृद्ध अतीत और संस्कृति के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं.

जैसलमेर के कुछ दर्शनीय म्यूजियम्स की लिस्ट इस तरह है :

1. बा री हवेली म्यूजियम

ये जैसलमेर का एक और म्यूजियम है जो 15वीं शताब्दी का है. 450 साल से भी ज्यादा पुरानी इस हवेली को अब म्यूजियम में तब्दील कर दिया गया है. लेकिन परिसर मूल रूप से राजा के सलाहकारों का था जो हिंदू पुजारी थे. म्यूजियम प्राचीन कलाकृतियों का खजाना है.

2. जैसलमेर सरकारी म्यूजियम

ये म्यूजियम 1984 में पुरातत्व और म्यूजियम विभाग के जरिए स्थापित किया गया था. ये जगह बहुत ही अद्भुत है और एनसिएंट मरीन और वुड फोसिल्स का घर है. यहां 12वीं सदी की 70 से ज्यादा रेयर मूर्तियां भी हैं.

3. थार हेरिटेज म्यूजियम

इस म्यूजियम की स्थापना 2006 में प्रसिद्ध इतिहासकार और लेखक लक्ष्मी नारायण खत्री ने की थी. कोई भी व्यक्ति हवेली के अंदर वस्तुओं का अपना व्यक्तिगत संग्रह पा सकता है, जिसमें एनसिएंट मरीन फोसिल्स, मैनूस्क्रिप्ट्स, सिक्के, हथियार, पेंटिंग, बर्तन, इन्सट्रूमेंट्स और कॉस्ट्यूम्स आदि शामिल हैं.

4. पटवा हवेली म्यूजियम

ये जैसलमेर की सबसे भव्य हवेली या मैन्सन में से एक है. हवेली के एक हिस्से को पटवा परिवार की गोल्डन लाइफ स्टाइल को प्रदर्शित करते हुए एक प्राइवेट म्यूजियम में बदल दिया गया है. हवेली 19वीं सदी में बनी थी और इसे बनने में तकरीबन 50 साल लगे थे.

5. जैसलमेर फोर्ट पैलेस म्यूजियम

जैसलमेर का किला, जिसे सोनार किला के नाम से भी जाना जाता है, शहर की गोल्डन हेरिटेज को प्रदर्शित करने वाले एक सुंदर म्यूजियम का घर है. यहां विजिटर्स को एंटरटेनमेंट रूम और राजा और रानी के कमरों के अंदर रहने की अनुमति है, जो शब्दों से परे भव्य हैं. म्यूजियम में कुछ प्रमुख आकर्षण राजा के चांदी के सिंहासन, 15वीं शताब्दी की मूर्तियां, पेंटिंग और टिकटें हैं.

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक