चेतावनी के बाद भी नहीं रुकी निलामी, विरोध करने पहुंचे ग्रामीणों पर भांजी लाठियां, विरोध में हुआ पथराव, मची अफरा-तफरी


 

भीलवाड़ा हलचल

 पालड़ी पंचायत के तस्वारिया की आबादी भूमि की बुधवार को निलामी का विरोध करने पहुंचे ग्रामीणों पर पुलिस ने लाठियां भांजी। इसके चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया। इस घटना में पुलिस जीप के शीशे टूट गये। लाठीचार्ज व पथराव में कुछ ग्रामीणों व पुलिसकर्मियों के चोटिल होने की चर्चा है। हालांकि अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टी नहीं हुई है।  वहीं दूसरी और पुलिस ने कुछ लोगों को डिटेन भी किया है। 
बता दें कि ग्रामीण देवेंद्र सिंह राणावत के नेतृत्व में 21 मार्च को पंचायत समिति सुवाणा की ग्राम पंचायत पालड़ी के गांव तस्वारिया के ग्रामीण कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां उन्होंने कलेक्टर को ज्ञापन दिया। इसमें बताया गया कि तस्वारिया गांव की आबादी भूमि में 40 भूखंड विक्रय करने के लिए ग्राम पंचायत पालड़ी ने निलामी सूचना जारी की । 
ग्रामीणों का कहना था कि यह निलामी 23 मार्च को होनी है। जबकि निलामी को लेकर कोई योजना ग्राम पंचायत में पेश नहीं की गई न ही अनुमोदन हुआ। ऐसे में यह निलामी नियम विपरित है। इसलिये निलामी को तत्काल प्रभाव से रोका जाये। ग्रामीणों ने ज्ञापन में आरोप लगाया कि ग्राम पंचायत पालडी द्वारा ग्राम वासियों के हितों की अनदेखी करते हुये भूमाफियाओं के साथ मिली भगत कर निलामी रखी है, जो अवैध है। 
ग्रामीणों ने 23 मार्च को होने वाली निलामी को रोकने की कलेक्टर से मांग की। साथ ही चेतावनी दी कि अगर निलामी नहीं रोकी गई तो ग्रामीण ग्राम पंचायत के बाहर आंदोलन करेंगे और इसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। 
उधर, ग्रामीणों का कहना है कि चेतावनी के बावजूद निलामी नहीं रोकी गई। इसके चलते पूर्व चेतावनी के मुताबिक आज सुबह करीब 11 बजे तस्वारिया से बड़ी संख्या में महिलायें व पुरुष विरोध प्रदर्शन कर निलामी रुकवाने के लिए ग्राम पंचायत पालड़ी पहुंचे। ग्रामीण दिनेश गाडरी ने कहा कि वे शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, तभी पुलिस ने ग्रामीणों से कहा कि कलेक्टर और तहसीलदार मौके पर आ रहे हैं।  ऐसे में ग्रामीण वहीं रुके रहे। बाद में तहसीलदार मौके पर पहुंचे। उनके आने के साथ ही पुलिस ने देवेंद्र सिंह राणावत को डिटेन कर लिया और इसके बाद ग्रामीणों पर लाठियां भांजनी शुरू कर दी। इससे ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। ग्रामीणों का कहना है कि लाठीचार्ज से भीड़ आक्रोशित हो गई और जवाब में पुलिस पर पथराव कर दिया। बताया गया है कि पथराव से पुलिस जीप के शीशे टूट गये। वहीं सूत्रों का कहना है कि लाठीचार्ज व पथराव में गा्रमीणों व पुलिसकर्मियों को चोटें आई है। हालांकि अधिकारिकतौर पर इस बात की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है। वहीं दूसरी और इस घटना के बाद ग्रामीण मौके से भाग छूटे। वे, इधर-उधर छिपते फिर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि इतना सबकुछ होने के बाद भी निलामी की प्रक्रिया जारी है। 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर