क्यों है नई बलेनो पहले से बेहतर; जाने फीचर्स और कीमत

 

नई दिल्ली । मारुति सुजुकी का मानना ​​​​है कि बाजार में एसयूवी दिलचस्पी होने के बावजूद हैचबैक अभी भी लोकप्रिय हैं और टॉप-सेल्लिंग बलेनो साबित करता है। पिछले 6 वर्षों में, इस प्रीमियम हैचबैक ने 10 लाख यूनिट्स की बिक्री की है। अब नए जमाने की बलेनो को दुनिया के सामने पेश करने का समय आ गया है। तो 2022 संस्करण में डिजाइन में बदलाव क्या हैं, फीचर अपग्रेड क्या हैं और ड्राइव कैसी है, हम आपको इस कहानी में बताएंगे।

बलेनो 5वीं पीढ़ी के हरटेक प्लेटफॉर्म पर आधारित है और नए मॉडल में कुछ गिने-चुने डिजाइन अपडेट किए गए हैं। फ्रंट से शुरुआत करें तो ग्रिल और हेडलाइट्स गए हैं। 16 इंच के अलॉय व्हील्स के डिजाइन में सुधार किया गया है। मारुति यह भी कह रही है कि बलेनो में कई बॉडी पैनल नए हैं। बलेनो के पिछले हिस्से की बात करें तो सबसे बड़ा बदलाव टेल लाइट क्लस्टर में है। टेल लाइट के लिए डिज़ाइन ट्रीटमेंट हेड लाइट के जैसा है। कुल मिलाकर, इस हैचबैक को कुछ ताज़ा डिज़ाइन परिवर्तन मिले है इसकी अपील को बढ़ाते हैं।

कीमतों की बात करें तो बलेनो 4 ट्रिम्स में उपलब्ध है और इसकी कीमत 6.35 लाख रुपये से 9.49 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) के बीच है। प्रतिस्पर्धा के मामले में Altroz, i20 और Jazz का मुकाबला बलेनो से है।

मारुति ने सुविधाओं को गिनती बढ़ाई है और बलेनो सेगमेंट में नए प्रतियोगियों को चुनौती देने लिए अब पूरी तरीके से तैयार है। सेगमेंट-फर्स्ट हेड-अप डिस्प्ले (HUD) और 360-डिग्री बलेनो के केबिन को नयापन देते हैं। यात्रियों को सुविधा प्रदान करते हुए, बलेनो अब 9-इंच टचस्क्रीन प्रदान करता है जो कनेक्टेड फीचर्स और फास्ट-चार्जिंग रियर एसी वेंट के साथ आता है। Hyundai i20 के विपरीत, वायरलेस चार्जिंग या सन रूफ उपलब्ध नहीं है। हालांकि, केबिन और सीटों पर इस्तेमाल किया गया कपड़ा अच्छी क्वालिटी के है। सुरक्षा को लेकर भी काम किया गया है। बलेनो के टॉप ट्रिम में अब 6 एयरबैग, ईबीडी के साथ एबीएस, हिल होल्ड असिस्ट, 360-डिग्री कैमरे मिलते हैं।

मारुति सुजुकी ने मौजूदा 1.2-लीटर, फोर-सिलेंडर, पेट्रोल इंजन में सुधार किया है। माइल्ड हाइब्रिड तकनीक को हटाके इंजन अब डुअल वीवीटी और डुअलजेट तकनीक के साथ आता है। प्रति सिलेंडर दो इंजेक्टर होने के कारन थर्मल एफिशिएंसी पहले से बेहतर हुई है और अधिक आराम से ड्राइविंग अनुभव प्रदान करती हैं। इंजन का आउटपुट भी बढ़ा है और अब ये 90 हॉर्सपावर और 113 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करता है। इंजन मिड-रेंज में अच्छा पिकअप प्रदान करता है और शहर के ट्रैफिक में ओवरटेक करना मुश्किल नहीं लगता।

इंजन को 5-स्पीड मैनुअल और 5-स्पीड ऑटो-गियर-शिफ्ट (AGS) ट्रांसमिशन से जोड़ा गया है। AGS ने कंटीन्यूअस वेरिएबल ट्रांसमिशन (CVT) की जगह ले ली है, जिसके बारे में कंपनी का कहना है कि इससे फ्यूल एफिशिएंसी या माइलेज बढ़ी है। मैनुअल ट्रांसमिशन ड्राइव करने में मजेदार है। कई बार, तेज-तर्रार ड्राइव के दौरान AGS गियर शिफ्ट करने में धीमा महसूस होता है लेकिन कुल मिलाकर, एजीएस आपको शहर के यातायात में दो-पेडल, सुविधापूर्ण ड्राइविंग अनुभव देता है।

बलेनो की राइड और हैंडलिंग में भी थोड़ा बदलाव आये है। हैचबैक का कुल वजन लगभग 60 किलो बढ़ गया है। नतीजतन, कंपनी ने सुस्पेंसिओंस पे काम किया है। हाईवे स्पीड पर बलेनो की सवारी की स्थिरता बनाए रखती है। बलेनो में नया स्टीयरिंग व्हील भी मिलता है जो कि स्विफ्ट में भी है। बलेनो की हैंडलिंग में भी इसके पिछले मॉडल की तुलना में सुधार हुआ है।

 



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर