सड़क पर दौड़ती कंपाउंडर की कार बनी आग का गोला, समय रहते पता चलने से बची कंपाउंडर व चचेरे भाई की जान

 चितांबा प्रिंस रावणा राजपूत। बुधवार दोपहर एक कंपाउंडर की सड़क पर दौड़ती कार  अचानक आग का गोला बन गई। गनीमत रही कि समय रहते आग का पता चल गया और कार सवार कंपाउंडर व उनका चचेरा भाई बाहर निकल आये। चितांबा पावर हाउस के पास हुई इस घटना में कार पूरी तरह जलकर राख हो गई। वहीं इस घटना से ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण जुट गये। 
जानकारी के अनुसार, मरेवड़ा निवासी कंपाउंडर देवेंद्र शर्मा रामपुरिया नारेली में पदस्थापित है। वे, बुधवार दोपहर कार से ज्ञानगढ़ से भीलवाड़ा जा रहे थे। उनके साथ उनका चचेरा भाई विनोद शर्मा भी था। कार के शीशे बंद थे।  अचानक विनोद शर्मा को हल्का धुआं नजर आया। विनोद ने देवेंद्र को इसकी जानकारी दी। इसके बाद उन्होंने कार को रोका और बोनट खोलकर चैक किया, लेकिन कहीं आग नजर नहीं आई। इसके बाद वहां से  कार को  स्टार्ट कर रवाना हुये तो दस कदम चलते ही पावर हाउस के नजदीक कार ने आग पकड़ ली। इसके चलते उन्होंने कार को सड़क किनारे रोक दिया और दोनों बाहर आ गये। उधर, देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया, जिससे कार पूरी तरह चपेट में आ गई। आग की सूचना से ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। बाद में एक टैंकर को मौके पर बुलाया गया, लेकिन तेज लपटों व धमाके की आशंका के चलते आग बुझाने की कोई भी हिम्मत नहीं जुटा पाया। ऐसे में देखते ही देखते कार पूरी तरह जलकर राख हो गई। प्रथमदृष्टया आग का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है।  उधर, इससे पहले उन्होंने मिस्त्री को चितांबा पावर हाउस के नजदीक बुलाकर कार को चेक करवाया। मिस्त्री ने कंपाउंडर से कहा कि कार के शीशे खुले रखे। अगर सेंशर जल गये तो शीशे फाटक नहीे खुलेंगे।  

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?