Saturday, April 17, 2021

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

 


 भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिवार को 407 नये संक्रमित सामने आने के बाद आमजन के साथ ही चिकित्सा महकमा भी सकते में आ गया। जिले का मांडल, मांडलगढ़ और शहर का बापूनगर इलाका नये कोरोना हॉटस्पॉट के रूप में उभरे हैं। 
आरआरटी टीम प्रभारी डॉ. घनश्याम चावला ने बताया कि बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के चलते 2125 लोगों ने आरटीपीसीआर टेस्ट करवाया। इस टेस्ट में 407 नये संक्रमित मिले हैं। 
शनिवार को जिले के मांडल कस्बे में सर्वाधिक 67, मांडलगढ़ 40 और शहर के बापूनगर में 46 संक्रमित मिलने से ये इलाके कोरोना हॉटस्पॉट के रूप में उभर कर सामने आये हैं। वहीं आसींद 15, बनेड़ा 5, चपरासी कॉलोनी 5, चंद्रशेखर आजाद नगर 16, गुलाबपुरा 27, जहाजपुर 11, काशीपुरी 5, कोटड़ी 35, पुर 4, रायपुर 1, सांगानेरी गेट 14, सहाड़ा 29, सांगानेर 13, शाहपुरा 24, शास्त्रीनगर 20, सुभाषनगर 9, सुवाणा में 23 संक्रमित मिले हैं। 

मंजू पोखरना महावीर इंटरनेशनल की अंतर्राष्ट्रीय सचिव मनोनीत

 

भीलवाड़ा (हलचल)। महावीर इंटरनेशनल के अंतर्राष्ट्रीय सह निदेशक अमित महता ने बताया कि पिछले 3 दशकों से सामाजिक संगठनों के माध्यम से समाजसेवा में समर्पित मंजू पोखरना को वर्ष 2021-23 हेतु महावीर इंटरनेशनल के रीज़न 3 का क्षेत्रीय सचिव मनोनीत किया गया है । इस रीज़न में अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तोड़गढ़, एव ब्यावर - विजयनगर संभाग के समावेश है। इसकी घोषणा महावीर इंटरनेशनल के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व आईपीएस अधिकारी एसके जैन ने की।

चित्तौडग़ढ़ -पांच कोरोना मरीजों की मौत, एक महिला ने घर पर दम तोड़ा, 283 पॉजिटिव


चित्तौडग़ढ़ (राजेश जोशी)। जिले में आइसोलेशन वार्ड में 5 लोगों की मौत हुई है जिनमें एक पुराना संदिग्ध था इसकी पुष्टि पीएमओ दिनेश वैष्णव ने की है। चित्तौडग़ढ़ सांवलिया चिकित्सालय में बस्सी क्षेत्र के 25 वर्षीय युवक, निंबाहेड़ा के जलोदा गांव के 42 वर्षीय युवक, कपासन के धूलिया गांव के 56 वर्षीय अधेड़, बेगू क्षेत्र के गोपालपुरा से 80 वर्षीय वृद्ध व निंबाहेड़ा के चंदन चौक की 50 वर्षीय महिला की मौत हुई है वहीं चित्तौडग़ढ़ के मधुबन कॉलोनी की रहने वाली एक महिला की भी मौत हुई है। कोरोना से 6 मौतें एक साथ होने से जिला प्रशासन में हड़कंप मचा है। इनमें से एक संदिग्ध था। चित्तौडग़ढ़ जिले में पिछले 24 घंटों में 283 कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। इनमें बड़ी सादड़ी से 4, बेगूं 3, डूंगला 1, कपासन 16, निंबाहेड़ा 4, रावतभाटा 146, गंगरार 13, चित्तौडग़ढ़ ग्रामीण 6, चित्तौडग़ढ़ शहर के कुंभा नगर, गांधी नगर सेक्टर नंबर 4 व 5, पद्मनी नगर, बापू नगर, महावीर कॉलोनी, प्रताप नगर, शास्त्री नगर, मधुबन, तेजाजी चौक, पंचवटी, द्वारिका नगर व श्रीराम कॉलोनी से 90 कोरोना पॉजीटिव आए हैं।

चित्तौड़गढ़ जिले में 283 पॉजिटिव 

बडीसादडी-4

बैगू-3

डुंगला-1

कपासन-16

निम्बाहेडा-4

रावतभाटा-146

गंगरार-13

चित्तौडगढ ग्रामीण-6 

चितौडगढ शहर-90 (कुम्भानगर, गांधीनगर सेक्टर नम्बर 4, 5, पदमीनि नगर, बापूनगर, महावीर काॅलोनी, प्रतापनगर, शास्त्री नगर, मधुवन, तेजाजी का चैक, पंचवटी, द्वारिका नगर,  श्री राम काॅलोनी

 

पहली बार इस्तेमाल किए गए ‘बूथ एप‘ के जरिए मतदाताओं ने जाना रियल टाइम पोलिंग पर्सेन्टेज

 


 जयपुर । प्रदेश की सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ विधानसभा में हुए उप चुनाव में मतदान के वास्तविक वोटर टर्नआउट का पता लगाने के लिए पहली बार ‘बूथ एप‘ का इस्तेमाल किया गया। इसके चलते मतदाताओं को मतदान का प्रतिशत जानने के लिए इंतजार नहीं करना पड़ा और एक क्लिक पर सभी जरूरी जानकारी मिल गई। 

 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी  प्रवीण गुप्ता ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तैयार ‘बूथ एप‘ राज्य की 3 विधानसभा क्षेत्रों में हुए उपचुनाव के वास्तविक मतदान प्रतिशत जानने में खासा मददगार साबित हुआ। साथ ही फर्जी मतदान को रोकने में कारगर साबित हुआ।

 

  गुप्ता ने बताया कि ‘बूथ एप‘ के जरिए मतदान केंद्र पर आने वाले प्रत्येक मतदाता की वोटर पर्ची से सीरियल नंबर अपलोड करते ही मतदाता का डाटा निर्वाचन आयोग के सर्वर पर चला जाता है। यह सर्वर वोटर टर्न आउट एप से जुड़ा हुआ है, जिससे एप पर प्रति मतदाता के मतदान के साथ ही मतदान प्रतिशत में हुई बढ़ोतरी तुरंत दिखाता है। उन्होंने बताया कि कोई मतदाता उसी वोटर पर्ची को दोबारा लाकर मतदान की कोशिश करें तो इस एप के जरिए उसे भी रोका जा सकता है।

 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग ने पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर विधानसभा उप चुनाव में कुछ मतदान केंद्रो पर बूथ एप लगाने की सहमति मांगी थी। निर्वाचन विभाग ने सभी मतदान केंद्रो और सहायक मतदान केंद्रो पर बूथ एप लगवाए। नतीजन मतदाताओं को वास्तविक वोटर टर्न आउट देखने के लिए खासे प्रयास नहीं करने पड़े और केवल एक क्लिक पर उन्हें सभी जानकारी उपलब्ध हो गई। उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग ने निर्वाचन विभाग की पहल को सराहा है। इस एप की सफलता के बाद आगामी चुनावों में बूथ एप के व्यापक इस्तेमाल की संभावना भी बढ़ी है।

 

उप चुनाव से जुड़े सेक्टर आफिसर्स की मानें तो इस एप ने घंटों का काम सैकंडों में करने का काम किया है। पहले मतदान दल के अधिकारी को प्रति दो घंटे में मतदान प्रतिशत की जानकारी मोबाइल या अन्य तरीकों से भेजनी पड़ती थी। इसमें देरी और गलती होने की आशंका सर्वाधिक रहती थी। अब केवल बूथ एप पर सीरियल नंबर अपलोड करते ही मतदान प्रतिशत से जुड़ी सभी जानकारी वोटर टर्न आउट एप पर पहुंच जाती है, जिसे पब्लिक डोमेन पर कोई भी देख सकता है।

 

पीठासीन अधिकारियों का मानना है कि इस एप के जरिए ज्यादा मतदान होने पर धमकाने या डराकर मतदान करवाने की आशंका को भांपा जा सकता है, तो कम मतदान होने पर भी तुरंत कार्यवाही की जा सकती है। इस एप से मॉनिटरिंग करना आसान हुआ है। यह एप आम मतदाताओं के साथ इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया को अपडेट करने में खासा मददगार साबित हुआ है।

लैब टेक्निशियन के 439 पदों पर नियुक्ति आदेश जारी


 जयपुर । चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा के निर्देश पर कोरोना को दृष्टिगत रखकर त्वरित कार्यवाही करते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में लैब टेक्निशियन के 439 पदों पर नियुक्ति आदेश जारी कर दिये गये हैं।

 

उल्लेखनीय है कि गत वर्ष 12 जून को लैब टेक्निशियन हेतु विज्ञप्ति जारी की गयी थी। इनमें से 439 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति प्रदान कर दी गयी है।

आयुर्वेद विभाग के कार्यालयों में स्थापित होंगे कंट्रोल रूम, चिकित्साकर्मियों के अवकाश तुरंत प्रभाव से निरस्त


 जयपुर । चिकित्सा, स्वास्थ्य व आयुर्वेद मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि राज्य का आयुर्वेद व भारतीय चिकित्सा विभाग कोराना महामारी से आमजन को बचाने के लिए पूर्ण रुप से प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि महामारी के चलते आयुर्वेद विभाग के उपनिदेशक स्तर के कार्यालयों में कंट्रोल रूम स्थापित किए जाएंगे। जहां विभाग की ओर से किए जा रहे प्रतिदिन के कायोर्ं की जानकारी एकत्रित की जाएगी। उन्होंने कहा कि महामारी के चलते सभी चिकित्साकर्मियों के अवकाश तुरंत प्रभाव से निरस्त किए जाते है। 

 

डॉ. शर्मा ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव व जागरुकता सबंधी सरल व घरेलू उपाय की जानकारी विभाग के चिकित्सा स्वास्थ्य केन्द्रों से दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि आयुर्वेद, होम्यापैथी व यूनानी विभाग की ओर से आमजन की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए काढ़ा वितरित किया जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से सबंधित औषधियों को खरीदने व उनकी सप्लाई को तुरंत सुनिश्चित करने के भी आधिकारियों को निर्देश दिए गए है।

 

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि जिन क्षेत्रों में कोरोना का फैलाव अधिक है वहां आयुर्वेदीय बचाव, रोकथाम व चिकित्सा के लिए विशेष कैम्प आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा आयुर्वेद, होम्योपैथी व यूनानी विभाग से सबंधित सभी दैनिक रिपोर्ट शाम छह बजे तक राज्य सरकार को भेजना अनिवार्य है। 

 

डॉ. शर्मा ने कहा कि राजस्थान आयुर्वेद विश्वविद्यालय, जोधपुर व राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय उदयपुर को अपने संभाग में चल चिकित्सा शिविर आयोजित करेंगे। जहां निःशुल्क औषधि वितरित की जाएगी। उन्होंने कहा कि होम्योपैथिक चिकित्सा विभाग अपनी दोनों मोबाइल यूनिट के जरिए कैम्प आयोजित करेगा। उन्होंने कहा कि यह सभी कैम्प बिना किसी अवकाश के आयोजित किए जाएंगे।

वीकेंड कफ्र्यू के दौरान विद्यालयों में रहेगा पूर्ण अवकाश

 


 जयपुर, । शिक्षा राज्य मंत्री  गोविंद सिंह डोटासरा की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई बैठक में सरकार द्वारा शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक लगाए गए वीकेंड कफ्र्यू के अधीन आने वाले क्षेत्रों में शनिवार को समस्त विद्यालयों व शिक्षण संस्थाओं में पूर्ण अवकाश घोषित करने का निर्णय लिया गया। बैठक उपरांत माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के निदेशक   सौरभ स्वामी ने इस संबंध में निर्देश जारी किए।

अरुण मिश्रा सीईओ ऑफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित, हिंदुस्तान जिंक मोस्ट इनोवेटिव कंपनी ऑफ द ईयर

 

उदयपुर (हलचल)। वल्र्ड लीडरशिप कांग्रेस और अवाड्र्स की ओर से आयोजित बिजनेस लीडर ऑफ  द ईयर अवाड्र्स में हिन्दुस्तान जिंक ने दोहरे खिताब हासिल किए हैं। हिंदुस्तान जिंक को मोस्ट इनोवेटिव कंपनी ऑफ द ईयर के साथ ही कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण मिश्रा को सीईओ ऑफ  द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया है।
बीते वर्ष खनन क्षेत्र में चुनौतीपूर्ण और अप्रत्याशित समय के दौरान हिन्दुस्तान जिंक का अरूण मिश्रा ने कुशलतापूर्वक संचालन किया। साथ ही कोविड -19 महामारी और लॉकडाउन का सामना करने के बावजूद परिवर्तन के साथ नवाचार, प्रौद्योगिकी और डिजिटलाइजेशन पर ध्यान केंद्रित कर रिकार्ड उत्पादन में सफलता हासिल की। उनके नेतृत्व में हिंदुस्तान जिंक ने न केवल विशेष रूप से महामारी के दौरान परिचालन उत्कृष्टता हासिल की, बल्कि व्यापार, आमजन और समुदायों को लाभ पहुंचाने वाले स्थायी सामाजिक समाधान स्थापित करने में विश्व स्तर पर बेंचमार्क निर्धारित किया।
हिंदुस्तान जिंक के लिए द मोस्ट इनोवेटिव कंपनी अवार्ड अरूण मिश्रा के प्रयासों और नवीनतम तकनीकों के क्रियान्वयन का प्रमाण है। उनके मार्गदर्शन में, खनन उद्योग में प्रतिस्पर्धा में बढ़त हासिल करने और उसे बेहतर बनाने के लिए हिन्दुस्तान जिंक सर्वश्रेष्ठ तकनीकों को अपनाने के साथ ही दक्षता और उत्पादन में अग्रणी रहा है। कंपनी डिजिटलीकरण का लाभ उठाने और भविष्य में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) और ब्लॉक चेन क्षमताओं जैसी नई तकनीकों को अपनाने की ओर अग्रसर हुई है।
लीडरशिप अवाड्र्स अचीवर्स, सुपर अचीवर्स और फ्यूचर बिजनेस लीडर्स फोरम दुनियाभर के सर्वश्रेष्ठ संगठनों को अपने व्यवसायों को व्यवस्थित रूप से संचालित करने और अपने मिशन को बनाए रखने, सर्वोत्तम मॉड्यूल लागू कर संचालन के लिए पुरस्कृत करता है।

कोरोना को हराने के लिए सबका मिला साथ

 


राशमी (कैलाश चन्द्र सेरसिया)। राजस्थान में वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए लगाए गए वीकेंड कर्फ्यू का असर शनिवार को उपखंड मुख्यालय सहित अन्य गांवों के बाजारों में दिखाई दिया और इस दौरान आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर शेष दुकानें बंद रही। क्षैत्र में आम लोग बेवजह घर के बाहर नहीं निकले। कोरोना के कारण लॉकडाउन के बाद प्रदेश में पहली बार वीकेंड कर्फ्यू लागू हुआ है और इससे लोग ज्यादा भयभीत नजर नहीं आए। यह दो दिन का कर्फ्यू होने से लोगों में विश्वास है कि दो दिन बाद फिर हालात सामान्य हो जाएंगे। पूरे राजस्थान में 19 अप्रैल सुबह 5 बजे तक वीकेंड कर्फ्यू रहेगा। एसडीएम सुनील शर्मा ने बताया कि इस दौरान अति आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य को बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। बैंक, सार्वजनिक परिवहन, आईटी, टेलीफोन कार्मिकों, वकील, न्यायिक सेवा, मीडिया, मंडियां, किराना, डेयरी, भोजन, सब्ज़ी को आवश्यक सेवाओं में शामिल किया गया है। कोविड वैक्सीन के लिए भी 45 वर्ष की आयु से अधिक के पात्र लोगों को टीकाकरण केंद्र जाने की अनुमति है। शनिवार को बाजारों की दुकानें बंद रही। वीकेंड कर्फ्यू के दौरान अनिवार्य सेवाओं को छोड़कर सभी क्षेत्र बंद रहे। पुलिस और प्रशासन ने न केवल लोगों की सुरक्षा साथ ही कोरोना से जागरूकता का भी मोर्चा संभाला । वीकेंड कर्फ्यू को जनसमर्थन मिलने से पुलिस को भी मशक्कत नहीं करनी पड़ी।

मदद के बहाने एटीएम बदल कर दी 17900 की ठगी, खाते में 19 रुपए बाकी छोड़े

बागौर (बरदीचंद जीनगर)। बागौर कस्बे के करेड़ा रोड़ स्थित पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम में मदद के बहाने बदमाश ने एक व्यक्ति का एटीएम बदलकर उसके खाते से 17900 रुपए निकाल लिए। इस संबंध में पीडि़त ने बागौर पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।
थाना प्रभारी छोटूलाल रेगर ने बताया कि कापडिय़ास निवासी चंदू जाट ने रिपोर्ट दी कि वह कस्बे में पंजाब नेशनल बैंक के लगे एटीएम में रकम निकालने गया। उसने तीन बार मशीन में एटीएम लगाया लेकिन प्रोसेस नहीं हुआ। एटीएम में तीन जने आए और एटीएम कार्ड को साफ करके फिर से मशीन में लगाने की बात कहते हुए उससे एटीएम ले लिया। बदमाशों ने चंदू का कार्ड एक अन्य कार्ड से बदल दिया और उसे कहा कि सर्वर डाउन चल रहा है इसलिए पैसे नहीं निकल रहे हैं। इस पर चंदू कार्ड लेकर आ गया और ई मित्र से आधार कार्ड के आधार पर 10 हजार रुपए निकलवाए। चंदू ने बताया कि उस समय उसके खाते में 17919 रुपए बैलेंस था। इसके बाद वह भीलवाड़ा के लिए रवाना हो गया। करीब एक घंटे बाद उसके मोबाइल पर तीन बार में 10 हजार, 6 हजार और 1900 रुपए निकलने का मैसेज आया। बदमाशों ने चंदू के खाते में केवल 19 रुपए बाकी छोड़े। इस पर चंदू बैंक पहुंचा और मैनेजर को जानकारी दी। मैनेजर ने चंदू का एटीएम कार्ड बंद करवाया। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर बैंक से चंदू का स्टेटमेंट मांगा है। साथ ही एटीएम में लगे सीसीटीवी की फुटेज भी खंगाली जा रही है।

 

यह कैसा कफ्र्यू: नेशनल हाइवे सहित ग्रामीण क्षेत्रों में खुली दुकानें, बिना मास्क आ रहे ग्राहकों को सामान दे रहे दुकानदार

 


बैरां (भैरूलाल गुर्जर)। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार चाहें 60 घंटे का कफ्र्यू लगाए या लॉकडाउन, लेकिन कुछ लोगों ने तो जैसे ठान रखा है कि वे कोरोना को नहीं जाने देंगे। तभी तो नेशनल हाइवे एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कफ्र्यू ही नहीं बल्कि कोरोना गाइडलाइन तक की धज्जियां खुलेआम उड़ाई जा रही हैं।
यहां पुलिस और प्रशासन को भी न तो सरकार के आदेशों की चिंता है और न ही लोगों की फिक्र। सबसे बड़ी बात तो यह है कि जहां ग्राहक बिना मास्क आ रहे हैं वहीं दुकानदार भी बिना मास्क ही उन्हें सामान बेच रहे हैं। ऐसे में कोरोना का संक्रमण रोकने के सरकारी प्रयास बेमानी साबित हो रहे हैं।

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...