Thursday, April 30, 2020

 जिले के 11 ब्लॉक में 40 क्वारैंटाइन सेंटर, 430 मरिज पहुंचे, 118 को मिली छुट्टी

 भीलवाड़ा । कोरोना संक्रमण के चलते प्रशासन ने जिले के 11 ब्लॉक में 2369 बैड के 40 क्वारैंटाइन सेंटर तैयार किये हैं, जिनमें 430 संदिग्ध मरिजों को भर्ती किया गया। इनमें से 118 को छुट्टी दी जा चुकी है। 
जानकारी के अनुसार, कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन में फंसे लोगों के लौटने के साथ ही जिला मुख्यालय पर स्थित क्वारेंटाइन सेंटर्स में बड़ती संख्या के चलते प्रशासन ने ब्लॉक स्तर पर क्वारेंटाइन सेंटर खोले हैं। 11 ब्लॉक में 40 क्वारैंटाइन सेंटर बनाये गये। इनकी क्षमता 2369 बैड की है। इन सेंटर्स में गुरुवार तक 430 संदिग्ध मरिजों को भर्ती किया जा चुका है। वहीं 118 लोगों को छुट्टी भी मिल चुकी है। यह स्थिति गुरुवार सुबह तक की है।  


किस ब्लॉक में कितने सेंटर
आसींद 9, बनेड़ा, शाहपुरा, गुलाबपुरा, जहाजपुर और सुवाणा में एक-एक, रायपुर 3, कोटड़ी 8, गंगापुर 4, मांडल 4, मांडलगढ़ में 7 क्वारैंटीन सेंटर बनाये गये हैं। 


कहां कितने आये मरिज
आसींद ब्लॉक  के 9 में से पांच सेंटर्स में 74, बनेड़ा में 13, शाहपुरा 56,रायपुर 17, गुलाबपुरा 26, कोटड़ी 45, गंगापुर 50, मांडल 122, मांडलगढ़ 17, जहाजपुर 10 संदिग्ध मरिज आये। 


ये है बेड क्षमता
जिले के विभिन्न 11 ब्लॉक में बनाये गये क्वारैंटीन सेंटर्स बैड क्षमता इस प्रकार है। आसींद 358, बनेड़ा में 83, शाहपुरा 200,रायपुर 200, गुलाबपुरा 200, कोटड़ी 221, गंगापुर 211, मांडल 238, मांडलगढ़ 380, जहाजपुर 200 और सुवाणा में 80 बैड । 


बंद फैक्ट्रियां, कैसे करेंगे अप्रैल माह का मजदूरों को भुगतान, व्यापारी चिंतित

 
 भीलवाड़ा हलचल। वस्त्रनगरी भीलवाड़ा के उद्योगपति सरकार की नीतियों से अब परेशान नजर आने लगे हैं और कई यह कहते हुये सुनाई दे रहे हैं कि आने वाले दिन उनके लिये और दुखदायी होंगे। सरकार एक और तो बंद उद्योगों के बिजली के बिल माफ नहीं कर पा रही है और दूसरी और मजदूरों को पुरा वेतन दिलवाने के लिए दबाव बना रही है। अब कई फैक्ट्री मालिकों की स्थिति अप्रैल माह का भुगतान करने की नहीं है। ऐसी स्थिति में सरकार को कोई नीति बनानी चाहिये जिससे फैक्ट्री मालिक भी परेशान न हो और मजदूर भी। 
सूत्रों के अनुसार, भीलवाड़ा में करीब 400 कपड़ा फैक्ट्रियां है। इनमें हजारों मजदूर कार्यरत है। इन मजदूरों को मार्च का वेतन तो कार्यनुसार फैक्ट्री मालिकों ने चुका दिया और मजदूरों ने भी इस राशि से अपना गुजारा कर लिया, लेकिन आने वाले दिनों में स्थिति बिगडऩे वाली बताई जा रही है। फैक्ट्री मालिक ऐसी स्थिति में नहीं है कि मजदूरों को बिना काम के घर बैठे अप्रैल माह का भुगतान कर सके। ऐसे में मजदूरों के सामने खाने-पीने के लाले पड़ सकते हैं, जिससे वे विरोध के तैवर दिखा सकते हैं। इस तरह की आवाज उठने लगी है। कपड़ा कारोबार से जुड़े अधिकांश श्रमिकों को तो एकबार भुगतान कर दिया गया है, लेकिन कई ऐसे मजदूर भी है, जो सीधे फैक्ट्री मालिक से नहीं जुड़े हैं, जिन्हें किसी तरह की कोई सहायता नहीं मिल पाई है। 
एक बड़ी कपड़ा फैक्ट्री ने तो स्थायी मजदूरों को वेतन दे दिया, लेकिन इस फैक्ट्री में अस्थायी मजदूरों को उनकी एक दो दिन की बकाया राशि के अलावा कुछ नहीं दिया गया। कई मजदूरों तो ऐसे हैं, जिन्हें एक पैसा भी नहंी मिला है। इनमें असंगठित मजदूरों की संख्या काफी ज्यादा है। सरकार ने पंजीकृत मजदूरों को तो आर्थिक सहायता मुहैया करवाई है, लेकिन जो कहीं भी पंजीकृत नहीं है, उनके सामने संकट खड़ा है। 
जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव महेश सोनी ने बताया कि उद्योगपतियों के सामने कई दिक्कतें हैं। सरकार खुद गुजराभत्ते के रूप में एक हजार और ढाई हजार रुपये गरीब तबके को दे रही है, लेकिन फैक्ट्री मालिकों से पूरी तनख्वाह देने को कहा गया है। फैक्ट्रियां बंद है। उत्पादन नहीं हो रहा है, लेकिन बिजली का स्थायी शुल्क वसूला जा रहा है, जबकि पंजाब सरकार ने ऐसे शुल्क को माफ किया है। उन्होंने इसी तर्ज पर राजस्थान में भी शुल्क माफ करने की मांग की है। इसके अलावा जिन उद्योगपतियों ने ऋण लिया हुआ है, उन्हें राहत के नाम पर तीन माह तक नहीं चुकाने को कहा गया है, लेकिन तीन माह बाद एक प्रतिशत अतिरिक्त के साथ ये किश्तें चुकानी होगी, जबकि हालात काफी विपरित है। लॉकडाउन खुलने के बाद भी छह माह तक फैक्ट्रियां पूरी क्षमता से नहीं चल पायेगी और बकाया राशि की वसूली भी अभी होनी संभव नहीं है। ऐसे में फैक्ट्री मालिकों के सामने बड़ा संकट खड़ा होगा। 


  खेत पर सोये दंपती पर चाकू से हमला, अज्ञात लोगों ने दिया वारदात को अंजाम

 
 भीलवाड़ा हलचल। जिले के सांई पीपला गांव में खेत पर खाखले की रखवाली करने सोये दंपती पर बीती देर रात अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया। हमले में दंपती घायल हो गया, जिसे बिजौलियां में प्राथमिक उपचार के बाद भीलवाड़ा रैफर कर दिया गया। उधर, दंपती पर हमले की इस वारदात से ग्रामीण सहमे हैं। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार, सांई पीपला निवासी शैतान (21) पुत्र शंभु भील, उसकी पत्नी रेखा (19) बीती रात खेत पर गये। जहां खाखला पड़ा था। दंपती, खाखले की रखवाली करने खेत पर ही सो गया। देर रात दो अज्ञात लोग वहां पहुंचे और सोये हुये दंपती पर चाकू से हमला कर दिया। शैतान ने बचने के लिए संघर्ष भी किया। हमले में शैतान के सिर, आंख, गाल पर चोटें आई। वहीं रेखा भी घायल हो गई। उधर, हमले के बाद दोनों हमलावर मौके से भाग छूटे। 
वहीं घायल दंपती चिल्लाया तो पास में सोये रेखा के देवर और जेठ वहां पहुंचे। इन लोगों ने परिजनों को भी वहां बुलवा लिया। इसके बाद दोनों पति-पत्नी को परिजन बिजौलियां अस्पताल ले गये, जहां से उन्हें प्राथमिक उपचार कर भीलवाड़ा रैफर कर दिया गया। 
पुलिस का कहना है कि हमला लूट के इरादे से नहीं किया गया। कारण, रेखा के पहने मांदलिये सहित अन्य गहने सुरक्षित मिल गये। अभी तक न तो हमलावरों का पता और न ही हमले के कारण सामने आये हैं। उधर, चाकूबाजी की इस घटना से गांव में दहशत का माहौल है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। 


 


 खेतों के रास्ते से शराब तस्करी करते तस्कर पकड़ा, थैलियों में भरी 30 लीटर शराब जब्त

 भीलवाड़ा हलचल। लॉक डाउन के बीच शराब तस्करी से तस्कर बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे ही एक तस्कर को आज फूलियाकलां पुलिस ने खेतों के रास्ते से तस्करी करते गिरफ्तार कर प्लास्टिक थैलियों में भरी 30 लीटर शराब व बाइक जब्त की है। 
फूलिया थाने के नवरतन ने बताया कि गुरुवार को गश्त पर निकली पुलिस को हुकमपुरा से कनेछन की ओर खेतों के रास्ते से आता बाइक सवार मिला। बाइक पर प्लास्टिक का कट्टा रखा था। पुलिस ने संदेह के आधार पर उसे रोका। पूछताछ में उसने खुद को कनेछनकलां निवासी सुरेश खटीक बताया। पुलिस ने बाइक पर रखे कट्टे की तलाशी ली तो उसमें प्लास्टिक की 30 थैलियां मिली, जिनमें प्रत्येक में एक-एक लीटर शराब थी। पुलिस ने इस 30 लीटर शराब के साथ ही बाइक जब्त कर सुरेश को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। 


 कोरोना फाइटर टीम सदस्या से अभद्रता, पत्थर से हमले की कोशिश, आरोपित गिरफ्तार

 भीलवाड़ा हलचल। नोवल कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए तैनात चांदरास कोरोना फाइटर्स टीम की महिला सदस्या के साथ एक गैराज संचालक ने न केवल अभद्रता की, बल्कि पत्थर से हमले का प्रयास भी किया। पीडि़ता की रिपोर्ट पर बागौर पुलिस ने मामला दर्ज कर गैराज संचालक को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। 
बागौर थाना प्रभारी खींवराज गुर्जर ने बताया कि चांदरास निवासी ग्रामसाथिन सोनिया पत्नी मिश्रीलाल सोनी कोरोना फाइटर्स टीम में शामिल होकर चांदरास में ड्यूटी कर रही है। गुरुवार को चांदरास के वार्ड नंबर 6 में कोरोना संबंधित सर्वे किया जा रहा था। इस दौरान राजू उर्फ राजकुमार पुत्र लादूलाल सरगरा जो कि वाहन रिपेयरिंग का काम करता है। अपने घर के बाहर वाहर ठीक कर रहा था। वहां 4-5 और बाइक खड़ी कर भीड़ जमा कर रखी थी। सरगरा को कोरोना फाइटर्स टीम की सदस्या सोनिया सोनी ने समझाने का प्रयास किया तो वह अभद्रता करने लगा।  
सोनिया का आरोप है कि सरगरा पूर्व में भी कई बार लॉक डाउन का उल्लंघन कर चुका है। सरगरा, कोरोना फाइटर्स सोनिया के पीछे पत्थर लेकर दौड़ा और हमले की कोशिश की। आरोपित ने सोनिया को धमकी दी कि तुम मेरी गैंग की आंखों में  खटक रही हो । उसने परिवादिया और उसकी बेटी के साथ गलत करने की धमकी दी। पुलिस ने इस रिपोर्ट पर सरगरा के खिलाफ राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने, लॉक डाउन का उल्लंघन और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुये आरोपित राजू उर्फ राजकुमार सरगरा को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 



 


भीलवाड़ा में जारी रहेगा लॉक डाउन, छूट की संभावना भी कम!

 भीलवाड़ा हलचल। कोरोना वायरस का कम्यूनिटी में फैलाव रोकने के लिए भीलवाड़ा में अभी 3 मई बाद भी लॉकडाउन नहीं खुलेगा। वहीं छूट की संभावना भी कम ही है। इस पर प्रशासन मंथन कर रहा है। 
भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार, भीलवाड़ा में एक के बाद एक लगातार कहीं न कहीं कोरोना पॉजिटिव मिलने से संक्रमण फैलने की संभावना  पर पूरी तरह से लगाम नहीं लग पाई है। ऐसे में बाहर से आ रहे छात्र, मजदूर और अन्य लोगों से भी संक्रमण फैलने की संभावना को देखते हुये किसी तरह की कोई रिस्क न तो सरकार लेना चाहती है और न प्रशासन। अब तक रॉल मॉडल के रूप में देश-विदेश में ख्याति प्राप्त कर चुका भीलवाड़ा आगे भी एहतियातन सावधानी बरतने की तैयारी में है। 
भीलवाड़ा में अब तक 36 कोरोना संक्रमित व्यक्ति सामने आ चुके हैं। इनमें से दो की मौत हो गई, जबकि 30 नेगेटिव हो चुके हैं। अब दो   सगे भाई पॉजिटिव है, जिनका जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। वहीं बिना लक्षणों के मिल रहे कोरोना पॉजिटिव को लेकर भी चिकित्सा महकमा सतर्क है और इसी के चलते संदिग्धों की रेंडम जांच कर रहा है। इन दो लोगों के पॉजिटिव आने के अब 14 और दिनों का इंतजार बढ़ गया है। इसके चलते 3 मई को कफ्र्यू समाप्त होने की संभावना कम ही नजर आ रही है । अगर कुछ राहत मिलती है तो कफ्र्यू हटाकर उसे लॉकडाउन में बदला जा सकता है, लेकिन बाजार में दुकानें पूरी तरह से खोलने और अन्य कारोबार की स्वीकृति अगले पखवाड़े तक तो भीलवाड़ा में संभव नहीं लग रही है। 
वैसे, जिला प्रशासन इसे लेकर गहनता से मंथन कर रहा है। प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुखिया का क्या रुख रहता है, इस पर भी आने वाले दो दिनों में काफी कुछ निर्भर होगा, लेकिन भीलवाड़ा का चिकित्सा महकमा और प्रशासन अभी लॉक डाउन हटाने के मूड में नजर नहीं आ रहा है। 


कोरोना जांच के लिए तीन और एनटी पीसीआर मशीनें इंस्टॉल, जल्द होगी चालू  

 भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा के मेडिकल कॉलेज में एक मशीन से जांचे शुरू होने के बाद अब तीन और मशीनों का इंस्टालेशन का काम पूरा कर लिया गया। ये मशीनें भी जल्द ही चालू हो जायेगी और इसके बाद प्रतिदिन एक हजार सैंपल्स की जांच होने लगेगी।
कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजन नंदा ने हलचल को बताया कि गुरुवार को भेंट में आई दो और एक सरकारी एनटी पीसीआर मशीनों को इंस्टॉल कर दिया गया है। संभावना है कि अगले सप्ताह तक इन मशीनों से जांच का काम शुरू हो जायेगा। वहीं एक ऑटोमेटिक मशीन और स्थापित की गई है, जिससे इन मशीनों की गति बढ़ेगी और जांच में समय कम लगेगा। इस बीच आज एक अन्य चालू मशीन से 92 सैंपल की जांच की गई है।   


 
 


पान मसाला व्यवसायी के तीन ठिकानों पर छापा, गोदाम सीज 

  
भीलवाड़ा हलचल। वाणिज्य कर विभाग की टीम ने आज शहर के एक पान मसाला व्यवसायी के तीन ठिकानों पर छापा मार कार्रवाई करते हुये दो गोदामों को सीज कर लिया। वहीं एक गोदाम से रजनीगंधा के 366 कटर््न जब्त  किया है, जबकि व्यापारी मौके पर नहीं मिला है। 
वाणिज्यकर विभाग के अधिकारी रामलाल चौधरी के नेतृत्व में आज विभाग के कानाराम, कुलभान, सुरेश, नीरज शर्मा, मुकेश चौधरी, मुकेश दुदवाल, विजय लक्ष्मी आदि की अलग-अलग टीमें गठित की। इसके बाद शहर के एक पान मसाला व्यापारी के सुखाडिय़ा सर्किल स्थित दो व मंगल पाण्डेय सर्किल स्थित एक गोदाम पर एक साथ छापा मार कार्रवाई की। 
सुखाडिय़ा सर्किल स्थित दोनों गोदाम बंद मिले,ऐसे में इन गोदामों को सीज कर दिया गया। वहीं मंगल पाण्डेय सर्किल स्थित एक किराये मकान में स्थित इस व्यापारी के गोदाम में रजनीगंधा पान मसाला के 366 कटर््न मिले। इन कटर््न को टीम ने जब्त कर लिया। यह कार्रवाई जयपुर मुख्यालय के निर्देश पर की गई। माना जा रहा है कि यह कार्रवाई शिकायत के आधार पर की गई है। 



 


सेलागुडा मे पैंथर का आंतक, एक माह में 6 मवेशियों का किया शिकार

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह)जिले मेंआमेट पंचायत समिति क्षेत्र के  ग्राम सेलागुडा में पैंथर द्रारा विगत एक माह मे क्षेत्र मे 5 मवेशियों तथा बीती रात्रि को एक मवेशियों का शिकार कर देने से ग्रामीणों में भय पैदा हो गया है।


प्राप्तजानकारी अनुसार ग्राम सेलागुडा निवासी रामलाल कुमावत के बाडे में बीती रात्रि को कुछ मवेशी बंधे हुए थे। कि अचानक पैंथर ने बाडे की दिवार लांग कर बाडे मे बंधे मवेशियों पर हमला कर दिया। जिससे मवेशीयो ने शोर मचाना शुरु कर दिया। तथा मौका देखकर पैंथर ने एक मवेशी पर हमला कर लहूलुहान कर जख्मी कर दिया। तथा उसे खिंच कर अपने साथ बाहर लाकर मारकर जंगल मे भाग खडा हुआ। बताया गया की पैथर कुछ दिन पूर्व भी इसी बाडे मे मवेशी को मारकर फरार हो गया था। ग्रामीणों ने बताया की पैंथर विगत एक माह में करीब आधा दर्जन मवेशियों का शिकार कर चुका है। तथा ग्रामीणों ने पैंथर को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाने की मांग भी की है। परन्तु प्रशासन द्रारा अभी तक पिंजरा नही लगाया गया है। पैथर के आये दिन मवेशियों के शिकार करने की घटनाओ से ग्रामीणों भय व्याप्त हो गया है। तथा ग्रामीणों ने पिंजरा लगवाकर पैथर को पकडवाने की मांग की।


 


एक मई को श्रम दिवस पर नरेगा श्रमिकों का अवकाश

 
डूंगरपुर (विवेक पाराशर)/ उप मुख्यमंत्री ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की अध्यक्षता में 17 अप्रैल को समस्त जिलों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग आयोजित की गई थी। विडियों कॉन्फ्रेंस में  दिए गए दिशा निर्देशानुसार 1 मई 2020 को श्रम दिवस को नरेगा श्रमिकों का अवकाश रहेगा । एक मई 2020 के अवकाश का कार्य आगामी गुरुवार को पूर्ण किया जाएगा। यह जानकारी अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद डूंगरपुर दीपेंद्र सिंह राठौड़ ने दी।


 


भारत को जानो प्रतियोगिता का परिणाम घोषित-अरोड़ा प्रथम

 भीलवाड़ा हलचल। भारत विकास परिषद राजस्थान मध्य प्रांत द्वारा 576 सदस्यों द्वारा लोक डाउन पीरियड का सकारात्मक ऊर्जा के रूप में प्रयोग करने के लिए राजस्थान मध्य प्रांत ने भीलवाड़ा अजमेर और राजसमंद जिले की सभी शाखाओं के सदस्यों के मध्य प्रांत स्तरीय ऑनलाइन भारत को जानो प्रतियोगिता का आयोजन 20 से 30 अप्रैल के मध्य किया गया।


प्रांतीय संयोजक भारत को जानो मुकेश राठी ने बताया कि प्रतियोगिता में कंचन देवी अरोड़ा भीलवाड़ा ने प्रथम स्थान, शिवदयाल अरोड़ा भीलवाड़ा ने द्वितीय और दुर्गा प्रसाद जोशी शाहपुरा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।प्रांतीय महासचिव संदीप बाल्दी ने बताया कि यह प्रतियोगिता मध्य प्रांत की भारत को जानो मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से तीन चरणों में आयोजित की गई। भारत विकास परिषद आज़ाद शाखा के संस्थापक अध्यक्ष कैलाश सोनी ने बताया कि प्रथम चरण शाखा स्तर की प्रतियोगिता रही जिसमें 576 सदस्यों ने भाग लिया। इस चरण में भारत को जानो पुस्तक व समसामयिक आधार पर 50 प्रश्न पूछे गए और प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक रखे गए थे। प्रत्येक प्रश्न के लिए समय सीमा 20 सेकंड की थी।विभिन्न शाखाओं से 30 प्रतियोगीयों ने फाइनल प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।  


मौसम की मार झेल रहे धरती पुत्रों को राहत प्रदान करें केंद्र सरकार- सांसद दीया

राजसमन्द( राव दिलीप सिंह) रबी फसल की बिक्री में आ रही समस्याओं को लेकर सांसद दीयाकुमारी ने केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजिनक वितरण मंत्री रामविलास पासवान को पत्र भेजकर समस्या के समाधान हेतु उचित दिशा निर्देश जारी करने की मांग की है।


पत्र में सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि राजसमन्द संसदीय क्षेत्र में कोरोना महामारी के दौरान तैयार फसल की कटाई में हुई देरी और इस दौरान हुई वर्षा और ओलावृष्टि के कारण गेहूं की चमक में आई कमी के कारण किसानों को गेहूं को न्यूनतम समर्थन मूल्य केन्द्र पर बेचान करने में अत्यन्त परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसानों का कहना है कि जब वे फसल के बेचान के लिए संबंधित केन्द्रों पर जाते हैं तो उसकी फसल को खरीदने से यह कहकर मना कर दिया जाता है कि गेहू की चमक कम है, ऐसे गेहू की खरीद के लिए स्पष्ट निर्देशों के अभाव में इन्हें नहीं खरीदा जा सकता ।


सांसद ने कहा कि मेहनतकश किसानों की फसल पर प्रकृति ने पहले ही कहर ढा दिया है, सरकार को मरहम का कार्य करते हुए उचित दिशा निर्देश देने चाहिए ताकि मौसम की मार झेल रहे धरती पुत्रों को राहत मिल सके। किसानों को अपनी फसल बेचान में हो रही परेशानो को ध्यान में रखते हुए इस तरह के गेहूं की खरीद के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचान हेतू दिशा निर्देश जारी कर क्षेत्र के किसान वर्ग को चिंता मुक्त करें।


मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि सांसद दीयाकुमारी ने इस सम्बंध में केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के सचिव को भी अवगत कराया है।


 


 


शहर काजी ने दी रमजान के पहले जुमे की मुबारकबाद, कहा- घरों में रहकर करें लॉकडाउन की पालना

 भीलवाड़ा (हलचल)। रमज़ान शरीफ का महीना बहुत मुबारक महीना है, जिसका इंतजार हर मुसलमान को पूरे साल रहता है। इस मुबारक महीने का हर पल चाहे सहरी हो या इफ़्तार बहुत कीमती है। इस महीने में हर पल दुआएं कबूल होती हैं। जन्नत के दरवाजे खुल जाते हैं और जहन्नुम के दरवाजे बंद हो जाते हैं। इस मुबारक महीने मे एक रात ऐसी भी है जो अफजल है और जो इस रात में जागकर इबादत करता हे तो उसका बहुत बड़ा अजर अता किया जाता है और उसकी हर दुआ कबूल होती है। यह बात शहर काजी मुफ्ती अशरफ जिलानी अजहरी ने कही। रमजान के पहले जुमे की मुबारक देते हुए शहर काजी ने कहा कि कोरोना के देखते हुए लागू लॉकडाउन की हम सबको पालना करनी चाहिए।
शहर काजी ने कहा कि इस मुबारक महीने में गरीबों और मोहताजों की मदद करना और उनके लिए सहरी और इफ्तारी का इंतजाम करना बहुत सवाब का काम है। हदीस ए पाक में लिखा है कि जो शख्स इस मुबारक महीने में किसी को रोजा इफ्तार कराए तो उसके गुनाहों से मुक्ति मिलती है। 


जीजा जुबेर के साथ एक ही थाली में खाना खाने से संक्रमित हुये दोनों साले

  भीलवाड़ा हलचल। कोरोना पॉजिटिव आये जयपुर के ई-रिक्शा चालक जुबेर के साथ दोनों सालों ने एक ही थाली में खाना खाया था, इसी के चलते ये दोनों साले भी संक्रमित हो गये। यह बात चिकित्सा विभाग की टीम ने संक्रमितों से जुटाई जानकारी में सामने आई है। इस बीच, इनमें से एक संक्रमित गुलाबपुरा कृषि मंडी में हम्माली करता है, ऐसे में उसके साथी 4-5 और हम्मालों को चिकित्सा विभाग ने कोरेंटाइन किया है।  
चिकित्सा विभाग व पुलिस सूत्रों के अनुसार, दिल्ली बायपास, इदगाह जयपुर निवासी जुबेर खां पिछले दिनों जयपुर से अंगूर के ट्रक में बैठक र अपने ससुराल गुलाबपुरा आया था। जयपुर में  जुबेर ई-रिक्शा चलाता था और करीब डेढ़ महीने से वह जयपुर-कोटा के बीच सब्जी लाने -ले जाने में लगे ट्रक में चालक के साथ चल रहा था। 
जुबेर की गुलाबपुरा आने के दूसरे दिन जांच की गई तो वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया। ऐसे में उसे जिला अस्पताल में आइसोलेट किया गया। साथ ही उसकी पत्नी, बच्चों, दो सालों आदि के सैंपल भी लिये थे। जुबेर की पहली रिपोर्ट पॉजिटिव से नेगेटिव आ चुकी है। वहीं कोरेंटाइन सेंटर में रखी गई उसकी पत्नी, दो बच्चे और दोनों सालियां बुधवार को जांच में नेगेटिव आ गये, इन पांचों को होमआइसोलेट कर दिया गया। 
वहीं  बुधवार रात कोरोना जांच रिपोर्ट में जुबेर के दोनों साले 14 वर्षीय नजीर व 21 वर्षीय जावेद पुत्र मुन्ना पॉजिटिव पाये गये।  इन दोनों पॉजिटिव युवकों को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया।  नजीर व जावेद से चिकित्सा टीम ने संक्रमण को लेकर जानकारी जुटाई। इससे यह बात सामने आई कि इन दोनों सालों ने अपने घर आये जीजा जुबेर के साथ एक ही थाली में साथ बैठकर खाना खाया था। ऐसे में चिकित्सा विभाग इन दोनों के इसी कारण संक्रमित होना मान रहा है। उधर,  यह जानकारी भी आई कि जावेद गुलाबपुरा कृषि उपज मंडी में हम्माली करता है। इस जानकारी के सामने आने के बाद कृषि मंडी में जावेद के साथ रहने वाले चार से पांच हम्मालों को भी चिकित्सा टीम ले आई और उनके सैंपल लिये हैं। इन हम्मालों को कोरेंटाइन करने की बात कही जा रही है। 


मेयो कॉलेज में पढ़े थे ऋषि कपूर, कई बार आए थे अजमेर

 अजमेर (हलचल)। आज चिरनिंद्रा में सोने वाले अभिनेता ऋषि कपूर की अजमेर से भी यादें जुड़ी हैं। उपनाम चिंटू से पहचाने जाने वाले ऋषि कई बार अजमेर आए थे। उनकी यादें आज भी लोगों से जुड़ी हैं।
दरगाह के खादिम कुतुबुद्दीन सकी ने बताया कि ऋषि 2006-07 में नमस्ते लंदन की फिल्म की श्ूाटिंग के दौरान अजमेर आए थे। फिल्म निर्देशक विपुल शाह और अभिनेत्री कैटरीना कैफ  भी उनके साथ आई थीं।
दरगाह में जियारत के दौरान प्रशंसकों की भीड़ जुटने के बाद भी ऋषि ने सहजता से प्रशंसकों का अभिवादन किया और हाथ मिलाया। हालांकि कैटरीना के मिनी स्कर्ट पहनने और दरगाह में शूटिंग करने पर काफी विवाद हुआ था।
कुछ दिन पढ़े थे मेयो कॉलेज में
मेयो के पूर्व उपाचार्य रमेश शाह ने बताया कि ऋषि कपूर 1961-62 में मेयो में भी पढ़े थे। लेखक इंदरराज मल्होत्रा के कहने पर उनके पिता और मशहूर अभिनेता-निर्माता राज कपूर ने यहां उनका दाखिला करवाया था। ऋषि कॉल्विन हाउस के छात्र थे, लेकिन छह महीने में तबीयत खराब होने पर वे वापस मुंबई लौट गए। बाद में उनका दाखिला मुंबई के कैम्पियन स्कूल में कराया गया। उस वक्त मेयो कॉलेज में जेटीएम गिब्सन प्राचार्य थे।
ऋषि के सहपाठी महेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि वे छह महीने ही मेयो में रहे। अभिनेत्री नूतन के भाई जयदीप समर्थ भी उनके साथ पढ़ते थे। अजमेर से जाने के बाद भी ऋषि मेयो से जुड़े रहे। वे कई बार शूटिंग और दरगाह जियारत के दौरान यहां आते रहे थे। बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेराय के 90 के दशक में मेयो कॉलेज में पढऩे के वक्त ऋषि कपूर मेयो कॉलेज आए थे। यह जानकारी मिलते ही बीकानेर पैवेलियन पर छात्रों और शिक्षकों की भीड़ जुट गई थी।


 


 


शाहपुरा में समर्थन मूल्य पर गेहूं की तुलाई एक से, टोकन लेने पर ही होगी तुलाई

 भीलवाड़ा (हलचल)। शाहपुरा की कृषि उपज मंडी परिसर में रबी वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर गेहंू खरीद का काम ऐ मई से शुरू होगा। इसके लिए वहां सारी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं। लॉकडाउन के दौरान वहां काश्तकारों की भीड़ एकत्र न हो, इसके लिए टोकन व्यवस्था बनाई गई है। टोकन देने के लिए कृषि विभाग के दो अधिकारियों को अधिकृत किया गया है।
एसडीएम श्वेता चौहान ने बताया कि कृषि मंडी में टोकन जारी करने के लिए सहायक कृषि अधिकारी शाहपुरा केदार जाट (मोबाइल नंबर 7976657776) व कृषि पर्यवेक्षक तहनाल कैलाश कहार (मोबाइल नंबर 9636096954) को अधिकृत किया गया है। उन्होंने बताया कि कृषि मंडी परिसर में क्रय विक्रय सहकारी समिति को समर्थन मूल्य पर क्रय करने के लिए अधिकृत किया गया है।
सहायक निदेशक कृषि विस्तार उषा चितारा ने बताया कि शाहपुरा में गेहंू खरीद केंद्र क्रय विक्रय सहकारी समिति के सेंटर प्वॉइंट पर गुणवत्ता मापदंडों की जानकारी देने, व्यवस्था सुचारू बनाने के लिए, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कराने के लिए लगाए गए दोनों कार्मिकों को मौके पर रहकर सभी व्यवस्थाएं करने को कहा गया है।


लायनेस क्लब की ऑनलाइन अवार्ड सेरेमनी, वागरानी डिस्ट्रिक्ट में थर्ड बेस्ट प्रेसीडेंट

 भीलवाड़ा (हलचल)। लायनेस क्लब की डिस्ट्रिक्ट 32332 की प्रेसीडेंट लायनेस उषा गर्ग ने ऑनलाइन अवार्ड सेरेमनी का आयोजन किया। सेरेमनी में श्रेष्ठ सेवा कार्यों के लिए पदाधिकारियों को अवार्ड दिए गए। इसमें लायनेस क्लब भीलवाड़ा संजीवनी की प्रेसीडेंट लायनेस नीलू वागरानी को डिस्ट्रिक्ट की थर्ड बेस्ट प्रेसिडेंट और संजीवनी सेक्रेट्री लायनेस सुमन अग्रवाल को सिल्वर अवार्ड से सम्मानित किया गया।
लायनेस मल्टीपल प्रेसीडेंट मृदुला रोजिंदर ने भिलाई से उन्हें बधाई भेजी। लायनेस क्लब भीलवाड़ा संजीवनी द्वारा कोरोना की महामारी के चलते हुए जरूरतमंद परिवारों को राशन की सामग्री पहुंचाने की यथासंभव व्यवस्था की जा रही है। इसमें सपना अग्रवाल, ममता चलाना, अभिलाषा कामलिया, मधु पटेल, दीपिका रहेजा, पूजा  भगतानी व प्रियंका बोहरा का विशेष योगदान रहा।


मेंज रोग से 700 ऊंटों की मौत चिंताजनक: जाजू

 भीलवाड़ा (हलचल)। लॉकडाउन के चलते पशु चिकित्सालय बंद होने, अस्पतालों व बाजार में दवा उपलब्ध न होने से करीब 700 ऊंटों की मौत मौत को गंभीर चिंताजनक बताते हुए पीपल फॉर एनीमल्स के प्रदेश प्रभारी बाबूलाल जाजू ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेजा है।
इसमें कहा गया है कि 700 ऊंटों की इलाज व दवा के अभाव में मौत सरकार की घोर लापरवाही है। जाजू ने कहा कि 12 साल पहले ऊंटों की संख्या 10 लाख थी जो सरकार की अनदेखी से 2019 की गणना में मात्र 2 लाख 12 हजार रह गई, जो अत्यधिक चिंताजनक है।
जाजू ने बताया कि ऊंटों में इस बीमारी के लिए इवेरमेक्टिन नाम का टीका लगता है। यह टीका सरकारी अस्पतालों व दवा विक्रेताओं के पास भी नहीं है व पशु चिकित्सालयों में डॉक्टर नहीं हैं। जाजू ने बताया कि ऊंटों की घटती संख्या बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने 2016 में उष्ट्र विकास योजना बनाई थी, जिसके तहत ऊंट पालकों को 10000 रुपए मिलते थे। इसे वर्ष 2019 से बंद कर दिया गया है। जाजू ने बताया कि सरकार की अनदेखी से ऊंटों की तस्करी खाड़ी देशों में इसके मांस की मांग बढऩे से पिछले कई सालों से हो रही है। जाजू ने पशुपालन मंत्री व मुख्यमंत्री से संकटग्रस्त ऊंट प्रजाति को बचाने व संख्या बढ़ाने के लिए ऊंटपालक रायका जाति को अपने ऊंटों के इलाज का प्रबंध कराने व ऊंटों की मौत ना हो, की पुख्ता व्यवस्था कराने की मांग की है।


जिले के 11 ब्लॉक में 40 क्वारैंटाइन सेंटर, 430 मरिज पहुंचे, 118 को मिली छुट्टी

 भीलवाड़ा हलचल। कोरोना संक्रमण के चलते प्रशासन ने जिले के 11 ब्लॉक में 2369 बैड के 40 क्वारैंटाइन सेंटर तैयार किये हैं, जिनमें 430 संदिग्ध मरिजों को भर्ती किया गया। इनमें से 118 को छुट्टी दी जा चुकी है। 
जानकारी के अनुसार, कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन में फंसे लोगों के लौटने के साथ ही जिला मुख्यालय पर स्थित क्वारेंटाइन सेंटर्स में बड़ती संख्या के चलते प्रशासन ने ब्लॉक स्तर पर क्वारेंटाइन सेंटर खोले हैं। 11 ब्लॉक में 40 क्वारैंटाइन सेंटर बनाये गये। इनकी क्षमता 2369 बैड की है। इन सेंटर्स में गुरुवार तक 430 संदिग्ध मरिजों को भर्ती किया जा चुका है। वहीं 118 लोगों को छुट्टी भी मिल चुकी है। यह स्थिति गुरुवार सुबह तक की है। 


किस ब्लॉक में कितने सेंटर
आसींद 9, बनेड़ा, शाहपुरा, गुलाबपुरा, जहाजपुर और सुवाणा में एक-एक, रायपुर 3, कोटड़ी 8, गंगापुर 4, मांडल 4, मांडलगढ़ में 7 क्वारैंटीन सेंटर बनाये गये हैं। 


कहां कितने आये मरिज
आसींद ब्लॉक  के 9 में से पांच सेंटर्स में 74, बनेड़ा में 13, शाहपुरा 56,रायपुर 17, गुलाबपुरा 26, कोटड़ी 45, गंगापुर 50, मांडल 122, मांडलगढ़ 17, जहाजपुर 10 संदिग्ध मरिज आये। 


ये है बेड क्षमता
जिले के विभिन्न 11 ब्लॉक में बनाये गये क्वारैंटीन सेंटर्स बैड क्षमता इस प्रकार है। आसींद 358, बनेड़ा में 83, शाहपुरा 200,रायपुर 200, गुलाबपुरा 200, कोटड़ी 221, गंगापुर 211, मांडल 238, मांडलगढ़ 380, जहाजपुर 200 और सुवाणा में 80 बैड । 


एमजीएच सहित सभी अस्पतालों का कल से बदलेगा समय

 भीलवाड़ा (हलचल)। प्रतिवर्ष 1 अप्रैल से अस्पतालों का समय बदल जाता है लेकिन इस बार कोरोना महामारी के चलते 1 मई से अस्पतालों का समय बदला गया है। जानकारी के अनुसार महात्मा गांधी चिकित्सालय अब सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक खुलेगा। इसी तरह राजकीय डिस्पेंसरी व आयुर्वेदिक औषधालय दो पारी के चलते सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक व शाम 5 से 7 बजे तक खुलेंगे। गौरतलब है कि अस्पताल प्रशासन को गत 31 मार्च को आदेश मिले थे कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए एक अप्रैल से समय परिवर्तित नहीं किया जाए और 30 अप्रैल तक पुराना समय यथावत रखा जाए। इसी के चलते इस बार 1 मई से समय परिवर्तित हो रहा है।


आज शाम से होलसेल सब्जी मंडी शुरू, कल पूरे शहर में सप्लाई

 भीलवाड़ा (हलचल)। जिला मुख्यालय स्थित कृषि उपज मंडी में होलसेल सब्जी मंडी में गुरुवार शाम सात बजे कारोबार शुरू होगा। दो दिन बंद के बाद सब्जी मंडी में फिर से रौनक लौटेगी। फल, सब्जी व आलू आढ़तिया संघ के महामंत्री मथुरालाल माली ने बताया कि गुरुवार शाम सात बजे से मंडी में बाहर से आने वाले खरीदारों को सब्जियां बेची जाएंगी। स्थानीय रिटेल सब्जी विक्रेताओं को शुक्रवार सुबह 4 से 8 बजे तक सब्जियां मिलेंगीं। शहर में एक साथ सब्जियां सप्लाई की जाएंगी। गौरतलब है कि किसानों के सब्जियां अधिक मात्रा में लाने और कम बिकने के कारण फल, सब्जी व आलू आढ़तिया संघ ने दो दिन कारोबार बंद रखने का निर्णय लिया था। इसकी वजह से मंडी में रिटेल सब्जी विक्रेताओं को माल लेने के लिए अंदर भी नहीं आने दिया जा रहा।
इनका कहना है...
होलसेल सब्जी मंडी शुक्रवार से पूर्व की भांति नियमित शुरू हो जाएगी। शहर के सभी 55 वार्डों में कल सब्जियों की एक साथ गाडिय़ों से सप्लाई की जाएगी ताकि जहां सब्जियां नहीं पहुंच पाई, वहां एक बार तो सब्जियां पहुंच जाए। इसके बाद पहले की तरह अलग-अगल वार्डों में सब्जी सप्लाई जारी रहेगी।
- महिपाल सिंह, सचिव, कृषि उपज मंडी


अवैध शराब,50 लीटर वाश व उपकरण नष्ट कर दो व्यक्तियों किया गिरफ्तार

 राजसमन्द ( राव दिलीप सिंह)जिले मेंआमेट थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत झोर में गुरूवार को पुलिस विभाग द्वारा लॉकडाउन के दौरान एक व्यक्ति के द्वारा अवैध हथकड़ी शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। साथ ही एक अन्य व्यक्ति को शराब परिवहन करते गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।थानाधिकारी मुकेश कुमार खटीक ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक भवन भूषण यादव एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता द्वारा जिलेभर में कच्ची हथकड़ी शराब की धरपकड़ का अभियान चलाया जा रहा है । जिसके तहत पुलिस उपअधीक्षक नरपत सिंह कुंभलगढ़ के निर्देश पर थाना अधिकारी मुकेश कुमार खटीक के नेतृत्व में गठित  टीम ने मुखबीर की सूचना पर आमेट पुलिस ने हेड कांस्टेबल लालाराम, मदनलाल,जगदीश चंद्र, राम सहाय,कांस्टेबल श्रवण कुमार ,कृष्णकांत,हंसराज,करण सिंह,गणपत सिंह और रामनारायण को टीम में शामिल करते हुए पुलिस ने दो अलग-अलग स्थानों पर दबिश देकर हथकढ़ शराब निकालते ग्राम पंचायत झोर गांव में कुआ नामी हैजा के पास आरोपी  बालू सिंह पिता मान सिंह राजपूत उम्र 75 वर्ष,मवेशियों के पानी के प्याऊ पास में ही भट्टी लगाकर  गुड व महुए के द्वारा शराब  निकालते पकड़ा गया। मौके पर ही 35 लीटर शराब  व शराब बनाने के लिए प्रयुक्त भट्टी व शराब बनाने के उपकरण एवं 50 लीटर वाश को नष्ट करते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया गया। इसी तरह पुलिस ने  लिकी पंचायत के भोलीखड़ा चौराहे पर आमेट के रेलवे स्टेशन निवासी प्रभु लाल पिता गिरधारी लाल रेगर उम्र 32 वर्ष के पास से 5 लीटर  कच्ची हथकड़ी अवैध शराब को जप्त कर  आरोपी को गिरफ्तार किया गया ।


विश्व मजदूर दिवस पर विशेष -मजदूर हुआ मजबूर , पापी पेट का है कसूर

 राजसमन्द( राव दिलीप सिंह) कोरोना रूपी अदृश्य वैश्विक  महामारी से जारी मानव संघर्ष के बीच , विश्व का असंख्य  मजदूर अपने व अपने  अपनों के पापी पेट  की भूख मिटाने के लिए, मजबूर होकर बीच मझधार में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 134 वां व  देश में 72 वां विश्व मजदूर दिवस मना रहा है ! जहां आज मजदूर वर्ग के सम्मान ,श्रमनिष्ठा व स्वाभिमान का दिवस है ! वही लाइलाज बहुरूपी लक्षणों वाले कोविड -19 वायरस की अघोषित व अनिर्णायक  लड़ाई के चक्रव्यूह के बीच, अपनी कर्मस्थली व जन्मस्थली को छोड़ बीच रास्ते में, शासन-प्रशासन के नियमों  में फंसा व मजबूर खड़ा नजर आ रहा है !  स्वास्थ्य जांच की परीक्षा में पैदल ही चल कर अथवा आश्रय स्थलों व क्वॉरेंटाइन  सेंटरों पर ठहरने व  बेचैनी के बीच अपना समय व्यतीत कर रहा है ! इस उम्मीद में कि उन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचा दिया जाएगा ! 


संपूर्ण देश में घोषित  लॉक डाउन के बीच कंपनियों , फैक्ट्रियों व निजी क्षेत्र के संस्थानों में काम कर रहे मजदूरों  को निकाले जाने पर , अपने अपनों  तक पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं ! इससे लाखों की संख्या में बेरोजगारी का आलम देखा जा सकता है, जो समृद्ध राष्ट्र  निर्माण के  सपने में कहीं व्यवधान डालने वाला सा लगता है !


 वैश्विक कोरोना आपदा का संकट आने पर ही शासन-प्रशासन को भी आंकड़ों का मालूम चल रहा है कि कितना बड़ा मजदूर वर्ग रोजगार के लिए प्रवासन व आप्रवासन करता है ? जिसका शासन-प्रशासन के पास आज तक वास्तविक आंकड़ा उपलब्ध नहीं था !  कोरोना निगरानी दलों द्वारा किए जा रहे सर्वे से ही, वास्तविक स्थिति का मालूम चल रहा है ! जो प्रति राज्य लाखों की संख्या में अंतर जिला रोजगार या मजदूरी  की तलाश प्रवासन करते हैं ! राजस्थान के प्रत्येक जिले में औसतन 40 से 50 हज़ार मजदूर अन्य जिलों में माइग्रेशन करते हैं ! जो रोजगार की गारंटी प्रदान किए जाने की पोल खोलने के लिए पर्याप्त है !


 देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले मजदूर वर्ग को, उसकी जन्मस्थली पर ही ससम्मान ,उनकी दक्षता, कार्यकुशलता व योग्यता के आधार पर ,रोजगार दिए जाने की व्यवस्था की जानी चाहिए ! एक सुदृढ़ श्रमिक नीति का निर्माण होना चाहिए, जिसमें इन श्रमिकों को स्वास्थ्य , शिक्षा , आवास, संतुलित भोजन, पेंशन जैसी अन्य सुविधाओं को दिया जाना सुनिश्चित हो ! 


 देश व प्रदेशों में संचालित होटलों, फैक्ट्रियों, ईट भट्टा उद्योग, खनन उद्योग ,आदि में   कार्यरत 14 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बाल मजदूरों को भी मुक्त कराया जाना चाहिए ! बाल श्रम निषेध और नियमन अधिनियम 1986  की अक्षरसह अनुपालना सुनिश्चित होनी चाहिए ! 


बंधुआ मजदूरी प्रणाली उन्मूलन अधिनियम 1976 का उल्लंघन करने पर , कठोर दंडात्मक कार्रवाई किया जाना सुनिश्चित हो ! पुरुषों के समान ही महिलाओं को भी पारिश्रमिक  मिले ! काम के बदले अनाज, गेहूं, चावल व अन्य खाने की सामग्री के स्थान पर , नगद राशि के भुगतान की व्यवस्था करवाई  जानी चाहिए !


 कोरोना संकट के बीच शासन प्रशासन और भामाशाह द्वारा श्रमिकों को भोजन, पानी ,आवास व स्वास्थ्य संबंधित व्यवस्थाएं दी जा रही है ! जो मजदूरों के स्वाभिमान व श्रम निष्ठा के प्रति सम्मान की एक अनुकरणीय पहल है ! उसके बदले स्वाभिमानी व मेहनती मजदूर वर्ग ने अपने नमक का फर्ज अदा करने के लिए , क्वॉरेंटाइन सेंटर्स पर विद्यालयों की मरम्मत, रंग रोगन और पेड़-पौधों का संरक्षण का जिम्मा ले रखा है ! जो उनकी ईमानदारी वफादारी व मेहनत  की आदत को परिलक्षित करता है !


पर्यावरणविद कैलाश सामोता ने विचार रखा है कि महात्मा गांधी नरेगा कार्यक्रम के तहत ग्रामीण विकास कार्यों के साथ-साथ , मजदूरों को पेड़ पौधे लगाने , उनका संरक्षण करने, प्राकृतिक जल स्रोतों का  जीर्णोद्धार करने तथा उन्हें पुनर्जीवित करने के कार्य में भी लगाया जाना चाहिए !  प्रकृति समृद्ध होगी तभी देश भी समृद्ध व खुशहाल होगा ! 


मजदूर दिवस के अवसर पर, संपूर्ण राष्ट्र और समाज को, राष्ट्र और समाज की प्रगति , समृद्धि और खुशहाली के लिए, श्रमिकों के योगदान को नमन करना चाहिए ! देश की उन्नति , श्रमिकों की समृद्धि पर ही निर्भर करती है !


गढ़बोर की अखिल भारतीय माहेश्वरी सेवा सदन मामला- एडीएम करेंगे जांच

   राजसमन्द( राव दिलीप सिंह) जिले के गढ़बोर स्थित श्री अखिल भारतीय माहेश्वरी सेवा सदन के अध्यक्ष द्वारा चारभुजा तहसीलदार के विरूद्ध जिला कलक्टर के समक्ष शिकायत की गई कि उनके द्वारा सदन के कार्मिक के साथ बेरहमी से मारपीट की गई। जिला कलक्टर अरविन्द पोसवाल ने प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार को इस प्रकरण की विस्तृत जांच करने के निर्देश दिए।


    जिला कलक्टर अतिरिक्त जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि इस घटना से सम्बद्ध प्रत्येक साक्ष्य का बारिकी से परीक्षण करें तथा विस्तृत जांच तय स्पष्ट तथ्यों के एक सप्ताह में प्रस्तुत करें।


राज्य सरकार बाजार से नहीं, किसानों से खरीदें गेहूँ : किरण माहेश्वरी

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह)इस बार अच्छी वर्षा एवं उन्नत भूजल स्तर के कारण गेहूँ की बंपर पैदावार हुई है। किन्तु किसानों से उनकी कूल उपज का 25% गेहूँ ही समर्थन मूल्यों पर खरीदा जा रहा है। पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री एवं विधायक किरण माहेश्वरी ने बताया कि गरीबों को निःशुल्क वितरण के लिए मुख्यमंत्री ने खाद्य निगम से 21 रू किलों की दर से गेहूँ खरदीने की घोषणा की थी। सरकार खाद्य निगम से नहीं, किसानों से ही समर्थन मूल्यों पर गेहूँ खरीदे, तो इससे किसानों का भी भला होगा और राज्य सरकार को भी अच्छी खासी बचत होगी।


किरण माहेश्वरी ने कहा कि कोरोना संकट के कारण किसान मंडियों में भी गेहूँ नहीं बेच पा रहे है। उनके सामने गेहूँ को सहेजकर रख पाना बड़ी चुनौती है। असमय वर्षा के कारण उनकी कठिनाईयाँ बहुत बढ़ गई है। यदि गेहूँ भीग गया तो सरकारी अधिकरण खरीदेंगे नहीं और बाजार में सही मूल्य नहीं मिलेगा। किसान शहरों में मजदूरी करने भी नहीं जा पा रहे है। ऐसी स्थिति में उनके सामने आर्थिक संकट हो जाएगा।


 


किरण नें राज्य सरकार से समर्थन मूल्यों पर शत प्रतिशत खरीदी करने, खरीदी की गति बढ़ाने और समय पर भुगतान करने के संबंध आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया।


 


 


चारभुजा तहसीलदार के खिलाफ कार्यवाही की मांग ,कलेक्टर को लिखा पत्र

  राजसमन्द ( राव दिलीप सिंह) जिला माहेश्वरी संस्थान सभा द्वारा चारभुजा तहसीलदार पर्वत सिंह द्वारा पद का दुरुपयोग करते हुए मारपीट व अभद्रता करने पर उनके खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर राजसमन्द जिला कलेक्टर अरविंद पोसवाल को पत्र लिखा गया। जिला माहेश्वरी संस्थान सभा के अध्यक्ष अर्जुन लाल चेचानी, संरक्षक इंद्र लाल छापरवाल ,वरिष्ठ उपाध्यक्ष नंदलाल चेचानी ,महासचिव खूबचंद झंवर ने  जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर मांग की है।की अखिल भारतीय माहेश्वरी सेवा सदन गढ़बोर/ चारभुजा/ भवन में 27 अप्रेल- सोमवार को चारभुजा तहसीलदार पर्वत सिंह द्वारा सेवा सदन में कार्यरत कार्मिकों के साथ में मारपीट एवं अभद्रता की गई। यह अत्यंत निंदनीय एवं अशोभनीय है। समाज द्वारा इस भवन को इस महामारी में कोरोटाइन सेंटर के लिए समाज द्वारा उपयोग के लिए दिया हुआ है। इस समय माहेश्वरी समाज तन मन एवं धन से इस कोरोना बिमारी मैं अपना सहयोग प्रदान कर रहा है। ऐसे समय में एक प्रशासनिक स्तर के अधिकारी द्वारा संस्थान कर्मचारियों से मारपीट कर उनको धमकाया जा रहा है। तहसीलदार द्वारा कार्मिक के साथ की गई मारपीट के  सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दे रही हैं ।साथ ही कार्मिको के शरीर पर मारपीट के निशान साफ देखे जा सकते है ।इस तरह से किया गया कार्य सर्वथा अनुचित  है। माहेश्वरी  समाज हमेशा प्रशासन को सहयोग दिए जाने के लिए कृतसंकल्प है । किंतु प्रशासन के अधिकारी द्वारा जो व्यवहार किया जा रहा है ।वह सर्वथा अनुचित है । पत्र में जिला कलेक्टर से आग्रह किया गया कि वह प्रकरण की निष्पक्ष जांच उच्च अधिकारियों द्वारा करवा कर दोषी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाये।


राशन किट वितरण

 राजसमन्द ( राव दिलीप सिंह) जिले मेंआमेट तहसील के सेलागुडा ग्राम पंचायत में समाजसेवी एवं भामाशाह दिलीप सिंह राव की और से जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री के किट वितरण किए गए। ताकि उनको महामारी में किसी प्रकार की खाद्य सामग्री की परेशानी का सामना ना करना पड़े ।किट वितरण गाइड सिंह राठौड़ समाजसेवी एवं राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष महेंद्र सिंह चुंडावत, संरक्षक राजाराम यादव एवं 


सरपंच गंगा सिंह चुंडावत, उप सरपंच गोकुलराम, ग्राम विकास अधिकारी जगदीशचंद्र,पटवारी किशन सिंह आदि के सानिध्य में 40 किट वितरण किए। राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज संघ सदस्यों द्वारा राशन  सेलागुडा पंचायत के ग्राम खारा शिवनाल एवं काजीगुड़ा के जरूरतमंदों तक पहुंचाया गया। इससे पूर्व  विकावास आईडाणा के गाँव में राशन पहुँचाया।


जून के पहले सप्ताह में हो सकती है विवि की परीक्षाएं , जल्द आएगा टाइम टेबल

जयपुर। प्रदेश की सबसे बड़ी राजस्थान यूनिवर्सिटी ने भी अब एग्जाम को जल्द करवाने के संकेत दिए है। यूनिवर्सिटी से मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान यूनिवर्सिटी जून में सभी शेष एग्जाम को करवा सकती है। इसे लेकर योजना तैयारी की जा रही है। राजस्थान यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर आर.के. कोठारी के अनुसार राजस्थान यूनिवर्सिटी ने कोरोना संक्रमण के कारण कुछ परीक्षाओं को स्थगित कर दिया था। अब इन बची हुई परीक्षाओं को जून के पहले सप्ताह तक आयोजित करवाने की योजना तैयार की जा रही है।

यह है बची हुई परीक्षाएं
आपको बता दें कि राजस्थान यूनिवर्सिटी में अंडर ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन दोनों ही लेवल की परीक्षाएं बची हुई है। लिहाजा विवि ने यूजी फर्स्ट ईयर और सेंकड ईयर और पीजी फर्स्ट ईयर और सेमेस्टर परीक्षाओं को तीन जून से शुरू करने का फैसला लिया है। लेकिन एग्जाम किस तरह कंडेक्ट करवाए जाएंगे, इसके लिए अभी असमंजस ही है। विवि के अनुसार एग्जाम शुरू करने से सप्ताह भऱ पहले इसे लेकर टाइमटेबल जारी कर दिया जाएगा।
 
प्रेक्टिकल एग्जाम होंगे बाद में
विवि से मिली जानकारी के अनुसार ड्यू पेपर में सबसे पहले मुख्य परीक्षाएं आयोजित की जाएगी। इसके बाद प्रेक्टिकल एग्जाम को कंडेक्ट करवाया जाएगा। वहीं राजस्थान यूनिवर्सिटी में दोबारा सत्र प्रारम्भ भी योजना बनाकर जून में ही शुरू करने का फैसला लिया गया है। ऑफलाइन स्टडी को लेकर भी रणनीति तैयार की जा रही है।


लॉकडाउन में देशी शराब पीना पड़ा महंगा, दो लोगों ने जान गंवाई

भरतपुर
कोरोना वायरस  के संक्रमण को रोकने के मद्देनजर पूरा राजस्थान लॉकडाउन  है। लॉकडाउन के कारण प्रदेश में सभी सरकारी ठेके बंद है। जिसके चलते अब प्रदेश में चोरी-छिपे अवैध शराब का कारोबार तेजी से फैल रहा है। देशी शराब पीने से लोगों की जान भी जा रही है। ऐसा ही एक मामला भरतपुर जिले के एक गांव से सामने आया है। यहां अवैध रूप से घरों में बनाई जा रही देशी शराब पीने से दो लोगोंं की मौत हो गई है। गांव वाले शराब को जहरीली बता रहे हैं।
जानकारी के अनुसार, घटना वैर थाना इलाके के गांव खरबेरा की है। यहां बीते 27 अप्रैल को गांव के दो युवक चंद्रशेखर व विश्वेन्द्र सिंह की जहरीली शराब पीने से मौत हो गयी | लॉक डाउन के दौरान जब सरकार ने शराब के ठेके बंद कर शराब की बिक्री को रोक रखा है। तब भी गांव में अवैध शराब बनाकर बिक्री की जा रही है। बताया जा रहा है कि उसके सेवन से दो युवकों की मौत हो गयी। जानकारी के मुताबिक, दोनों युवकों ने गांव के ही एक व्यक्ति से देशी शराब खरीदकर पी थी। जिसके बाद पेट में तेज जलन व दर्द होने से चंद्रशेखर को अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गयी।

 वहीं, दूसरे दिन विश्वेन्द्र सिंह की तबीयत भी बिगड़ने लगी। आनन-फानन में उसके परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे । कुछ देर बाद उसकी भी मौत हो गई। मृतक के परिजन ने बताया की दोनों ने गांव के एक व्यक्ति से देशी शराब खरीदकर पी थी। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।


लॉकडाउन में दिल्ली से फतेहपुर पैदल घर जा रहे तीन लोगों की सडक हादसे में दर्दनाक मौत

अलीगढ़। देश में कोरोना वायरस के मरीज लगातार बढते जा रहें हैं । लॉकडाउन में दिल्ली से पैदल घर जाने के लिए निकले फतेहपुर जिले के तीन मजदूर गुरुवार तड़के सड़क दुर्घटना का हादसे के शिकार हो गए। घटना अलीगढ़ के मडराक क्षेत्र में हाईवे बाईपास पर हुई है। इस हादसे में एक ही परिवार के तीन मजदूरों की मौत हो गई। इसमें एक महिला भी शामिल है। इसके अलावा एक किशोरी गंभीर रूप से घायल हो गई। किशोरी का जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
फतेहपुर जनपद के भोज थाना क्षेत्र के ऐराया निवासी रंजीत सिंह अपने छोटे भाई दिनेश व उसकी पत्नी संत कुमारी के साथ दिल्ली में रहकर मजदूरी करता था। लॉकडाउन के कारण तीनों दिल्ली में ही फंस गए । दो दिन पहले किसी तरह तीनों दिल्ली से पैदल ही घर के लिए निकल पड़े। बुधवार रात करीब ढाई बजे उन्होंने अलीगढ़ जिले की सीमा में प्रवेश कर गए। उनके साथ एटा का भी एक परिवार पैदल चल रहा था। रास्ते में उन्हें गेहूं से भरा ट्रैक्टर मिल गया, जिसमें सभी लोग सवार हो गए। जैसे ही ट्रैक्टर पड़िवाली के पास रेलवे पुल के निकट पहुंचा, तो पीछे से आ रहे कंटेनर ने इसे टक्कर मार दी।



मांडल में दो घंटे मिली छूट, रौनक लौटी

मांडल(चन्द्रशेखर तिवाड़ी) -- कोरोना महामारी के कारण सरकार द्वारा लगाये गये लोकडाऊन की वजह से कस्बे के बाजार लम्बे समय से बंद थे। जिला प्रशासन के निर्देश पर स्थानीय उपखंड प्रशासन ने आज दो घंटों के लिए कुछ दुकानें खोलने की छूट दी। दोपहर बारह से दो बजे तक किराणा, खाद्य, कूलर पंखे विक्रेताओं ने दुकानें खोली । आज दुकानें खुलने का पहला दिन था और दोपहर का समय होने के कारण बाजार में  चहल पहल नहीं दिखाई दी तो पुलिस भी दुकान खोलने की छूट समाप्त होने के साथ ही पुलिस भी दुकानें बंद करवाने और लोकडाऊन पालना करवाने में सक्रिय दिखी। स्वयं थानाधिकारी राजेन्द्र गोदारा व उपनिरीक्षक कानसिंह बाजार में दुकानदारों को छूट की अवधि में गाइडलाइन अनुसार निर्देशों का पालन करने की व्यापारियों से अपील करते देखे गये।


होटल व्यवसायी की कुवैत में संक्रमण से मौत

डूंगरपुर /कोरोना के कहर के बीच एक झकझोर देने वाला मामला  डूंगरपुर के सीमलवाड़ा कस्बे में सामने आया। यहां के रहने वाले होटल व्यवसायी दिलीप कलाल (56) की कुवैत में संक्रमण से मौत हो गई। वह पिछले 15 दिनों से वहां के हॉस्पिटल में भर्ती थे। डूंगरपुर में मृतक की पत्नी, बेटे-बहू समेत परिजन फंसे हुए हैं। अंतिम संस्कार की रस्म पूरी नहीं होने से सबको बड़ा दुख था। इस पर घर के बुजुर्गों ने सांकेतिक अंतिम संस्कार करने का सुझाव दिया। परिवार और रिश्तेदारों ने अंतिम संस्कार के बाद आगे की रस्मों के लिए पुराने कपड़ों से शव बनाकर दाह संस्कार किया। फिर इसकी राख इकट्ठी की।


प्रदेश सहित देशभर से भीलवाड़ा पहुंचे 542 लोग, स्क्रीनिंग के बाद क्वारैंटाइन और होमआइसोलेट किया गया

 भीलवाड़ा हलचल। कोविड 19 के चलते देशभर में लॉकडाउन के चलते देश के विभिन्न इलाकों में फंसे भीलवाड़ा के 542 लोग अब तक भीलवाड़ा पहुंच चुके हैं। इन सभी को चेकपोस्ट पर स्क्रीनिंग के बाद संबंधित इलाकों के  क्वारैंटाइन और होमआइसोलेट किया गया है। 
जानकारी के अनुसार, प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पिछले दिनों लॉकडाउन के चलते देश के विभिन्न प्रदेशों में फंसे राजस्थानियों को लाने के प्रयास शुरू किये थे। इसी के चलते गुरुवार सुबह दस बजे तक 542 लोगों को भीलवाड़ा लाया जा चुका है। इनमें पुरुष, महिलायें और बच्चे भी शामिल हैं। सभी को बसों से भीलवाड़ा लाया गया। जहां चेक पोस्ट पर इन लोगों की स्क्रीनिंग की गई। इसके बाद सभी को उनके इलाके के क्वारैंटाइन सेंटर और होमआइसोलेट करवा दिया गया। 
सूत्रों का कहना है कि ये 542 लोग मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, तेलंगाना, हैदराबाद, कर्नाटक, दिल्ली के साथ ही राजस्थान के विभिन्न जिलों से यहां लाये गये। बताया गया है कि यहां आये सभी लोगों की जहां थे, वहां से कोरोना जांच की जा चुकी है। साथ ही इन लोगों ने भीलवाड़ा लौटने के लिए प्रशासन को प्रार्थना-पत्र दिया था। अभी ऐसे लोगों के लौटने का क्रम जारी है और बड़ी संख्या में ऐसे लोगों के आने की संभावना जताई जा रही है।


कोरोना से जयपुर में दो और मृत्यु, 86 नए मामले सामने आए

जयपुर,  राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से दो और मरीजों की मृत्यु बृहस्पतिवार को दर्ज की गयी। इस बीच 86 नए मामले आने से राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,438 हो गयी है।राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) रोहित कुमार सिंह ने बताया कि बृहस्पतिवार को जयपुर में दो और मरीजों की मृत्यु दर्ज की गई। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़ी मौतों की संख्या 57 से अधिक हो गई है। अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर मामलों में रोगी किसी न किसी अन्य गंभीर बीमारी से भी पीड़ित थे।सुबह नौ बजे तक राज्य में 86 नए मामले आए। इनमें से जयपुर में 14, जोधपुर में 59, अजमेर में चार, टोंक में दो, चित्तौड़गढ़ में तीन और कोटा, बारां, धौलपुर तथा अलवर में एक एक नया मामला आया।राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों में दो इतालवी नागरिकों के साथ-साथ 61 वे लोग भी हैं जिन्हें ईरान से लाकर जोधपुर व जैसलमेर में सेना के आरोग्य केंद्रों में ठहराया गया।राज्यभर में 22 मार्च से लॉकडाउन लागू है और कई थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा है।


कोरोना से जयपुर में दो और मृत्यु, 86 नए मामले सामने आए

जयपुर,  राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से दो और मरीजों की मृत्यु बृहस्पतिवार को दर्ज की गयी। इस बीच 86 नए मामले आने से राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,438 हो गयी है।राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) रोहित कुमार सिंह ने बताया कि बृहस्पतिवार को जयपुर में दो और मरीजों की मृत्यु दर्ज की गई। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़ी मौतों की संख्या 57 से अधिक हो गई है। अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर मामलों में रोगी किसी न किसी अन्य गंभीर बीमारी से भी पीड़ित थे।सुबह नौ बजे तक राज्य में 86 नए मामले आए। इनमें से जयपुर में 14, जोधपुर में 59, अजमेर में चार, टोंक में दो, चित्तौड़गढ़ में तीन और कोटा, बारां, धौलपुर तथा अलवर में एक एक नया मामला आया।राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों में दो इतालवी नागरिकों के साथ-साथ 61 वे लोग भी हैं जिन्हें ईरान से लाकर जोधपुर व जैसलमेर में सेना के आरोग्य केंद्रों में ठहराया गया।राज्यभर में 22 मार्च से लॉकडाउन लागू है और कई थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा है।


माथुर राज्य स्तरीय निरीक्षण समिति में सदस्य मनोनीत

 भीलवाड़ा (हलचल)। बाल अधिकारिता विभाग की राज्य स्तरीय निरीक्षण समिति में भीलवाड़ा की सामाजिक कार्यकर्ता वंदना माथुर को 3 वर्ष के लिए सदस्य मनोनीत किया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री स्व. शिवचरण माथुर की पुत्रवधु वंदना माथुर प्रदेश सचिव कांग्रेस, मेंबर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी व महिला आश्रम स्कूल भीलवाड़ा की सचिव भी है।


 



बाहर से आने वालों पर निगरानी रख रहा नेहरू युवा मंडल

 बनेड़ा (हलचल)। कोरोना महामारी से बचाव के लिए बनेड़ा ब्लॉक के बामणिया ग्राम पंचायत के युवाओं ने उदाहरण प्रस्तुत किया है। पीईईओ डॉ महावीर कुमार शर्मा ने बताया कि 6 अप्रैल से निरंतर 24 घंटे नियंत्रण कक्ष राउमावि बामणिया में मुकेश कुमावत, तरुण सिंह, ललित सोडाणी, भवानी शंकर, फैयाज खान, मुकेश चेचाणी, प्रभुलाल कुमावत के सहयोग से संचालित हो रहा है। पंचायत क्षेत्र में अब तक 51 व्यक्ति होम क्वारंटाइन किए जा चुके हैं। इनमें से 49 व्यक्तियों की क्वारंटाइन अवधि पूरी हो चुकी है। 4 कोरोना ईगल लॉकडाउन की पालना करवाने के साथ ही सामाजिक समारोह, देवस्थान ,सार्वजनिक स्थान, नरेगा आदि पर निगरानी करके सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवा रहे हैं। कोरोना फाइटर लगातार बाहर से आने वाले लोगों की समय पर सूचना दे रहे हैं। नेहरू युवा मंडल के महावीर जाट, नेपाल सिंह सहित कई युवा मदद के लिए सरकारी कर्मचारियों के साथ लगे हुए हैं। गांव में सर्वे ,सैनेटाइजेशन में योगदान कर रहे हैं और बाहर से आने वाले व्यक्तियों की तुरंत सूचना नियंत्रण कक्ष में देते हैं। बाहर से आने वालों के लिए विद्यालय में कैलाश चंद्र तिवारी के निर्देशन में क्वारंटाइन तैयार कर लिया गया है।


बारां में मिला कोरोना का पहला मरीज, अब तक 29 जिलों में पहुंचा संक्रमण

 बारां (हलचल)। अब तक कोरोना के संक्रमण से अछूता चल रहा बारां जिला भी कोरोना पॉजीटिव मिलने के बाद प्रदेश के कोरोना प्रभावित जिलों में शामिल हो गया है। राजस्थान में 86 नए कोरोना संक्रमित मरीज सामने आने के बाद यह संख्या बढ़कर 2524 हो गई है। चिकित्सा विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार राज्य की राजधानी जयपुर में 14, जोधपुर में 59, अजमेर में चार, चित्तौडगढ़ में तीन तथा कोटा, बारां, धौलपुर व अलवर में एक-एक नया कोरोना संक्रमित मरीज सामने आया है।
बारां जिले में कोरोना वायरस का पहला केस सामने आया है। जिले के भंवरगढ़ निवासी एक 13 वर्षीय बालिका कोरोना पॉजीटिव मिली है। यह बालिका 25 अप्रैल को परिवार के साथ मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले के बड़ौदा कस्बे से अपनी मां व भाई के साथ बारां लौटी थी। उसी दिन तबीयत खराब होने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाने पर उसे नाहरगढ़ के क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती किया गया था। जांच में उसका शुगर लेवल काफी बढ़ा हुआ मिला था। चिकित्सकों ने उसे बारां और यहां से उसे कोटा रैफर किया गया था।
बालिका का पिता अभी बड़ौदा में ही
उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेन्द्र मीणा ने बताया कि कोटा में 26 अप्रैल को कोरोना जांच के लिए उसका पहला सैंपल लिया गया था, जिसकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। बाद में उसकी तबीयत में सुधार नहीं होने पर 29 अप्रैल को फिर कोरोना टेस्ट करवाया गया। कोटा के मेडिकल कॉलेज से गुरुवार सुबह मिली जांच में बालिका कोरोना पॉजीटिव मिली है। डॉ. मीणा ने बताया कि सुबह बालिका की रिपोर्ट मिलने के बाद जिले में उन लोगों की पहचान शुरू कर दी गई है, जो बालिका के संपर्क में आए थे। बालिका परिवार के साथ बड़ौदा ननिहाल में गमी के कार्यक्रम में शामिल होने गई थी। वहां से वह उसके भाई व मां के साथ मोटरसाइकिल से 25 अप्रैल को ही भंवरगढ़ लौटी थी। बालिका का पिता अभी बड़ौदा में ही बताया जा रहा है।


 


 


हलचल की खबर का असर- कलेक्टर ने शराब तस्करी रोकने के जिला आबकारी अधिकारी को दिये निर्देश

 
भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा हलचल में प्रकाशित -कफ्र्यू में दुग्ध सप्लाई के समय बिक रही है शराब, तस्कर वसूल रहे हैं दो से तीन गुना कीमत- समाचार को कलेक्टर ने गंभीरता से लेते हुये जिला आबकारी अधिकारी को कार्रवाई के निर्देश दिये हैं। 
उल्लेखनीय है कि शहर में लॉक डाउन और कफ्र्यू के बीच शराब तस्करी को लेकर हलचल ने समाचार प्रकाशित किये। इस समाचार के जरिये खुलासा किया गया है कि शहर में कहां-कहां शराब की बिक्री धड़ल्ले से हो रही है और तस्कर किस तरह शराब अपने ग्राहकों तक पहुंचा रहे हैं। इस समाचार को कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने गंभीरता से लेते हुये जिला अबकारी अधिकारी को शराब तस्करों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिये हैं।


पक्षियों के दाना-पानी के लिए बांधे परिंडे, कॉलोनी के बाशिंदों को किया प्रेरित

  भीलवाड़ा हलचल। गायत्री नगर, अपना संस्थान के  कार्यकर्ताओं ने शिवम ग्रीन कॉलोनी,  पर पक्षियों के लिए दाना पानी के लिए परिंडे बांधकर कॉलोनी वासियों को प्रेरित किया।
  अपना संस्थान के अध्यक्ष भंवरलाल माली, उपाध्यक्ष हंसराज यादव, सचिव पार्षद घनश्याम सिंगीवाल, पर्यावरण प्रमुख रोहित साहू, एवं अपना संस्थान के कर्मठ कार्यकर्ता मुकेश सेन, शोभा लाल सुथार आदि मौजूद रहे/
गर्मी में लोग अपनी प्यास बुझाने के लिए कई तरह के जतन करते हैं। विभिन्न प्रकार के पेय पदार्थों का सेवन धड़ल्ले से कर रहे हैं। ऐसे में हमें उन बेजुबान और लाचार परिंदों की हालत पर भी गौर करना चाहिए/


भाजपा ने दिया सेवा का संदेश 


भीषण गर्मी में गो माता के लिये चार पानी एवम  पक्षियों के लिए परिंडा लगाकर दाना पानी की व्यवस्था अपने-अपने घरों के बाहर अवश्य करें यह सबसे बड़ा पुण्य का कार्य है


भाजपा जिला प्रवक्ता कैलाश सोनी ने बताया कि आज सवाई भोज टॉवर के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए भाजपा जिला अध्यक्ष लादूलाल  तेली व पूर्व जिलाध्यक्ष दामोदर अग्रवाल के हाथो  से गो माता के लिए  पानी की टंकी रखवाकर उसमें पानी भरवाया चारा की व्यवस्था कर साथ ही पक्षियों के लिए परिंडे लगवाए गए 


इस अवसर पर भाजपा जिला मंत्री नंदलाल गुर्जर ,युवा मोर्चा पूर्व महांमत्री सुरेंद्र  मोटरास गौतम शर्मा सुरेंद्र सिंह पवार व राजू वर्मा  उपस्थित थे


 



शहर से लेकर गांव तक पक्षियों की देखरेख के लिए पक्षी प्रेमी अपने स्तर पर प्रयास करते है। गांव में जहां लोगों के पास अधिक स्थान होने पर परिंदों की प्यास बुझाने के लिए ग्रामीण विशेष इंतजाम करते हैं वहीं, दूसरी ओर शहरों में अधिकतर छज्जों व छतों का प्रयोग किया जाता है। इसलिए यदि आप भी पक्षियों से प्रेम करते हैं तो इस गर्मी में जरूर कुछ प्रयास करें।


 


सनाढ्य समाज सेवा समिति ने एडीएम को सौंपा 51 हजार रुपए का चेक

 भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोना के संक्रमण के चलते जहां लोग मदद के लिए आगे आ रहे हैं वहीं सनाढ्य समाज सेवा समिति की ओर से मुख्यमंत्री सहायता कोष में 51 हजार रुपए का चेक दिया गया। आज कलेक्टे्रट पहुंचे सनाढ्य समाज सेवा समिति के अध्यक्ष अशोक कुमार पुरोहित व महामंत्री कैलाशचंद्र शर्मा ने समाज की ओर से एडीएम (प्रशासन) राकेश कुमार को सहायता राशि का चेक सौंपा।


करंट से मोर झुलसा, उपचार के बाद वन विभाग को सौंपा

 बिजौलियां (हलचल)। कस्बे के मैन मार्केट में बिजली के पोल पर बैठे मोर के करंट लगने से वह झुलस गया। करंट लगने के बाद मोर नीचे गिर गया जिसे संजय सिंधी, रामस्वरूप सोनी और कुशल पुंगलिया पशु चिकित्सालय ले गए। पशु चिकित्सक ने मोर के पैर में लगभग 8-9 टांके लगाए। सूचना मिलने पर बिजौलियां बीट प्रभारी थान सिंह व अन्य मौके पर पहुंचे और मोर को वन विभाग को सौंप दिया। बताया जा रहा है कि मोर पूरी तरह स्वस्थ है।


 


 


ईंट भट्टा मजदूरों को भुगतान करवा घर भिजवाने की मांग

  भीलवाड़ा हलचल। राजस्थान प्रदेश ईंट भट्टा मजदूर यूनियन जिले के ईंट भट्टों पर कार्यरत मजदूरों को भुगतान दिलवाकर उन्हें घर भिजवाने की मांग उप श्रम आयुक्त को पत्र लिखकर की है। 
यूनियन के कार्यकारिणी सदस्य शैतान रैगर ने उप श्रम आयुक्त को लिखे पत्र में बताया कि जिले में करीब 200 से अधिक ईंट भट्टे हैं, जिनमें उत्तरप्रदेश, बिहार के करीब 2 हजार प्रवासी मजदूर काम करते हैं। सरकार प्रवासी मजदूरों को घर भिजवा रही है, लेकिन ईंट भट्टों में कार्य कर रहे मजदूरों को सीजन के अंत में हिसाब किया जाता है। कई मजदूर घर जाना चाहते हैं, लेकिन भट्टा मालिक मजदूरी का भुगतान नहीं कर रहे हैं। सरकारी आदेश के बावजूद ईंट भट्टों पर लॉकडाउन की मजदूरी नहीं दी गई। यूनियन ने ईंट भट्टा मजदूरों को मजदूरी का भुगतान करवाकर घर भिजवाने की मांग की है।


किसानों ने लिया जरुरतमंदों की मदद का निर्णय

 भीलवाड़ा हलचल। कोरोना माहमारी के बीच स्वयं सेवी संगठन और सरकार तो जरुरतमंदों की मदद कर ही रही है। अब किसानों ने भी ऐसे जरुरतमंदों की मदद का निर्णय लिया है। ये किसान खेतों से निकले गेहूं को पिसा कर आटा जरुरतमंदों को वितरण करेंगे।  
 माणिक्य नगर माली खेड़ा निवासी बद्री लाल माली के पुत्र किशन लाल माली और सत्यनारायण माली ने अपने खेत से गेहूं की फसल निकलने के बाद फैसला लिया कि वो भी अपनी ओर से जन सेवा करेगे।   अपने खेत से निकले हुए गेहू को पिसा कर 5-5 किलो के करीब 51 पैकेट आटा जरूरत मंदो को बांटेंगे। 


सब्जी की आड में टेंपो में ले जाई जा रही थी 520 लीटर शराब, पुलिस ने पकड़ी, चालक फरार

 भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोना महामारी के बीच शराब की अवैध बिक्री धड़ल्ले से जारी है। लॉकडाउन में सरकार ने शराब की बिक्री पर रोक लगा रखी है, इसके बावजूद शराब बिक्री का अवैध कारोबार नहीं रुक रहा है और शराब बनाने व बेचने वाले मुंहमांगे दामों पर शराब बेचकर चांदी कूट रहे हैं। इस धंधे से जुड़े लोग सफेदपोश धंधों की आड में ऐसे काले कारनामों को अंजाम दे रहे हैं। सब्जी बेचने की आड में एक टेंपों को शराब ले जाते कोटड़ी पुलिस ने पकड़ा है जबकि चालक मौका पाकर वहां से फरार होने में कामयाब हो गया।
कोटडी थाना प्रभारी अशोक सांवरिया ने बताया कि वे बुधवार रात पुलिस दल के साथ पपलाज के आगे नाकाबंदी कर बिना अनुमति के इधर-उधर घूमने वाले लोगों व वाहनों की धरपकड़ कर रहे थे उसी समय एक टेंपो वहां आया, जिसके आगे माइक लगा था। प्रथमदृष्टया टेंपो सब्जी बेचने वाले टेंपो जैसा नजर आया क्योंकि उसमें प्लास्टिक के कैरेट में सब्जियां भी रखी हुई थीं। टेंपो को रुकवाकर पूछताछ की तो चालक संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। शंका होने पर तलाशी लेने के लिए पुलिस जैसे ही टेंपो के पास पहुंची तो चालक मौका पाकर फरार हो गया। टेंपो पर लगे तिरपाल को हटाने पर 9 कट्टों में 520 लीटर शराब बरामद की गई। पुलिस ने टेंपो जब्त कर चालक की तलाश शुरू की है।


 


 


कोरोना शोध मे शरीर देने का पत्र लिखा

सवाईपुर ( सांवर वैष्णव )!देश में कोरोना वायरस जैसी महामारी से हमारा देश सकंट से जूझ रहा है | इसे लेकर  बी-32 विद्युत नगर भीलवाड़ा निवासी मयंक वैष्णव एन.एस.यू.आई छात्र नेता ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को एक पत्र ई-मेल किया जिसमे बताया की प्रदेश के चिकित्सकों को मानव शरीर की आवश्यकता हो जिस पर वैक्सीन का प्रयोग करना चाहते हो तो मे इस प्रयोग के लिए शरीर समर्पित करता हूँ | ||


लोजप का अध्यक्ष बताकर एसपी, एसडीएम और सीआई के नाम से व्यापारी से मांगी बंधी, गिरफ्तार

 भीलवाड़ा हलचल। अपने आप को लोकजन शक्ति पार्टी का अध्यक्ष बताकर एक व्यक्ति ने एसपी, एसडीएम व प्रताप नगर थाना प्रभारी के नाम से आजाद नगर के एक नमकीन व्यापारी से मासिक बंधी की डिमांड करने का मामला सामने आया है। पीडि़त व्यापारी की रिपोर्ट पर प्रतापनगर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपित को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। 
प्रताप नगर पुलिस ने बताया कि  मिट्ठालाल पुत्र हस्तीमल शर्मा आजाद नगर में रहते हैं। उनके नमकीन का कारोबार है। शर्मा ने उनके पड़ौसी मुरलीधर पुत्र सीताराम तिवाड़ी के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। शर्मा का आरोप है कि मुरलीधर तिवाड़ी खुद को लोकजनशक्ति पार्टी का अध्यक्ष बताकर पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान के नाम से डराता धमकाता है। तिवाड़ी कभी प्रताप नगर थाना प्रभारी, एसपी तो कभी एसडीएम के नाम से मासिक बंधी की मांग करता है। व्यापारी का आरोप है कि मुरलीधर 16 अप्रैल को उनकी रीको एरिया स्थित कारखाने से 22 सौ रुपये भी चोरी कर ले गया। इसके बाद भी वह लगातार ब्लैकमेल कर व्यापारी को प्रताडि़त करता चला आ रहा है। मुरलीधर, व्यापारी शर्मा से यह कहकर की प्रताप नगर में सीआई साहब मेरे दोस्त लगे हैं। यहकर सीआई के नाम से भी आरोपित ने 50 हजार रुपये की मांग शर्मा से की। बाद में कम ज्यादा कर 25 हजार रुपये मांग कर रहा है। शर्मा ने रिपोर्ट में बताया कि मुरलीधर काफी समय से उसे प्रताडि़त करता चला आ रहा है। उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने नमकीन कारोबारी शर्मा की रिपोर्ट पर केस दर्ज कर आरोपित मुरलीधर तिवाड़ी को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस शर्मा द्वारा लगाये गये आरोपों की जांच कर रही है। 


जहरीले जंतु के काटने से बुजुर्ग किसान की मौत

 भीलवाड़ा हलचल। जिले के चौहानों की कमेरी गांव के एक बुजुर्ग किसान की खेत पर जहरीले जंतू के काटने से मौत हो गई। 
रायपुर थाने के दीवान हनुमान सिंह ने बताया कि चौहानों की कमेरी निवासी श्रीराम (75) पुत्र माना रैगर बुधवार को खेत पर गेहूं का खाखला और चारा एकत्रित कर रहे थे। जहां उन्हें बायें हाथ की अंगुली पर जहरीले जंतू ने काट लिया। परिजन उन्हें रायपुर अस्पताल ले जा रहे थे, तभी रास्ते में उन्होंने दम तोड़ दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद किसान का शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया। घटना की रिपोर्ट मृतक के छोटे भाई तेजा रैगर ने पुलिस को दी। 


भामाशाहो द्वारा जरूरतमंदों को बांटे गए भोजन पैकेट

बिजोलिया /दीपक  राठौर- प्रशासन ग्राम पंचायत एवं भामाशाह के सहयोग से भोजन समिति के माध्यम से ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष हीरालाल गुर्जर द्वारा 400 भोजन पैकेट ओर    संजय पाराशर पटवारी  द्वारा अपने  पिता स्व: दुर्गाशंकर पाराशर की  पुण्यतिथि पर  समिति को टोटल 800 भोजन पैकेट उपलब्ध कराया गए  समिति द्वारा इन भोजन  पैकेट को जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने में जागरूक वार्ड पंच अपनी भूमिका निभा रहे हैं।


राष्ट्रीय पक्षी मोर- करंट लगने से हुआ घायल

 बिजोलिया/ दीपक  राठौर- बिजोलिया कस्बे के मेन मार्केट में विद्युत पोल पर बैठे मोर को अचानक करंट लगने से वह बेसुध होकर नीचे गिर गया  करंट लगने के कारण  मोर का एक पैर काफी हद तक झुलस गया इसकी सूचना प्रशासन को देने पर तुरंत लाइट बंद करवाई गई और  मौके पर खड़े संजय सिंधी रामस्वरूप सोनी और कुशल पुंगलिया मोर को पशु चिकित्सालय ले गए  पशु चिकित्सक ने मोर के पैर में लगभग 8-9 टांके  के लगाएं इसके पश्चात बिजोलिया बीट प्रभारी थान सिंह, आशीष राठौर जगदीश मेहर राहुल माली aने मोर को फॉरेस्ट विभाग को सौंप दिया बताया जा रहा है कि मोर पूरी तरह स्वस्थ हैं।


करेड़ा के शिवपुर में पैंथर की दस्तक बछड़े का किया शिकार गांव में दहशत

करेड़ा (यश वैष्णव) उपखंड क्षेत्र के शिवपुर ग्राम पंचायत में गोपाल सेवक के खेत में एक पैंथर ने बुधवार दोपहर को एक गाय के बछड़े को मार डाला। इससे वहां बंदे अन्य  मवेशी में भी खलबली मच गई। आबादी क्षेत्र में वन्यजीवों के आने से लोगों में भय बना हुआ है। गर्मी के मौसम में ज्यादा खतरा बढ़ गया है। यह वन्यजीव वन क्षेत्र के आसपास के गांव में दहशत पैदा कर रहे हैं। पिछले कई दिनों से वन क्षेत्र छोड़कर आबादी की ओर रुख करने की करीब आधा दर्जन से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं। ग्रामीणों के पास शिवाय खौफजदा होने के अलावा अन्य कोई उपाय नहीं है। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम जिसमें रेंजर शिवनाथ सिंह, वनरक्षक राधेश्याम मौके पर पहुंचे। और डॉक्टरों की टीम को मौके पर बुलाकर पोस्टमार्टम करवाया। ग्रामीणों का कहना है कि पैंथर ने गाय का शिकार किया तब ग्रामीणों को भनक लगते ही ग्रामीणों में शोर मच गया। जिससे पैंथर जंगल की और भाग गया। ग्रामीणों में दहशत का माहौल भी है। ग्रामीणों ने बताया कि 2 दिन पहले भी कस्बे में पैंथर ने दशक दी जो शिवपुर के ऐनिकट के रास्ते निकला था।


अहमदाबाद से आये लोगो की आज होगी जांच

करेड़ा(यश वैष्णव)/ उपखण्ड क्षेत्र के पंचायत मुख्यालय चावण्डिया गांव में बुधवार को दोपहर एक ही परिवार के पांच आदमी पिकप में अहमदाबाद से अपने गांव चावण्डिया आ गए। जिसकी प्रशासन को भनक लगते ही नायब तहसील दार, करेड़ा गिरदावर पुष्पकान्त टेलर समेत कोरोना फाइटर टीम मौके पर पहुची। व पूछताछ की तो बताया कि में ओर मेरा परिवार अहमदाबाद में भंगार का काम करते है।कोरोना के चलते लोकडाउन हो  गया जिसके चलते हम वही पर थे।पर जब अहमदाबाद सहित पूरे गुजरात मे कोरोना संक्रिमत केस बढ़ने से हम परिवार सहित पिकप में चावंडिया आ गए।प्रशासन ने सभी को होम क्वेरेटाइन किया गया। ब्लॉक सीएमएचओ डॉ प्रभाकर अवताडे ने बताया कि गुरुवार को सभी की जांच कर क्वेरेटाइन सेन्टर लेजाया जाएगा।


आग से घास जलकर राख

करेड़ा(यश वैष्णव)/कस्बे में बुधवार को दोपहर अचानक आग लगने से घास व लकडिया जल कर राख हो गई। जानकारी के अनुसार करेड़ा थाना क्षेत्र के कालाजी देव स्थान के निकट अजीतपुरा रोड पर मोहन सिंह पिता कल्याण सिंह रावणा राजपूत के बाड़े में बुधवार दोपहर दो बजे को अचानक बाड़े में आग लग गई। जिससे 10 गाड़ी घास, 2  गाड़ी लकड़ी जलकर राख हो गई। सूचना पर  करेड़ा पुलिस  मौके पर पहुचकर  ग्रामीणों की मदद से टैंकर मंगवा कर आग पर काबू पाया गया।


लॉकडाउन : राजस्थान के 12 मजदूरों को ट्रक ने रौंदा, 3 की मौत

उज्जैन।
लॉकडाउन के दौरान दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को मध्यप्रदेश की सरकार वापस ला रही हैं। राजस्थान से लौटे मध्यप्रदेश 12 मजदूर उज्जैन में दर्दनाक सड़क हादसे के शिकार हो गए हैं। सड़क किनारे सो रहे इन 12 मजदूरों को ट्रक ने रौंद दिया है, जिनमें 3 की मौके पर ही मौत हो गई है। घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है।

जानकारी के अनुसार घटना भोर 3 बजे की है। सभी मजदूर भेरूगढ़ थाना क्षेत्र के साड़ू माता मंदिर के पास सड़क किनारे सोए थे। तभी एक अनियंत्रित ट्रक ने इन सभी को रौंद दिया। 3 मजदूरों की मौत मौके पर ही हो गई है। वहीं, बाकी के 9 लोगों के नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए पुलिस ने भर्ती करवाया है। ये सभी लोग मंगलवार को ही राजस्थान से बस के जरिए लौटे हैं।

कॉलोनी के लोगों ने घुसने नहीं दिया
ये सभी लोग राजस्थान के जैसलमेर में काम करते थे। बस से उज्जैन लौटे थे। मोहनपुरा निवासी मजदूरों को कॉलोनी के लोगों ने बिना चेकअप के घुसने नहीं दिया। जांच के लिए ये लोग वहां से पैदल ही निकले थे। थके होने की वजह से सड़क किनारे ही सो गए। इस दौरान इंदौर से मैदा लेकर आ रहे ट्रक ने संतुलन बिगड़ने के बाद मजदूरों को रौंद दिया। उसके बाद ट्रक ड्राइवर मौके से फरार हो गया।


सात कंटेनर हवा में उडकऱ रेलवे ट्रेक के पास गिरे

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के रींगस में बुधवार शाम अचानक आए तेज तुफान में एक मालगाड़ी के सात कंटेनर हवा में उडकऱ रेलवे ट्रेक के पास गिर गए। तेज धमाके के साथ हुए हादसे में रेलवे ट्रेक की बिजली लाइन के करीब आधा दर्जन पोल क्षतिग्रस्त हो गए। वही, आसपास के इलाके में दहशत हो गई। गनीमत रही कि इस दौरान ट्रेक के आसपास कोई नहीं था। वरना यह एक बड़ा हादसा हो सकता था। रींगस स्टेशन अधीक्षक एसएस महला ने बताया कि एक खाली मालगाड़ी रेवाड़ी से फुलेरा की ओर जा रही थी। रींगस स्टेशन के करीब डेढ किमी आगे आंधी के झोंके में खाली कंटेनर उडकऱ नीचे गिर गए। हादसे में फुलेरा रेवाड़ी रेलवे ट्रेक की विधुत लाइन के भी करीब आधा दर्जन पोल को नुकसान हुआ। हादसे की सुचना पर रेलवे के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया। इसके बाद क्रेन बुलाकर कंटेनर को हटवाने का कार्य शुरू करवाया गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अंधड़ में एक तेज धमाके की आवाज आई। घरों से बाहर निकलकर देखा तो कंटेनर गिरते हुए नजर आए। जिससे एकबारगी क्षेत्र में दहशत दौड़ गई।


शादी बाद में पहले सेवा बोले डाक्टर

बड़लियास। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डॉ. व्योमपुत्र शर्मा कोरोना फ ाइटर के रूप में जनता की सेवा कर रहे है। जनसेवा के प्रति समर्पित भाव के कारण ही उन्होंने अपनी 18 मई को होने वाली शादी स्थगित कर दी है। शर्मा बताते है कि इस वक्त मेरे लिए कोरोना संक्रमण में लोगों की सेवा करने से बढ़कर कुछ नहीं है। शादी तो बाद में भी हो सकती हैए लेकिन सेवा का मौका फिर नहीं मिलेगा।


उदयपुर से डिस्चार्ज होकर लौट रहे युवक की रास्ते में बिगड़ी हालत, अस्पताल में बताया मृत

 भीलवाड़ा हलचल। पिछले दिनों प्रदेश के सिरोही जिले में कार की टक्कर से घायल युवक की आज उदयपुर से डिस्चार्ज होकर घर लौटने के दौरान रास्ते में हालत बिगड़ गई जिसे जिला अस्पताल में डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। युवक पंडेर थाना इलाके का निवासी बताया गया है। 
एमजीएच चौकी सूत्रों के अनुसार, पंडेर थाना सर्किल के भरणी गांव का रामलाल (32) पुत्र लालू रैगर 21 अप्रैल को सिरोही कोतवाली थाना सर्किल में पैदल ही कहीं जा रहा था। तब उसे एक कार ने चपेट में ले लिया था। इससे वह घायल हो गया। रामलाल को उपचार के लिए उदयपुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां बुधवार को रामलाल को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। वहां से गांव लौटते समय रास्ते में रामलाल की फिर से तबीयत बिगड़ गई। ऐसे में उसे यहां जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को मोर्चरी में सुरक्षित रखवाया है, जिसका पोस्टमार्टम गुरुवार सुबह किया जायेगा।


बालिका ने दिया चित्र के माध्यम से कोरोना से लड़ने का सन्देश

शाहपुरा: नगर के सदर बाज़ार स्थित उर्वशी निर्वाण पुत्री श्री सुभाष निर्वाण जो की स्वामी विवेकानंद राजकीय मॉडल स्कूल की छात्रा है। उर्वशी निर्वाण ने अपने नन्हे नन्हे हाथो से कोरोना से जंग में जागरुक रहने व लड़ने का सन्देश दिया। चित्र के अनुसार लॉकडाउन का पालन करना, पुलिस , चिकित्सकों व सफाई कर्मियों का आदर करना, लगातार हाथ धोने का, सोशल डिस्टेंसींग व कई सारे नियम का पालन करने का सन्देश दिया।


देश में अब तक 32,523 संक्रमित, 1065 की मौत, 7796 हुए स्‍वस्‍थ

देश में कोरोना कहर बरपा रहा है। संक्रमितों व मृतकों की संख्‍या में रोज इजाफा हो रहा है। बुधवार को करीब 13 सौ नए मामले सामने आए हैं और 60 लोगों की मौत भी हुई है। इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या 32 हजार से ज्यादा हो गई है और एक हजार 50 से ज्यादा की जान जा चुकी है। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक इस महामारी से अब तक 1008 लोगों की मौत हुई है और 31,787 लोग संक्रमित हैं। अब तक 7,796 लोग पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं और एक्टिव मामले 22,982 ही रह गए हैं।


1299 नए केस सामने आए


राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों से मिले आंकड़ों के मुताबिक बुधवार को 1,299 नए मामले सामने आए और संक्रमितों की संख्या 32,523 पर पहुंच गई। अब तक 1065 लोगों की जान जा चुकी है। बुधवार को 60 लोगों की मौत हुई, जिसमें महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 32, गुजरात में 16, उत्तर प्रदेश में पांच, राजस्थान में तीन, तमिलनाडु में दो और मध्य प्रदेश व कर्नाटक में एक-एक मौत शामिल है। महाराष्ट्र में एक दिन में मरने वालों की यह सबसे बड़ी संख्या है। इससे पहले मंगलवार को इस महामारी से 31 लोगों की जान गई थी।


महाराष्‍ट्र और गुजरात को काबू में करना अब बड़ी चुनौती


महाराष्ट्र एक बार फिर बुधवार को एक दिन में देश में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आए और राज्य में संक्रमितों की संख्या 10 हजार के करीब पहुंच गई। 32 लोगों की मौत भी हुई, जो एक दिन में मरने वालों की सबसे बड़ी संख्या है। गुजरात भी महाराष्ट्र की राह पर है। पिछले 10 दिनों के बाद एक बार फिर सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए और राज्य में चार हजार से ज्यादा संक्रमित हो गए हैं। करीब दो सौ लोगों की अब तक जान भी जा चुकी है।


आज ये रहे देश के आंकड़े


कुल मौतें 1065


कुल संक्रमित 32,523


स्वस्थ हुए 7,796


देश में कुल संक्रमित जानिये राज्‍यवार


राज्य संक्रमित


महाराष्ट्र - 9,915


गुजरात - 4,082


दिल्ली - 3,314


राजस्थान - 2,393


मध्य प्रदेश - 2,528


तमिलनाडु - 2,162


उत्तर प्रदेश - 2,134


आंध्र प्रदेश - 1,259


तेलंगाना - 1009


बंगाल - 663


जम्मू-कश्मीर - 581


कर्नाटक - 535


केरल - 495


पंजाब - 374


हरियाणा - 314


बिहार - 392


ओडिशा - 125


झारखंड - 108


उत्तराखंड - 54


हिमाचल प्रदेश - 41


छत्तीसगढ़ - 38


असम - 37


अंडमान-निकोबार -33


चंडीगढ़ - 68


लद्दाख - 22


मेघालय -12


गोवा - 7


पुडुचेरी - 4


मणिपुर - 2


त्रिपुरा - 2


मिजोरम - 1


नगालैंड - 1


महाराष्ट्र में 597 नए मामले आए


महाराष्ट्र में बुधवार को भी देश में सबसे ज्यादा 597 नए केस सामने आए और संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,915 हो गई। जबकि, 32 लोगों की जान गई है, जिसमें से अकेले 26 मौतें मुंबई में ही हुई हैं। राज्य में अब तक 432 लोगों की जान जा चुकी है। मुंबई की धारावी बस्ती ने राज्य की चिंता बढ़ा दी है। दो वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैली इस बस्ती में करीब 15 लाख लोग रहते हैं। अब तक 344 संक्रमित मामले मिले हैं और 18 लोगों की मौत हो चुकी है। बुधवार को भी 14 नए माले सामने आए।


गुजरात में 308 नए केस आए


गुजरात में 308 नए मामले मिले, जो पिछले नौ दिनों में सबसे ज्यादा हैं। राज्य में संक्रमितों की संख्या चार हजार से ज्यादा 4,082 हो गई है। महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा गुजरात में ही संक्रमित हैं। मरने वालों की संख्या भी 197 हो गई है, जो महाराष्ट्र के बाद दूसरे नंबर है। गुजरात में अहमदाबाद की स्थिति चिंताजनक बन गई है। महानगर में और नौ लोगों की मौत हुई है और मरने वालों की संख्या 137 हो गई है। 234 नए मामलों के साथ संक्रमितों की संख्या भी 2,777 हो गई है।


 


मध्य प्रदेश में ढाई हजार से ज्यादा हुए संक्रमित


देश के उन राज्यों में मध्य प्रदेश भी शामिल हैं, जहां संक्रमण तेजी से फैल रहा है। अब तक ढाई हजार से ज्यादा संक्रमित मामले मिल चुके हैं। बुधवार को भी 61 नए मामले मिले। बिहार का हाल भी कुछ ऐसा ही है। लंबे समय तक बिहार में संक्रमण के बहुत कम मामले मिले थे, लेकिन अचानक अब संक्रमण का प्रभाव बढ़ने लगा है। 28 नए मामलों के साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या 392 हो गई है। पंजाब में भी 29 नए केस मिले हैं, इसमें महाराष्ट्र से लाए गए सिख श्रद्धालु भी शामिल हैं। राज्य में अब तक कोरोना के 374 मरीज मिले हैं।


 


उत्तर प्रदेश में संक्रमित दो हजार पार


उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी से अब तक 39 लोगों की मौत हुई है, बुधवार को पांच लोगों की जान गई। 81 नए मामले भी सामने आए और संक्रमितों की संख्या 2,134 पर पहुंच गई। राजस्थान में भी और तीन लोगों ने दम तोड़ दिया है। जबकि, 29 ने केस के साथ कुल 2,393 संक्रमित हो चुके हैं।


तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक में बढ़ा संक्रमण


 


तमिलनाडु में और 104 लोग संक्रमित पाए गए हैं और इनकी संख्या 2,168 हो गई है। राज्य में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने हालात को नियंत्रण में बताया है। केरल और कर्नाटक में भी स्थिति नियंत्रण में लग रही है। यहां रोजाना नए मामलों में कमी आ रही है। कर्नाटक में 12 नए मामले मिले हैं और कुल संक्रमित 535 हो गए हैं, जबकि केरल में 10 नए केस सामने आए हैं। अभी तक 495 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिनमें से साढ़े तीन सौ से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं।


पंडित नहीं मिला तो महिला एसआइ ने पढ़े मंत्र, दीया जलाकर कराए सात फेरे

नरसिंहपुर।  पुलिस को अब तक आपने कानून का पालन कराते, सख्ती दिखाते या फिर समाजसेवा करते ही देखा होगा, लेकिन किसी महिला पुलिसकर्मी को शादी के मंत्र पढ़ते हुए फेरे करवाते नहीं देखा होगा। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में लॉकडाउन के बीच एक ऐसी शादी हुई, जिसमें वर-वधु पक्ष को फेरे कराने के लिए कोई पंडित नहीं मिला तो गश्त पर निकलीं महिला एसआइ ने शादी के मंत्र पढ़े और दीया जलवाकर परिणय के सात फेरे लगवाए। एसआइ ने वर-वधु को सात वचनों के साथ कानून की जानकारी भी दी।



लॉकडाउन के बीच रोचक किस्से भी लगातार सामने आ रहे हैं। ताजा किस्सा नरसिंहपुर जिले की गोटेगांव तहसील के ग्राम झोतेश्वर में एसआइ की पंडिताई में हुई शादी का है। जिले के श्रीनगर के लक्ष्मण पुत्र टीकाराम चौधरी का अक्षय तृृतीया पर इतवारा बाजार निवासी ऋ तु पुत्री राजाराम चौधरी से विवाह तय था।


इसके लिए दोनों पक्षों के आठ सदस्य झोतेश्वर के शिव पार्वती मंदिर की परिक्रमा में मौजूद थे। लेकिन, विवाह कराने के लिए उन्हें कोई पंडित ही नहीं मिला। अब फेरे हों तो कैसे। इसी बीच झोतेश्वर चौकी प्रभारी एसआइ अंजली अग्निहोत्री गश्त करती हुईं, जब मंदिर पहुंचीं तो वर-वधु पक्ष ने समस्या बताई। इस पर वह खुद पंडित की भूमिका अदा करने को तैयार हो गईं।


गूगल का लिया सहारा, बताशे के बदले शकर


दूल्हे लक्ष्मण का परिवार पूजन में लगने वाली सामग्री भी नहीं ला पाया था। बताशे तक नहीं थे। उनके पास सिर्फ नारियल ही थे। ऐसे में एसआइ अंजली अग्निहोत्री ने ही कहीं से शक्कर मंगवाकर मिष्ठान की कमी पूरी की। कुछ फूलों का भी प्रबंध किया। जब मंत्र पढ़ने की बारी आई तो कुछ मंत्र अंजली ने पढ़ना शुरू किए और फिर गूगल के सहारे विवाह पद्घति सर्च कर शेष मंत्रों को पढ़कर विवाह संपन्न कराया।


वेदी के बदले दीपक जलाया


अंजली ने बताया कि मंदिर बंद था। इससे मंदिर की परिक्रमा (गैलरी) में फेरे के लिए हवन वेदी के स्थान पर दीया जलाकर रखा गया। मंत्रों के साथ दीये और मंदिर के फेरे कराए गए। परिणय के सात वचनों के साथ वर-वधु को कानूनी प्रावधान भी बताए गए। पूरे कार्यक्रम के दौरान लॉकडाउन के नियमों का भी पूरी तरह पालन कराया गया।


नई गाइडलाइन पर बोले अशोक गहलोत, बिना ट्रेन चलाए लाखों लोगों को लाना संभव नहीं

जयपुर ।केन्द्र सरकार की तरफ से नई गाइडलाइन जारी करते हुए मंगलवार को उन लोगों को राहत दी गई है जो छात्र, प्रवासी और पर्यटक दूसरे राज्यो में कोरोना लॉकडाउन के चलते हुए फंसे हुए हैं। इसके लिए राज्यों के बीच बसों को चलाने का अनुमति दी गई है। लेकिन, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र से विशेष ट्रेन चलाने की मांग करते हुए पीएम मोदी से आग्रह किया है कि लाखों प्रवासियों और एवं श्रमिकों को सुरक्षित लाना बस से संभव नहीं है।


गहलोत ने कहा कि आने वाले समय में और भी श्रमिक अपना पंजीयन करा सकते हैं। ऐसे में कामगारों की इतनी बड़ी संख्या तथा लंबी दूरी को देखते हुए विशेष ट्रेनों का संचालन किया जाना कामगारों के सुरक्षित घर लौटने का व्यावहारिक समाधान होगा। हालांकि, गहलोत ने गृह मंत्रालय की तरफ से अंतरराज्यीय श्रमिकों और प्रवासियों के आवागमन के बारे में बुधवार को जारी आदेश का स्वागत किया है।


जय श्री कोटड़ी श्याम दरबार मंगला श्रृंगार आरती दर्शन


दुनिया भर में जून तक 30 करोड़ से अधिक लोगों की नौकरियां जाने की आशंकाv

दिल्ली ।


संयुक्तराष्ट्र की श्रम इकाई अंतरराष्ट्रीय श्रमिक संगठन ने कोरोना वायरस महामारी के कारण लोगों की जाने वाली नौकरियों का पूर्वानुमान एक बार फिर से बढ़ा दिया है। संगठन के अनुसार अप्रैल से जून के दौरान महज तीन महीने में ही करीब 30.5 करोड़ लोगों की पूर्णकालिक नौकरियां समाप्त हो सकती हैं। संगठन ने पिछले पूर्वानुमान में कहा था कि इस महामारी के कारण जून तिमाही में हर सप्ताह औसतन 48 घंटे की कार्यअवधि वाले 19.5 करोड़ पूर्णकालिक नौकरियों का नुकसान हो सकता है। संगठन ने कहा कि महामारी पर काबू पाने के लिये दुनिया भर में लॉकडाउन के बढ़ाये जाने से उसे अनुमान में संशोधन करना पड़ा है।


संगठन ने कहा कि इस महामारी के कारण अनौपचारिक क्षेत्र के 1.6 अरब कामगारों के समक्ष जीवनयापन का खतरा उत्पन्न हो चुका है क्योंकि महामारी के कारण उनके रोजी-रोटी के साधन बंद हो चुके हैं।  यह पूरी दुनिया के 3.3 अरब कार्यबल का करीब आधा है। वहीं अगर भारत की बात करें तो देशभर में फैले कोरोना महामारी और उसके चलते लॉकडाउन से बेरोजगारी दर बढ़कर 23.4% पर पहुंच गई है। सीएमआईई की रिपोर्ट के अनुसार, लॉकडाउन से भारत की शहरी बेरोजगारी दर 30.9% तक बढ़ सकती है, हालांकि कुल बेरोजगारी 23.4% तक बढ़ने का अनुमान है। यह रिपोर्ट अर्थव्यवस्था पर कोरोना के बुरे प्रभाव को दर्शाती है।


8.4% से बढ़कर 23% हो गई बेरोजगारी दर


सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) का अनुमान है कि बेरोजगारी दर मार्च महीने के मध्य के 8.4% से बढ़कर 23% हो गई है। सीएमआईई के आंकड़े के अनुसार, शहरी क्षेत्र में बेरोजगारी दर 15 मार्च 2020 को 8.21 फीसद थी। यह 22 मार्च 2020 को 8.66 फीसद पर आई। फिर 24 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा के बाद इसमें जबरदस्त तेजी आई। 29 मार्च 2020 को यह 30.01 फीसद पर जा पहुंची और फिर 5 अप्रैल 2020 के आंकड़े के अनुसार, यह 30.93 फीसद पर आ गई है।


कोरोना लॉकडाउन पर राज्यों के सामने दुविधा ही दुविधा, 3 मई के बाद पूरी छूट दें या नहीं? जानें रियायत

दिल्ली ।तीन मई के बाद लॉकडाउन खुलेगा या नहीं ये तय होना है, लेकिन राज्यों की चिंता संसाधनों को लेकर बढ़ रही है। राज्य एक तरफ पूरी छूट देने को लेकर खुद हिचकिचाहट में हैं। वहीं उनकी चिंता ये भी है कि लॉकडाउन की वजह से प्रभावित बड़ी आबादी को राहत कैसे पहुंचाए। राज्य केंद्र से हजारों करोड़ का पैकेज मांग रहे हैं।


सूत्रों के मुताबिक, कई राज्य एग्जिट प्लान पर काम कर रहे हैं। पंजाब ने एग्जिट प्लान के लिए एक कमेटी बनाई थी। कमेटी ने कई तरह के सुझाव सरकार को दिए हैं। राज्य सरकार की कमेटी ने कहा है कि पीडीएस सिस्टम को छह महीने के लिए यूनिवर्सल बना दिया जाए, जिनके पास राशन कार्ड नही है उन्हें भी राशन की सुविधा मिले। इसके लिए केंद्र से सहायता की मांग की गई है। ये भी मांग की गई है कि पीडीएस के तहत प्रति व्यक्ति आवंटन 50 फीसदी बढ़ाते हुए गर्भवती महिलाओं व बच्चो के पोषाहार को इसमें शामिल किया जाना चाहिए।


कई तरह के सुझाव : कुछ राज्यों में मिड डे मील बच्चो के घर पर उपलब्ध कराने का सुझाव दिया गया है। जिन्हें मनरेगा में काम नहीं मिल रहा है, बेरोजगारी भत्ता देने की मांग भी सामने आई है। आंध्र व तेलंगाना में केंद्रीय योजनाओं के तहत घर पर राशन, पोषाहार डिलीवरी को लेकर कई सुझाव दिए हैं।टेस्ट, ट्रेस एंड क्वारंटाइन : कई राज्यो ने कहा है कि जैसे-जैसे ज्यादा गतिविधियों को इजाजत दी जाएगी टेस्टिंग बढ़ाने की भी जरूरत होगी। इसे देखते हुए राज्यों को ज्यादा संख्या में किट उपलब्ध कराई जानी चाहिए। जिससे टेस्टिंग, ट्रेसिंग और क्वारंटाइन का फॉर्मूला कायदे से अपनाया जा सके।


छूट के पहले स्वास्थ्य सेवाओं को परखें : आंध्र, तेलंगाना सहित कुछ राज्य सरकार लॉकडाउन से मिलने वाली छूट से पहले अपनी स्वास्थ्य क्षमता को सभी आशंकाओं के मद्देनजर पुख्ता तौर पर परख लेना चाहते हैं। पंजाब ने 31000 करोड़ रुपये के कर्ज का हवाला दिया है। छतीसगढ़ ने 30 हजार करोड़ रुपये मांगे हैं। कृषि, निर्माण, उद्योग व सेवा छेत्र में हो रहे नुकसान का हवाला लगभग सभी सरकारों ने दिया है। पंजाब,यूपी, हरियाणा में हजारों करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान शराब बिक्री पर प्रतिबंध से बताया जा रहा है।


हमारी दिनचर्या से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है। जानिये....

रात्रि 11 से 3 के दौरान आपके रक्त संचरण का अधिक भाग लीवर की ओर केन्द्रित होता है। जब लीवर अधिक खून प्राप्त करता है तब उसका आकार बढ़ जाता है। यह महत्त्वपूर्ण समय होता है जब आपका शरीर विष हरण की प्रक्रिया से गुजरता है। आपका लीवर, शरीर द्वारा दिन भर में एकत्रित विषाक्त पदार्थों को निष्क्रिय करता है और खत्म भी करता है।



निम्बाहेड़ा में कोरोना से पहली मोत,4 ओर पॉजिटिव

 चित्तौड़गढ़( हलचल) जिले के निम्बाहेड़ा कस्बे में   कोरोनावायरस पीड़ित एक व्यक्ति की उपचार के दौरान उदयपुर में मौत हो गई है, जबकि चार और पॉजिटिव सामने आने के बाद अब इनकी संख्या 20 तक पहुंच गई है।


 एक निजी टीवी चैनल के अनुसार सूत्रों के अनुसार निंबाहेड़ा निवासी मनीष सबसे पहला संक्रमित व्यक्ति निकला था जिसे उपचार के लिए उदयपुर रेफर किया गया जहां उसकी बीती रात को मौत हो गई इसके बाद  जांच का दायरा बढ़ाया तो अब तक 20 लोग संक्रमित सामने आ चुके हैं वहीं कस्बे में इसका दायरा भी बढ़ता जा रहा है। कल आठ संक्रमित व्यक्ति सामने आए थे और 84 और व्यक्ति संक्रमित निकले हैं।


कोरोना का जोधपुर में टूटा कहर 59 मरीज आये सामने

 भीलवाड़ा (हलचल) प्रदेश में आज फिर एक बार कोरोना वायरस  का कहर देखने को मिला है, जोधपुर में 59 संक्रमित मरीज सामने आए ,प्रदेश में इनकी संख्या बढ़कर  2524 हो गई है, जबकि जयपुर में 2 लोगों की मौत की खबर है ,भीलवाड़ा में आज कोई नया पॉजिटिव नहीं आया।
 आज सुबह जारी रिपोर्ट में प्रदेश में 86 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं जोधपुर  में 59 ,जयपुर में 14 ,अजमेर में 4, चित्तौड़गढ़ में 3 टोंक व कोटा में 2-2 धौलपुर और अलवर में एक-एक मरीज पॉजिटिव आया है जबकि भीलवाड़ा में आज कोई भी मरीज पॉजिटिव नहीं आया है ।जयपुर में 2 लोगों की मौत की खबर है मौतों का आंकड़ा बढ़कर 57 तक पहुंच गया है।


नालियों को लेकर विवाद राह में खोद खड्डे

भीलवाड़ा( हलचल) शिवनगर में गली नंबर 5 में नालियों के विवाद को लेकर लोगों ने अपने-अपने घरों के बाहर खड्डे को दिए हैं जिससे गंदा पानी जमा होने का संकट खड़ा हो गया है लोगों का आरोप है कि नगर परिषद इस ओर ध्यान नहीं दे रही जिससे पड़ोसियों में ही झगड़े हो रहे हैं


विस्फोट में तीसरी मौत, बालिका ने भी दम तोड़ा

 भीलवाड़ा (हलचल राजेश )कावाखेड़ा कच्ची बस्ती में पिछले दिनों गैस सिलेंडर विस्फोट में  घायल एक और बालिका ने दम तोड़ दिया है इस घटना में अब मृतकों की संख्या 3 तक पहुंच गई है जबकि दो का भी उपचार जारी है ।


जानकारी के अनुसार कावा खेड़ा निवासी मनोज पंवार के मकान में पिछले दिनों गैस सिलेंडर में धमाका हुआ था जिससे मनोज सहित परिवार के 5 सदस्य गंभीर रूप से झुलस गए थे इनमें से मनोज और उसके बेटे की मौत पिछले दिनो हो गई  जबकि  आज बेटी पायल ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है  झुलसे एक ही परिवार  के 5 लोगो मेे से अब माँ बेटी का महात्मा गांधी अस्पताल में उपचार चल रहा है ।


साई बाबा के आज के दर्शन


चंगुल से निकली तो महिला ने बयां की आपबीती, बोली- पति धकेलना चाहता है 9 माह की बेटी को देह व्यापार

 पंडेर प्रहलाद भाट। एक महिला ने अपने ही पति, ननद और भतीजी पर सनसनीखेज आरोप लगाये हैं। महिला का कहना है कि ये लोग उसकी नौ साल की बेटी को देहव्यापार में धकेलने के लिये बैचना चाहते हैं और करीब दो महीने तक बच्ची को उससे अलग छूपा कर भी रखा। महिला ने पंडेर पुलिस पर भी तीन-चार दफा गुहार लगाने के बावजूद कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है। इससे पहले यह महिला आरोपित पति के चंगुल से निकलकर अपने चार बच्चों के साथ भूखे-प्यासी भागती हुई नजर आई, जिसे भगवानपुरा के ग्रामीणों ने विश्वास में लिया तो उसने यह आपबीती बताई। ग्रामीणों ने महिला व उसके बच्चों को भोजन कराने के साथ ही पुलिस को सूचना दी, लेकिन एक घंटे बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। 
हुआ यूं कि गुरुवार को भगवानपुरा में एक महिला अपने चार छोटे-बच्चों के साथ रोती-बिलखती भागती नजर आई। महिला पर जब ग्रामीणों की नजर पड़ी तो उन्होंने महिला को रोका और तसल्ली देकर बातचीत की। इस पर महिला ने आपबीती ग्रामीणों के सामने बयां करते हुये बताया कि वह उत्तरप्रदेश के हरदोई जिले की रहने वाली है।  
इस महिला ने अपने पति प्रकाश, ननद  और भतीजी पर आरोप लगाते हुए बताया कि ये तीनों मिलकर उसकी 9 वर्षीय बच्ची को देह व्यापार में धकेलने के लिए भोजगढ़ में बेचना चाहते हैं । महिला ने कहा कि लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने वालों के खिलाफ कुछ समय पहले जब अभियान चला, तब भी  वह इसकी जानकारी पुलिस को देना चाहती थी, लेकिन  बच्ची को 2 महीने तक उससे अलग छुपा कर रखा गया । उसे घर से बाहर भी नहीं निकलने दिया। 
जब मौका मिला तो वह तीन से चार बार पुलिस स्टेशन भी गई, लेकिन  मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई। भगवानपुरा के ग्राम वासियों ने यह बात सुनकर सरपंच पति मुकेश जाट को फोन किया। वे मौके पर आए । पुलिस थाना पंडेर में फोन किया। लेकिन 1 घंटे बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। सरपंच के फोन करने पर भी पुलिस का नहीं आना ग्रामीणों में चर्चा का विषय बना रहा। पुलिस के नहीं आने पर सरपंच पति अपनी और वार्ड पंच रमेश पडियार की मोटरसाइकिल से पीडि़ता के बच्चों और पीडि़ता को ग्राम पंचायत पंडेर में ले गए। जहां इस महिला व उसके बच्चों को खाना खिलाया। फिलहाल महिला को वहीं शरण दी गई है। 
 


एक्टर ऋषि कपूर का 67 साल की उम्र में निधन, परिवार ने कहा- आखिर तक मुस्कुराते रहे

  मुम्बई ।बॉलीवुड एक्टर इरफान के निधन की खबर से लोग अभी उभरे भी नहीं थे कि बॉलीवुड एक्टर ऋषि कपूर ने भी इस दुनिया को अलविदा कह दिया। अमिताभ बच्चन ने अपने ऑफिशियल  ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर के इस बारे में जानकारी दी है। बिग बी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'वो चले गए... ऋषि कपूर चले गए...मैं खत्म हो गया हूं!'


परिवार का बयान


ऋषि कपूर के परिवार की ओर से इसकी आधिकारिक सूचना भी दे दी गई है। ऑफ़िशियल स्टेटमेंट के मुताबिक, ऋषि कपूर ने गुरुवार को सुबह 8:45 मिनट पर इस दुनिया को अलविदा कहा। इसमें बताया गया कि ऋषि कपूर पिछले दो साल से leukemia से पीड़ित थे। वह हंंसते हुए और लोगों को हंसाते हुए इस दुनिया का साथ छोड़ा। इस बयान में लॉकडाउन की वजह से भीड़ इकठ्ठा ना होने की भी बात कही गई है। लोग से अपील की गई है कि वह नियम का पालन करें, जो इस वक्त लागू है। 


बुधवार को एक्टर की तबीयत अचानक ज्यादा खराब हो गई जिसके बाद आनन-फानन में उन्हें अस्पताल में एडमिट करवाया  गया है। उनका इलाज़ मुंबई के एच.एन रिलायंस हॉस्पिटल में चल रहा था। भाई रणधीर कपूर ने इस खबर को कन्फर्म किया था कि ऋषि कपूर की तबीतय ठीक नहीं है। अब इसी हॉस्पिटल में उन्होंने आखिरी सांस 


 



ऋषि कपूर को सांस लेने में दिक्कत थी। ऋषि कपूर पिछले साल सितंबर में ही न्यूयॉर्क में लगभग एक साल कैंसर का इलाज करवाने के बाद भारत लौटे हैं। उन्हें साल 2018 में पता चला था कि वह कैंसर से पीड़ित हैं। इसके बाद वह अपने इलाज़ के लिए न्यूयॉर्क गए थे। उनके आखिर वक्त में उनकी पत्नी नीतू कपूर उनके साथ ही रहीं। वहीं, उनकी बेटी रिद्धिमा कपूर ने सरकार से दिल्ली से मुंबई तक की यात्रा की इजाजत मांगी है। लॉकडाउन  की वजह से फिलहाल वह दिल्ली में ही फंसी हुई हैं। 


ऋषि कपूर का आखिरी ट्वीट


ऋषि कपूर जाते-जाते अपने आखिरी ट्वीट में लोगों से एक साख रहने की अपील कर गए। उन्होंने कोरोना वायरस योद्धाओं पर हो रहे हमले की निंदा की और लोगों से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस युद्ध को एक साथ जीतना होगा। 




 



गो माता के लिए भाजपा नेताओं ने रखी पानी की टँकी

 भीलवाड़ा(हलचल)


भीषण गर्मी में गो माता के लिये चार पानी एवम  पक्षियों के लिए परिंडा लगाकर दाना पानी की व्यवस्था अपने-अपने घरों के बाहर अवश्य करें यह सबसे बड़ा पुण्य का कार्य है


भाजपा जिला प्रवक्ता कैलाश सोनी ने बताया कि आज सवाई भोज टॉवर के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए भाजपा जिला अध्यक्ष लादूलाल  तेली व पूर्व जिलाध्यक्ष दामोदर अग्रवाल के हाथो  से गो माता के लिए  पानी की टंकी रखवाकर उसमें पानी भरवाया चारा की व्यवस्था कर साथ ही पक्षियों के लिए परिंडे लगवाए गए 


इस अवसर पर भाजपा जिला मंत्री नंदलाल गुर्जर ,युवा मोर्चा पूर्व महांमत्री सुरेंद्र  मोटरास गौतम शर्मा सुरेंद्र सिंह पवार व राजू वर्मा  उपस्थित थे


ट्रक पलटा, चालक चोटिल

 भीलवाड़ा (हलचल)। जिले से सटे मेनाल पर्यटन स्थल के पास एक ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया। हादसे में चालक को हल्की चोट आई जबकि खलासी सुरक्षित बच गया। लाडपुरा चौकी पर तैनात भंवरलाल जाट ने बताया कि चित्तौडग़ढ़ की ओर से आया ट्रक जो कोटा की ओर जा रहा था, मेनाल के पास अनियंत्रित होकर पलटी खा गया। हादसे में चालक मुकेश पुत्र रामजीलाल ओझा निवासी गणेश चेकली फतनपुर शिवपुरी मध्यप्रदेश को हल्की चोट आई जबकि खलासी केशव ओझा शिवपुरी मध्यप्रदेश सुरक्षित बच गया। घायल को हाइवे एम्बुलेंस की मदद से बेगूं अस्पताल ले जाया गया।


Wednesday, April 29, 2020

जिले के कुछ ग्रामीण क्षेत्रों से जीरो मोबिलिटी एरिया के आदेश को किया प्रत्याहरित अ

 
भीलवाड़ा, 29 अप्रैल/ नोबल कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति चिन्हित होने के कारण जिला मजिस्ट्रेट एवं जिला कलेक्टर श्री राजेंद्र भट्ट ने जिले के कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में सख्त निषेधाज्ञा लागू करते हुए जीरो मोबिलिटी एरिया (जनसाधारण का सख्ती से आगमन निर्गमन निषेध क्षेत्रा) घोषित किए थे। 23 मार्च से 4 अप्रैल तक जिले के कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लागू किए जाने के उपरांत आज दिनांक तक कोई भी नोवल कोरोनावायरस संक्रमित व्यक्ति चिन्हित नहीं होने तथा स्थिति सामान्य एवं नियंत्राण में होने से जिला कलेक्टर श्री राजेंद्र भट्ट ने 23 मार्च से 4 अप्रैल तक घोषित जीरो मोबिलिटी एरिया के आदेशों को तत्काल प्रभाव से प्रत्याहरित किया है।
            आदेशानुसार, 23 मार्च को बनेड़ा उपखंड के राजस्व ग्राम बालेसरिया में, 23 मार्च को ही उपखंड मुख्यालय मांडल के कुछ क्षेत्रा राजकीय चिकित्सालय परिसर, पश्चिमी दिशा में स्टेडियम, उत्तर दिशा में मांडल बाईपास तक एवं दक्षिण दिशा में ब्यावर रोड तक के क्षेत्रा में, 23 मार्च को ही भीलवाड़ा उपखंड एवं कोटडी के 8 ग्रामों कोदूकोटा श्रीनगर, गोकुलपुरा, धूमडास, पोंडरास, रूपाहेली तथा उपखंड क्षेत्रा कोटडी के राजस्व ग्राम चतरपुरा एवं सातोेला का खेड़ा की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में, 27 मार्च को रायपुर उपखंड के 4 ग्राम नाथडियास, पनोतिया, आसपुर तथा मोटरों का खेड़ा की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में, 29 मार्च को उपखंड मुख्यालय कोटडी के जैन श्वेतांबर मंदिर के पीछे को केंद्र बिंदु मानते हुए कोटडी कस्बे की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में तथा 4 अप्रैल को गुलाबपुरा उपखंड एवं बनेड़ा के 4 ग्रामों सनोदिया, कंवलियास, रायला एवं कुंडियां कला की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में अग्रिम आदेश तक लागू जीरो मोबिलिटी के आदेश को प्रत्याहरित किया गया है।
इन क्षेत्रों में रहेंगे निरन्तर प्रभावीः
         जिला कलेक्टर ने बताया कि नोवल कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव एवं नियंत्राण के मद्देनजर जिला मुख्यालय एवं जिले के अन्य क्षेत्रों में लागू सख्त निषेधाज्ञा अग्रिम आदेश तक लागू रहेगी। इनमें 19 मार्च को संपूर्ण जिले की राजस्व सीमा क्षेत्रा में लागू सख्त निषेधाज्ञा, 20 मार्च को भीलवाड़ा शहर की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में लागू सख्त निषेधाज्ञा- कर्फ्यू, 27 अप्रैल को उपखंड मुख्यालय गुलाबपुरा की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में लागू कर्फ्यू आर्डर तथा 27 अप्रैल को ही उपखंड क्षेत्रा मांडल की ग्राम पंचायत चांदरास के ग्राम गोविंदपुरा की संपूर्ण सीमा क्षेत्रा में लागू जीरो मोबिलिटी के आदेष अग्रिम आदेष तक प्रभावी रहेंगे।


कोरोना पॉजिटिव की पत्नी ने की क्वारेंटाइन सेंटर की छत से कूदने की कोशिश, रिपोर्ट नेगेटिव

भीलवाड़ा (हनुमानसिंह -हलचल )। । कोरोना पॉजिटिव जयपुर के ई-रिक्शा चालक जुबेर की क्वारेंटाइन की गई पत्नी शबनम ने बुधवार को हरणी महादेव स्थित एक होटल की छत से कूदकर जान देने की कोशिश। इतना ही नहीं, इस महिला ने अपने बच्चों को भी मारने तक की धमकी देते हुये पुलिस व चिकित्सा टीम के सामने ही मोबाइल चार्जर लीड से गला घोंटने का प्रयास किया। महिला ने करीब डेढ़ घंटे तक जमकर हंगामा किया। इस बीच, इनकी कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने से महिला को उसकी दो बहनों और बच्चों को होम कोरेंटाइन कर दिया गया। 
  जानकारी के अनुसार, दिल्ली बायपास, इदगाह जयपुर निवासी जुबेर खां पिछले दिनों जयपुर से अपने ससुराल गुलाबपुरा आया था। वहां ई-रिक्शा चलाने वाले जुबेर की जांच करवाई गई। इसमें वह पॉजिटिव पाया गया था। तीन दिन पहले  उसे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था, जबकि  उसकी पत्नी शबनम, दो बच्चों के साथ ही शबनम की दो बहनों को भी कोरेंटाइन किया गया था। 
चालक की पत्नी शबन अपने दो बच्चों, दो बहनों के साथ हरणी महादेव रोड स्थित एक होटल में बनाये गये क्वारेंटाइन सेंटर में थी।  बुधवार शाम शबनम ने क्वारेंटाइन सेंटर में नहीं रहकर अपने घर जाने, पति से बात कराने सहित अन्य मांगों को लेकर हंगामा करने लगी। इसी के चलते उसने क्वारेंटाइन सेंटर के कमरे में मोबाइल चार्जर से फांसी लगाकर खुदकुशी का प्रयास किया, लेकिन वह सफल नहीं हुई । इसके बाद शबनम अपने दोनों बच्चों को साथ लेकर क्वारेंटाइन सेंटर की छत पर जा चढ़ी। पीछे उसकी दोनों बहनें भी छत पर चली गई। 
शबनम ने क्वारेंटाइन सेंटर( होटल) की छत से नीचे कूदने का प्रयास किया। इस दौरान शबनम ने बच्चों को नीचे फैंकने की धमकी भी दी। शबनम को उसकी बहनों की मदद से  होटल स्टॉफ व क्वारेंटाइन में मौजूद कर्मचारियों ने महिला को बचा लिया। सूचना पर कोतवाली यशदीप भल्ला मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और शबनम को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं मानी। इसके बाद महिला थाना प्रभारी सहित रक्षादल टीम और सीएमएचओ को भी वहां बुलवा लिया गया। 
इनके सामने ही शबनम ने मोबाइल चार्जर से फांसी लगाने की कोशिश की। महिला कांस्टेबल ने अथक प्रयास कर चार्जर लीड शबनम से छीन ली। इसके बाद ये तीनों बहने, बच्चों के साथ क्वारेंटाइन सेंटर से निकल कर हरणी गांव की ओर जाने लगी। इन तीनों को अथक प्रयास के बाद पुलिस जाब्ते ने रोका और एंबुलेंस में बैठा लिया। 
शबनम ने करीब डेढ़ घंटे तक हंगामा किया। इस दौरान पुलिस ने जब उसे व बच्चों को पानी पिलाना चाहा तो उसने पानी में जहर देने तक आरोप लगा दिया। शबनम ने यह भी कहा कि उसे और पति को कोई बीमारी नहीं है, उन्हें जबरन रोके रखा है। शबनम ने पति से मिलने की जिद करते हुये पुलिस से यह भी कहा कि वह कोई सरकार के आदेश को नहीं मानती।  इस बीच, शबनम, उसके दो बच्चों और दो बहनों की कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आ जाने से चिकित्सा विभाग ने इन पांचों को कोरेंटाइन सेंटर से निकाल कर एंबुलेंस से गुलाबपुरा भिजवा दिया, जहां ये सभी होम क्वारेंटाइन रहेंगी। 



पंचोली को डायमंड एचीवर अवार्ड

  भीलवाड़ा हलचल। एन आर बी फाउंडेशन और भव्या इंटरनेशनल के बैनर तले डायमंड एचीवर अवार्ड -2020 की घोषणा कर दी गई। भीलवाड़ा के गोपाल पंचोली उर्फ आशु को साहित्य और समाजसेवा के लिए सम्मानित किया जायेगा।


लॉकडाउन में फंसे जिले के 50 लोग नीमच से भीलवाड़ा पहुंचे

 भीलवाड़ा हलचल। कोरोना संक्रमण के चलते देशभर में लॉकडाउन में फंसे भीलवाड़ा जिले के 50 लोग आज मध्यप्रदेश के नीमच से भीलवाड़ा पहुंचे, जिनकी स्क्रीनिंग की जा रही है। 
जानकारी के अनुसार, लॉकडाउन के चलते मध्यप्रदेश के नीमच में फंसे 50 मजदूरों को आज बस से भीलवाड़ा लाया गया। जहां उन्हें भदालीखेड़ा चेक पोस्ट पर रोका गया। प्रशासन ने इनके खाने की व्यवस्था की। साथ ही इन सभी लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। इसके बाद इन सभी को कोरेंटाइन सेंटर्स में भेजा जायेगा। नीमच से आये लोगों में रायपुर, कोटड़ी, सहाड़ा सहित जिले के विभिन्न गांवों और कस्बों के बताये गये हैं।


जिला व उपखंड के बाद अब पंचायत मुख्यालयों पर बनेंगे क्वारेंटाइन सेंटर्स

 भीलवाड़ा हलचल। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जिला मुख्यालय और उपखंड मुख्यालय के बाद अब प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर भी क्वारेंटाइन सेंटर्स की स्थापना की जायेगी। इसके लिए जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने सभी उपखंड अधिकारियों को निर्देशित किया है। 
कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने हलचल को बताया कि पंचायत मुख्यालय पर स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भवन, राजकीय भवन में ये क्वारेंटाइन सेंटर्स बनाये जायें। इसे बनाने में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की जारी गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित की जाये। क्वारेंटाइन सेंटर्स में भोजन, पेयजल, ठहरन आदि की सुविधा पंचायत की ओर से की जायेगी। इन सेंटर्स के साथ ही भोजन निर्माण स्थल को निरंत निश्चित समयावधि में सेनेटाइज किया जायेगा, इसमें किसी तरह की कोताही नहीं बरतने के निर्देश भी दिये गये हैं। सेंटर्स पर पर्याप्त संख्या में मास्क, हेंडकेप, ग्लब्स उपलब्ध हो। आदेश के अनुसार, सेंटर्स की दिन में दो बार सफाई की जानी है। इसके अलावा 24 घंटे चिकित्सक, नर्सिंग स्टॉफ के साथ ही सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी इन सेंटर्स पर लगाई जायेगी। साथ ही नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया जायेगा, जो 24 घंटे चालू रहेगा और इनमें तीन शिफ्ट में चिकित्सकों और नर्सिंग स्टॉफ की ड्यूटी लगाई जायेगी। इन सेंटर्स पर नियुक्त सभी स्टॉफ का प्रतिदिन स्वास्थ्य परीक्षण होगा। इन सेंटर्स का गठित कमेटी प्रतिदिन कम से कम एक बार निरीक्षण कर यह जांच करेगी कि वहां आधारभूत सुविधायें एवं सेनेटाइजेशन है या नहीं। 
पंचायत मुख्यालय पर स्थापित होने वाले इन क्वारेंटाइन सेंटर्स में किस व्यक्ति को रखा जाना है, यह ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तय करेंगे। सेंटर्स की स्थाना के तत्काल बाद वहां संक्रमित, संदिग्ध और उनके संपर्क में आये लोगों को क्वारेंटाइन किया जायेगा। साथ ही एक कक्ष में दो व्यक्तियों के बीच 6 फीट की दूरी और एक से चार लोगों को ही रखा जायेगा। 
उधर, कलेक्टर के आदेश के बाद सभी पंचायत मुख्यालयों पर भवन तलाशने के साथ ही व्यवस्थायें करने का काम शुरू हो गया है। 


 
 


लॉक डाउन में बंद कामकाज कहां से चुकाये समुह लोन

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) जिले के आमेट कस्बे में महिला समुह की वसुली करने के तेजी से प्रयास करते हुए लोनकर्ताओ ने महिला समुह सदस्यों को परेशान करना शुरू कर दिया है । सुत्रो से  प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर में दिहाड़ी मजदूर , फुटपाथ व्यपारी , भंगार व्यवसायी , सिलाई करने वाली महिलाओं आदी द्वारा अपनी आजीविका को गति प्रदान करने के लिए कम्पनीयो द्वारा महिला समुह लोन ले रखा है ।  कोविड -19के चलते देश भर में लगभग एक माह से विश्व व्यापी महामारी कि चपेट से देश में राजस्थान भी अछुता नहीं है । महामारी से जूझ रहे देश ,प्रदेश,  जिले एवं नगर के लोग सरकार के नियमों की पालना करते हुए अपने घरों में बैठे हुए हैं। दुसरी ओर कम्पनीयो ने अपने महिला समुह लोन के रूपये वसुल करने के लिए फोन पर फोन करते हुए घंटीयां बजाते हुए लोन वसुली करने में तेजी कर दी गई । समुह महिलाओं ने बताया  दैनिक आपदनी के तहत घर का गुजारा करते हुए लोन  किस्ते जमा कराई जाती है महिलाओं ने नाम नहीं छापने कि शर्त पर बताया कि एक माह से कोई आमदनी नहीं है हमारे पास ओर हमारे पास जमा पूंजी होती तो महिला समुह लोन से कम्पनियों से लोन क्यु लेते । कम्पनियो के द्वारा बार बार परेशान करने से काफी परेशान हैं । अभी हमारे पास कोई रास्ता नहीं  जिससे समुह लोन किस्ते जमा करा सके । 


भारतीय जनता पार्टी कोविड 19 जनसेवा अभियान समिति का गठन

 भीलवाड़ा हलचल। भाजपा  प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया व प्रदेश महामंत्री संगठन चद्रशेखर के निर्देश पर भाजपा जिलाध्यक्ष लादूलाल तेली ने वैश्विक महामारी कोविड 19 के कारण आ रही समस्याओं का समाधान करने के लिए  जिला जनसेवा अभियान समिति  का गठन किया है। 


भाजपा जिला प्रवक्ता कैलाश सोनी ने बताया कि जनसेवा अभियान समिति में सयोंजक व सह सयोंजक बनाये गये हैं। इनमें कोविड जिला संयोजक देवेन्द्र कुमार डाणी को बनाया गया है, जबकि जिला सह संयोजक  हेमेन्द्र सिह उपरेडा ,अमित सारस्वत , योगेन्द्र सिह छपड़ेल, फेस कवर प्रभारी ओम पाराशर साईराम, आरोग्य सेतु प्रभारी सुरेन्द्र जैन , पी एम फण्ड केयर  राजासाध वैष्णव, प्रवासी सम्पर्क प्रभारी नन्दकिशोर बैरवा,  वरिष्ठ नागरिक सेवा राधेश्याम शर्मा, विशेष सम्पर्क प्रभारी प्रहलाद त्रिपाटी,  मोर्चा संवाद प्रभारी कैलाश जीनगर, वारियर्स आभार प्रभारी    भवानी शंकर दुधानी व फीड टू नीडी प्रभारी  ललित अग्रवाल को बनाया गया है।         
 जिलाध्यक्ष अध्यक्ष और कोविड 19 संयोजक प्रतिदिन इन विषयों की मोंनिटरिंग कर प्रदेश को रिपोर्टिंग करेंगे । आमजन के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराया जाएगा । 


सुपुर्द-ए-खाक हुए अभिनेता इरफान खान,

मुम्बई ।मशहूर अभिनेता इरफान खान जिन्होंने कई अंतरार्ष्ट्रीय और भारतीय फिल्मों में अपनी भूमिकाओं से लाखों प्रशंसकों के दिल जीते, वे अब इस दुनिया में नहीं रहे। मुंबई के कोकिला बेन हॉस्पिटल में इरफान ने बुधवार सुबह आखिर सांस ली। इसके बाद वर्सोवा स्थित कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। कोरोना लॉकडाउन की वजह से उनके परिवार के 20 लोग ही उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हो सके।   


इरफान को अंतिम विदाई देने के लिए कई सेलेब्स आना चाहते थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से ज्यादा लोग नहीं जा पाए। बता दें कि इरफान के निधन की खबर सुनने के बाद इरफान के करीबी दोस्त और डायरेक्टर तिग्मांशु धूलिया हॉस्पिटल पहुंचे थे। तिग्मांशु और इरफान ने कई फिल्मों में साथ काम किया है। तिग्मांशु ने इरफान की फिल्म पान सिंह तोमर का निर्देशन किया था, जिसके लिए इरफान को बेस्ट एक्टर के नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया था।


अभिनेता के निधन की पुष्टि वाले बयान में कहा गया है, टमुझे भरोसा है, मैंने आत्मसमर्पण कर दिया है', ये वे शब्द थे, जिन्हें इरफान ने अपने दिल से व्यक्त किए थे। ऐसा उन्होंने 2018 में कैंसर से अपनी लड़ाई की जानकारी देते समय लिखा था।” आगे कहा गया है, “मूक भावों को अपनी आंखों से व्यक्त करने की क्षमता रखने वाले अभिनेता की आंखों की गहराई स्क्रीन पर उनके यादगार कामों के साथ हमेशा याद की जाएगी। यह दुखद है कि आज हमें उनके निधन की खबर देनी पड़ रही है। इरफान एक मजबूत आत्मा थे, ऐसा व्यक्ति जो अंत तक लड़ता रहा और जो भी उसके करीब आया, उसे वह हमेशा प्रेरित करता रहा। साल 2०18 में दुर्लभ किस्म का कैंसर शरीर में पनपने का पता चलने के साथ ही उन्होंने जिंदगी के लिए कई लड़ाइयां लड़ीं। वह अपने प्यार और अपने परिवार से पूरे समय घिरे रहे, और उनकी उन्होंने हमेशा बहुत परवाह की। अब वह स्वर्ग में रहने के लिए चले गए हैं और अपने पीछे वास्तव में खुद की एक विरासत छोड़ गए हैं। हम सभी प्रार्थना करते हैं और आशा करते हैं कि वह शांति से रहें। इरफान के शब्दों में- 'जैसे कि मैं पहली बार जीवन चख रहा था, जो कि इसका जादुई पक्ष है।”'


बता दें कि मंगलवार को इरफान को कोलोन संक्रमण के साथ मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि बुधवार के शुरुआती घंटों में उनके प्रवक्ता ने एक बयान जारी कर उनकी स्वास्थ्य स्थिति के बारे में उड़ाई गई अफवाहों से दूरी बना ली थी, लेकिन बाद में इरफान के निधन की पुष्टि हुई। इरफान खान के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए फिल्म निमार्ता शूजित सरकार ने बुधवार सुबह ट्वीट किया, “मेरे प्यारे दोस्त इरफान। आपने लड़ाई लड़ी और लड़ते रहे। मैं हमेशा आप पर गर्व करूंगा ... हम आपसे मिलेंगे ... सुतपा और बाबिल के प्रति संवेदना ... सुतपा आपने भी बहुत संघर्ष किया और इस लड़ाई में हर संभव मदद की। ओम शांति। इरफान खान को सलाम। शूजित सरकार ने साल 2015 की अपनी फिल्म 'पीकू' में इरफान को निर्देशित किया था, जिसमें दीपिका पादुकोण और अमिताभ बच्चन भी थे। अभिनेता तब से बीमार हैं, जब उन्हें कुछ समय पहले न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का पता चला था और तब से ही वे चिकित्सा निगरानी में थे। वे इलाज के लिए विदेश भी गए थे।


इरफान खान आखिरी बार फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' में देखे गए थे। उनकी यह आखिरी रिलीज हुई बॉलीवुड फिल्म कोविड-19 का फैलाव रोकने के लिए लॉकडाउन लागू किए जाने से ठीक एक दिन पहले ही सिनेमा हॉल में आई थी। 


पत्नी के लिए दोबारा जीना चाहते थे इरफान खान...


बता दें कि इरफान खान ने कैंसर से लंबी जंग लड़ी है। हालांकि तबीयत ठीक होने के बाद इरफान ने फिल्म अंग्रेजी मीडियम की। इस फिल्म के रिलीज के दौरान उन्होंने एक इंटरव्यू में बीमारी से चल रही अपनी जंग को लेकर बात की थी।


इरफान ने कहा था, मेरे लिए ये जो दौर था वो रोलर कोस्टर राइड जैसा था। हम थोड़ा रोए, लेकिन बहुत हंसे भी। मुझे बहुत बेचैनी होती थी, लेकिन मैंने उसे  बाद में कंट्रोल कर लिया था।


शराब की दुकानें बंद होने पर केन्द्र सरकार की एडवाइजरी, कहा- नशा छोड़ने को तैयार लोगों का इलाज करें

दिल्ली ।सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्रालय ने कहा है कि जिन लोगों में शराब छोड़ने के गंभीर लक्षण दिख रहे हों, उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कर इलाज मुहैया कराया जाए। मंत्रालय ने एक एडवाइजरी में कहा कि लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें बंद हैं और यह समय उन लोगों के लिए वरदान है जो हमेशा के लिए नशे की लत को छोड़ना चाहते हैं। 


नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट सेंटर और एम्स ने मिलकर यह एडवाइजरी तैयार की है। एडवाइजरी में कहा गया कि ऐसे गंभीर लक्षण वाले लोगों को चैतन्यता खोने, बेहोशी और असामान्य व्यवहार जैसे लक्षण दिख सकते हैं। उन्हें मानसिक परेशानी भी हो सकती है, ऐसे मरीजों को तुरंत चिकित्सकीय सहायता की जरूरत है। मंत्रालय ने कहा कि लोग टोल फ्री नंबर 1800110031 पर कॉल करके सहायता मांग सकते हैं।


केरल HC ने वेतन में कटौती पर रोक लगाई
 
केरल हाईकोर्ट ने कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए सरकारी कर्मचारियों के वेतन में कटौती के राज्य सरकार के आदेश पर मंगलवार को दो महीने के लिए रोक लगा दी है। न्यायमूर्ति बी कुरियन थॉमस ने सरकार के फैसले को चुनौती देनी वाली विभिन्न याचिकाओं पर विचार करते हुए यह अंतरिम आदेश जारी किया। ये याचिकाएं कर्मचारियों और उनके संगठनों द्वारा दायर की गई हैं।


राज्य सरकार ने अपने आदेश में कहा था कि अगले पांच महीने तक हर महीने राज्य सरकार के कर्मचारियों का छह दिनों का वेतन काटा जाएगा। आदेश में कहा गया था कि यह राज्य के स्वामित्व वाले सभी उद्यमों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, अर्धसरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों आदि के कर्मचारियों पर लागू होगा। आदेश में यह भी कहा गया था कि मंत्रियों, विधायकों, विभिन्न बोर्डों, स्थानीय निकायों, आयोगों के सदस्यों को एक वर्ष तक 30 प्रतिशत कम वेतन मिलेंगे।


केंद्र की मोदी सरकार अपने विकास के एजेंडे पर अटल है- सांसद दीयाकुमारी

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) सांसद दीयाकुमारी ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी और मोदी सरकार का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना संकट से जूझ रही केंद्र की मोदी सरकार अपने विकास के एजेंडे पर अटल है। बजट सत्र के दौरान केंद्रीय मंत्री गड़करी ने जो वादा किया था उसको निभाया है। सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि इस महत्वकांशी योजना से जहां विकास के नए आयाम स्थापित होंगे वहीं जेतारण, ब्यावर और भीम विधानसभा क्षेत्र की आम जनता को सीधे तौर पर आवागमन में सुविधा के साथ समय की बचत होगी।


सड़क मंत्रालय और सरकार के साथ सांसद दीयाकुमारी के सतत सम्पर्क और वार्ताओं के नतीजतन रास बाबरा रूपनगर जवाजा आसींद माण्डल मार्ग को दो लेन की स्वीकृति मिली है। यह मार्ग नेशनल हाइवे 158 है। 


 सड़क और परिवहन मंत्रालय द्वारा विश्व बैंक निधि से कुल लागत 412 करोड़ मंजूर किये गए हैं जिसकी प्रशासनिक, वित्तीय और तकनीकी स्वीकृति जारी हो चुकी है। 


मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि अभी तक 87 किलोमीटर की स्वीकृति हुई है और कुछ आंशिक स्वीकृति प्रक्रियाधीन है। इस योजना को विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित हरित राष्ट्रीय राजमार्ग गलियारे योजना के तहत दो लेन स्वीकृत किया गया हैं, जिसको 2023 तक पूर्ण किया जाएगा।


ज्ञात रहे कि सांसद दीयाकुमारी ने कई बार इस मसले को संसद के अंदर और बाहर भी उठाया था।



ग्रांम पंचायतो में सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव किया

   निम्बाहेड़ा हलचल। निकटवर्ती ग्रांम पंचायत टाई एवं बरड़ा के अरनिया माली, बोरखेड़ी, ढावलिया,  पेमडीया गाव में बुधवार को कारोना महामारी सेे बचा...