Monday, August 31, 2020

नयी 'अंजलि भाभी' ने सेट से शेयर की ये खास तसवीरें, तारक संग इस अंदाज में आईं नजर



टीवी के चर्चित सीरीयल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा' (Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah) में लगातार चर्चा में हैं. अंजलि मेहता का किरदार निभाने वाली नेहा मेहता ने हाल ही में इस शो को अलविदा कह दिया. अब उनका किरदार सुनैना फौजदार निभा रही है. अब सुनैना ने एक तसवीर शेयर कर कंफर्म कर दिया है कि वह शो का हिस्‍सा है. उनकी तसवीरें तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.


सुनैना ने इंस्टाग्राम पर सेट से कुछ फोटोज़ शेयर की है जिसमें वह तारक मेहता यानी शैलेंद्र लोढ़ा संग नजर आ रही हैं. सुनैना ने खुद का स्वागत करने की भी बात लिखी है. एक्ट्रेस ने लिखा, सभी कलाकार अपने दर्शकों के मनोरंजन के लिए रहते हैं. ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में बतौर अंजलि पलीज आप मेरा स्वागत करें. मुझे आपकी दुआ और सपोर्ट चाहिए. जैसे आप पहले से मेरी स्ट्रेन्थ रहे हैं.'


उनकी इस तसवीर पर फैंस जमकर रिएक्‍ट कर रहे हैं. यूजर्स उन्‍हें बधाई दे रहे हैं और हार्डवर्किंग बता रहे हैं. बता दें कि सुनैना फौजदार ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत स्‍टार प्‍लस के शो संतान से की थी. इसके अलावा वह राजा की आयेगी बारात, कुबूल है, रहना है तेरी पलकों के छांव में, सीआईडी, सावधान इंडिया, आहट, एक रिश्‍ता साझेदारी का, लगी तुझसे लगन और फियर फाइल्‍स जैसे सीरीयल्‍स में नजर आ चुकी हैं.पिंकविला की रिपोर्ट के मुताबिक, नेहा को प्रोडक्शन से कुछ समस्या थी. उन्‍होंने फरवरी में कुछ मुद्दे उठाये थे, जिनपर गौर नहीं किया किया. इस वजह से नेहा मेहता ने शो छोड़ने का फैसला लिया है. हालांकि नेहा मेहता से मुद्दे पर बात करने की कोशिश भी की गई थी. इसके बाद सुनैना फौजदार को शो में लिया गया.


नेहा मेहता ने एक इंटरव्‍यू में कहा था, 'मैं असित मोदी का बेहद सम्मान करती हूं. मुझे भगवान पर भरोसा है. लेकिन मैं कहना चाहूंगी कि कभी कभी खामोशी भी बोलती है. मुझे भरोसा है.' हाल ही में नेहा मेहता ने टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा था,' हां, कुछ मुद्दे थे, लेकिन मेरा मानना है कि कभी-कभी, खामोशी बोलती है. मुझे लगता है आगे बढ़ने की जरूरत है.' 




क्लर्क से राष्ट्रपति तक... ऐसा रहा भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का जीवन सफर

देश के पूर्व राष्ट्रपति और आजाद भारत के प्रमुख नेताओं में से एक प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया है। वह 84 वर्ष के थे। वह भारतीय राजनीति के उन गिने-चुने नेताओं में से हैं, जिनका सम्मान सभी दलों के सदस्य एक समान करते हैं और प्यार से उन्हें प्रणब दा बुलाते हैं। देश की राजनीति में उनके योगदान को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी की अगुआई वाली एनडीए सरकार ने पिछले साल उन्हें भारत रत्न की उपाधि से सम्मानित किया था। आइए पूर्वी राष्ट्रपति के जीवन सफर पर डालें एक नजर... 


स्वतंत्रता सेनानी के घर जन्म
प्रणब मुखर्जी का जन्म 11 दिसंबर 1935 को पश्चिम बंगाल के वीरभूमि जिले के मिराती नामक गांव में कामदा किंकर मुखर्जी और श्री​मति राजलक्ष्मी मुखर्जी के घर में हुआ। उनके पिता कामदा किंकर मुखर्जी एक स्वतंत्रता सेनानी थे और बाद में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का प्रतिनिधित्व किया। वह अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य भी रहे। साल 1952 से 1964 तक प्रणब के पिता कामदा पश्चिम बंगाल विधानपरिषद के सदस्य भी रहे। प्रणब मुखर्जी ने वीरभूमि जिले के सुरी विद्यासागर कॉलेज से अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय से राजनीति शास्त्र में स्नातकोत्तर (M.A) और विधि (L.L.B)  में स्नातक की डिग्री प्राप्त की। प्रणब मुखर्जी 13 जुलाई, 1957 को सुव्रा मुखर्जी के साथ परिणय सूत्र में बंधे, जो बांग्लादेश में स्थित नरायल की रहने वाले थीं और 10 वर्ष की उम्र में अपने परिवार के साथ तत्कालीन कोलकाता जो अब कलकत्ता के नाम से जाना जाता है, आई थीं। इन दोनों के दो पुत्र और एक पुत्री हैं। पुत्रों का नाम है अभिषेक मुखर्जी और अभिजीत मुखर्जी। पुत्री का नाम है शर्मिष्ठा मुखर्जी। प्रणब मुखर्जी को राजनीतिक हलके में प्यार से लोग प्रणब दा के नाम से बुलाते हैं। प्रणब दा सक्रीय राजनीति में रहते हुए भी हर साल दुर्गा पूजा के अवसर पर अपने गांव मिराती जरूर जाते रहे हैं। उन्हें पाइप पीना, डायरी लिखना, खूब किताबें पढ़ना, बागवानी करना और संगीत सुनना बेहद पसंद है।


प्रणब मुखर्जी का राजनीति में आने से पहले का जीवन
अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद प्रणब मुखर्जी कलकत्ते में ही पोस्ट एंड टेलिग्राफ विभाग में अपर डिविजन क्लर्क थे। प्रणब दा ने 1963 में पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में स्थित विद्यानगर कॉलेज में कुछ समय के लिए राजनीति शास्त्र भी पढ़ाया। उन्होंने कुछ समय के लिए 'देशेर डाक' नामक समाचार पत्र में पत्रकार की भूमिका भी निभाई।


प्रणब मुखर्जी का राजनीति के क्षेत्र में आगमन कैसे हुआ?
प्रणब मुखर्जी का राजनीति से पहला वास्ता तब पड़ा जब उन्होंने 1969 में मिदनापुर उप​चुनाव में एक निर्दलीय उम्मीदावर के तौर पर खड़े वीके कृष्ण मेनन के लिए चुनाव प्रचार किया। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी उस उपचुनाव में प्रणब मुखर्जी के चुनावी रणनीतिक कौशल से बहुत ज्यादा प्रभावित हुईं और उन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का सदस्य बना दिया। इसी साल जुलाई में प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस ने राज्यसभा भेज दिया। और इस तरह प्रणब मुखर्जी का राजनीति में औपचारिक रूप से प्रवेश हुआ।
 
रोचक है प्रणब मुखर्जी की 45 वर्षों की राजनीतिक यात्रा
प्रणब दा साल 1969 में कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर पहली बार उच्च सदन यानी राज्यसभा पहुंचे। फरवरी 1973 से जनवरी 1974 तक वह 'इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट मिनिस्टर' रहे। जनवरी 1974 से अक्टूबर 1974 तक वह 'शिपिंग एंड ट्रांस्पोर्ट मिनिस्टर' रहे। अक्टूबर 1974 से दिसंबर 1975 तक वह 'वित्त राज्य मंत्री' रहे। जुलाई 1975 में वह दूसरी बार राज्यसभा के लिए चयनित हुए। दिसंबर 1975 से मार्च 1977 तक वह 'रेवेन्यू एंड बैंकिंग मंत्रालय' में राज्य मंत्री  (स्वतंत्र प्रभार) के तौर पर जुड़े रहे। साल 1978 से 1980 तक वह राज्यसभा में कांग्रेस पार्टी के उप नेता रहे।
 
कांग्रेस के संकटमोचक, वर्षों तक संभाले विभिन्न पद
प्रणब दा 27 जनवरी 1978 से 18 जनवरी 1986 और 10 अगस्त 1997 से 25 जून 2012 तक कांग्रेस वर्किंग कमिटी के सदस्य रहे। वह 1978 से 1979 तक अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमिटी के ट्रेजरर। साल 1978 से 1986 तक वह अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमिटी के केंद्रीय संसदीय बोर्ड के सदस्य रहे। जनवरी 1980 से जनवरी 1982 तक वह 'स्टील एंड माइंस एंड कॉमर्स' मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री रहे। साल 1980 से 1985 तक वह राज्यसभा में सदन के नेता रहे। अगस्त 1981 में वह तीसरी बार राज्यसभा सदस्य बने। वह 1984, 1991, 1996, 1998 और 1999 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की कैम्पेन कमिटी के चेयरमैन रहे।


कुल 5 बार राज्यसभा और 2 बार लोकसभा सदस्य
साल 1985 और अगस्त 2000 से जून 2010 तक प्रणब मुखर्जी पश्चिम बंगाल कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष रहे। उन्होंने जून 1991 से 196 तक तब के 'योजना आयोग' जो अब 'नीति आयोग' के नाम से जाना जाता है के डेप्युटी चेयरमैन रहे। वह 1993 में चौथी बार राज्यसभा के सदस्य बने। फरवरी 1995 से से मई 1996 तक वह भारत के विदेशी मंत्री रहे। साल 1996 से 2004 तक वह राज्यसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक रहे। साल 1999 में वह पांचवीं बार राज्यसभा के लिए चुने गए। प्रणब दा साल 2004 में पहली बार पश्चिम बंगाल के जंगीपुर संसदीय सीट से चुनाव जीत कर लोकसभा पहुंचे और जून 2012 तक सदन के नेता रहे। वह 23 मई 2004 से 24 अक्टूबर 2006 तक भारत के रक्षा मंत्री रहे। 


विदेश मंत्रालय से लेकर वित्त मंत्रालय तक संभाला
प्रणब दा 25 अक्टूबर 2006 से 23 मई 2009 तक भारत के विदेश मंत्री रहे। 24 जनवरी 2009 से मई 2012 तक वह देश के वित्त मंत्री भी रहे। 20 मई 2009 को वह जंगीपुर संसदीय सीट से ही 15वीं लोकसभा के लिए दूसरी बार चुने गए। प्रणब दा ने 25 जून 2012 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया और 2012 से 2017 तक भारत के 13वीं राष्ट्रपति रहे। इस प्रकार राष्ट्रपति बनने के साथ ही प्रणब दा का लगभग 45 वर्ष लंबे राजनीतिक करियर पर विराम लगा।सोनिया ने किया था प्रणब को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने का ऐलान
सोनिया गांधी ने 15 जून 2015 को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया। इसका ऐलान सोनिया गांधी ने किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, शरद पवार और पी चिदंबरम मौजूद थे।



77 साल की उम्र में राष्ट्रपति बने
प्रणब मुखर्जी ने 25 जुलाई को 13वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। तब चीफ जस्टिस रहे एसएच कपाड़िया ने मुखर्जी को शपथ दिलाई। वे 25 जुलाई 2017 तक इस पद पर रहे।



बहन ने कहा था- तुम इसी जन्म में राष्ट्रपति बनोगे
जब 1969 में प्रणब राज्यसभा के सदस्य बने, तो उनका आवास राष्ट्रपति भवन के पास था। एक दिन उन्होंने राष्ट्रपति की घोड़े वाली बग्घी को देखकर अपनी बहन अन्नापूर्णा बनर्जी से कहा था कि इस आलीशान राष्ट्रपति भवन का आनंद उठाने के लिए वो अगले जन्म में घोड़ा बनना पसंद करेंगे। तब उनकी बहन ने कहा था कि इसके लिए तुम्हें अगले जन्म तक रुकना नहीं पड़ेगा, बल्कि इसी जन्म में मौका मिलेगा।



संघ के कार्यक्रम में शामिल होकर सबको चौंकाया था
प्रणब दा अपने फैसले पर कायम रहने वाले लोगों में से एक थे। उनकी यह झलक 7 जून 2019 में संघ के समारोह में शामिल होने पर दिखी थी। अलग विचारधारा के होने के बाद भी उन्होंने इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। उनके इस फैसले पर कांग्रेस नेताओं ने भी सवाल उठाए थे।



मोदी को अपने हाथों से मिठाई खिलाई
2019 के लोकसभा चुनाव में एनडीए ने वापसी की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शपथ लेने के पहले 28 मई को प्रणब मुखर्जी से आशीर्वाद लेने पहुंचे। मुखर्जी ने मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया और उन्हें अपने हाथों से मिठाई खिलाई।



भारत रत्न भी मिला
फोटो 8 अगस्त की है, जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया था। प्रणब की बेटी शमिष्‍ठा मुखर्जी ने 12 अगस्त को लिखा कि पिछले साल 8 अगस्‍त मेरी जिंदगी का सबसे खुशी भरा दिन था, जब मेरे पिता को भारत रत्‍न मिला था। ठीक एक साल बाद वे बीमार हो गए।


दिवाली तक कंट्रोल में आ जाएगा कोरोना वायरस, डॉ हर्षवर्धन का दावा





बेंगलुरु : देश में कोरोना का ग्रफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है. रोजाना 70 हजार से अधिक नये मामले भारत में आने शुरू हो गये हैं. विशेषज्ञों का दावा है कि अगर देश में कोरोना के नये केस में इसी तरह इजाफा होता रहा है तो 6 सप्ताह में भारत अमेरिका को पीछे छोड़ देगा. एक ओर कोरोना के बढ़ते मामले ने टेंशन बढ़ा दी है, तो दूसरी ओर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के दावे से नयी उम्मीद जगी है.स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने उम्मीद जताई कि दिवाली तक हम कोविड-19 महामारी को काफी हद तक नियंत्रण में लाने में सफल हो जाएंगे. हर्षवर्धन ने कहा, उम्मीद है कि अगले कुछ महीनों में, संभवत: दिवाली तक हम कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को काफी हद तक नियंत्रित कर लेंगे.अनंतकुमार फाउंडेशन द्वारा आयोजित ‘नेशन फर्स्ट' वेब सेमिनार में केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि डॉक्टर देवी प्रसाद शेट्टी और डॉक्टर सीएन मंजूनाथ जैसे विशेषज्ञ इस बात पर संभवत: सहमत होंगे कि कुछ वक्त बाद यह भी अतीत में आए अन्य वायरस की तरह सिर्फ स्थानीय समस्या बनकर रह जाएगा.उन्होंने कहा, लेकिन वायरस ने हमें खास सीख दी है, इसने हमें सिखाया है कि अब कुछ नया होगा, जो सामान्य होगा आर हम सभी को अपनी जीवनशैली को लेकर ज्यादा सावधान और सजग रहना होगा....हर्षवर्धन ने इस साल के अंत तक कोरोना वायरस का टीका विकसित कर लिये जाने की भी उम्मीद जतायी.


गौरतलब है कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 78512 नये मामले सामने आये हैं और 60868 लोग ठीक भी हुए. 24 घंटे में कोरोना से 971 लोगों की जान भी गयी. नये आंकड़े आने के बाद देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 3621245 हो गये हैं और 64469 लोगों की मौत हो चुकी है. जबिक अब तक कुल 2774801 लोगों ने कोरोना को मात भी दे दी है.






गणेश विसर्जन का जुलूस भी नहीं निकलेगा

 

भीलवाड़ा । वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के बीच सरकार ने धार्मिक आयोजनों पर रोक लगा रखी है। ऐसे में इस बार न तो गणेश चतुर्थी पर भगवान श्री गणेश का मेला भरा, न ही पांडाल सजे और डांडिया खनके। अनंत चतुर्दशी पर्व मंगलवार को है, पर इस बार गणेश जी विसर्जन का जुलूस भी नहीं निकलेगा। भक्तों ने अपने-अपने घरों या प्रतिष्ठानों में गणेश जी की प्रतिमा की स्थापना की। रोजाना गणेश वंदना व आरती की जा रही है। भक्त अपनी श्रद्धानुसार भगवान को मोदक सहित विभिन्न व्यंजन व छप्पन भोग धरा रहे हैं। श्री गणेश उत्सव एवं प्रबंध सेवा समिति के अध्यक्ष उदयलाल समदानी ने भी अपने घर पर ही प्रतिमा की स्थापना कर रखी है।


प्रवक्ता महावीर समदानी ने बताया कि गणेश जी के स मुख सठरस सहित 101 तरह के विभिन्न व्यंजन घर में ही तैयार किए। फिर गणपति बप्पा को भोग धराया गया। इस बार कोरोना के चलते गणेश जी के भक्तों को अपने हिसाब से प्रतिमा का विसर्जन करना पड़ेगा। इस दौरान मुंह पर मास्क लगाने के साथ ही दो गज की दूरी बनाए रखनी होगी।



बिना स्वीकृति निकाली शव शव यात्रा कलक्ट्री से बेरंग लौटाया

 

भीलवाड़ा हलचल। भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र सीटू के माध्यम से संगम इंडिया सूरज यूनिवर्सल बडज़ात्या ब्रदर्स के श्रमिकों ने आजाद चौक से जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। लेकिन स्वीकृति नहीं लेने से कलक्ट्री पहुंचने से पहले ही उन्हें रोक दिया गया और बेरंग लौटा दिया। 
प्रान्तीय प्रतिनिधि सीटू ओमप्रकाश देवानी ने बताया कि भीलवाड़ा में बड़ी संख्या में श्रमिकों को लॉक डाउन का वेतन मांगने पर सेवा पृथक कर दिया गया। इसके संबंध में श्रीमान जिला कलेक्टर के समक्ष पूर्व में कई बार पत्र दिए गए इस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। संगम इंडिया डेनिम बदल जाती है, ब्रदर सूरज यूनिवर्सल के श्रमिकों को सेवा पृथक कर दिया गया, जिस के संबंध में श्रमिक मालिक को श्रम विभाग में उपस्थित होने के लिए कई बार प्रार्थना पत्र दिए, परंतु वहां मालिक उपस्थित नहीं हो रहे है। श्रमिकों का जीवन यापन करना दुर्बर हो गया, बेरोजगार हो गए है, नियोजक द्वारा प्रशासन के मध्य वार्ता में निर्णय की पालना नहीं की जा रही है, इन सभी मांगों को लेकर के आज दिनांक 31.08.2020 को श्रमिकों ने आजाद चैक से शव यात्रा निकालकर विरोध प्रदर्शन किया।
    शव यात्रा में रतनलाल लोग चंद जगदीश जाट, प्रदीप पांडे, वसीम मोहम्मद, रतनलाल, महेंद्र सिंह, रामचंद्र, अशोक कुमावत, शिवराज, नारायण माली, सुरेश चंद्र, केदार सिंह, ईश्वर सिंह, ओमेंद्र सिंह, सद्दाम, करण सिंह, भगवान सिंह आदि कई सैकड़ों श्रमिकों ने लॉक डाउन की पालना करते हुए बाजार के बीच से शव यात्रा निकालते हुए जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचने से पहले ही बिना स्वीकृति पर शवयात्रा निकालने पर इस यात्रा को बीच में रोक उन्हें बेरंग लौटा दिया गया। के सामने एक न्याय दिलाने के लिए मांग पत्र दिया गया जिसमें संगम इंडिया सूरज यूनिवर्सल बडज़ात्या ब्रदर्स के मालिकों द्वारा सभी श्रमिकों को बेरोजगार किया गया है, रोजगार भत्ता नहीं दिया जा रहा है। इन सभी मांगों को लेकर के आक्रोशित होकर श्रमिकों ने विरोध प्रदर्शन किया और लकडिय़ा नहीं मिलने के अभाव में शव को खुला छोड़ दिया गया उनका दाग नहीं किया गया।



हरियाणा के मंत्री ने SP को कहा भ्रष्ट, नालायक, फिर हुआ ट्रांसफर, IPS ने दर्ज करवाई FIR

 

चंडीगढ़
हरियाणा में इन दिनों एक महिला आईपीएस और एक राज्यमंत्री के बीच जमकर तकरार हो रही है। मामला मंत्री की एक ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद शुरू हुआ, जिसमें मंत्री ने महिला आईपीएस को धमकी दी और उन्हें नालायक बोला। इस घटना के बाद महिला आईपीएस का 24 घंटे के अंदर ट्रांसफर कर दिया गया। ट्रांसफर से पहले महिला आईपीएस ने वायरल ऑडियो के मामले में एफआईआर दर्ज कराई है।
मामला राज्य के महेंद्रगढ़ जिले से शुरू हुआ। यहां पर एक भाजपा नेता के घर पर घुसकर उनके बेटे के पैर में गोली मारी गई। बदमाशों ने गोली मारने के बाद वहां एक पर्ची छोड़ी, जिसमें 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई थी। इस घटना के बाद एक पत्रकार से राज्यमंत्री सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता, ओमप्रकाश यादव की बात हुई।

मंत्री ने रोया दुखड़ा, आईपीएस को बताया भ्रष्ट
पत्रकार से बात करने के दौरान मंत्री ने जिले की एसपी सुलोचना गजराज को जमकर खरी-खोटी सुनाई। यहां तक उन्होंने एसपी को नालायक कहा। ऑडियो में मंत्री कह रहे हैं, 'मेरी कोई सुनता नहीं। मैं मंत्री होते हुए मैं यह बात कह रहा हूं। मैं खुद दुखी हूं, रो-रोकर मर लिए लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। यहां की एसपी भ्रष्ट है। गुंडों से मिली हुई है। सारा काम एसपी करवा रही है। मैं बड़ा दुखी हूं, यह एसपी बहुत नालायक है और बदमाशों से मिली हुई है। कमिशन इकट्ठा करने के अलावा कोई काम नहीं है।'

पत्रकार से बातचीत का ऑडियो हुआ वायरल
पत्रकार और मंत्री की बातचीत का यह ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया। ऑडियो वायरल होने के बाद मंत्री और आईपीएस के बीच खींचतान बढ़ गई। ऑडियो वायरल होने के 24 घंटे के अंदर राज्य में 8 आईपीएस के ट्रांसफर किए गए, जिसमें महिला एसपी सुलोचना का भी नाम था। सुलोचना की जगह महेंद्रगढ़ का नया एसपी 2015 बैच के आईपीएस चंद्रमोहन को बनाया गया है।

क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर हुआ केस
बताया जा रहा है कि ट्रांसफर के बाद चार्ज देने से पहले आईपीएस सुलोचना ने नारनौल थाने में रविवार देर रात 11:55 पर एफआईआर दर्ज कराई। इस एफआईआर में उन्होंने अज्ञात के खिलाफ दंगा भड़काने व अपमान जनक शब्दों का प्रयोग करने का केस दर्ज कराया है। अब इस मामले को क्राइम ब्रांच को जांच के लिए सौंपा गया है।


 

प्री-डीएलएड परीक्षा हुई

 

भीलवाड़ा । वैश्विक महामारी कोरोना के बीच राज्य सरकार द्वारा प्री-डीएलएड (बीएसटीसी) परीक्षा सोमवार को हुई। दोपहर दो बजे से जिले के 143 परीक्षा केंद्रों पर हो रही परीक्षा में 23 हजार 104 अ यर्थियों ने पंजीयन करवाया है। कोरोना के खतरे के बीच परीक्षा केंद्रों पर दोपहर एक बजे से पहले ही परीक्षार्थी पहुंचने लगे। परीक्षार्थियों को प्रवेश से पहले सभी परीक्षा केंद्रों का सेनेटाइजेशन किया गया। परीक्षार्थी मुंह पर मास्क लगाकर केंद्रों पर पहुंचे। 
प्रवेश से पहले उनके हाथ सेनेटाइज करवाए गए। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा गया। हालांकि परीक्षा दोपहर 2 बजे शुरू हुई, जो शाम 5 बजे तक चलेगी। परीक्षा केंद्र पर इले ट्रॉनिक पकरणों, 
घड़ी, केल्कुलेटर, मोबाइल आदि नहीं ले जाने दिए गए। जो अ यर्थी लाए तो उन्हें बाहर रखवा दिया गया। जिला नोडल अधिकारी एवं मु- य जिला शिक्षा अधिकारी प्रहलाद पारीक ने बताया कि परीक्षा के सफल संचालन के लिए सीडीईओ कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया गया। नकल को रोकने के लिए प्रत्येक पांच परीक्षा केंद्रों पर तीन सदस्यीय कुल 33 उडऩदस्तों का गठन किया गया। ये उडऩदस्ते निरंतर परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण करते रहे। कुल 143 केंद्राधीक्षक, 18 अतिरिक्त केंद्राधीक्षक, 1951 वीक्षक/पर्यवेक्षक एवं सभी परीक्षा केंद्रों पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो पुलिसकर्मियों की नियुक्ति की गई।  



जिले में सर्वाधिक 637 मिमी बरसात जहाजपुर में

 

भीलवाड़ा। भादवा में बदरा शहर में भले ही तरसा-तरसा कर बरस रहे हैं, पर भीलवाड़ा जिले में अब तक सामान्य की 70 फीसदी बारिश हो चुकी है। शहर में सोमवार सुबह भी बारिश हुई। जिले का सामान्य औसत 643.60 मिमी है। इसकी तुलना में अब तक 450.88 मिमी बारिश हो चुकी। जल संसाधन विभाग स्थित बाढ़ नियंत्रण कक्ष की रिपोर्ट के अनुसार एक जून से अब तक जिले में सर्वाधिक 637 मिमी बरसात जहाजपुर में हुई, जबकि सबसे कम 338 मिमी बागौर में। जिले के चेरापूंजी कहे जाने वाले मांडलगढ़ क्षेत्र में अब तक 452 मिमी ही पानी बरसा। वहीं भीलवाड़ा शहर में अब तक 497 मिमी पानी बरसा। वो भी इंद्र देव ने तरसा-तरसा कर बरसाया। 
सोमवार सुबह 8 बजे तक समाप्त हुए पिछले चौबीस घंटे में भी सर्वाधिक 54 मिमी बारिश आसींद में हुई, वहीं सबसे कम 2 मिमी शाहपुरा में। इसी तरह बदनौर में 21, बनेड़ा में 15, भीलवाड़ा जिला मु-ख्‍यालय पर 10, हमीरगढ़ में 16, हुरड़ा में 5, जहाजपुर में 3, मांडल में 8, करेड़ा में 13, मांडलगढ़ में 17, रायपुर में 27, सहाड़ा में 35, शाहपुरा में 2, बिजौलियां में 38, शंभूगढ़ में 24, डाबला में 14, कारोई में 24, रूपाहेली में 10, बागौर में 27, ज्ञानगढ़ में 44 तथा मौखुंदा में 20 मिमी वर्षा हुई। 
इसी तरह अरवड़ बांध पर 5, चंद्रभागा पर 40, जेतपुरा पर 17, खारी पर 52, मातृकुंडिया पर 50, मेजा पर 12, नाहर सागर पर 6, पाटन टैंक पर 18, सरेरी पर 17 तथा उ मेद सागर पर 9 मिमी पानी बरसा।



कोरोना वायरस संक्रमण के 645 नये मामले सामने आए

 

राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या सोमवार को बढ़कर 1048 हो गयी वहीं राज्य में 645 नये संक्रमित लोग मिले हैं। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार सुबह साढ़े दस बजे तक पिछले लगभग 12 घंटे में राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से पांच और मरीजों की मौत हो गयी। जयपुर में दो, अजमेर—बीकानेर—टोंक में एक एक मरीज की मौत हो गई। इसके साथ ही संक्रमण के 645 नये मामले सामने आने से राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों की अब तक की कुल संख्या 80,872 हो गयी जिनमें से 14,515 रोगी उपचाराधीन हैं।



टीवी एंकर ने भोपाल में डॉक्टर का बनाया वीडियो, चैनल मालिक के साथ मिल मांगे 50 लाख

 

भोपाल
राजधानी भोपाल में क्राइम ब्रांच ने हनीट्रैप मामले में कार्रवाई की है। एक टीवी चैनल में कार्यरत महिला एंकर ने स्टिंग के नाम पर एक डॉक्टर का वीडियो बनाया है। उसके बाद चैनल के लोगों ने डॉक्टर को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। चैनल की युवती ने डॉक्टर के खिलाफ भी छेड़खानी का मामला दर्ज कराया है। बताया जा रहा है कि चैनल के लोगों ने डॉक्टर से 50 लाख रुपये की मांग की थी।

चैनल के लोगों का प्रेशर देखते हुए एंकर और मालिक के साथ 5 लाख रुपये में सौदा तय हुआ था। पीड़ित डॉक्टर दीपक मरावी भोपाल के हमीदिया अस्पताल में तैनात हैं। पुलिस ने इस केस में 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार चैनल मालिक का नाम बनालाल बताया जा रहा है। वहीं, 3 लोग इस मामले में फरार चल रहे हैं। फरार आरोपियों में महिला एंकर भी शामिल है।

50 लाख रुपये की मांग
हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर दीपक से आरोपी 50 लाख रुपये की राशि मांग रहे थे। बाद में 5 लाख रुपये में डील हुई थी। डॉ दीपक मरावी ने इसकी शिकायत क्राइम ब्रांच से की थी। डॉक्टर के अनुसार आरोपी डॉक्टर को फंसाने के नाम पर पैसे की मांग कर रहे थे। डॉक्टर का ईदगाह हिल्स पर क्लिनिक है। आरोपी चैनल मालिक डॉक्टर को उठाकर अवधपुरी स्थित आवास पर पैसे के लिए ले गए थे। इसी दौरान पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार किया है।
क्राइम ब्रांच के एडिशनल एसपी गोपाल धाकड़ ने कहा कि डॉक्टर मरावी ने शिकायत की थी कि मेरे क्लिनिक पर कुछ लोग अनाधिकृत रूप से कैमरा लेकर घुसे थे। उन्होंने इसकी लिखित शिकायत की थी। एएसपी ने कहा कि इलाज के लिए गई युवती की शिकायत पर डॉक्टर के ऊपर छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया गया है। वहीं, डॉक्टर की शिकायत पर फिरौती, अपहरण और ब्लैकमेलिंग का मामला 5 लोगों पर दर्ज किया गया है।

आरोपियों में तीन पुरुष और 2 युवतियां हैं। वहीं, कैमरामैन तपन और 2 युवतियां अभी फरार चल रही हैं। छेड़छाड़ के मामले में डॉक्टर की भी गिरफ्तारी होगी। 
इलाज के लिए गई थी युवती
चैनल में काम करने वाली युवती डॉक्टर के पास इलाज के लिए गई थी। युवती ने कहा कि डॉक्टर ने उसको बुरी नियत से देखा और उसके हाथ को पकड़ा, जिसके बाद डॉक्टर के ऊपर छेड़छाड़ का प्रकरण दर्ज कराया है। हालांकि उसके ऊपर भी केस दर्ज हो जाने के बाद वह फरार है।



युवक को सांप ने आठ बार डसा, स्थानीय लोगों में दहशत

 

 


उत्तर प्रदेश का बस्ती जिला, यहां रामपुर गांव से एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है। यहां एक लड़के को सांप ने एक या दो बार नहीं बल्कि 8 बार डसा। परिवारवाले कहते हैं कि अब तो हम थक चुके हैं। सांप से बचाने के लिए झाड़-फूंक भी कराया गया लेकिन कुछ भी काम नहीं आ रहा है। वहीं, यह मामला सामने आने के बाद से आसपास के क्षेत्र में भी हड़कंप मचा हुआ है।

बस्ती जिले के कलवारी थानाक्षेत्र के रामपुर गांव में 17 वर्षीय यशराज को एक जहरीले सांप ने एक बार नहीं बल्कि महीने में आठ बार डसा। इसके बावजूद लड़के बच गया। परिवारवाले कहते हैं कि यशराज को जब पहली बार सांप ने काटा था तो उपचार होने के बाद वह ठीक होकर घर लौट आया। इसके बाद फिर से सांप ने उसे तीन बार डसा, फिर से वह इलाज के बाद ठीक हो गया। इस घटना के बाद से स्थानीय लोग दहशत में हैं। वहीं, परिवारवालों ने बताया कि सांप अबतक यशराज को आठ बार डस चुका है।
 


इस घटना के बाद हमने उसे अपने रिश्तेदार के घर भेज दिया। जबतक वह रिश्तेदार के घर पर था तबतक तो सांप नहीं नजर आया।


चंद्रमौलि मिश्रा, यश के पिता


'फिर आठवीं बार यश को सांप ने डसा'
यश के पिता चंद्रमौलि मिश्रा ने कहा, 'तीन बार सांप के डसने के बाद बेटे को रिश्तेदार रामजी शुक्ल के घर बहादुरपुर भेज दिया गया था। उस दौरान सांप आता-जाता दिखता था। कुछ दिनों बाद वह भी दिखना बंद हो गया। 10 दिन बाद सांप बहादुरपुर पहुंच गया। वहां भी उसने यश को डस लिया। इसके बाद यश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। हम इस बात से बुरी तरह परेशान हो गए। हम यश को अब घर ले आए, जहां 25 अगस्त को आठवीं बार सांप ने उसे डस लिया।'



झालावाड़ में मकान, बांसवाड़ा में छात्रावास की छत गिरी,6 बच्चों की मौत

 

राजस्थान में रविवार को कई जिलों में भारी बारिश हुई। झालावाड़ में मकान की छत गिरने से चार और बांसवाड़ा में छात्रावास की छत गिरने से दो बच्चों की मौत हो गई।  


झालावाड़ जिले के कुशलगढ़ में पशु चराने जंगल में गए चार बच्चे अचानक आई बारिश से बचने के लिए एक खंडहर मकान में पहुंचे, लेकिन तेज बारिश के मकान की छत गिर गई, जिसमें नीचे दबने से चारों बच्चों की मौत हो गई।  


बांसवाड़ा जिले में गत दो दिन से जारी बारिश का कहर रविवार को कुशलगढ़ इलाके में देखने को मिला। जहां एक छात्रावास भवन की छत गिरने से दो बच्चों की मौत हो गई, जबकि दो अन्य बच्चे घायल हो गए। ये सभी बच्चे चरवाहे हैं, जो बारिश से बचने के लिए छात्रावास के नीचे खड़े थे। हादसा कुशलगढ़ से करीब एक किलोमीटर दूर पोटलिया मोर गांव स्थित समाज कल्याण विभाग के छात्रावास भवन में हुआ। दोपहर बाद बारिश तेज होने पर आसपास गाय चराने वाले बच्चे भी छात्रावास भवन में पहुंच गए। तभी बरामदे की छत ढह गई बरामदे में खड़े चरवाहे बच्चे मलबे में दब गए। पेट्रोल पंप के कर्मचारियों के साथ आसपास की बस्तियों के लोग वहां पहुंचे और पुलिस को इसकी सूचना दी।


पुलिस ने जेसीबी से मलबे को हटवाया, तब तक एक बच्चे की मौत हो गई। मलबे से निकाले तीन अन्य चरवाहे बच्चों को बांसवाड़ा चिकित्सालय भेजा गया। वहां उपचार के दौरान एक और बच्चे की मौत हो गई। मृतकों की शिनाख्त सुनारिया निवासी बबलू और भगतपुरा निवासी राजू के रूप में हुई है। घायल दो अन्य बच्चों की हालत भी गंभीर बनी हुई है। गौरतलब है कि उक्त छात्रावास भवन को समाज कल्याण विभाग ने छह साल पहले नाकारा घोषित कर दिया था और तब से ही उस पर ताला जड़ा था। घटना के बाद उपखंड अधिकारी विजेश पंड्या, कुशलगढ़ थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने घटनास्थल का दौरा किया और जिला प्रशासन को रिपोर्ट दी।



कोरोना के 1450 नए मामले, परिवहन मंत्री भी संक्रमित

 

राजस्थान में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1450 नए मामले सामने आए, 2122 रिकवर हुए और 13 मौतें हुईं हैं। राज्य स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, प्रदेश में कुल मामले 80,227 हो गए हैं, जिसमें 65,093 रिकवर, 14,091 सक्रिय मामले और 1,043 मौतें शामिल हैं। इस बीच, प्रदेश के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसकी जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी। उन्होंने लिखा कि कुछ लक्षण दिखने पर मैंने कोरोना टेस्ट करवाया और मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरा अनुरोध है कि गत दिनों में मेरे संपर्क में जो लोग आए हैं, वह स्वयं को आइसोलेट कर अपनी जांच करवाएं। आप सभी स्वस्थ रहें और अपना ख्याल रखें। खाचरिवास 28 अगस्त को नीज और जेईई परिक्षाओं के विरोध में हुए प्रदर्शन में शामिल हुए थे।


जिसमें सचिन पायलट समेत कांग्रेस के कई विधायक, नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे थे। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने खुद को तीसरी बार आइसोलेट किया है। वसुंधरा राजे से तीन दिन पहल भाजपा की एक महिला कार्यकर्ता ने मुलाकात की थी, उसके कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मिली है। इसके बाद वसुंधरा राजे ने खुद को आइसोलेट कर लिया। इससे पहले वे एक बार लखनऊ और दूसरी बाद दिल्ली में आइसोलेट हुई थी। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक विश्वेंद्र सिंह व भाजपा विधायक पब्बाराम विश्नोई पिछले दिनों ही संक्रमित हुए हैं।


मुख्यमंत्री कार्यालय के 10 अधिकारी और कर्मचारी चार दिन पहले ही कोरोना की चपेट में आए हैं। टोंक में देवली पुलिस थाने के एक सिपाही रमेश की कोरोना के कारण मौत हो गई। थाने के चार सिपाही संक्रमित मिले हैं। अजमेर जेल में एक दर्जन कैदियों के संक्रमित होने की जानकारी सामने आई है। प्रदेश कोटा और आबू रोड में छह सितंबर और उदयपुर व बीकानेर में सोमवार सुबह तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। राज्य सरकार ने परिस्थितियों के हिसाब से लॉकडाउन लागू करने का अधिकार जिला कलेक्टरों को दिया है।


 

ट्रिपल मर्डर : दम्पत्ति को बेटे सहित जिंदा जलाया

 

आगरा । ताज नगरी आगरा से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है अज्ञात लोगों ने नगला किशनलाल में रविवार की रात पति-पत्नी और बेटे की जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई। तीनों के जले हुए शव सोमवार की सुबह कमरे में मिले। तीनों को किसने जलाया। घटना रात कितने बजे की है। यह अभी साफ नहीं हो सका है। पुलिस इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। पुलिस का कहना है कि अभी खुद समझ नहीं आ रहा है कि आखिर हुआ क्या है। मामला कुछ और भी हो सकता है। 55 वर्षीय रामवीर उसकी पत्नी मीरा और बेटे बबलू (25) की जली हुई लाश मिली है। सुबह छह बजे दूध वाला आया था। आवाज देने पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला। प्रतिदिन बबलू सुबह साढ़े पांच बजे अपनी दुकान खोल लेता था। सुबह दुकान भी नहीं खुली थी। यह देख दूधवाले ने मोहल्ले में रहने वाले रामवीर के भाई के घर आवाज लगाई। कहा कि बबलू के घर कोई बाहर नहीं आ रहा है। बबलू की चाची सुमन घर पर देखने आई। अंदर का नजारा देखकर उसके होश उड़ गए। दो कमरों में जली हुई लाशें पड़ी थीं। एक कमरे में मीरा और उसके बेटे बबलू तथा दूसरे कमरे में रामवीर की जली हुई लाश पड़ी थी। सूचना ने पुलिस के होश उड़ा दिए।



देश में कोरोना का वर्ल्ड रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 80 हजार से ज्यादा संक्रमित, 970 लोगों की मौत

 

नई दिल्ली। कोरोना का कहर कम होता नजर नहीं आ रहा है और पिछले 24 घंटों में तो कोरोना के रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आए हैं और देश ने वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया है,भारत में अब कोरोना वायरस संक्रमण की तस्वीर भयावह    हो रही है सोमवार को वर्ल्ड रिकॉर्ड 80 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं. इसे एक दिन में कोरोना संक्रमण के नये मामले सामने आने का विश्व रिकॉर्ड बताया जा रहा है, यानी अब तक किसी अन्य देश में एक दिन में कोरोना के इतने मामले सामने नहीं आये. कुल संक्रमितों की संख्या 36 लाख को पार कर गई है.एक दिन पहले ही (रविवार) 78,761 नए केस मिले थे, जो दुनिया के किसी भी देश में एक दिन में अब तक सामने आए नए मामलों की सबसे बड़ी संख्या थी. देश में कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या भी 64 हजार से अधिक हो गई है, लेकिन अच्छी बात ये भी है कि अब तक कोरोना से संक्रमित 27 लाख से ज्यादा मरीज पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं.कोरोना संक्रमण के कुल मामलों के लिहाज से भारत अमेरिका और ब्राजील के बाद तीसरे स्थान पर है. वहीं कोविड-19 से मौत के मामले में भारत – अमरीका, ब्राजील और मैक्सिको के बाद चौथे स्थान पर आ गया है. अमेरिका में करीब 1 लाख 84 हजार, ब्राजील में 1 लाख 20 हजार से अधिक और मैक्सिको में 64 हजार से ज्यादा लोगों की कोविड-19 से मौत हो चुकी है. अनुमान है कि जल्द ही भारत मैक्सिको को कोविड से मौत के मामले में पीछे छोड़ देगा.


कोरोना वायरस के मामलों में 13.1% की तेजी


टीओआई के मुताबिक, देश में इस सप्ताह कोरोना वायरस के मामलों में 13.1% की तेजी आई है, जबकि यह आंकड़ा पिछले सप्ताह 10.9 (उससे पहले वाले सप्ताह के मुकाबले) रहा था. लगातार चौथे दिन एक हजार के आस-पास मौतें दर्ज की गईं, जो पिछले सप्ताह से कहीं अधिक है. आंकड़ों के लिहजा से कोरोना वायरस काफी खतरनाक दिखाई दे रहा है.



72 घंटे में कोरोना मरीजों को ठीक करने का फार्मूला तैयार करने का दावा

 

एटा  । जिले के डॉक्टर शैलेन्द्र जैन ने  दावा किया है कि उन्होंने एक ऐसा फार्मूला विकसित किया  है जिससे कोरोना पॉजिटिव मरीज 72 घंटे में ठीक हो सकते हैं। उन्होंने इसके बड़े स्तर पर ट्रायल के लिए भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय,  आईसीएमआर से अनुमति भी मांगी है जिससे वो अपने इस रिसर्च पेपर और फॉर्मूले  को पब्लिश कर सकें। डॉ शैलेन्द्र जैन ने भारत के सबसे बड़े कोविड सेंटर नई दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल को पत्र लिख मुफ्त सेवा देने  की अनुमति मांगी है। 


शैलेन्द्र जैन का दावा है कि ये एयरोसोल बेस्ड ‘मिडिफाइड गैस थैरेपी है जिसमे ‘मिडिटी के साथ मे गैस और एयरोसोल को देते है जिससे  कि साइट पर जो भी वायरस है वो मर जाता है। ये कोरोना एंटीजन को 72 घंटे  में ठीक कर देती है। वे कहते हैं कि इतनी जल्दी रिकवरी तो किसी भी ड्रग की संभव नहीं है क्योंकि हमारी ड्रग साइट पर जाती है जहां पर कि वायरस इफेक्टिव होते हैं। इसलिए ये थैरेपी बहुत ज्यादा कामयाब है। इसके बहुत ही कम साइड इफेक्ट हैं। हल्का सा जुकाम, गले मे खरास होती है। हमारी एयरोसोल  बेस्ड गैस थैरेपी का कोई भी रेज्युडल साइड इफेक्ट नही है। 


उन्होंने कहा कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय से अनुमति मांगी है। दुनिया को इस खतरे से जितनी जल्दी मुक्ति दिला सकें उतना अच्छा है। उन्होंने  दावा किया कि इस थैरेपी से कई मरीजों को ठीक किया है। 90 फीसदी मरीज 72 घंटे के अंदर एंटीजन फ्री हो गए, अब वो आगे बीमारी नही फैला सकते। वे कहते हैं कि एंटीजन निगेटिव करने का अभी तक कोई भी एजेंट दुनिया मे ट्राई नही किया गया है। वैक्सीन भी अभी ट्रायल पर है। डॉ0 शैलेन्द्र जैन अपने इस फॉर्मूले के द्वारा देश को फ्री सेवा देना चाहते हैं। कोरोना से ठीक हुई मरीज विनीता गुप्ता बताती है कि वे इन्ही डॉक्टर की दवा से और थेरेपी से ठीक हो गयी। यही नही इन्होंने ठीक होने के बाद अपनी जांच सरकारी अस्पताल में भी क्रॉस चेक कराई वहाँ भी कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट आ चुकी  है। इसी तरह दूसरी कोरोना मरीज प्रिया का भी  डॉक्टर शैलेन्द्र जैन ने अपनी इसी थेरेपी से इलाज कर ठीक किया।



कोठारी नदी में आया पानी,जल्द पहुचेगा मेजा बांध में

 

 मालपुरा (लोकेश)कोठारी नदी में पानी  घोडास से आगे  मालपुरा तक पहुचे गया और अब  मेजा डेम  पहुचेगा ।  मालपुरा में बरसात के चलते  बाहले का पानी भी लगातार बढ रहा है। कोठरी नदी मे ओर ज्यादा पाने की सम्भावना जताई जा रही कल रात की बारिश से आगे का पानी अभी आना  हे।



बीमार व्यक्ति के कुएं में छलांग लगाने की आशंका तलाश

 

भीलवाड़ा (हलचल) जिले के लाडपुरा ग्राम में एक व्यक्ति के कुई में छलांग लगाने की आशंका के चलते पानी तोड़ने का काम किया जा रहा है । बताया गया है कि कुई के बाहर  लाठी और चप्पल पड़े मिले , जबकि कुई में तलाशी के दौरान बलाई में फ़स कर लूंगी निकली है संभावना जताई जा रही है कि लंबे समय से बीमार वृद्ध ने कुएं में छलांग लगा दी । आशंका के चलते शव की तलाश की जा रही है।



आशा सहयोगिनि‍यों का सम्‍मान

 

भीलवाड़ा (हलचल) । जवाहर फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष  रिजु झुनझुनवाला  के निर्देशानुसार  ""वी सेल्यूट कोरोना वोरियर्स"" कार्यक्रम  श्रृंखला  के तहत उनकी  भीलवाड़ा में  मौजूद  टीम जवाहर फाउंडेशन  और  टीम पूर्वांचल जनचेतना समिति के  संयुक्त तत्वाधान में  आज  भीलवाड़ा में  कोविड-19  किए गए  सराहनीय कार्य के लिए  कोरोना वोरियर्स का  सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया । इसी क्रम के अंतर्गत आज करोना काल में काम किया गया आशा सहयोगिनी को आदर्श विद्या निकेतन  अंबेडकर कॉलोनी  शास्त्री नगर  के प्रांगण में सम्मानित किया गया।


पूर्वांचल जनचेतना समिति (चैरिटेबल ट्रस्ट), भीलवाड़ा द्वारा कोरोना महामारी के समय राशन आंगनबाड़ी कर्मियों ने अपने - अपने वार्ड में जो सहयोग व सेवा कर मानवता की मिसाल पेश की है, उसे देखते हुए समिति के जिलाध्यक्ष डॉ अशोक सिंह व महिला अध्यक्षा श्रीमती पुष्पलता सिन्हा के नेतृत्व में आंगनबाड़ी कर्मियों को  कोरोना वॉरियर्स सम्मान - पत्र से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती मंजू जी पोखरना (पूर्व सभापति) रही ।  कार्यक्रम की अध्यक्षता कांग्रेस एससी सेल के अध्यक्ष रामदयाल बलाई ने किया.।


 इस अवसर पर पूर्वांचल जनचेतना समिति चैरिटेबल ट्रस्ट के संस्थापक  रजनीश वर्मा ने कहा की रिजु झुनझुनवाला के द्वारा  शुरू किया गया वी सेल्यूट कोरोना वोरियर्स कार्यक्रम के तहत आज सरिता सेन, किरण सेन, हेमलता, आशा जैन, समेत 50 से ज्यादा लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में किए गए सामाजिक सराहनीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया । 


 


 


कार्यक्रम के संयोजक जिलाध्यक्ष डॉ अशोक सिंह, महिला अध्यक्षा श्रीमती पुष्पलता सिन्हा, मुख्य अतिथि श्रीमती मंजू जी पोखरना ने उपस्थित सभी कोरोना योध्दाओं एवं पूर्वांचल जन चेतना समिति के कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया और आगे भी इसी तरह की सेवा आमजन के लिए करने को प्रेरित किया। 


इस अवसर पर समिति के ओमप्रकाश सिंह, दिनेश साहनी, बबलू सिंह, रोशन सिंह, रमावती देवी, शक्ति नाथ ठाकुर, धर्मेंद्र भारती, ललन सिंह, डॉ मनोज सिंह, कामेश्वर शाह, अमित सिंह, नंदकिशोर सिंह, लीला कांत चौधरी, डब्लू सिंह आदि सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे ।



अनियमित बिजली कटौती से ग्रामीणों में भारी रोष

 

बदनोर,(हलचल) । बदनोर उपखंड के आकड़सादा पंचायत मे बिजली विभाग द्वारा अनियमित कटौती से ग्रामवासी परेशान है तथा बिजली विभाग के अधिकारी फोन रिसीव नहीं करते है । ग्रामीण हस्तीमल रांका, सांवर लाल पटेल, हरलाल फागणा, जेठमल रेगर,नगजीराम गुर्जर आदि ने बताया कि समय रहते विभाग ने इस समस्या का समाधान नहीं किया तो ग्रामीण आन्दोलन की राह पकडेगे,जिसकी सारी जिम्मेदारी विभाग व प्रशासन की होगी ।ग्रामीणो में काफी समय से भारी रोष है ।



नहीं मिला व्यापारिक संगठनों का  सहयोग,  बंद हुआ विफल

 

चित्तौड़गढ़ (राजेश जोशी)। चित्तौडग़ढ़ मे  निजी विद्यालय संचालकों के खिलाफ विभिन्न संस्थाओं के बंद का आह्वान। मुख्यालय पर नहीं मिला व्यापारिक संगठनों का  सहयोग,  बंद हुआ विफल।



युवक का शव फंदे से झूलता मि‍ला

 

सवाई माधोपुर । जिला मुख्यालय के रणथंभौर  रोड स्थित कुंडेरा बस स्टैंड पर बने  सीटिंग स्टैंड के पीछे लगी एंगल के सहारे एक युवक का शव फंदे से झूलता नजर आया। घटना की सूचना से इलाके में हड़कंप मच गया और देखते ही देखते मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई ।घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस सहित पुलिस अधीक्षक सुधीर चौधरी तथा उप पुलिस अधीक्षक नारायण तिवारी मौके पर पहुंचे ।जहां उन्होंने घटनास्थल का बारीकियों से मौका मुआयना किया। संदिग्ध हालत में युवक का लटका शव देखकर एफएसएल टीम को मौके पर ही बुलाया गया। जहां पर एफएसएल टीम ने बारीकियों से घटनास्थल का अध्ययन करते हुए महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए। शव की हालाकि शिनाख्त नहीं हो सकी है ।प्रथम दृष्टया पुलिस पार्सल हैंगिंग का मामला मान रही है ।वहीं घटना के हर पहलू पर पुलिस गहनता के साथ अनुसंधान में जुटी है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर सामान्य चिकित्सालय की मोर्चरी में पहुंचाया है ।जहां पुलिस सर्वप्रथम शव की शिनाख्तगी के प्रयास कर रही है।



लद्दाख में भारत-चीन सैनिकों में फिर झड़प, भारतीय जवानों ने PLA को दिया मुंहतोड़ जवाब

 

नई दि‍ल्‍ली । भारत और चीन के बीच गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। खबर आ रही है कि 29 और 30 की रात चीनी सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में गतिरोध वाले स्थल पर फिर घुसने की कोशिश की, लेकिन भारतीय जवानों ने जवाबी कार्रवाई में उन्हें खदेड़ दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस दौरान दोनों देश के सैनिकों के बीच झड़प भी हुई। 


सेना के पीआरओ कर्नल अमन आनंद ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने  पैंगॉन्ग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर चीनी सैनिकों की गतिविधि को पहले से ही खाली कर दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि सेना के जवानों ने भारतीय पोस्ट को मजबूत करने और जमीन पर तथ्यों को एकतरफा बदलने के लिए चीनी इरादों को विफल करने की कार्रवाई की।



युवक का शव फंदे से झूलता मि‍ला

 

सवाई माधोपुर । जिला मुख्यालय के रणथंभौर  रोड स्थित कुंडेरा बस स्टैंड पर बने  सीटिंग स्टैंड के पीछे लगी एंगल के सहारे एक युवक का शव फंदे से झूलता नजर आया। घटना की सूचना से इलाके में हड़कंप मच गया और देखते ही देखते मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई ।घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस सहित पुलिस अधीक्षक सुधीर चौधरी तथा उप पुलिस अधीक्षक नारायण तिवारी मौके पर पहुंचे ।जहां उन्होंने घटनास्थल का बारीकियों से मौका मुआयना किया। संदिग्ध हालत में युवक का लटका शव देखकर एफएसएल टीम को मौके पर ही बुलाया गया। जहां पर एफएसएल टीम ने बारीकियों से घटनास्थल का अध्ययन करते हुए महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए। शव की हालाकि शिनाख्त नहीं हो सकी है ।प्रथम दृष्टया पुलिस पार्सल हैंगिंग का मामला मान रही है ।वहीं घटना के हर पहलू पर पुलिस गहनता के साथ अनुसंधान में जुटी है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर सामान्य चिकित्सालय की मोर्चरी में पहुंचाया है ।जहां पुलिस सर्वप्रथम शव की शिनाख्तगी के प्रयास कर रही है।



अमित शाह पूरी तरह स्वस्थ हुए, 12 दिन बाद AIIMS से मिली छुट्टी

 

नई दि‍ल्‍ली । केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह अब पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी मिल गई है। सोमवार सुबह अमित शाह को 12 दिन बाद एम्स से छुट्टी मिल गई। कोरोना के बाद देखभाल के लिए (पोस्ट कोविड केयर) अमित शाह एम्स में बीते दिनों भर्ती हुए थे। अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान (एम्स) की ओर से सोमवार को यह जानकारी दी गई है। 


गृहमंत्री अमित शाह पिछले दिनों कोरोना संक्रमित पाए गए थे। मेदांता अस्पताल में इलाज के बाद थकान और शरीर में दर्द की शिकायत के बाद एम्स में भर्ती किए गए थे। अमित शाह का इलाज एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की अगुवाई वाली टीम की देखरेख में चला।


केंद्रीय गृहमंत्री को 18 अगस्त को दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया। उन्हें ओल्ड प्राइवेट वार्ड में रखा गया था। वह थकान और शरीर में दर्द महसूस कर रहे थे। एम्स के मीडिया और प्रोटोकॉल विभाग द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार उनकी कोरोना जांच भी की गई, जो कि नेगेटिव आई। 


55 वर्षीय शाह ने 2 अगस्त को ट्विटर के माध्यम से देश के बताया था कि वह कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया। कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें यहां से डिस्चार्ज किया गया था।



नेहा कक्कड़ बनी कॉलेज टॉपर

 

नई दि‍ल्‍ली । सनी लियोनी का नाम हाल ही में पश्चिम बंगाल के एक कॉलेज की मेरिट लिस्ट में आया था। सनी के बाद अब नेहा कक्कड़ का नाम एक कॉलेज की एंट्रेस टेस्ट की मेरिट लिस्ट में आया है।


रिपोर्ट्स के मुताबिक नेहा का नाम पश्च‍िम बंगाल स्थ‍ित मालदा जिले के एक कॉलेज की मेरिट लिस्ट में टॉप में आया है। इस मामले पर मालदा जिले के मान‍िकचक कॉलेज के प्रिंसिपल अन‍िरुद्ध चौधरी ने बताया कि पहली मेरिट लिस्ट जारी होने के बाद उन्होंने गलती सुधारते हुए एक फ्रेश लिस्ट जारी की थी। 


उन्होंने कहा, 'हमने साइबर क्राइम सेल ऑफ वेस्ट बंगाल पुलिस में शिकायत दर्ज की है। ये किसी की बदमाशी है जो मेरिट लिस्ट में ऐसे सेलेब्स का नाम डालकर हायर एजुकेशन सिस्टम को खराब करना चाहता है'।


इससे पहले कोलकाता के एक जाने-माने कॉलेज में अंडरग्रेजुएट अंग्रेजी लिटरेचर में दाखिले की मेरिट लिस्ट जारी की थी। जिसमें टॉपर की जगह सनी लियोनी का नाम लिखा था। कोलकाता के कॉलेज में टॉप लिस्ट में अपना नाम देखकर सनी ने भी मजेदार रिएक्शन दिया था।



भाजपा का "हल्ला बोल" कार्यक्रम के तहत दिया ज्ञापन

 

आसींद (हलचल)। भारतीय जनता पार्टी  के सरेड़ी मंडल में भारतीय जनता पार्टी के आह्वान पर हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत ब्राह्मणों की सरेरी बिजली विभाग कनिष्ठ अभियंता को बिजली की बढ़ी हुई दरें वापस लेने के लिए मंडल अध्यक्ष भगवती प्रसाद शर्मा के नेतृत्व में भाजपा ब्राह्मणों की सरेरी मंडल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी ने ज्ञापन दिया। ज्ञापन में प्रदेश की कांग्रेस सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ नारेबाजी की गई। ज्ञापन में उपस्थित रहे मंडल महामंत्री नरेंद्र सोनी,उगम गुर्जर, बरसनी सरपंच अशोक तलाई, पूर्व मंडल अध्यक्ष घनश्याम ओझा, शान्ति लाल, जगदीश सुथार, पवन कुमार मुंगड़, मेवाराम, विजेन्द्र पाल सिंह, रामस्वरूप, रूपलाल बेरवा, महावीर, लक्ष्मीनारायण, आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।



नारायणी सेना ने किया102 यूनिट रक्तदान

 

भीलवाड़ा (हलचल) ।  नारायणी माता महोत्सव के उपलक्ष में नारायणी सेना द्वारा समस्त सेन समाज के नेतृत्व में रामस्नेही हॉस्पिटल में रक्तदान किया गया  जिसमें 102 यूनिट रक्तदान हुआ सर्वप्रथम सेन जी महाराज नारायणी माता के माल्यार्पण  कर कार्यक्रम को प्रारंभ किया।


जानकारी देते हुए नारायणी सेना कार्यकारी अध्यक्ष बलवीर सेन ने बताया कि‍ इस कार्यक्रम की अध्यक्षता भीलवाड़ा विधायक विट्ठल शंकर अवस्थी मुख्य अतिथि भाजपा जिला अध्यक्ष लादू लाल तेली विशिष्ट अतिथि भाजपा युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष अनमोल पाराशर पूर्व केश कला बोर्ड के वाइस प्रेसिडेंट प्रह्लाद सेन नारायणी सेना जिला संयोजक कमलेश सेन  उदलियास सरपंच कैलाश सेन मेघराज सरपंच सावरमल सेन जिला संरक्षक बंशीलाल सेन मुकेश सेन गोपाल सेन सुरास संजय सेन दे फ्रस्ट रैंक,महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष हंसा सेन दीप लता सेन आ आदि‍‍ मौजूद थे।   


जिला सचिव मुकेश सेन ने बताया कि दीपलता सेन महावीर सेन, राकेश सेन चन्दा देवी सेन, मुकेश सैन लक्ष्मी सेन बोराणा मुकेश सेन सरवाडा पुखराज देवी सेन शाहपुरा ने पति पत्नी ने जोड़े से रक्तदान किया। कारोना और बारिश भी लोगो को रक्तदान करने से नहीं रोक सकी 



मुख्यमंत्री के पुतले की निकाली शव यात्रा, पुतला फूंक कर किया विरोध प्रदर्शन

 

गंगापुर  (सुरेश शर्मा) भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के नेतृत्व में आज बिजली की बढ़ी हुई दरों के विरोध में मुख्यमंत्री  के पुतले की शव यात्रा भूत बावजी मंदिर से डाक बंगले तक निकाल डाकबंगला चौराहे पर पुतला फूंका गया| भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों द्वारा प्रदर्शन किया गया| भाजपा के पदाधिकारियों ने आज प्रदेश स्तर पर हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत विरोध प्रदर्शन किया| भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के अध्यक्ष लखन माली ने बताया कि बिजली की बढ़ी दरों को लेकर आज गंगापुर कस्बे में भारतीय जनता पार्टी का विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम रखा गया|


कार्यक्रम में राजस्थान के मुख्यमंत्री  के पुतले की  शव यात्रा निकाली गई| मुख्यमंत्री गहलोत का पुतला दहन किया गया| वहीं भाजपा के पदाधिकारियों द्वारा बिजली विभाग के एईएन गिर्राज मीणा को बिजली की बढ़ी दरों के विरोध में ज्ञापन दिया गया| इस दौरान भाजपा प्रत्याशी रूप लाल जाट, नाथू लाल गाडरी, दीपक चौधरी,  सुरेश तिवारी, विनोद लड्ढा, मंडल अध्यक्ष, मंडल के पदाधिकारी, क्षेत्र के भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी उपस्थित थे|



जैसलमेर में 15 घण्टो से बरसात जारी, 5 इंच बरसा पानी

 

जैसलमेर।  रात्रि 8 बजे से नोन स्टोप बरसात जारी। सुबह 8.30 बजे से 11.30 बजे तक तीन घण्टो में 55 MM बरसात रिकार्ड की गई। इस प्रकार रात्रि 8 बजे से लेकर अभी तक 114.8 MM वर्षा रिकॉर्ड हो चुकी हैं। यानी करीब 5 इंच पानी अब तक जेसलमेर में 15 घण्टो में बरस चुका है।


शहर की निचली कई बस्तियो में बरसात का पानी घुसने की जानकारी मिली है, नगरपरिषद के आयुक्त फतेह सिंह मीणा अपनी टीम के साथ अलर्ट मोड में लगातार प्रभावित इलाकों में राहत व बचाव कार्यो में लगे हुए हैं।



बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर रेंडम सैंपल इन प्रक्रिया जारी

 

चित्तौड़गढ़ (राजेश जोशी) । बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर रेंडम सैंपल इन प्रक्रिया जारी है तथा अब शहर से ही लगभग 15 सौ से अधिक सैंपल लिए गए हैं। चित्तौड़गढ़ जिले में अब तक 31000 सैंपल लिए जा चुके हैं तथा 1072 पूर्णा संक्रमित सामने आए लगभग सवा तीन सौ कोरोना वायरस संक्रमित जिले में मौजूद हैं।


चित्तौड़गढ़ जिले में चारों ओर कोरोना संक्रमण फैला है। चित्तौड़गढ़ में आज मोटर बाइक के 2 शोरूम में रेंडम सैंपल इन की गई । चितौड़गढ़ के रॉयल इनफील्ड बाइक शोरूम तथा बजाज शोरूम में रेंडम सैंपल लिए गए । बरहाल चित्तौड़गढ़ में रेंडम सैंपल प्रक्रिया के बाद ही कोरोना संक्रमित ओं का आंकड़ा बड़ा भी है। चित्तौड़गढ़ में अब तक 21 लोगों की भी मौत हुई है।



विद्युत बिलों में बेहताशा बढ़ोतरी के विरोध में धरना प्रदर्शन

 

राजसमंद । भारतीय जनता पार्टी द्वारा आज राज्य सरकार के खिलाफ राज्य में विद्युत बिलों में बेहताशा बढ़ोतरी के विरोध में राजसमंद के आमेट उपखंड कार्यालय के बाहर विधायक सुरेन्द्र सिंह राठौड़ के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन कर राज्य सरकार के खिलाफ हल्ला बोल कार्यक्रम आयोजित कर मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौपा ।


इस मौके पर विधायक राठौड ने बताया राज्य सरकार द्वारा पिछले 2 वर्ष में वादा किया उसमे बिजली की दरें हम नहीं बढ़ाएंगे लेकीन बेतहाशा बिजली की दरों में वृद्धि की गई और घरेलू और आम जनता व किसान की नहीं सुनी जा रही है।विद्युत विभाग द्वारा अपने मनमर्जी तरीके से वीसीआर भरी जा रही है। सरकार ने फाइव स्टाव होटलो में रहकर जनता पर भार डालने का काम किया। वर्तमान राज्य सरकार के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ता बढ़ी हुई बिजली दरों को कम करने एसडीएम कार्यलय बाहर धरना प्रदर्शन कर बिजली दरो में आम जनता को राहत की मांग की हैं। इस मौके पर कइ भाजपा कार्यकर्ता मौजुद थे।



 बिजली की बढ़ी दरो को वापस लेने की रखी मांग

 

असींद (हलचल) कस्बे के विधुत विभाग के कार्यालय पर आज आसींद हुरड़ा विधायक जब्बरसिह सिंह सांखला की अगुवाई में बढ़ती बिजली की दरों के विरोध में भाजपा के कार्यकर्ताओ ने  धरना प्रदर्शन कर मांग रखी कि कोरोना काल के दौरान एक ओर लोगो के पास कमाने का कोई साधन नही रहा है वही दूसरी ओर आम उपभोक्ताओं को  फिक्स चार्ज के नाम पर 12 पैसे की विधुतदर में बढ़ोतरी कर अब 70 पैसे कर दिए है।


वही कोरोना काल मे घरेलू उपभोक्ताओ के चार माह के बिल माफ करने तथा विधुत विभाग द्वारा मनमाने ढंग से वीसीआर भरने के नाम पर किसानों से लाखों रुपया वसूल किया जा रहा है जिसके चलते भर्ष्टाचार बढ़ रहा है अतः ज्ञापन ने द्वारा मांग रखते है की अतिशीघ् इन जन समस्याओं का निदान करे।



गणेश मंडल द्वारा किया पुतला दहन

 

भीलवाड़ा (हलचल)। गणेश मंडल के प्रवक्ता शंभू लाल सोनी ने बताया कि‍ कांग्रेस सरकार द्वारा बढ़ती हुई बिजली दरें,बड़े हुए स्थाई शुल्क,सरचार्ज बढ़ोतरी के नाम पर की जा रही वसूली से जनता परेशान है । इसके विरोध में गणेश मंडल द्वारा हल्ला बोल कार्यक्रम में अशोक गहलोत राजस्थान सरकार का पुतला फूंका गया कार्यक्रम में उपस्थित गणेश मंडल अध्यक्ष नंदकिशोर  राजपुरोहित,उपाध्यक्ष गोवर्धन सिंह  कटार,पुखराज जोशी,महामंत्री घनश्याम सिंगीवाल,मंत्री बलदेव नायक,मधुबाला यादव,हेमलता गोस्वामी,कार्यालय मंत्री गोपेश पारीक,विकास मंच के शहर अध्यक्ष रोहित जैन,राकेश तेली संगीता गुर्जर,हेमंत पायक,सत्यनारयण तेली,गोपाल  पांचाल,श्रवन तेली,गोपाल रेगर,अविनाश शर्मा,जसवंत भाटी, मनीष तिवारी,अनुराधा शक्तावत,चंपालाल सहित अनेक कार्यकर्ताओं मौजूद थे।



लोकडाऊन के समय के बिजली बिल माफ करने की मांग

 

मांडल (चन्द्रशेखर तिवाड़ी) भारतीय जनता पार्टी के हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत आज अजमेर विद्युत वितरण निगम के मांडल तिराहा स्थित सहायक अभियंता कार्यालय पहुंचकर पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर के नेतृत्व में मांडल मंडल के भाजपा कार्यकर्ताओं ने सहायक अभियंता अर्जुनलाल मीणा को ज्ञापन सौंपकर कोरोना काल में लगे लोकडाऊन पीरियड के बिजली बिल माफ करने की मांग की।


गुर्जर ने राज्य की गहलोत सरकार कर प्रहार करते हुए कहा कि सरकार हर मुद्दे पर फेल रही है। न तो चुनावी वादे पूरे किये और ना ही बिजली के बिल माफ किये। उल्टे बिजली महंगी कर उपभोक्ताओं को झटके दे रहे हैं। बेरोजगार महंगाई भत्ते को तरस रहे हैं। ज्ञापन देने पार्टी के मंडल अध्यक्ष परमेश्वर लौहार, गोपाल कुम्हार, छीतरमल काबरा, रुकमण देवी, भैरुलाल खारोल, बंशीलाल माली (केरिया)सहित कई पदाधिकारी व करीब एक सौ - डेढ सौ कार्यकर्ता पहुंचे।



 राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक एवं ऑटो रिक्शा चालक यूनियन ने दि‍या ज्ञापन

 

चित्तौड़गढ़ (राजेश जोशी) राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक एवं ऑटो रिक्शा चालक यूनियन के संयुक्त तत्वाधान में अपनी विभिन्न मांगों को लेकर आज प्रधानमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।


जानकारी के अनुसार कोविड-19  की महामारी के बीच विगत कई महीनों से लॉक डाउन की स्थिति जिला मुख्यालय पर भी बनी हुई थी जिसके चलते सभी व्यवसाय और व्यापार ठप हो गए थे जिसमें ऑटो चालक भी लॉकडाउन  से अछूते नहीं रहे थे इसी के चलते आज राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक और ऑटो रिक्शा चालक यूनियन के संयुक्त तत्वावधान में संस्थान के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम जिला कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा जिसमें कहा गया है कि विगत 3 माह से उनका व्यवसाय बिल्कुल ठप हो गया था जिसके चलते बैंक द्वारा उन्हें ऑटो  ऋण की  मासिक किश्त  देने के लिए दबाव डाला जा रहा है उन्होंने इस दौरान की किस्तों का ब्याज माफ करने सहित उन्हें ₹10 हजार की  राहत पैकेज के रूप में दिए जाने की मांग भी की है इसके अलावा सदस्यों ने शनिवार और रविवार के लॉक डाउन को समाप्त करने की मांग भी की है
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष अय्यूब अली, बिलाल हुसैन सहित ऑटो चालक यूनियन के सदस्य उपस्थित रहे ।



ऑनलाइन हुई काव्य संध्या

 

भीलवाड़ा (हलचल) । भीलवाड़ा की अग्रणी साहित्यिक संस्था 'नवमानव सृजनशील चेतना समिति' की ओर से विश्व मित्रता दिवस,वरिष्ठ नागरिक दिवस,युवा दिवस,महिला समानता दिवस, स्वतंत्रता दिवस,श्रीकृष्ण व राधा जन्माष्टमी,बलराम जयंती और पर्यूषण के अवसर पर रविवार को कोरोना काल की 8वीं व अनलॉक-3 की द्वितीय ऑनलाइन डिजिटल काव्यसंध्या आयोजित की गई। इस काव्यसंध्या के प्रतीकात्मक मुख्य अतिथि जीपी पारीक एवं विशिष्ट अतिथि इंजी.एसएस गंभीर थे,अध्यक्षता व संचालन संस्था संयोजक डॉ एसके लोहानी ख़ालिस ने किया एवं सरस्वती वंदना लाजवंती शर्मा ने प्रस्तुत की।


संस्था महासचिव कविता लोहानी ने बताया कि डॉ एसके लोहानी ख़ालिस ने काव्यसंध्या का शुभारंभ अपनी ताजातरीन गज़ल 'मुहब्बत जिंदगी को खादबीज सही देती है,मुहब्बत इंसाँ को मुरझाने नहीं देती है,तमाम मजहब खड़ी करते हैं बड़ी दीवारें, नफरत इंसाँ को खिलने नहीं देती है' की प्रस्तुति से किया। अरुण अजीब ने 'आप आए तो हो गई गज़ल', ओम अंकुर ने 'मेरा खुद का एक आन्दोलन है, मैं हर बार नया सिपहसालार बनाता हूँ', डॉ राजमती सुराणा ने गीत 'वाणी का संयम ही जीवन को बनाता है', लाजवंती शर्मा ने गीत 'रामजी के मंदिर में रामजी पधार रहे,इस अवसर पर मीठे गान गाएंगे', सन्तोष जोशी ने 'गीता कविता रामायण कविता,कविता है सब वेद पुराण', सतीश व्यास आस ने 'जब भी मिलना हुआ रुलाके मिले,दर्द अपना सभी छुपाके मिले', पवन गग्गड़ ने 'आशाओं से जियो जिंदगी,अमृतपान करो इसका', एसएस गंभीर ने 'तू अपनी खूबियाँ ढूंढ,कमियां निकालने के लिए लोग हैं ना', ओम उज्जवल ने 'हम दीन-हीन अल्पज्ञों में तुम भक्तिभाव जगा देना,' श्यामसुन्दर तिवाड़ी मधुप ने 'क्रांतिकारी राजगुरु तुम अमर हो गए,आजादी के हवनकुण्ड में प्राणों की आहुति देकर धूल चटाई अंग्रेजों को', नरेंद्र वर्मा ने 'जब आरजूएं जल रहीं थीं,तब हमारा कौन था?',  जैसी श्रेष्ठ रचनाएँ प्रस्तुत कीं और डॉ एसके लोहानी ख़ालिस की 'फूँक जाने दो जलाओ नफरत की लंका,हूक उठने दो बजाओ मुहब्बत का डंका' एवं 'कभी ना कहो कि हम ओल्ड हो गए हैं,अनुभव की आंच में तपकर गोल्ड हो गए हैं' जैसी अनमोल गजलों से काव्यसंध्या की श्रेष्ठ गुणवत्ता व सफलता सिद्ध कराई। दिवाकर जावा,गोपाल अजनबी व निशांत सोनी भी सक्रिय रहे। इस काव्यसंध्या में 16 कवि एक-एक कर अपनी रचना टेक्स्ट,वॉयस,ऑडियो,वीडियो संदेश रुप में ऑनलाइन भेजकर सहभागी हुए,संयोजक डॉ एसके लोहानी ख़ालिस और शेष कवि समीक्षा व टिप्पणियाँ करते रहे। अंत में डॉ ख़ालिस ने सबके प्रति आभार व्यक्त किया।



बापूनगर के कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की मौत, आंकड़ा पहुंचा 32 तक 

 

भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना से मौतों का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। सोमवार को बापूनगर के एक कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की मौत हो गई। इसके साथ ही कोरोना से मौतों का आंकड़ा बढ़कर 32 तक पहुंच गया है।  जानकारी के अनुसार, बापूनगर में रहने वाला एक 66 वर्षीय बुजुर्ग कन्हैयालाल 25 अगस्त को कोरोना जांच में पॉजिटिव आया था। इसके बाद 27 अगस्त को बुजुर्ग को  जिला अस्पताल के आईसीयू आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर उपचार किया जा रहा था। आज उपचार के दौरान बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। 
एमजीएच पुलिस का कहना है कि संक्रमित बुजुर्ग के शव का मेडिकल गाइड लाइन के अनुसार शहर के एक मोक्षधाम में अंतिम संस्कार कर दिया गया। डॉक्टर्स का कहना है कि कन्हैया लाल हृदय रोगी था। बता दें कि भीलवाड़ा में कोरोना से अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2575 तक पहुंच गई है।  



राजस्थान सहायक कर्मचारी चिकित्सा संघ की जिला कार्यकारिणी घोषित

 

भीलवाड़ा (हलचल)। राजस्थान सहायक कर्मचारी चिकित्सा संघ की जिला कार्यकारिणी सोमवार को घोषित की गई। जिलाध्यक्ष सुरेश कुमार नागौरी ने बताया की संघ का संरक्षक उदयलाल गारू, सलाहकार लादूलाल जसावत, जिला उपाध्यक्ष शैलेन्द्र तेली,महामंत्री लक्ष्मीनारायण पारीक, सहमंत्री सुरेंद्र कुमार गांधी,  कोषाध्यक्ष बाबूलाल चौहान, सचिव विष्णु नकवाल, प्रचार-प्रसार प्रभारी जगदीश पाराशर, महिला अध्यक्ष कमला देवी राठौड़, सह अध्यक्ष सागर देवी राजपूत को बनाया गया। 



 कैंसर से पीडि़त बुजुर्ग ने कुएं में छलांग लगाकर दी जान 

 

भीलवाड़ा दिनेश सनाढ्य  हलचल। जिले के लाडपुरा गांव के एक कैंसर पीडि़त बुजुर्ग ने बीती रात घर के नजदीक ही कुएं में छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली। 
मांडलगढ़ थाना प्रभारी रोहिताश देवंदा ने हलचल को बताया कि लाडपुरा निवासी गुलाब सुथार (58) कैंसर से पीडि़त था। इस बीमारी के चलते गुलाब परेशान था और इसी के चलते बीती रात वह घर से निकला और कुछ दूरी पर स्थित कुएं में कूद गया। हादसे की खबर मिलते ही परिजन और ग्रामीण मौके पर पहुंचे, लेकिन कुएं में पानी ज्यादा होने से गुलाब को नहीं निकाला जा सका। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मोटरें लगवाकर कुएं का पानी तुड़वाया। 
इसके बाद आज शव को कुएं से बाहर निकाला जा सका, जिसे पोस्टमार्टम के लिए राजकीय अस्पताल भिजवा दिया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 


 



प्रशांत भूषण पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 1 रुपए का जुर्माना, नहीं चुकाने पर 3 माह की जेल

 

नई दि‍ल्‍ली । वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ कोर्ट की अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज अपना फैसला सुना दिया है। न्यायपालिका के खिलाफ अपने दो ट्वीट को लेकर न्यायालय की अवमानना के दोषी ठहराए गए वकील प्रशांत भूषण पर  सुप्रीम कोर्ट ने 1 रुपए का आर्थिक जुर्माना लगाया। कोर्ट ने प्रशांत भूषण को 15 सितंबर तक उसकी रजिस्ट्री में एक रुपये की जुर्माना राशि जमा करने का निर्देश दिया। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि जुर्माना  राशि जमा कराने में विफल रहने पर तीन माह की जेल हो सकती है और वकालत से तीन साल तक प्रतिबंधित किया जा सकता है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने बीते मंगलवार को प्रशांत भूषण की सजा पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। माफी मांगने से पहले ही इनकार कर चुके प्रशांत भूषण को कोर्ट ने 30 मिनट का समय दिया था और कहा था कि अपने रुख पर फिर विचार कर लें। लेकिन इसके बाद भी भूषण का विचार नहीं बदला तो कोर्ट ने यहां तक पूछा कि माफी मांगने में क्या गलत है, क्या यह बहुत बुरा शब्द है? न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने भूषण के खिलाफ अपना फैसला सुनाया।


अवमानना मामले में फैसला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर प्रशांत भूषण 1 रुपए का जुर्माना 15 सितंबर तक नहीं भरते हैं तो इस स्थिति में उन्हें तीन महीने की जेल हो सकती है या फिर तीन साल तक वाकलत करने से रोक दिया जाएगा। कोर्ट ने यह भी टिप्पणी की कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अंकुश नहीं लगाया जा सकता, लेकिन दूसरों के अधिकारों का भी सम्मान किये जाने की आवश्यकता है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद माना जा रहा है कि प्रशांत भूषण अपनी बात रखने के लिए आज शाम चार बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।


प्रशांत भूषण द्वारा न्यायालय की तरफ से माफी मांगने के सुझाव को खारिज किए जाने के बाद वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन ने 25 अगस्त को शीर्ष अदालत से अनुरोध किया था कोर्ट की ओर से 'स्टेट्समैन' जैसा संदेश दिया जाना चाहिए और भूषण को शहीद न बनाएं। तीन न्यायाधीशों की पीठ की अध्यक्षता कर रहे न्यायमूर्ति मिश्रा ने सजा के मुद्दे पर उस दिन अपना फैसला सुरक्षित रखा था। न्यायमूर्ति मिश्रा दो सितंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। 


सुप्रीम कोर्ट ने 14 अगस्त को भूषण को न्यायापालिका के खिलाफ उनके दो अपमानजनक ट्वीट के लिए उन्हें आपराधिक अवमानना का दोषी ठहराया था। भूषण का पक्ष रख रहे धवन ने भूषण के पूरक बयान का हवाला देते हुए शीर्ष अदालत से अनुरोध किया था कि वह अपने 14 अगस्त के फैसले को वापस ले ले और कोई सजा न दे। उन्होंने अनुरोध किया कि न सिर्फ इस मामले को बंद किया जाना चाहिए, बल्कि विवाद का भी अंत किया जाना चाहिए।


अटॉर्नी जनरल ने माफ करने की अपील की थी
वहीं, अटॉर्नी जनरल के. के वेणुगोपाल ने अदालत से अनुरोध किया कि वह भूषण को इस संदेश के साथ माफ कर दे कि उन्हें भविष्य में ऐसा कृत्य नहीं दोहराना चाहिए। पीठ में न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी भी शामिल हैं। पीठ ने ट्वीटों को लेकर माफी न मांगने के रुख पर पुनर्विचार के लिए भूषण को 30 मिनट का समय भी दिया था।


कोर्ट में भूषण ने किया था गांधी के कथन जिक्र
प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्हें इस बात से पीड़ा हुई है कि उन्हें इस मामले में 'बहुत गलत समझा गया'। उन्होंने कहा 'मैंने ट्वीट के जरिए अपने परम कर्तव्य का निर्वहन करने का प्रयास किया है।' महात्मा गांधी को उद्धृत करते हुए प्रशांत भूषण ने कहा था, 'मैं दया की भीख नहीं मांगता हूं और न ही मैं आपसे उदारता की अपील करता हूं। मैं यहां किसी भी सजा को शिरोधार्य करने के लिए आया हूं, जो मुझे उस बात के लिए दी जाएगी जिसे कोर्ट ने अपराध माना है, जबकि वह मेरी नजर में  गलती नहीं, बल्कि नागरिकों के प्रति मेरा सर्वोच्च कर्तव्य है।'


कब के ट्वीट का है मामला
गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने ट्विटर पर न्यायाधीशों को लेकर की गई टिप्पणी के लिए 14 अगस्त को उन्हें दोषी ठहराया था।  प्रशांत भूषण ने 27 जून को न्यायपालिका के छह वर्ष के कामकाज को लेकर एक टिप्पणी की थी, जबकि 22 जून को शीर्ष अदालत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश एस. ए. बोबडे तथा चार पूर्व मुख्य न्यायाधीशों को लेकर दूसरी टिप्पणी की थी। 



सिर में दर्द था किशोरी ने ले ली गलत दवा, हुई मौत

 

भीलवाड़ा हलचल। जिले के जालमपुरा गांव की एक किशोरी ने सिर दर्द के चलते गलत दवा का सेवन कर जिसकी तबीयत बिगडऩे के बाद जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। करेड़ा पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
करेड़ा थाने के दीवान राजेंद्र सिंह ने हलचल को बताया कि थाना सर्किल के जालमपुरा गांव निवासी भगवान सिंह राजपूत की 17 वर्षीय बेटी आशा कंवर के सिर में दर्द था। इसके चलते उसने घर में आलमारी में रखी सिर दर्द के बजाय गलत दवा का सेवन कर लिया। इससे उसकी तबीयत बिगड़ गई। किशोरी को तत्काल करेड़ा अस्पताल ले जाया गया, जहां हालत गंभीर होने से उसे जिला अस्पताल के लिए रैफर कर दिया गया। यहां उपचार के दौरान आशा कंवर ने दम तोड़ दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 


 



रात में साथ सोए थे दोनों, पति की नींद खुली तो पत्नी झूल रही थी फंदे पर

 

कानपुर। यूपी के कानपुर देहात के शिवली कोतवाली स्थित आवास में देर रात सिपाही अवधेश गुर्जर की पत्नी ने कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। सुबह जागे सिपाही ने पत्नी को फांसी पर लटका देख शोर मचाया। 


मूल रूप से फतेहाबाद क रहने वाला अवधेश गुर्जर करीब डेढ़ साल से शिवली में तैनात है। वर्तमान में वह कोतवाल का हमराही है। रविवार को दिन ड्यूटी पूरी करने के बाद वह रात में कमरे पर आया था। खाना खाने के बाद सभी सो गए। बताया जा रहा है कि देर रात किसी समय उसकी पत्नी सपना (20) ने कमरे के पंखे के सहारे फांसी लगा ली। सुबह जब सिपाही की नींद खुली तो पत्नी बिस्तर पर नहीं थी। तभी दूसरी नजर फंदे पर लटक रही पत्नी पर पड़ी।  पत्नी को फांसी पर लटका देख शोर मचाया तो अन्य लोग पहुंचे। कोतवाल ने मौके का निरीक्षण कर फॉरेंसिक टीम को भी मौके पर बुलाया। फिलहाल आत्महत्या की वजह साफ नहीं हो सकी है।



जहरीले जंतु के काटने से महिला की मौत

 

भीलवाड़ा हलचल। जिले के जालरा गांव की एक महिला की जहरीले जंतु के काट लेने से मौत हो गई। 
महात्मा गांधी अस्पताल चौकी सूत्रों के अनुसार, जालरा निवासी बीना कंवर राजपूत (35) को खेत पर कृषि कार्य करते समय जहरीले जंतु ने काट लिया। इससे बीना कंवर की हालत बिगड़ गई। उसे आसींद अस्पताल ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के लिए रैफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण कर डॉक्टर्स ने बीना कंवर को मृत घोषित कर दिया। आसींद पुलिस मामले की जांच कर रही है। 



सोने-चांदी की कीमतों में बड़ा बदलाव, जानें 31 अगस्त का रेट

 

नई दि‍ल्‍ली । 51000 रुपये प्रति 10 ग्राम से नीचे आचुका सोना एक बार फिर उछला है। वहीं चांदी की कीमतों में भी अच्छी-खासी तेजी देखी जा रही है। सोमवार को देशभर के सर्राफा बाजारों में सोने-चांदी के दाम तेजी के साथ खुले। 24 कैरेट सोने का भाव शुक्रवार के मुकाबले 228 रुपये महंगा खुला। सोमवार सुबह सोने का रेट 51405 रुपये पर पहुंच गया, वहीं चांदी 1682 रुपये प्रति किलो मजबूत होकर 66516 रुपये पर खुली। इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट (ibjarates.com) के मुताबिक 31 अगस्त 2020 को देशभर के सर्राफा बाजारों सोने-चांदी के हाजिर भाव इस प्रकार रहे...















































धातु31 अगस्त का रेट (रुपये/10 ग्राम)28 अगस्त का रेट (रुपये/10 ग्राम)

रेट में बदलाव (रुपये/10 ग्राम)


Gold 999 (24 कैरेट)5140551177228
Gold 995 (23 कैरेट)5119550972223
Gold 916 (22 कैरेट)4708346878205
Gold 750 (18 कैरेट)3855138383168
Gold 585 ( 14 कैरेट)3007029939131
Silver 99966516 Rs/Kg64834 Rs/Kg1682 Rs/Kg

बता दें कि IBJA द्वारा जारी किए गए रेट देशभर में सर्वमान्य है। हालांकि इस वेबसाइट पर दिए गए रेट में जीएसटी (GST) शामिल नहीं किया गया है। सोना खरीदते-बेचते समय आप IBJA के रेट का हवाला दे सकते हैं।


पिछले हफ्ते का हाल: रुपये में तेजी से फीकी पड़ी सोने-चांदी की चमक


विदेशों में दोनों कीमती धातुओं में तेजी के बावजूद घरेलू स्तर पर बीते सप्ताह सोने-चांदी में नरमी रही। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर का सोना वायदा पिछले सप्ताह 567 रुपये यानी 1.09 प्रतिशत टूट कर सप्ताहांत पर बाजार बंद होते समय 51,448 रुपये प्रति दस ग्राम बोला गया। सितंबर का सोना मिनी वायदा भी 1.91 प्रतिशत की गिरावट के साथ 51,050 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। चांदी का सितंबर वायदा 1,091 रुपये यानी 1.63 प्रतिशत की गिरावट के साथ 65,976 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गया। नवंबर का चांदी मिनी वायदा भी 1.05 फीसदी लुढ़ककर सप्ताहांत पर 68,836 रुपये प्रति किलोग्राम रही। 


डॉलर के मुकाबले रुपया बीते सप्ताह करीब दो प्रतिशत मजबूत हुआ। सप्ताह के दौरान यह 144 पैसे मजबूत हुआ और अंतर बैंकिंग मुद्रा बाजार में शुक्रवार को कारोबार की समाप्ति पर एक डॉलर 73.40 रुपये का बिका। समीक्षाधीन सप्ताह में लंदन में सोना हाजिर 24.07 डॉलर चमककर सप्ताहांत पर 1964.92 डॉलर प्रति औंस पर पहुँच गया। दिसंबर का अमेरिकी सोना वायदा भी 25.6 डॉलर की बढ़त के साथ 1,972.60 डॉलर प्रति औंस बोला गया। अंतरार्ष्ट्रीय बाजार में चांदी हाजिर 0.75 डॉलर यानी मजबूत हुई और सप्ताहांत पर 27.52 डॉलर प्रति औंस बिकी। 



गोपेश्वर महादेव सेवा समिति का गठन

 

भीलवाड़ा (हलचल) सी सेक्टर पानी की टंकी के पास स्थित गोपेश्वर महादेव मंदिर के जीर्णोद्धार हेतु गोपेश्वर महादेव सेवा समिति का गठन किया गया|। जि‍समे कार्यकारणी सदस्यों का गठन भी किया गया। इसमें नाथूसिंह सोलंकी अध्यक्ष, ओमप्रकाश शर्मा उपाध्यक्ष, जगदीश सोलंकी सचिव, महावीर चौधरी कोषाध्यक्ष तथा आनंद कुमार शर्मा को सह सचिव का पद सर्वसम्मति से दिया गया। पूरे कार्यक्रम में दिलीप कुमावत, सत्यदेव व्यास, सुनील त्रिवेदी, धर्मेन्द्र पटेल, दिनेश शर्मा, दुर्गेश शर्मा, हिमांशु शर्मा, भरत सिंह शक्तावत, नरसिंह, श्यामसुंदर तिवारी, रामस्वरूप जीनगर, ओमकार शर्मा, देवकिशन लखारा, रामकिशन लखारा आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।



बांसवाड़ा और डूंगरपुर में मेहरबान हुआ मानसून, माही बांध लबालब

 

उदयपुर । दक्षिण राजस्थान में पिछले कई दिनों से मानसून मेहरबान हुआ है। शनिवार दोपहर से शुरू हुई बारिश रविवार को दोपहर बाद थमी। वागड़ अंचल के दोनों जिलों (बांसवाड़ा-डूंगरपुर) में इस दौरान जमकर बारिश हुई। इधर, भरपूर बारिश के बाद संभाग के सबसे बड़ा माही बांध भी लबालब हो गया और शनिवार अर्धरात्रि इसके सभी 16 गेट खोले गए। रविवार दिन में इसके 14 गेट 6-6 मीटर तथा दो गेट आधा-आधा मीटर खोलकर पानी की निकासी की गई। इस दौरान बांध के विशाल गेटों से झरती जलराशि का मनोहारी नज़ारा देखा गया। काले मेघ और सघन हरितिमा के मध्य बांध से निकलती जलराशि का यह नज़ारा उदयपुर के जनसंपर्क उपनिदेशक डॉ. कमलेश शर्मा ने क्लिक किया है।

माही बांध या माही बजाज सागर परियोजना वागड़ विकास के भगीरथ पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हरिदेव जोशी द्वारा दी गई एक अविस्मरणीय सौगात है। वर्ष 1984 में इस परियोजना के निर्माण के बाद नहरों में पहली बार सिंचाई हेतु जल प्रवाहित किया गया था। बांध की कुल लंबाई 3.10 किलोमीटर है जिसमें से 2.60 किलोमीटर मिट्टी का बांध एवं 0.42 किलोमीटर पक्का बांध बनाया गया है। बांध के ओवरफ्लो होने की स्थिति में जल निकासी के लिए 16 गेट लगाये गए हैं। इसी प्रकार, बांध से निकाली गई दायीं व बायीं मुख्य नहरों से सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने के साथ-साथ विद्युत उत्पादन भी किया जाता है। बांध पर जल विद्युत गृह प्रथम (2 गुणा 25 मेगावाट) बांसवाड़ा से 8 किमी दूर तथा द्वितीय विद्युत गृह (2 गुणा 45 मेगावाट) बागीदौरा के समीप लीलवानी में स्थित है।



मन्दिर को ध्वस्त करने वाले आरोपियों के खिलाफ कड़ी करवाई व मन्दिर केे जीर्णोद्धार की मांग

 

भीलवाड़ा (हलचल) । अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के प्रतिनिधि मंडल द्वारा मांडल रोड स्थित बालाजी मन्दिर को भू माफियाओं की शह पर  जेसीबी से तोड़े जाने के विरोध में कलेक्टर  को ज्ञापन देकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। मांडल रोड स्थित जितेन्द्र बालाजी का मंदिर 50 वर्ष पुराना हैं। जिसे रविवार को    भूमाफियाओं द्वारा जेसीबी मशीन से ध्वस्त कर हिन्दुओ की आस्था को ठेस पहुंचाई गई हैं।
प्रतिनिधि मंडल ने बाद में जिला पुलिस अधीक्षक से भी मुलाकात कर आरोपियों पर सख्त कार्यवाही की मांग की गई। ज्ञापन देने वालो में क्षेत्रीय महामंत्री चन्द्र सिंह जैन, प्रान्त सहमंत्री विनीत द्विवेदी, जिला कार्यकारी अध्यक्ष गोपाल तेली, जिला महामंत्री योगेश व्यास, राष्ट्रीय बजरंग दल जिला अध्यक्ष विजय सोनी, महानगर उपाधयक्ष राजेन्द्र शर्मा, महानगर मंत्री कमल राजपुरोहित, हीरा लाल खटवाल, राष्ट्रीय छात्र परिषद सूरज सेन, मन्दिर के पुजारी प्रहलाद शर्मा उपस्थित थे।



 नो स्‍कूूल नो फीस की मांग को लेकर भीलवाड़ा बंद का मिलाजुला असर

 

भीलवाड़ा (हलचल) नो स्‍कुल नो फिस की मांग को लेकर भीलवाड़ा बंद का असर मिलाजुला देखने को मिला। शहर में कुछ दुकान खुली तो कुछ बन्‍द रही। यह बन्‍द अभिभावक संघर्ष समिति के आव्‍हान पर रखा गया था। समिति की मांग है कि जब स्‍कुल खुल ही नहीं रहे है तो ऐसे में स्‍कुल फीस किसी बात की दी जाये। उन्‍होने चेतावनी दी कि यदी अभी भी मांगे नहीं मानी जाती है तो उग्र आन्‍दोलन किया जायेगा। 
               समिति जिलाध्‍यक्ष सुनील कोठारी ने कहा कि नो स्‍कुल नो फिस की मांग को लेकर हम काफी समस्‍य से प्रदर्शनरत है। हमने प्रधानमंत्री,मुख्‍यमंत्री और शिक्षामंत्री के नाम तक ज्ञापन दिया मगर आज तक हमारी मांगों पर कोई ध्‍यान नहीं दिया गया। आज कोरोना लॉकडाउन के कारण आमजन का काम-धन्‍धा ठप्‍प पडा है। ऐसे में लोग अपना पेट भरें या स्‍कुल फिस भरें। इसके कारण हमने आज प्रदेशव्‍यापी बन्‍द का आव्‍हान किया था। 



भाजपा का अजमेर विद्युत वितरण निगम के बाहर जमकर प्रदर्शन, सडक पर लेटकर की नारेबाजी

 

भीलवाड़ा (हलचल) बि‍जली के बढती दरों के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों ने अजमेर विद्युत वितरण निगम भीलवाड़ा के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। उन्‍होने सडक पर लेटकर नारेबाजी करते हुए बिजली के बिलों में बढी दरों को वापस लेने की मांग की। इस दौरान उन्‍होने मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत का भी पुतला जलाकर लॉकडाउन के समय का बिल माफ करने की मांग की। वहीं भाजपा पदाधिकारियों ने चेतावनी दी कि यदी हमारी मांग नहीं मानी जाती है तो उग्र आन्‍दोलन किया जायेगा। प्रदर्शन के विधायक विठ्ठल शंकर अवस्‍थी, पूर्व मुख्‍य सचेतक कालू लाल गुर्जर, भाजपा जिलाध्‍यक्ष लादू लाल तेली और प्रवक्‍ता कैलाश सोनी भी मौजूद रहे। 
            विधायक विठ्ठल शंकर अवस्‍थी ने कहा कि मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने चुनाव के समय कहा था कि मैं कभी भी बिजली के बिलों में वृद्धी नहीं करूंगा मगर अभी तक वह तीन बार बिलों में वृद्धी कर चूके है। इसके साथ ही उन्‍होने लॉकडाउन के समय तीन माह के बिजली बिल भी माफ करने की कहा था मगर उन्‍होने जनता का धोखा देते हुए बिल थमा दिये। भाजपा जिलाध्‍यक्ष लादू लाल तेली ने कहा कि बिजली बिलों में बढौत्‍तरी पर हमने हल्‍ला बोल कार्यक्रम का आव्‍हान किया है। आज इसके तहत जिले के 39 मण्‍डलों में 60 स्‍थानों पर प्रदर्शन किया जा रहा है। आज कोरोना की वजह से आमजन के पास काम नहीं है और ऐसे में यह बढते बिजली के बिल उनकी कमर तोड रहे है। 



कर्मचारी महासंघ भीलवाड़ा ने मांगा बकाया वेतन, भिजवाया मुख्यमंत्री को ज्ञापन

 

भीलवाड़ा (हलचल) अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के प्रदेशव्यापी आह्वान पर भीलवाड़ा में  राज्य कर्मचारी महासंघ द्वारा अपनी मांगों जिनमे मुख्यतः माह मार्च 20 के बकाया वेतन देने , 30 अक्टूबर 2017 की अधिसूचना को निरस्त करने  और मांग पत्र पर चर्चा कर इसे लागू करने आदि को लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन भिजवाया गया , कर्मचारी महासंघ भीलवाड़ा के जिलाध्यक्ष नीरज ने बताया कि देश और प्रदेश में जब जब भी प्राकृतिक आपदाएं आसन हुई है तब तब राज्य कर्मचारियों ने बढ़ चढ़कर केंद्र व राज्य सरकारों की आर्थिक मदद की है वर्तमान में कोविड-19 महामारी के चलते राज्य कर्मचारियों ने अपनी क्षमता से अधिक राशि दान कर राज्य सरकार की आर्थिक मदद की है उल्लेखनीय है कि राज्य कर्मचारियों का माह मार्च 2020 का 16 दिवस का वेतन स्थगित किया गया है जिससे राज्य कर्मी पूर्व से ही आर्थिक विपन्नता का दंश झेल रहा है , अधीनस्थ संवर्ग के लगभग 2 लाख कर्मचारियों से वित्त विभाग की अधिसूचना दिनांक 30 -10 -2017 के द्वारा लाखों रुपए की वसूली की कार्रवाई चल रही है उक्त अधिसूचना को निरस्त करने , माह मार्च 2020 के स्थगित वेतन को जारी करने , पूर्व में महासंघ और राज्य सरकार के बीच हुई सहमतियों के अनुरूप निर्णय लिया जाकर आदेश जारी करने की मांग की  परंतु राज्य सरकार द्वारा इस संबंध में आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए कोई निर्णय कर पाने में असमर्थता जताई गई तो महासंघ के द्वारा राज्य सरकार के समक्ष कर्मचारियों की गैर वित्तीय मांगों के दो माह में निराकरण के प्रयास करने की बात कही साथ ही राज्य सरकार के सम्मुख कर्मचारी संघों के लंबित मांग पत्रों का उचित समाधान निकाला जावे  इसके उपरांत ही कर्मचारी किसी अन्य व्यवस्था पर विचार कर सकता है , कर्मचारी महासंघ के जिला मंत्री शिव सिंह चौहान ने कहा कि राज्य सरकार राज्य कर्मचारियों के वेतन से पूर्व में वसूल की गई राशि की आय का ब्यौरा सार्वजनिक करे जिससे आम जनता में संदेश प्रसारित हो सके कि जनहित में राज्यकर्मी का महत्वपूर्ण योगदान है एवं कोविड -19 की लड़ाई में कर्मचारियों की भूमिका अतुलनीय है ! अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने कहा की राज्य  सरकार द्वारा कोई भी निर्णय के एक तरफा आदेश प्रसारित किए गए तो महासंघ राज्यव्यापी आंदोलन के लिए स्वतंत्र होगा एवं कर्मचारियों में सरकार के प्रति आक्रोश उत्पन्न होगा जिसकी समस्त जवाबदारी सरकार की होगी ! वर्तमान समय में यदि कर्मचारी आंदोलन होता है तो राज्य सरकार की कोविड -19  खिलाफ मुहिम पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ना स्वाभाविक है !


अतः राज्य सरकार कोई भी निर्णय लेने से पूर्व सभी पहलुओ पर विचार करते हुए कर्मचारियों के बकाया वेतन भत्तो का भुगतान करें ! ज्ञापन देने गए प्रतिनिधिमंडल में आवासन मंडल के जिलाध्यक्ष संजय झा , राजस्थान ग्राम सेवक संघ के जिलाध्यक्ष पारस कुमावत , सहायक कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष गंगाराम डीडवानिया , आयुर्वेद परिचारक संघ भेरू सिंह राजपूत ,नल मजदूर फ़ेडरेशन के कन्हैया लाल शर्मा , रघुनाथ शर्मा , हरक चंद सोमानी , भेरू लाल गुर्जर आदि शामिल थे ! ज्ञापन अति कलक्टर शहर को दिया गया !


  

प्री-डीएलएड परीक्षा शुरू

 

गंगापुर (सुरेश शर्मा)  प्री-डीएलएड परीक्षा का आयोजन आज गंगापुर कस्बे सहित निकटवर्ती 14 सेंट्रो पर किया जा रहा है| परीक्षा सेंटर पर परीक्षार्थियों को थर्मल स्कैनिंग व सैनिटाइजर करके परीक्षा रूम में बिठाया जा रहा है| गंगापुर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य नरोत्तम दाधीच ने बताया कि विद्यालय में 195 बालक बालिकाएं आज परीक्षा दे रहे हैं| वहीं बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में 105 परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं| परीक्षा समय 2 बजे से 5 बजे तक रहेगा| परीक्षा केंद्रों पर छात्रों की थर्मल स्कैनिंग करने के बाद प्रवेश दिया जा रहा है| छात्र-छात्राओं के हाथ सैनिटाइजर करने के बाद परीक्षा कक्ष में प्रवेश दिया गया| परीक्षा कक्ष में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा गया| एक कमरे में केवल मात्र 15 परीक्षार्थियों को ही बिठाया गया|



भाजपा मंगरोप मण्डल ने अधीक्षण अभियंता को सौंपा ज्ञापन

 

भीलवाड़ा (हलचल) पूर्व मंत्री कालूलाल गुर्जर के सानिध्य में एवं भाजपा मंगरोप मण्डल अध्यक्ष नाहर सिंह पुरावत के नेतृत्व मंे कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना कालखंड के अंतर्गत उपभोक्ताआंे के 4 माह के बिजली के बिल माफ करने, फ्यूल चार्ज एवं स्थाई शुल्क के नाम पर की गई वृद्धि वापस लेने, किसानों के बिजली बिल माफ करने, बिजली कटौती बन्द करने, किसानों की अवैध वीसीआर बरना बंद करने, किसानों की बंद कर दी गई सब्सिडी को पुनः शुरू करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम अधीक्षण अभियंता भीलवाड़ा को ज्ञापन सौंपा।


मंगरोप मण्डल अध्यक्ष नाहर सिंह पुरावत ने बताया कि राज्य सरकार ने जन घोषणा पत्र में बिजली की दरों में बढ़ोतरी नहीं करने की घोषणा की थी, दुर्भाग्य से 20 महीनों की सरकार ने अलग-अलग समय पर 70 पैसे प्रति यूनिट तक वृद्धि की है इस 6 फरवरी 2020 को राज्य सरकार की एक करोड़ 13 लाख उपभोक्ताओं पर विद्युत दर फिक्स चार्ज पर 12 प्रतिशत बढ़ोतरी कर 70 पैसे प्रति यूनिट बिजली की दरों में वृद्धि हुई है 1400 करोड़ का अतिरिक्त घरेलू उपभोक्ताओं पर भार डाल दिया है वैश्विक महामारी कोरोना  काल में राज्य के घरेलू उपयोक्ताओं के 4 माह बिजली का बिल माफ करने की एवं उद्योग जगत पर बंद पड़े उद्योगों पर फिक्स चार्ज 2.97 पैसे प्रति यूनिट माफ करने के लिए मांग की थी दुर्भाग्य से राज्य सरकार ने मांगों को ठुकरा दिया।


      फ्यूल चार्ज जो भाजपा की राज्य में जो 30 पैसे प्रति यूनिट था उसको बढ़ाकर 58 पैसे प्रति यूनिट कर दिया इन सभी कारणों से इस कोरोना काल में खंड में घरेलू उपभोक्ताओं पर आर्थिक भार पड़ा है राज्य सरकार ने फरमान जारी करके कोरोनो कालखंड में 3 माह के स्थगित बिजली के बिलों को 31 जून तक जमा कराने के आदेश जारी कर साथ ही स्थाई चार्जर्स के नाम से प्रत्येक उपभोक्ता से 2000 से 5000 तक अतिरिक्त भार डाल दिया वही उद्योग जगत को भी आहत कर दिया पिछले 3 माह से बिजली की अघोषित कटौती वीसीआर के नाम पर किसानों से हजारों रुपए की वसूली करते भ्रष्टाचार के नया आयाम स्थापित किया है। विद्युत की दृष्टि से राजस्थान को आत्मनिर्भर बनाने की धोती घोषणा के पश्चात भी सैकड़ों की महंगी बिजली खरीदकर भारी भ्रष्टाचार किया जा रहा है।



कनिष्ठ अभियंता को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा

 

सवाईपुर ( सांवर वैष्णव ) भारतीय जनता पार्टी के द्वारा हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत आज प्रदेश में बिजली की दरों में बढ़ोतरी को लेकर सवाईपुर 33/11 केवी ग्रीड़ सब स्टेशन पर कनिष्ठ अभियंता योगेश मोदी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया | ज्ञापन में बताया गया कि राज्य सरकार ने जन घोषणा पत्र में बिजली की दरों में बढ़ोतरी नहीं करने की घोषणा की | लेकिन दुर्भाग्य से 20 महीनों से सरकार  अलग-अलग समय पर 70 पैसे प्रति यूनिट तक बिजली की | 6 फरवरी 2020 को राज्य के 1 करोड़ 13 लाख उपभोक्ता पर बिजली दर फिक्स चार्ज पर 12% बढ़ोतरी कर 70 पैसे प्रति यूनिट की दरों में वृद्धि की गई | 14 करोड़ की अतिरिक्त भार डाल दिया | वैश्विक महामारी कोरोना के काल में राज्य घरेलू उपभोक्ता ने चार  माह बिजली का बिल माफ करने की मांग की एवं उद्योग जगत पर बंद पड़े उघोगों पर फिक्स चार्ज 2.97 पैसे प्रति यूनिट माफ करने की मांग की थी | दुर्भाग्य से राज्य सरकार ने मांगों को ठुकरा दिया | फ्यूज चार्ज जो भाजपा के राज्य में 30 पैसे यूनिट था उसको बढ़ाकर 58 पैसे प्रति यूनिट कर दिया गया | इन सभी कारणों से इस कोरोना काल खंड में घरेलू उपभोक्ताओं पर आर्थिक भार पड़ा है | राज्य सरकार ने फरमान जारी करके कोरोना काल खंड में 3 माह के स्थगित बिजली के बिलों को 30 जून तक जमा कराने का आदेश जारी कर साथ ही चार्जेज के नाम पर प्रत्येक उपभोक्ता से 2000 से ₹5000 तक अतिरिक्त भार डाल दिया है |


पूर्ववर्ती भाजपा सरकार द्वारा प्रत्येक कृषि कनेक्शन पर 833 रुपये की सब्सिडी की छूट थी | जिसको वर्तमान कांग्रेस सरकार ने बंद कर दिया |  गहलोत व कांग्रेस सरकार के विरुद्ध नारे लगाएंगे | जिस दौरान बड़ला सरपंच शिवराज जाट, सवाईपुर पूर्व सरपंच व ओबीसी जिला मोर्चा उपाध्यक्ष अमरचंद गाडरी, सवाईपुर उपसरपंच किशनलाल जाट, पूर्व युवा मंडल महामंत्री कालूलाल सुवालका, देवराज जाट मंडल महामंत्री, दयाल सिंह राठौड़ कोटड़ी मंडल मंत्री, नीलाधर गाड़री कोटड़ी मंडल मंत्री, वार्ड पंच रामेश्वर लाल जाट, राजकुमार श्रोत्रिय आदि भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे ।



  बागौर में भाजपा का हल्ला बोल प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन 

 

बागौर बिरदीचंद जीनगर।  बिजली की बढ़ती दरों के खिलाफ सोमवार को भाजपा के हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत भाइपाइयों ने उप तहसील मुख्यालय पर राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर बिजली विभाग के अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। 
 मंडल अध्यक्ष श्रवण सिंह , शांति लाल आचार्य , राजकुमार जीनगर ,  मोहन लाल गुर्जर , संजय लूहार , राजकुमार सेन नारायण माली  , छितर गुर्जर के अलावा भाजपा के पदाधिकारी एंव कार्यकर्ता भी मौजूद रहे। 
 



सेल्समैन को मारने के लिए बदमाशों ने दुकान में घुसाई जीप

 

 अलवर। राजस्थान के अलवर जिले के बानसूर कस्बे में बेखौफ बदमाशों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। बदमाश यहां पुलिस को खुलेआम चुनौती दे रहे हैं और ऐसी ही बानगी रविवार की रात देखने को मिली। यहां अलवर रोड पर एक शराब के ठेके पर कुछ बदमाशों ने सेल्समैन को जान से मारने की कोशिश की। आपसी रंजीश को लेकर हुए इस हमले में बदमाशों ने जीप को दुकान के शटर से बार-बार टक्कर मारी। सेल्समैन को जान से मारने की कोशिश करते हुए बदमाशों ने शटर तोड़कर जीप दुकान के अंदर घुसा दी। हालांकि इस हमले में दुकानदार बाल बला बचा लेकिन इस वारदात ने एक बार फिर अलवर में बदमाशों पर पुलिस के अंकुश की पोल खोलकर रख दी है। 
उधर, शराब के ठेके का शटर तोड़ने के बाद भागते समय बदमाशों की जपी कुछ दूर जाकर पलट गई। जीप पलटे ही उसमें आग लग गई और उसमें सवार बदमाश मौके से फरार हो गये। सुबह मौके पर पहुंची पुलिस और दमकली की गाड़ी में लगी आग को बुझाया।



खनन माफिया का पुलिस पर जानलेवा हमला, ट्रैक्टर से कुचलने की कोशिश

 

 कानपुर/ कानपुर में विकास दुबे मामले के बाद एक बार फिर पुलिस टीम निशाने पर है। इस बार पुलिस पर खनन माफिया ने जानलेवा हमला किया है। बताया जा रहा है कि अवैध मिट्टी खनन को रोकने गई पुलिस पर हिस्ट्रीशीटर ने अपने साथियों के साथ मिलकर हमला कर दिया। इस दौरान दरोगा और सिपाही के साथ मारपीट की गई। ट्रैक्टर चढ़ाकर जान से मारने का प्रयास किया गया। हमले में दरोगा की उंगली में चोट आई है। पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ नामजद और 6 अज्ञात पर एफआईआर दर्ज की है। इसके साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ग्रामीण ने टीमों का गठन किया है।

साढ थाना क्षेत्र स्थित चिरली गांव में एक सामुदायिक शौचालय का निर्माण चल रहा है। पुलिस को सूचना मिली थी कि रसूलपुर गांव अवैध मिट्टी का खनन हो रहा है। साढ चौकी इंचार्ज कष्णमोहन सिपाही पंकज कुमार के साथ पहुंचे थे। चिरली गांव में रहने वाला कल्लू खनन करवा रहा था। दरोगा ने पूछा कि यह मिट्टी कहां लेकर जा रहे हो। कल्लू ने दरोगा कृष्णमोहन को बताया कि चिरली गांव में सामुदायिक शौचालय का निर्माण हो रहा है, वहां पर पुराई के लिए लेकर जा रहे हैं। दरोगा ने खनन के कागजात मांगे तो मोहित दरोगा से भिड़ गया। इसके बाद वो वहां से भाग निकला, उसने चाचा कल्लू और हिस्ट्रीशीटर चाचा रघुवीर को घटना की जानकारी दी। 
पुलिस पर हमला
दरोगा कष्णमोहन और सिपाही खुद मिट्टी से लदी ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर थाने जाने लगे। जैसे ही ट्रैक्टर-ट्रॉली रसूलपुर गांव के पास पहुंची तो खनन माफिया कल्लू, हिस्ट्रीशीटर रघुवीर, कल्लू के भतीजे मोहित और रोहित, ज्वाला, समेत अपने साथियो के साथ मिलकर दरोगा और सिपाही को घेर लिया। इस दौरान ट्रैक्टर ट्रॉली को रोक लिया गया। खनन माफिया ने अपने साथियों के साथ दरोगा और सिपाही के साथ मारपीट की। यही नहीं ट्रैक्टर चढ़ाकर जान लेने की कोशिश की गई। हमले के बाद हिस्ट्रीशीटर और खनन माफिया ट्रैक्टर लेकर भाग निकले।

जानलेवा हमले पर पहुंचे आलाधिकारी
दरोगा और सिपाही पर जानलेवा हमले की सूचना पर पहुंचे एसपी ग्रामीण बृजेश श्रीवास्तव और सीओ घाटमपुर रवि कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने ट्रैक्टर की तलाश की तो जंगलों के बीच से मिट्टी से लदा हुआ ट्रैक्टर बरामद हो गया।

घाटमपुर सीओ रवि कुमार सिंह ने बताया कि 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 147, 186, 307, 332, 353, 504, 506 और 4/21 खनन अधिनियम के तहत दर्ज किया है।

राजनीतिक संरक्षण में पनप रहा है खनन का कारोबार
इस हमले के बाद साफ है कि खनन माफिया पर जिले में नकेल नहीं लग पाई है। राजनीतिक संरक्षण में खनन माफिया पर मनमानी करके अवैध खनन का काम करने का आरोप है। राजनीतिक संरक्षण होने की वजह से खनन माफिया पुलिस से डरने की बजाए उनसे भिड़ने की हिम्मत जुटा रहे हैं। पिछले साल कानपुर जिले में ही फतेहपुर के बॉर्डर पर खनन रोकने गए दो सिपाहियों पर हमला हुआ था। माफिया के गुर्गे एक सिपाही को जेसीबी के बॉकेट में डालकर फतेहपुर की सीमा तक लेकर चले गए थे।



लुटेरे ने महिला डॉक्टर की तोड़ी चेन, सीसीटीवी में कैद हुई लूट

 

उत्तर प्रदेश के कानपुर में मुंह पर मास्क लगाकर बाइक सवार लूटेरे ने महिला डॉक्टर की चेन तोड़कर फरार हो गए। बाइक सवार बदमाशों की यह करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। महिला डॉक्टर बुजुर्ग मां के साथ सुबह मॉर्निंग वॉक से लौट रही थी। इसी दौरान बाइक सवार बदमाश चेन तोड़कर भाग गए। मां-बेटी जब तक शोर मचाती बदमाश आंखों से ओझल हो गए। लूट की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाले। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर लुटेरों की तलाश में जुटी है।

बर्रा थाना क्षेत्र नई बस्ती में रहने वाली डॉक्टर तान्या त्रिपाठी फिजियोथेरेपिस्ट है। डॉक्टर तान्या बुजुर्ग मां के साथ मॉर्निग वॉक पर निकली थी। मॉर्निंग वॉक से लौटते वक्त वाइट कलर की अपाचे से आए बदमाश चेन तोड़कर फरार हो गए। बाइक चलाने वाले लुटेरे ने हेलमेट लगाया था और पीछे बैठे लुटेरे ने मुंह पर मॉस्क लगाया था। लूटेरे झपट्टा मार चेन तोड़ते हुए हाइवे की तरफ भाग गए।

 गले में पड़े निशान
महिला डॉक्टर तान्या त्रिपाठी ने बताया कि सुबह मॉर्निग वॉक से लौटते वक्त बाइक सवार बदमाश चेन तोड़कर भाग गए। जब तक मैं कुछ समझ पाती बाइक सवार बदमाश दूर जा चुके थे। बदमाशों की इस करतूत से मेरे गले पर निशान चोट के निशान बन गए।

  लॉकडाउन  से था सन्नाटा
रविवार को वीकेंड लॉकडाउन होता, जिसकी वजह से शहर में पूरी तरह से बंदी होती है। रविवार को लोग देरी से सोकर उठे थे, और सड़क और गलियों पर भी सन्नाटा था। जिसका फायदा उठाते हुए लूटेरे बड़ी आसनी से फरार होने में कामयाब हो गए।

  मुंह पर लगा था मॉस्क
महिला डाक्टर के साथ हुई लूट का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। जिसमें साफ देखा जा सकता है कि बाइक सवार बदमाश आते है। जिसमे बाइक चला रहे लुटेरे ने हेलमेट पहना था। बाइक के पीछे बैठै लूटेरे ने सफेद रंग का मास्क लगाया था। लुटेरे इतने एक्सपर्ट थे कि एक बार मे ही झपट्टा मार कर चेन तोड़ ली।

बर्रा इंस्पेक्टर हरमीत सिंह के मुताबिक लुटेरे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए है। फुटेज के अधार पर लुटेरों की तलाश की जा रही है।



पुराने वाहनों की खरीद फरीख्त का विश्वसनीय शो रूम कार 24 का शुभारम्भ


भीलवाड़ा (हलचल)। सिंधुनगर में जे.के.ऑटो कार 24 का आज विधायक विट्ठलशंकर अवस्थी ने शुभारम्भ किया। यहां पुरानी कारों को गारंटी के साथ उपलब्ध कराया गया है। 
जे.के.ऑटो कार 24 के संचालक मनोज कचौलिया ने बताया कि पुरानी कारों की खरीद फरोख्त के लिए यह एक विश्वसनीय स्थान है। बीस सालों से वाहनों की खरीद फरोख्त के काम में लगे जे.के.ऑटो ने अपने नये संस्थान का शुभारम्भ किया है जहां गारंटी के साथ पुरानी कारों की अधिकतम कीमत दिलाने, ट्रांसफर की सुविधा उपलब्ध कराने तथा खरीददारों को विभिन्न समस्याओं से दूर रखने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने बताया कि खरीददारों के सामने आने वाली एक्सीडेंटल गाड़ी, ट्रांसफर की परेशानी का उन्हें सामना नहीं करना पड़ेगा। कार 24 उन्हें भरोसा देता है कि पुरानी कार खरीदने और बेचने वालों को अच्छी सुविधा दें। इस मौके पर शहर के कई गणमान्य लोग भी मौजूद थे। 



रोड बनाने की मांग, एसडीएम को दि‍या ज्ञापन

 

भीलवाड़ा (हलचल)  एसडीपीआई मांडल इकाई द्वारा इंदिरा कॉलोनी में रोड़ के लिए उपखंड अधिकारी को ज्ञापन देकर उसे सही करवाने की मांग की गई जिसमें sdpi के कार्यकर्ता अनवर अंसारी, इम्तियाज अंसारी, इमरान भोमिया, अमजद अंसारी, रमजान भोमिया, शहजाद अंसारी आदि उपस्थित रहे।



 कोठारी नदी में पानी की आवक शुरू, मेजा में पहुंचने की संभावना 

 

भीलवाड़ा हलचल। रविवार को हुई अच्छी बारिश के चलते कोठारी नदी में पानी की आवक शुरू हो गई। पानी मेजा बांध के उपरी इलाके मालपुरा से आगे बढ़ गया है। जल्द ही पानी के मेजा में पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। 
जानकारी के अनुसार, रविवार को राजसमंद सहित मेजा बांध के उपरी इलाकों में अच्छी बारिश के चलते कोठारी नदी में पानी की आवक शुरू हो गई। पानी सोमवार को मालपुरा से आगे निकल चुका था। ग्रामीणों का कहना है कि बाहले का पानी भी लगातार बढ़ रहा है, जो कोठारी नदी में पहुंचेगा। इस पानी के जल्द ही मेजा बांध में पहुंचने की संभावना जताई गई है। 



घर पर लहराया पाकिस्तानी झंडा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

 

इंदौर/ सोशल मीडिया पर एक मकान वीडियो रविवार को वायरल हो रहा था। वायरल वीडियो में एक मकान के ऊपर पाकिस्तानी झंडा लहरा रहा था। पुलिस ने तहकीकात की, तो पता चला कि यह मकान इंदौर और देवास के बीच शिप्रा इलाके में स्थित है। उसके बाद पुलिस केस दर्ज मकान मालिक को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही पाकिस्तानी झंडा को भी जब्त कर लिया है।
बताया जा रहा है कि शिप्रा के निकट फारुख के मकान पर यह झंडा लहरा रहा था। वीडियो सामने आने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया था। वीडियो वायरल होने के बाद मौके पर राजस्व अधिकारी दल बल के साथ पहुंचे। आरोपी मकान मालिक का नाम फारुख खान हैं। पुलिस ने उसके खिलाफ धारा 153ए के तहत मामला दर्ज किया है। औद्योगिक थाने की पुलिस झंडे के साथ फारुख खान को भी लेकर पुलिस स्टेशन पहुंची है। कोर्ट में पेशी के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

मौके पर पहुंचे राजस्व निरीक्षक लखन सिंह पुरबिया ने बताया कि फारुख के घर की छत पर पाकिस्तानी झंडा लगा था। जिसके बारे में घर मालिक फारुख का कहना था कि झंडा 12 वर्षीय नाबालिग ने अज्ञानता में लगा दिया है। हालांकि पाकिस्तानी झंडा कहां से आया? 12 वर्ष के नाबालिग बच्चे ने छत में पर इतना ऊंचा झंडा अकेले कैसे लगाया? जैसे सवालों के जवाब नहीं मिल सके। 

इस मामले को लेकर औद्योगिक क्षेत्र थाना पुलिस ने फारुख के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। साथ ही फारुख के सारे संबंधों को खंगाले जा रहे हैं।



कृष्णभक्त अलीबख्श की प्रतिमा खंडित

 

 अलवर जिले के मुंडावर कस्बे में वसुंधरा सरकार के कार्यकाल में करीब साढ़े 3 करोड़ की लागत से बनाये गए कृष्णभक्त अलीबख्श के पैनारोमा में समाजकंटकों ने तोड़फोड़ की है। कृष्ण भक्त अलीबख्श की प्रतिमा को पत्थर से खंडित किया गया है। इससे स्थानीय लोगों में रोष है। शनिवार रात को अलीबख्श की प्रतिमा खंडित होने का एक वीडियो वायरल होने के बाद उपखंड प्रशासन में हड़कंप मच गया। इसके तुरंत बाद हरकत में आये तहसीलदार नीमराणा रमेश चंद जोशी मुंडावर थाना पुलिस के साथ शनिवार देर रात ही प्रतिमा का अवलोकन करने पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। इसके बाद तहसीलदार ने मुडावर थाने में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने भी मामला दर्ज होने के बाद अज्ञात लोगों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है।


 

कोरोना काल में जान जोखिम में डालकर घर-घर राशन पहुंचाने वाले वाहन मालिकों का परिषद ने अटकाया भुगतान

 

भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोना काल में जान जोखिम में डालकर घर-घर राशन पहुंचाने वाले वाहन मालिकों को किराये का भुगतान नहीं करने के विरोध में आज वाहन मालिक नगर परिषद आयुक्त के कक्ष के बाहर धरने पर बैठ गये। उन्होंने आयुक्त पर भुगतान नहीं करने और चक्कर कटाने का आरोप लगाया है।
भीलवाड़ा में कोरोना संक्रमण के चलते लगाये कफ्र्यू के दौरान जिला कलेक्टर के आदेश पर उपभोक्ता भंडार के माध्यम से घर-घर राशन पहुंचाने वाले वाहन मालिक अब भुगतान के लिये नगर परिषद के चक्कर लगा रहे है। नगर परिषद जिला कलेक्टर के आदेश के बावजूद भुगतान करने में आनाकानी कर रहा है। यही नहीं उपभोक्ता भंडार और नगर परिषद के बीच भी वाहनों के भुगतान को लेकर ठनी हुई है। पूर्व चेयरमेन और आयुक्त वाहनों के भुगतान में रोड़े अटकाने का मामला जिला कलेक्टर तक पहुंचा है और इस मामले में जिला कलेक्टर ने पहले भी दखल दी है। इसके बाद नगर परिषद ने पे आर्डर तो बना दिया लेकिन चेक नहीं बनाया है। आज वाहन मालिक नगर परिषद पहुंचे और आयुक्त कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गये। एक वाहन मालिक महेन्द्र खारोल ने आयुक्त पर सीधे-सीधे भुगतान नहीं करने का आरोप लगाया है और कहा है कि आयुक्त उन्हें चक्कर दे रहा है। कभी उपभोक्ता भंडार भेजते है तो कभी चेक बनाने की बात कहते है। पिछले एक सप्ताह से वाहन मालिक नगर परिषद और उपभोक्ता भंडार के चक्कर लगा रहे है। 
यह चर्चा भी है कि वाहन मालिकों को भुगतान करने की एवज में सुविधा शुल्क वसूलने के प्रयास किये जा रहे है और इसी के चलते भुगतान में रोड़ अटकाये जा रहे है। 



कोरोना विस्फोट के बाद जिला स्तरीय आंकड़ों पर रोक

 

जयपुर
प्रदेश में कोरोना अब अपनी रफ्तार दिनों-दिन तेज कर रहा है। लगातार नए कोरोना संक्रमितों की संख्या सामने आ रही है। इसी बीच राजस्थान से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना यह है कि प्रदेश में अब जिला स्तर पर जारी होने वाले आंकड़ों की रिपोर्ट को जारी नहीं किया जाएगा। दरअसल राजस्थान सरकार ने इस पर बैन लगा दिया है। प्रदेश में कोरोना विस्फोट के बाद जिला स्तरीय रिपोर्ट पर प्रशासन की ओर से रोक लगाई गई है। आपको बता दें कि पिछले कुछ जिला और राज्य स्तर के आंकड़ों में अंतर की खबर सामने आ रही है। वहीं सरकार पर कोरोना मौतों के आंकड़े छुपाने के आरोप भी लगाया जा रहा है, इसी बीच जिला स्तर के आंकड़ों पर रोक लगाने के बाद कई सवाल खड़े हो रहे हैं। 

कोटा की रिपोर्ट में दिखा बड़ा अंतर
आपको बता दें कि राजस्थान के कोटा शहर में पिछले दिनों आई राज्य और जिला स्तर रिपोर्ट में बड़े अंतर की खबर सामने आई थी, जिसके बाद से ही लगातार सरकार पर आंकड़ों को छुपाने के आरोप लगाए जा रहे हैं। इस रिपोर्ट में स्टेट रिपोर्ट के मुताबिक 200 रोगियों की ही पुष्टि हुई थी। वहीं जिला स्तर की रिपोर्ट की मानें, तो 711 मरीजों की पुष्टि आंकड़ों के अनुसार हुई थी। 

ये हो सकती है वजह
रिपोर्ट में अंतर को लेकर हालांकि राज्य सरकार की ओर से कोई भी बयान जारी नहीं किया गया है। वहीं राज्य सरकार पर लगातार आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाया जा रहा है। आपको बता दें कि जिलेवार रिपोर्ट में जिले के मोहल्ले, ऑफिस और बैंक जैसी संस्थाओं में कितने मरीज मिलें, इसे लेकर पूरी जानकारी होती है। वहीं स्टेट रिपोर्ट में रोगी संख्या और मौंतों के आंकड़े की ही जानकारी दी जाती है। ऐसे में प्रतीत होता है कि रिपोर्ट में आने वाले अंतर के चलते सरकार की ओर से यह रोक लगाई गई है।









कोरोना  


स्कूलों को लेकर महत्वपूर्ण फैसला, सितंबर में खुलेंगे

 

जयपुर
देशभर में अब अनलॉक की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा रहा है। राजस्थान में भी इसे लेकर अब गाइडलाइन जारी कर दी गई है। इस गाइडलाइन के तहत स्कूलों से जुड़ा महत्वपूर्ण फैसला भी लिया गया है। इस गाइडलाइन में स्कूलों को खोलने का फैसला लिया गया है। सबसे महत्वपूर्ण है कि इसके तहत जहां स्कूलों को खोलने की प्रक्रिया शुरू करने की कवायद शुरू हो चुकी है। वहीं उसके महत्वपूर्ण दिशा- निर्देश भी दिए गए हैं। 

21 सितंबर के बाद खुलेंगे स्कूल
राजस्थान राज्य भी अब स्कूलों को खोलने को लेकर विचार कर रहा है। आगामी सितंबर तक प्रदेश में स्कूलों को खोला जाएगा। 21 सितंबर के बाद 9 वीं से लेकर 12 वीं तक के स्टूडेंट्स स्कूल जाकर अध्यापकों का मार्गदर्शन ले सकेंगे। हालांकि इससे पूर्व में माता-पिता की लिखित मंजूरी जरूरी होगी। 
जल्द ही आ सकती है विस्तृत गाइडलाइन
राज्य सरकार की ओर से जहां अनलॉक 4.0 से जुड़ी गाइडलाइन जारी कर दी गई है। वहीं इसमें महत्वपूर्ण रूप से एक ही फैसला अलग रूप से लिया गया है। जहां केन्द्र की गाइडलाइन में आयोजनों में 100 की संख्या में लोगों के शरीक होने की मंजूरी दे दी गई है। वहीं राज्य सरकार ने अभी भी इसकी संख्या 50 ही रखी है। स्कूलों को लेकर भी सितंबर माह के दूसरे सप्ताह तक राज्य सरकार विस्तृत गाइडलाइन जारी कर सकती है, जिसमें कोरोना प्रोटोकॉल के जुड़ी सभी विस्तृत जानकारी होगी।



उधारी वसूलने के लिए की मारपीट, छेड़छाड़ और आभूषण लूटे

 

भीलवाड़ा (हलचल)। पति के ईलाज के लिए उधार लिये 35 हजार रुपए की वसूली के लिये पुत्रियों से छेड़छाड़, मारपीट और आभूषण छिनने का आरोप लगाते हुए एक महिला ने आसींद थाने में दर्ज कराया है। 
आसींद थाना क्षेत्र के पांडरू ग्राम में रहने वाली विवाहिता ने ढाई साल पहले पति के ईलाज के लिए 35 हजार रुपए रघुनाथ सिंह, हनुमान सिंह और कंकुदेवी से उधार लिये थे। उधार लिये रुपयों के बदले एक तोला सोने का मंगलसूत्र, आधा किलो चांदी के पायजेब गिरवी रखे थे। इसके बाद लगातार ब्याज चुकाया जा रहा था लेकिन कोरोना महामारी के कारण दो-तीन माह ब्याज नहीं चुका पाई। इससे अभियुक्तगण का पुत्र शेरू नाबालिग पुत्रियों पर बुरी नजर रखने लगा और आये दिन रुपयों के तकाजे के लिए घर आने लगा।  उसे छेडख़ानी करने का औलम्बा भी दिया। इस पर आक्रोशित होकर 22 अगस्त को सायं 7 बजे पांडरू चौराहे पर हनुमान सिंह, शेरू सिंह दोनों ने मेरे और पति के साथ मारपीट की। कुछ लोगों ने बीच बचाव किया। वहां से वे घर पहुंचे तो फिर आरोपियों ने मकान में प्रवेश कर गाली गलौच कर मारपीट की और मेरी व पुत्रियों की लज्जा भंग की। आरोपी पीडि़ता के गले से चार मांदलिये और मोती भी छीन ले गये। यही नहीं मेरे मासूम पुत्र को उठा ले जाने व हत्या करने और झूंठे मुकदमें में फंसाने की धमकी भी दी। आसींद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। 



मॉब लिंचिंग मामला: तीन पुलिसकर्मियों को सेवा से बर्खास्त किया

 

 महाराष्ट्र के पालघर में हुए साधुओं के जघन्य हत्याकांड मामले में महाराष्ट्र पुलिस ने तीन पुलिसकर्मियों को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। महाराष्ट्र पुलिस के कोंकण रेंज के आईजी द्वारा यह कार्रवाई की गई है। दो पुलिसकर्मियों को कंपलसरी रिटायरमेंट ( एपीआई रविंद्र सालुंखे और हेड कॉन्स्टेबल नरेश ढोंडी) और एक पुलिसकर्मी ( एपीआई आनंदराव काले) को सेवा से बर्खास्त किया गया है।

ड्यूटी ना निभाने का आरोप
बर्खास्त किए गए इन पुलिस अधिकारियों पर अपनी ड्यूटी इमानदारी से ना निभाने और साधुओं को हमलावरों के हवाले करने के आरोप में सेवा से हमेशा के लिए बर्खास्त कर दिया गया है। इस घटना के बाद से ही पांच पुलिसकर्मियों पर जांच चल रही थी। और यह सभी उस समय से ही निलंबित चल रहे थे। पालघर की इस घटना ने महाराष्ट्र पुलिस की साख पर बट्टा लगाने का काम किया था। मामले में महाराष्ट्र पुलिस और महाराष्ट्र सरकार की तरफ से काफी लीपापोती भी हुई थी। हालांकि बाद में एक्शन लेते हुए 100 से भी ज्यादा लोगों को इस मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

साधुओं की हुई थी निर्मम हत्या
महाराष्ट्र के पालघर जिले के गढ़चिंचले गांव सड़क पर 16 अप्रैल की रात 2 साधुओं और उनके ड्राइवर की भीड़ में पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी थी। भीड़ ने जूना अखाड़े के महाराज कल्पवृक्ष गिरी और सहायक सुशील गिरी महाराज समेत ड्राइवर निलेश तेलगड़े की हत्या की थी। भीड़ को यह शक था की गाड़ी में सवार तीनों व्यक्ति बच्चा चोर हो सकते हैं। बस इसी अफवाह ने भीड़ में सोए शैतान को जगा दिया और सबने मिलकर लाठी-डंडों से तीनों व्यक्तियों की जान ले ली। इस घटना के समय पुलिस को भी देखा गया था। वीडियो में साफ पता चल रहा था कि पुलिस ने अपनी ड्यूटी को ठीक से नहीं निभाया और निर्दोष साधुओं को हत्यारी भीड़ के हवाले कर दिया। महाराष्ट्र सरकार ने मामले की जांच स्टेट सीआईडी को सौंपी थी। घटना होने के बाद स्थानीय पुलिस की लापरवाही उजागर होने लगी। तब राज्य सरकार ने स्थानीय एसपी गौरव सिंह को भी अनिवार्य छुट्टी पर भेज दिया था। मामले में पुलिस ने 154 लोगों को गिरफ्तार किया था जिसमें 11 लोग नाबालिग हैं।



40 कर्मचारियों के Covid पॉजिटिव पाए जाने के बाद बंद हुआ रुपये छापने वाला प्रेस

 

नासिक
महाराष्ट्र के नासिक में करंसी नोट प्रेस (CNP) और इंडिया सिक्यॉरिटी प्रेस (ISP) के संचालन को 4 दिनों के बंद कर दिया गया है। पिछले दो सप्ताह में यहां के 40 कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद यह फैसला किया गया है।

CNP में तकरीबन एक करोड़ 70 लाख करंसी नोट छपते हैं। यहां 2300 कर्मचारी काम करते हैं। वहीं ISP में रेवेन्यू स्टैंप, स्टैंप पेपर्स, पासपोर्ट और वीजा छपते हैं। यहां कार्यरत कर्मचारियों की संख्या 1700 है। सोमवार से शुरू होकर 4 दिनों तक चलने वाली बंदी में होने वाली करंसी नोटों की छपाई के नुकसान की भरपाई रविवार के दिनों में काम कर पूरी की जाएगी।

CNP और ISP के सूत्रों के अनुसार पिछले 3 महीनों के दौरान दोनों यूनिट से करीब 125 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। एक अधिकारी ने बताया, 'Covid-19 के संक्रमण को रोकने के लिए हम स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रसीजर को फॉलो कर रहे हैं। जो भी कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं, उन्हें यह बीमारी संभवत: परिवार के सदस्यों के जरिए मिली हो।'

संचालन फिर से शुरू होने के बाद नासिक नगर निगम इन दोनों प्रेस में कम करने वाले कर्मचारियों का एंटीजन टेस्ट कराएगी। बता दें कि एक दिन में कोरोना संक्रमण के 1170 नए मामले सामने आने के बाद नासिक के कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 36 हजार 490 हो गई है।



कोरोना की डरावनी स्पीड, 31 फीसदी मरीजों की मौत भर्ती होने के 24 घंटे के भीतर

 

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में कोरोना के मामलों में जरूर कमी आ रही है, लेकिन समय पर अस्पताल नहीं पहुंचने और रोग को समझने में देरी के कारण इससे मरने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना से हुई मौत के विश्लेषण के लिए बनी कोरोना मृत्यु विश्लेषण समिति की रिपोर्ट में चौंकाने वाली बात सामने आई है।

रिपोर्ट के अनुसार, 31 प्रतिशत मौतें अस्पताल में भर्ती होने के महज 24 घंटे के भीतर हुई हैं, जबकि 59 प्रतिशत मरीजों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 4 दिन के भीतर हुई है। कोरोना से हो रही मृत्यु को कम करने के लिए राज्य सरकार ने कोरोना मृत्यु विश्लेषण समिति बनाई थी। कमिटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है। इसमें बीमारी की तत्काल पहचान और इलाज पर जोर देने की सलाह दी गई है।

मुंबई में 7 हजार मौतें
मुंबई में कोरोना से ग्रसित होने वालों की संख्या 1 लाख 43 हजार के पार चली गई है। वहीं, रोग के कारण 7 हजार 593 लोगों की मौत भी हो चुकी है। 1 लाख 15 हजार लोग इस बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं। समिति ने 5 हजार 200 मौतों का विश्लेषण किया है, जिसमें से 31 प्रतिशत मरीजों की मृत्यु अस्पताल में भर्ती होने के 24 घंटे के भीतर हुई है और 59 प्रतिशत की 4 दिन के भीतर।

रोग की देरी से पहचान
समिति के प्रमुख डॉ. अविनाश सुपे के अनुसार, रोग की देरी से पहचान और मरीज के अस्पताल देरी से पहुंचने के कारण मौत के मामलों में वृद्धि हुई थी, लेकिन अब स्थिति ठीक हो रही है। कोरोना को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन और लोगों को साथ मिलकर काम करना होगा। मौत की दर को कम करने के लिए कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर जोर देना होगा।
रोग के प्रसार को रोकने के लिए कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कर लोगों को आइसोलेशन में रखना बेहद जरूरी है। इसके लिए आरोग्य सेविका और अन्य विभागों के लोगों को शामिल करना चाहिए। योग्य उपचार के लिए स्वास्थ्यकर्मियों की ट्रेनिंग का भी खयाल करना होगा। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और समय पर उपचार करना बेहद जरूरी है।

ग्रामीण क्षेत्रों नहीं सही व्यवस्था
संक्रमण रोग विशेषज्ञ डॉ. ईश्वर गिलाडा के अनुसार, ठाणे, रायगड और पालघर में सुविधा के अभाव की वजह से बड़ी संख्या में मरीज मुंबई आते हैं, इसलिए मुंबई की कोरोना मृत्यु दर में इजाफा हो रहा है। शहर से गांव तक बीमारी पहुंच गई है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में शहरों की तरह चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था नहीं हुई है। मुंबई के अस्पतालों में बेड अब खाली होने लगे हैं। अब हमें ग्रामीण इलाकों की चिकित्सा पर ध्यान देना चाहिए।

'टेस्ट के लिए आगे नहीं आ रहे लोग'
डॉ. हेमल शाह के अनुसार, कोरोना के डर से लोग टेस्ट करवाने के लिए आगे नहीं आते हैं। देरी से उपचार मिलने से उनकी मौत हो जाती है। वहीं, कुछ लोग अब कोरोना टेस्ट से बचने के लिए एचआरसीटी ऑफ टेस्ट करवा के दवा ले रहे हैं। इसका खमियाजा भुगतना पड़ रहा है। तबीयत अधिक बिगड़ने पर लोग अस्पताल पहुंचते हैं, तब उन्हें बचाना बहुत मुश्किल होता है।



सोना 240 रुपये महंगा, चांदी 1324 रुपये बढ़ी, जानिए नया रेट

 

नई दिल्ली
सोने और चांदी की कीमतों में आज तेजी का रुख देखने को मिल रहा है। 5 अक्टूबर की डिलीवरी वाला गोल्ड MCX पर सुबह 11 बजे सोना 240 रुपये यानी 0.47 फीसदी की तेजी के साथ प्रति 10 ग्राम 51688 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। पिछले सत्र में यह 51448 रुपये के भाव पर बंद हुआ था और आज तेजी के साथ 51540 रुपये पर खुला।

सुबह कारोबार के दौरान इसने 51540 रुपये का न्यूनतम स्तर और 51744 रुपये का अधिकतम स्तर छुआ। इसी तरह दिसंबर की डिलीवरी वाला गोल्ड 179 रुपये की तेजी के साथ 51946 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। इसका कल का बंद भाव 51767 रुपये था और आज सुबह यह 51844 रुपये के भाव पर खुला।

चांदी में भारी तेजी
सितंबर डिलीवरी वाली चांदी सुबह 11 बजे 1324 रुपये यानी 2.01 फीसदी की तेजी के साथ प्रति किलो 67300 रुपये पर ट्रेड कर रही थी। इसका कल का बंद भाव 65976 रुपये था और यह सुबह तेजी के साथ 67485 रुपये के भाव पर खुली। इसी तरह दिसंबर डिलीवरी की चांदी 1188 रुपये यानी 1.73 फीसदी की तेजी के साथ 70025 रुपये के भाव पर पहुंच गई। इसका कल का बंद भाव 68837 रुपये था और यह सुबह 70003 रुपये के भाव पर खुली।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की छठी किस्त
सरकारी स्वर्ण बॉन्ड योजना  की छठी और इस साल की आखिरी किस्त के बॉन्ड की खरीद आज से खुल रही है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि इस बार स्वर्ण बॉन्ड की कीमत 5,117 रुपये प्रति ग्राम रखी गई है। सरकारी स्वर्ण बॉन्ड योजना 2020-21 की छठी श्रृंखला 31 अगस्त को खुलकर 4 सितंबर को बंद होगी। इससे पहले 1 अगस्त से 7 अगस्त को खुली पांचवीं श्रृंखला के स्वर्ण बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,334 रुपये प्रति ग्राम था।