Wednesday, March 31, 2021

भैंरू कुंड में मिले शव की पहचान

 


 भीलवाड़ा हलचल। मेनाल के भैंरू कुंड के पास मिले शव की पहचान कर ली गई। मृतक बेगूं के कंथारिया का निवासी बताया गया है और उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं बताई गई है। परिजनों ने किसी तरह के शक से इनकार किया है। 
बेगूं थाने के महिपाल सिंह ने हलचल को बताया कि बेगूं के मैनाल में स्थित भैंरूकुंड के पास बुधवार को एक अज्ञात युवक का शव मिला, जिसकी सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। पुलिस ने अथक प्रयास कर शव की पहचान कंथारिया,बेगूं निवासी लाभचंद (36) पुत्र रामलाल गाडरी के रूप में कर ली। मृतक के परिजनों ने पुलिस को बताया कि लाभचंद की दीमागी हालत ठीक नहीं है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने लाभचंद की मौत पर किसी तरह की शंका नहीं जताई है। उधर, परिजनों ने पुलिस को यह भी बताया कि  लाभचंद मंगलवार शाम को  घर से जोगणियां माताजी के दर्शन के लिए निकला था। पुलिस मौत के कारणों की जांच कर रही है। 

आबकारी विभाग के बकाया राजस्व प्रकरणों के लिए एमनेस्टी योजना 30 जून तक चलेगी, मूलधन एवं ब्याज पर मिलेगी छूट


उदयपुर (हलचल)। आबकारी विभाग के राजस्व बकाया के पुराने प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करने के लिए सरकार ने आबकारी एमनेस्टी योजना वर्ष 2021 की घोषणा की है। इसके तहत पुराने प्रकरणों में मूलधन एवं ब्याज में आकर्षक छूट दी जाएगी।
आबकारी आयुक्त डॉ जोगाराम ने बताया कि 31 मार्च 2020 से पूर्व के आबकारी राजस्व बकाया प्रकरणों पर योजना लागू होगी। उक्त दिनांक तक की अवधि के मांग सृजन के प्रकरण भी इसमें सम्मिलित होंगे चाहे उनके आदेश 1 अप्रेल 2020 या उसके पश्चात जारी किए गए हों। उन्होने बताया कि आबकारी ठेकों के बैक-आउट निविदादाताओं एवं अन्य बकाय राजस्व प्रकरणों के बाकीदारों से बकाया राशि वसूली के प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करने के उद्देश्य से सरकार ने यह योजना लागू की है। 31 मार्च 2009 तक के प्रकरणों में मूल बकाया राशि का 5 प्रतिशत जमा करवाने पर शेष 95 प्रतिशत व सम्पूर्ण ब्याज माफ कर दिया जाएगा। 01 अप्रेल 2009 से 31 मार्च 2014 तक के प्रकरणों में मूल बकाया राशि का 75 प्रतिशत जमा करवाने पर शेष 25 प्रतिशत मूल राशि व सम्पूर्ण ब्याज राशि माफ कर दी जाएगी। 01 अप्रेल 2014 से 31 मार्च 2020 तक के बकाया प्रकरणों में सम्पूर्ण मूल राशि जमा करवाने पर ब्याज की सम्पूर्ण राशि माफी योग्य होगी।
31 मार्च 1989 तक के बैक-आउट के अलावा प्रकरणों में मूल राशि का 10 प्रतिशत जमा करवाने पर शेष पूर्ण राशि एवं सम्पूर्ण ब्याज माफ कर दिया जाएगा। 01 अप्रैल 1989 से 31 मार्च 2009 तक के बैक-आउट के अलावा प्रकरणों में 50 प्रतिशत मूल राशि जमा करवाने पर शेष राशि व सम्पूर्ण ब्याज माफी योग्य होगा। 01 अप्रैल 2009 से 31 मार्च 2014 तक के बैक-आउट से अलावा प्रकरणों में 80 प्रतिशत मूल राशि जमा करवाने पर शेष मूल राशि व सम्पूर्ण ब्याज माफ होगा। 01 अप्रैल 2014 से 31 मार्च 2020 तक के बैक-आउट के अलावा बकाया प्रकरणों की पूरी राशि जमा करवाने पर सम्पूर्ण ब्याज की छूट मिलेगी। जिन प्रकरणों में मूल राशि पूर्व में जमा करवा दी गई है और सिर्फ ब्याज बाकी है उन प्रकरणों में आवेदन करने पर सम्पूर्ण ब्याज में छूट मिलेगी। 31 मई 2021 तक योजना के तहत आवेदन किया जा सकता है।
इन प्रकरणों पर लागू नहीं होगी योजना
आबकारी आयुक्त ने बताया कि जो आबकारी राजस्व बकाया प्रकरण राजस्थान आबकारी अधिनियम 1950 एवं एनडीपीएस एक्ट 1985 के तहत आपराधिक प्रवृत्ति से संबंधित होगा उस प्रकरण में इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा। जिन प्रकरणों में पूर्व में सम्पूर्ण राशि जमा करवाई जा चुकी है उन पर विचार नहीं किया जाएगा। पूर्व में आंशिक राशि जमा करवाई जा चुकी है तो शेष राशि पर ही योजना का लाभ मिल सकेगा। यदि प्रकरण न्यायिक अथवा अर्द्ध न्यायिक प्रक्रिया में लम्बित है तो इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए न्यायालय में वाद वापस लेने का प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करना होगा। योजना में निर्णित प्रकरण किसी भी न्यायालय में चुनौती योग्य नहीं होगें। इस बाबत बाकीदार की ओर से 500 रूपए के स्टाम्प पेपर पर वचन पत्र देना होगा।

बालिकाओं को दिया कंप्यूटर कॅरियर परामर्श

 


हमीरगढ़ (हलचल)। राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में बालिकाओं के सशक्तिकरण हेतु कंप्यूटर कॅरियर परामर्श सत्र का आयोजन किया गया। प्रधानाचार्या सीमा लौहार ने बताया कि व्यवसायिक शिक्षा के अंतर्गत अध्ययनरत किशोरी बालिकाओं हेतु भविष्य में उपलब्ध कंप्यूटर की जानकारी प्रदान करने के लिए कंप्यूटर बेसिक व  इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी गेस्ट लेक्चर का आयोजन किया गया जिसमें करीब 46 छात्राओं ने भाग लिया।
कार्यक्रम का आयोजन मंजिल प्रोजेक्ट के अंतर्गत किया गया। बालिकाओं को कंप्यूटर के बेसिक व सूचना प्रौद्योगिकी के बारे में  बताया गया। इस दौरान स्माइल फाउंडेशन मंजिल प्रोजेक्ट क्षेत्रीय प्रभारी नरेंद्र गर्ग, सुल्ताना नाज व अन्य विद्यालय सहयोगी मौजूद थे।

पटवारियों की हड़ताल के कारण किसान स्वघोषणा के आधार पर करा सकेंगे पंजीयन एवं उपज बेचान

 


जयपुर। सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने बुधवार को कहा कि समर्थन मूल्य पर 1 अप्रैल से होने वाली सरसों एवं चना की खरीद के लिए किसानों को बड़ी राहत दी गई है। पटवारियों की हड़ताल के कारण प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में किसानों को गिरदावरी नहीं मिल पा रही है। किसानों के हित में बड़ा फैसला लेते हुए जिन क्षेत्रों में पटवारियों द्वारा गिरदावरी जारी नहीं की जा रही है, ऐसे किसान अब स्वयं के घोषणा पत्र के आधार पर उपज बेचान के लिए ऑनलाइन पंजीयन करा सकेंगे। उन्होंने बताया कि इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं।
आंजना ने बताया कि यदि किसी किसान द्वारा फर्जी घोषणा पत्र के आधार पर पंजीयन कराया जाएगा तो उसके खिलाफ  सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि पटवारियों की हड़ताल समाप्त होने पर या राजफैड़/क्रय केन्द्र द्वारा मांगे जाने पर मूल गिरदावरी किसान को प्रस्तुत करनी होगी। उन्होंने बताया कि यह अस्थाई व्यवस्था पटवारियों की हड़ताल की अवधि तक ही मान्य होगी। पटवारियों की हड़ताल समाप्त होने अथवा राज्य सरकार के द्वारा अन्य कोई व्यवस्था लागू करने की स्थिति में स्वघोषणा/शपथ पत्र व्यवस्था निष्प्रभावी होगी।
सहकारिता मंत्री ने बताया कि  राज्य में सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए 25 मार्च से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू किया गया है। 1 अप्रैल से सरसों के 651 तथा चने के 651 केन्द्रों पर खरीद प्रारंभ की जाएगी। किसानों से समर्थन मूल्य पर चना की 6 लाख 14 हजार 900 मीट्रिक टन तथा सरसों की 12 लाख 22 हजार 775 मीट्रिक टन की खरीद की जाएगी। किसानों की सुविधा के लिए सरसों एवं चने क्रय-विक्रय सहकारी समितियों पर 264-264 केन्द्र तथा ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर 387-387 खरीद केन्द्र खोले गए हैं। प्रति किसान से अधिकतम 25 क्विंटल की खरीद की जाएगी।
सहकारिता मंत्री ने बताया कि एक मोबाइल नंबर पर एक ही किसान का पंजीयन किया जाएगा तथा पंजीयन सुबह 9 से शाम 7 बजे तक होगा। उन्होंने बताया कि किसान की कृषि भूमि जिस तहसील में होगी उसी तहसील के कार्यक्षेत्र में आने वाले खरीद केन्द्र का चयन रजिस्ट्रेशन के दौरान कर सकेगा। उन्होंने बताया कि किसान को उसकी पंजीकरण दिनांक के आधार पर सॉफ्टवेयर द्वारा वरीयता के अनुसार तुलाई हेतु दिनांक एवं जिन्स की मात्रा का आवंटन किया जायेगा तथा इसकी सूचना किसान के पंजीकृत मोबाइल पर एसएमएस द्वारा दी जाएगी।
 

ओपीडी कल से एक पारी में: सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक खुलेगा शफाखाना


चित्तौडग़ढ़ (हलचल)। जिले के सभी सरकारी अस्पताल गुरुवार से सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक खुलेंगे। ओपीडी एक ही पारी में संचालित होगी। राजकीय अवकाश के दिन सुबह 9 से 11 बजे तक ओपीडी चलेगी। यह जानकारी प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश वैष्णव ने दी।

कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले प्रतिष्ठान व मैरिज गार्डन सीज होंगे: सीएम


जयपुर/भीलवाड़ा (हलचल)। बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जयपुर में हुई कोरोना कोर ग्रुप की बैठक में सीएम अशोक गहलोत ने सख्ती दिखाई है। अब प्रदेश सहित भीलवाड़ा में इनकी पालना की जाएगी।
कलक्टर कर सकेंगे शिक्षण संस्थान बंद करने का निर्णय
जिन क्षेत्रों में कोरोना के केस अधिक आते हैं, वहां जिला कलक्टर राज्य सरकार से परामर्श कर शैक्षणिक संस्थान बंद कराने के संबंध में निर्णय ले सकेंगे। 
जिला प्रशासन, पुलिस और स्थानीय निकाय की टीम करेगी बाजारों में चैकिंग
जिन व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन होगा तो ऐसा करने वालों सहित संबंधित प्रतिष्ठान संचालक को भी जिम्मेदार माना जाएगा और प्रतिष्ठानों को सीज भी किया जा सकता है। जिला प्रशासन, पुलिस एवं स्थानीय निकाय की संयुक्त टीम बाजारों का दौरा कर प्रतिष्ठानों में कोरोना गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करेगी। टीमें 14 अप्रैल तक निरीक्षण करेंगी और उल्लंघन पाए जाने पर जुर्माना और सीज की कार्यवाही भी कर सकेंगी। विवाह स्थलों पर निर्धारित सीमा से अधिक लोग समारोह में एकत्रित होते हैं तो उन विवाह स्थलों को सीज किया जाएगा।
चित्तौड़ और आबूरोड़ में भी नाइट कफ्र्यू
अजमेर, भीलवाड़ा, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा एवं कुशलगढ़ में नाइट कफ्र्यू रात 11 के बजाय 10 बजे से लागू किया गया है। इसके अलावा चित्तौडग़ढ़ और आबूरोड़ में भी नाइट कफ्र्यू लगाया गया है। सभी नगरीय क्षेत्रों में अब रात 9 बजे ही बंद हो जाएंगे।
अत्यावश्यक होने पर ही करें दूसरे राज्यों की यात्रा
सीएम ने कहा कि कोराना से जीती हुई जंग कहीं हम हार न जाएं, इसके लिए जरूरी है कि लोग अत्यावश्यक होने पर ही दूसरे राज्यों की यात्रा करें। उन्होंने कहा कि इन कड़े कदमों से लोगों को कुछ तकलीफ  हो सकती है लेकिन जीवन रक्षा के लिए ऐसे निर्णय लिया जाना जरूरी है। 
पटवारियों से की काम पर लौटने की अपील
सीएम ने पटवारियों से अपील की है कि वे कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए काम पर लौटें। उन्होंने कहा कि सभी पटवारियों ने पूर्व में भी कोरोना रोकथाम के लिए फ्रंटलाइन वर्कर्स के रूप में अहम भूमिका निभाई थी। सरकार उनकी वाजिब मांगों पर समुचित निर्णय लेने का प्रयास करेगी।

सोने के दाम में गिरावट, चांदी भी टूटी, जानें क्या रह गए हैं रेट


  सोने एवं चांदी की कीमत में बुधवार को गिरावट दर्ज की गई। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के मुताबिक दिल्ली में सोने के भाव में 49 रुपये प्रति 10 ग्राम की कमी देखने को मिली। इससे राष्ट्रीय राजधानी में सोने का दाम 43,925 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रह गया। इससे पिछले सत्र में सोने का दाम 43,974 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा था। इसी तरह चांदी की चमक में भी कमी देखने को मिली। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के मुताबिक दिल्ली में चांदी की कीमत में प्रति किलोग्राम 331 रुपये की टूट देखने को मिली। इससे दिल्ली में चांदी की कीमत 62,441 रुपये प्रति किलोग्राम पर रह गई। इससे पिछले सत्र में चांदी की कीमत 62,772 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी।  

एचडीएफसी सिक्योरिटीज में सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटीज) तपन पटेल ने कहा, ''कॉमेक्स (न्यूयॉर्क स्थित कमोडिटी एक्सचेंज) पर रात के सत्र में बिकवाली से दिल्ली में 24 कैरेट सोने के दाम में 49 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट देखने को मिली। रुपये के कमजोर होने से सोने के दाम में गिरावट को रोकने में मदद मिली।''

मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये का मूल्य 20 पैसे फिसलकर 73.58 के स्तर पर रह गया।  

वैश्विक बाजार में सोने-चांदी का दाम

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने का दाम गिरावट के साथ 1,684 डॉलर प्रति औंस पर चल रहा था। इसी तरह चांदी की कीमत 24.09 डॉलर प्रति औंस पर सपाट रही।

पटेल ने कहा, ''अमेरिका में इकोनॉमिक रिकवरी की उम्मीद को लेकर डॉलर के मजबूत होने से सोने के दाम में गिरावट देखने को मिली।''

सोने की वायदा कीमत

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर शाम 04:52 बजे जून, 2021 में डिलिवरी वाले सोने का दाम 124 रुपये यानी 0.28 फीसद की गिरावट के साथ 44,299 रुपये प्रति 10 ग्राम पर ट्रेंड कर रहा था। इसी तरह अगस्त में डिलिवरी वाले सोने का रेट 24 रुपये यानी 0.05 फीसद की टूट के साथ 44,631 रुपये प्रति 10 ग्राम पर चल रहा था।

वायदा बाजार में चांदी की कीमत

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर शाम 04:54 बजे मई 2021 में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 174 रुपये यानी 0.28 फीसद की गिरावट के साथ 62,950 रुपये प्रति किलोग्राम पर ट्रेंड कर रही थी। इसी तरह जुलाई, 2021 कॉन्ट्रैक्ट वाली चांदी की कीमत 183 रुपये यानी 0.29 फीसद की टूट के साथ 63,829 रुपये प्रति किलोग्राम पर चल रही थी। 

 

काणोली खेड़ा के खेत में भीषण आग, चार बीघा गेहूं की फसल जलकर राख

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। उप नगर पुर थाने के काणोलीखेड़ा गांव के नजदीक  एक खेत में लगी डीपी में शॉर्ट सर्किट के बाद कटी हुई गेहूं की फसल में आग लग गई। इससे करीब चार बीघा की फसल जलकर राख हो गई। आग पर दमकल व ग्रामीणों की मदद से काबू पाया जा सका। खेत मालिक ने इस घटना में करीब एक लाख रुपये का नुकसान होने की बात कही है। 
काणोलीखेड़ा गांव के गोपाल पुत्र मोहन जाट ने हलचल को बताया कि गांव के पास उनका चार बीघा का खेत है। जिसमें गेहूं की फसल काट कर रखी थी। दोपहर में परिवार के सदस्य फसल काटकर घर लौट आये। इसके बाद खेत में लगी डीपी में शॉर्ट सर्किट होने के बाद अचानक आग लग गई। तेज हवा के कारण आग पूरे खेत में फैल गई। आग की सूचना पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे, जिनकी मदद से फसल का मामूली हिस्सा बचा लिया गया, जबकि शेष फसल जल गई। मुख्यालय से पहुंची दमकल ने दो राउंड कर आग पर काबू पा लिया। गोपाल ने बताया कि इस घटना में करीब एक लाख रुपये का उसे नुकसान हुआ है। साथ ही गोपाल ने यह भी बताया कि उसके खेत पर लगी डीपी से ऑयल चोरी हो गया था। डीपी बदलने के लिए बिजली निगम को रिपोर्ट भी दी, लेकिन तीन माह बाद भी  डीपी नहीं बदली गई। इसी के चलते यह घटना घटी। 

जिला चिकित्सालय में मिलेगी ब्लड कंपोनेंट सुविधा

चित्तौडग़ढ़ (हलचल)। जिला चिकित्सालय में अब थेलीसीमिया, हीमोफीलिया, डेंगू व कोरोना संक्रमितों को ब्लड कंपोनेंट सुविधा मिल सकेगी। इसके लिए राज्य सरकार ने 50 लाख रुपए की मशीन उपलब्ध कराई है। जिला कलक्टर केके शर्मा के प्रयास से आदित्य सीमेंट की ओर से सीएसआर मद से 18.5 लाख रुपए स्वीकृत किए गए थे। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी सामान्य चिकित्सालय ने बताया कि यूनिट शुरू हो गई है। इससे थैलीसीमिया रोगियों को आरबीसी हीमोफीलिया रोगियों को क्रायो प्रेसीपीटेड, डेंगू के रोगियों को प्लेटलेट व कोरोना के रोगियों को प्लाज्मा थेरेपी उपलब्ध हो सकेगी।

 

कोरोना को हल्के में नहीं लें: रिकवर होने के बाद 30 प्रतिशत लोगों के फेफड़े कमजोर हो गए, श्वास नली में भी दिक्कत

 

भीलवाड़ा (हलचल)। कोरोनाकाल का एक साल पूरा हो चुका है। दिसंबर में कोरोना के केस कम होने के बाद लोगों ने लापरवाही बरतनी शुरू कर दी। इससे दम तोड़ते कोरोना को फिर से नया जीवन मिल गया है और वह अब दुगुनी से भी तेज रफ्तार से बढऩे लगा है। डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना को हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि अभी कोरोना की दूसरी लहर चल रही है और यह पहली लहर से कई गुना खतरनाक बताई जा रही है।
कुछ लोगों का यह भी सोचना है कि हमारी इम्युनिटी पावर मजबूत है तो इस बार लोगों को ज्यादा सतर्क होने की जरूरत है क्योंकि दूसरी लहर वाला कोरोना इम्युनिटी पावर से प्रभावित नहीं होता है। खतरा इसलिए भी ज्यादा बढ़ गया है क्योंकि मौसम परिवर्तन के इस दौर में सीजनल बीमारियों के रोगी भी अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। ऐसे में सीजनल बीमारियों व कोरोना के लक्षण काफी मिलते-जुलते होने से लोगों को एक ही इलाज देना पड़ रहा है। अधिकतर लोगों की कोरोना जांच करवाई जा रही है।
दिन ब दिन नए कोरोना संक्रमित मिलने से इनका आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। चिकित्सा विभाग खुद मान रहा है कि इसी तरह से बढ़ता रहा तो स्थिति पिछले साल से भी भयावह हो सकती है। इसके विपरीत लोग मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना बहुत कम कर रहे हैं। होली पर लोगों ने भले ही रंग और पानी से होली नहीं खेली, लेकिन गुलाल का टीका लगाने के बहाने एक-दूसरे के संपर्क में आए। कोरोना संक्रमण तो इससे भी हो सकता है।
रिकवर हुए 23 प्रतिशत मरीजों के फेफड़ों में फाइब्रोसिस की शिकायत, 7 फीसदी की श्वास नली में समस्या
कोटा में मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के डॉक्टरों ने कोरोना से रिकवर हुए मरीजों पर रिसर्च की है, जिसमें सामने आया कि रिकवर हो चुके 30 फीसदी मरीजों के फेफड़े कमजोर हो गए हैं और श्वास नली में अवरोध पैदा हो गए हैं। अब इन मरीजों को दूसरी बीमारियों का खतरा आम लोगों से ज्यादा है। ये वे मरीज हैं, जिन्हें रिकवर हुए 4 से 5 माह हो चुके हैं। कोविड के साइड इफेक्ट लंबे समय तक रह सकते हैं और कई मरीजों में तो जिंदगीभर इस बीमारी के कॉम्पलिकेशन हो सकते हैं। रिसर्च में 23 प्रतिशत मरीजों में लंग्स के एल्व्यूलाई में सिकुडऩ का पता चला है। यह वह जगह है, जो लंग्स में एयर स्पेस होती है। इस जगह पर फाइब्रोसिस बन गए, जिससे इनकी ऑक्सीजन भरने की क्षमता कम हो गई है। दूसरी तरफ  7 प्रतिशत मरीजों की श्वास नली में अवरोध पैदा हो गए हैं, जिससे मरीजों में कार्बन डाइऑक्साइड गैस को बाहर निकालने में समस्या आ रही है। ये मरीज ज्यादा चलने-फिरने पर हांफने लगते हैं, इनकी कार्यक्षमता पर इसका बुरा असर पड़ा। रिसर्च में शामिल 166 मरीजों में 109 पुरुष और 57 महिलाएं थीं और इनकी उम्र 20 से 80 साल थी।

मांडल थाने के कांस्टेबल से मारपीट, कार में तोडफ़ोड़ व मोबाइल लूटने के दो आरोपित गिरफ्तार

 भीलवाड़ा हलचल। भगवानपुरा में एक व्यापारी से लूट के मामले में लुटेरों की तलाश में लगी पुलिस टीम में शामिल कांस्टेबल के साथ मेजा बांध पर मारपीट कर कार में तोडफ़ोड़ करने, जातिगत अपमानित कर मोबाइल लूटने और कांस्टेबल को मेजा बांध की पाल से नीचे फैंकने के मामले में मांडल डीएसपी ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। तीन अन्य की पुलिस को तलाश है। 
डीएसपी (मांडल) सुशील मान ने हलचल को बताया कि भगवानपुरा में पिछले माह एक व्यापारी से लूटपाट के मामले को लेकर मांडल पुलिस की टीमें लुटेरों की तलाश के लिए गठित की गई। ये टीमें लुटेरों की तलाश में इधर-उधर तलाश कर रही थी। एक टीम में शामिल मांडल थाने का कांस्टेबल राजेश सालवी 19 फरवरी की रात पौने बारह बजे एक अन्य के साथ कार से मेजा बांध पर पहुंचा।
कांस्टेबल को वहां पाल पर 5 व्यक्ति एक गाड़ी लेकर खड़े मिले। कांस्टेबल ने अपना परिचय देते हुये वहां खड़े मिले लोगों से नाम-पता पूछा । इसे लेकर उक्त पांच लोगों ने कांस्टेबल को जातिगत गालियां देते हुये मारपीट की ओर मोबाइल छीन कर कांस्टेबल को पाल से नीचे गिरा दिया। साथ ही कांस्टेबल की कार को भी तोड़ दिया और भाग निकले। पुलिस ने कांस्टेबल की रिपोर्ट पर डकैती, राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने, मारपीट और एससीएसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया। इसके बाद पुलिस ने बीटीएस व कॉल डिटेल के आधार पर छानबीन करते हुये मामले में दो आरोपितों सुरास, बीगोद हाल गायत्रीनगर निवासी भगवत सिंह पुत्र लक्ष्मण सिंह राजपूत व जितेंद्र पुत्र मानसिंह गुर्जर निवासी बसंत विहार को गिरफ्तार कर लिया। डीएसपी मान ने बताया कि मामले में तीन और आरोपितों की तलाश की जा रही है। 

चिरंजीवी योजना: गैर लाभार्थी 850 रुपए के प्रीमियम पर करवा सकेंगे 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा

 


चित्तौडग़ढ़ (हलचल)। मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत 1 अप्रैल 2021 से रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे। लाभार्थी स्वयं ऑनलाइन अथवा ई-मित्र केन्द्र से पंजीयन करवा सकेंगे। योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास जनआधार कार्ड/जनआधार कार्ड की पंजीयन रसीद/आधारकार्ड होना आवश्यक है। यदि परिवार का जनआधार नामांकन नहीं हुआ है, तो सबसे पहले ई-मित्र पर जनआधार नामांकन करवाना आवश्यक है जिसका शुल्क नियमानुसार अलग से देय होगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के पात्र परिवार, संविदा कार्मिक, लघु एवं सीमांत कृषक का पूरा बीमा प्रीमियम राज्य सरकार देगी। अन्य परिवार 850 रुपए प्रतिवर्ष के मामूली प्रीमियम पर योजना से जुड़ सकते हैं। लाभार्थी को ई-मित्र पर आवेदन शुल्क के 20 रुपए, प्रीमियम जमा करवाने के 10 व पॉलिसी प्रिंट के 20 रुपए देने होंगे।

सोने से पहले न करें ये गलतियां, चेहरा हो सकता है खराब

चेहरे पर होने वाले दाग-धब्बे, पिंपल्स, ब्लैकहेड्स से हैं बेहद परेशान तो ध्यान दें अपनी कुछ आदतों की ओर। आदतों से मतलब है चेहरे की प्रॉपर साफ-सफाई न करना, रात को मेकअप लगाकर ही सो जाना, ऑयली और जंक फूड का ज्यादा सेवन करना जैसी चीज़ें। तो स्किन को सेहतमंद रखने के लिए तरह-तरह के फेसपैक और घरेलू नुस्खे तो कारगर होते ही हैं लेकिन कुछ और भी चीज़ें जरूरी होती हैं जिसके बारे में आपको पता होना जरूरी है। जिससे आपकी स्किन चमकदार रहने के साथ ही रहेगी हर तरह की परेशानियों से दूर।

बार बार स्किन धोना

अगर आप भी अपनी स्किन को बार-बार धोते हैं, तो आपकी स्किन कुछ ही दिनों में रूखी और बेजान होने लगती है। अगर आप स्किन को बार-बार धोने के लिए फेस वॉश या साबुन का इस्तेमाल करते हैं तो भी आपकी स्किन को नुकसान पहुंच सकता है। इससे नेचुरल चमक खोने लगती है। ऐसे में जरूरत के मुताबिक ही स्किन को धोएं।

होंठों को मॉइश्चराइजर ना करना

कई बार लोग चेहरे की देखभाल के साथ ही होंठों की केयर करना भूल जाते हैं या होंठों को थोड़ा कम तवज्जो देते हैं। इस वजह से होठ ड्राई और बेजान से दिखने लगते हैं। होंठ की स्किन पतली होती है और इसे भी खास देखभाल की जरूरत होती है। ऐसे में रात को अपने होंठो पर मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करना न भूलें।

तकिए का प्रयोग

जी हां, आप सोच रहे होंगे भला तकिए का स्किन से क्या संबंध है। रात को सोते समय चेहरे से निकलने वाला तेल और बाल तकिए पर ही गिरते हैं, जिसकी वजह से तकिए पर बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। अगर आप लगातार कई दिनों तक इसी तकिए का इस्तेमाल करते हैं तो यह आपकी स्किन पर मुंहासे का कारण बन सकता है साथ ही कई और समस्याओं को भी जन्म दे सकता है।

जीप की टक्कर से बाइक सवार गंभीर घायल

शाहपुरा (हलचल)। आमली बंगला चौराहे के पास बुधवार दोपहर एक जीप ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे शाहपुरा के सैटेलाइट चिकित्सालय ले जाया गया जहां से भीलवाड़ा रेफर कर दिया गया है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार घायल का नाम भीलवाड़ा निवासी पवन डाड बताया जा रहा है।

शरद पवार की हुई सफल सर्जरी, गॉल-ब्लेडर में थी पथरी

 

मुंबई । राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार के गॉल-ब्लेडर से पथरी निकालने के लिए बुधवार तड़के सर्जरी की गई, जो कि सफल रही। सर्जरी ब्रीच कैंडी अस्पताल में की गई, जहां उन्हें पेट में दर्द की शिकायत के बाद मंगलवार को भर्ती कराया गया था। सुप्रिया सुले ने अपने पिता की एक फोटो ट्वीट की है, जिसमें वह हॉस्पिटल गाउन में आराम से बैठकर अखबार पढ़ रहे हैं। अपनी खुशनुमा पोस्ट में सुले ने लिखा, "गुड मॉनिर्ंग! ब्रीच कैंडी अस्पताल के सभी डॉक्टरों, नर्सों और पूरी टीम को धन्यवाद! पवार साहब वही कर रहे हैं जो उन्हें सबसे ज्यादा पसंद है यानि कि सुबह अखबार पढ़ना

80 वर्षीय पवार को एंडोस्कोपी और सर्जरी के लिए आज (31 मार्च) को अस्पताल में भर्ती होना था, लेकिन तकलीफ के चलते मंगलवार को ही उन्हें भर्ती करना पड़ा। गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट और एंडोस्कोपी विशेषज्ञ अमित मेदेव के नेतृत्व में डॉक्टरों ने सर्जरी करके पथरी निकाली। इस दौरान पवार की बेटी और बारामती से सांसद सुप्रिया सुले, उनके भतीजे और उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार, परिजन विधायक रोहित पवार समेत कई नेता अस्पताल में मौजूद रहे।

ऑपरेशन के बाद स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, "ऑपरेशन के बाद पवार साहब अच्छे हैं। गॉल-ब्लेडर से पथरी को सफलतापूर्वक निकाल दिया गया है।" वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राकांपा और कांग्रेस के नेताओं, भारत रत्न लता मंगेशकर और अन्य लोगों ने सोमवार को पवार से बात करके उनकी सेहत के बारे में पूछा था। साथ ही उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी।

कौशल माॅडल प्रतियोगिता में राजेन्द्र मार्ग विद्यालय के छात्र अव्वल


भीलवाड़ा । राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय राजेन्द्र मार्ग भीलवाड़ा के व्यावसायिक शिक्षा के छात्र  नारायण सोनी ने जिला स्तरीय माॅडल प्रतियोगिता (रिटेल) तथा छात्र  महेश कुमार माली ने जिला स्तरीय माॅडल प्रतियोगिता (सिक्युरिटी) में प्रथम स्थान प्राप्त किया। 

विद्यालय के प्रधानाचार्य  श्यामलाल खटीक ने बताया कि जिला स्तर पर कौशल प्रादर्श (माॅडल) प्रतियोगिता  24.03.2021 को आॅनलाईन आयोजित हुई थी, जिसमें स्थानीय विद्यालयों के छात्रों ने व्यावसायिक प्रशिक्षक आशीष सोनी (रिटेल) व बंशीलाल मालवीय (सिक्युरिटी) के मार्गदर्शन में वेंडिग मशीन एवं सीजफायर माॅडल का निर्माण   कर यह उपलब्धि प्राप्त की। 

पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा और उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव

 

नई दि‍ल्‍ली । पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने ट्विटर के माध्यम से बताया है कि वो और उनकी पत्नी चेनम्मा Covid ​​-19 के टेस्ट में पॉजिटिव पाई गई है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा “मेरी पत्नी चेन्नम्मा और मैं कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं. हम परिवार के अन्य सदस्यों के साथ खुद को क्वारंटीन कर रहे हैं. मैं उन सभी से अनुरोध करता हूं जो पिछले कुछ दिनों में हमारे साथ संपर्क में आए और खुद का टेसेट करवा लें. फन्होंने कहा कि मैं पार्टी कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों से अनुरोध करता हूं कि वे घबराएं नहीं.

 

सुवाणा व मंगरोप मंडल की बैठक संपन्न


भीलवाड़ा (हलचल)। भारतीय जनता पार्टी मंगरोप व सुवाणा मंडल की संयुक्त बैठक कीर समाज की धर्मशाला हरणी महादेव में हुई। मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री कालू लाल गुर्जर व विधानसभा प्रभारी कल्पेश चौधरी थे।
मंगरोप मंडल अध्यक्ष नाहर सिंह पुरावत व सुवाणा मंडल अध्यक्ष लादूलाल जाट की अध्यक्षता में हुई बैठक में पूर्व मंत्री गुर्जर ने कहा कि भाजपा का स्थापना दिवस बूथ स्तर पर मनाया जाए। सभी बूथों की कार्यकारिणी व शक्ति केंद्र का गठन किया जाए। सभी शक्ति केंद्र प्रभारी अपनी जिम्मेदारी समझकर हर बूथ पर पार्टी के कार्यक्रम सम्पादित करवाए। इस मौके पर सभी मंडल पदाधिकारी, कार्यकारिणी सदस्य, बूथ अध्यक्ष, पंचायत समिति सदस्य व सरपंच उपस्थित थे।

शीतला अष्टमी का अवकाश घोषित न होने से शिक्षकों व छात्रों में भारी रोष

 


भीलवाड़ा !  राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय द्वारा जि‍‍‍‍ला कलेक्टर  से मांग की गई कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी शीतला सप्तमी का अवकाश घोषित किया जावें। इस वर्ष राज्य सरकार द्वारा संस्था प्रधान अधिकृत अवकाश पर कोविड-19 के कारण रोक लगी हुई है। फलस्वरूप मेवाड़ के पारम्परिक त्यौहार को मनाने से हजारों विद्यार्थी व शिक्षक रंगोत्सव से वंचित रह जायेगें व आवागमन के साधन न चलने से शिक्षकों को भी आने जाने में असुविधा रहेगी। अतः शीतला सप्तमी को अवकाश करने की मांग की गई।
          इस संबंध में राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के प्रतिनिधि मण्डल ने जि‍‍‍‍ला कलेक्टर  को ज्ञापन दिया।

कृषि आदान विक्रेता बनेंगे कृषि प्रसार सलाहकर्ता: डॉ. जीनगर

 


भीलवाड़ा (हलचल)। कृषि महाविद्यालय, भीलवाड़ा में आज से शुभारम्भ हुए एक वर्षीय कृषि प्रसार एवं आदान विक्रेता डिप्लोमा के उद्घाटन समारोह में बोलते हुए नोडल ट्रेनिंग संस्थान के प्रभारी एवं अधिष्ठाता डॉ. किशन जीनगर ने प्रशिक्षणार्थियों को कहा कि जिले के कृषि आदान विक्रेता कृषि से संबंधित सलाह व सही आदान कृषकों को उपलब्ध करा कर उनको आर्थिक रूप से मजबूत करना होगा। मैनेज, हैदराबाद एवं राज्य कृषि प्रबंध संस्थान द्वारा प्रायोजित इस एक वर्षीय डिप्लोमा कार्यक्रम में जिले से चयनित विभिन्न तहसीलों के 80 प्राइवेट आदान विक्रेता भाग ले रहे हैं। डॉ. रामअवतार ने बताया कि वर्षभर इन प्रशिक्षणार्थियों को कृषि, उद्यान एवं पशुपालन में दक्ष किया जाएगा, जिसमें सरकार की किसानों सेे संबंधित योजनाएं, कीटनाशी एक्ट, उर्वरक एक्ट, कृषि एव उद्यानिकी फसलों के लिए जलवायु, फसलों की उन्नत शस्य तकनीक, बीज उत्पादन कार्यक्रम, समन्वित कीट प्रबंध प्रणाली, खरपतवार प्रबंन्धन, मिट्टी की जांच, समस्याग्रस्त भूमि का उपचार, पौध व्याधि प्रबंधन आदि में दक्ष किया जाएगा। डिप्लोमा कार्यक्रम के फेसीलीटेटर डॉ. शिवदयाल धाकड़ एवं पुषालाल शर्मा ने प्रशिक्षणार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसानों को अपनी उपज के बदले लागत कम करने में अहम भूमिका आदान विक्रेताओं की होगी। अत: नकली खाद बीज एवं दवाईयों का प्रचलन अगर है, तो बन्द करना होगा साथ ही डिप्लोमा कार्यक्रम में उपस्थिति, प्रायोगिक ज्ञान एवं क्षेत्र भ्रमण करना आवश्यक होगा।
कृषि विज्ञान केन्द्र के मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सीएम यादव ने बताया कि प्रशिक्षण के बाद किसानों की सेवा करते हुए उनके आर्थिक स्तर को उठाकर आप अपने क्षैत्र में अपनी विशेष पहचान बनाने मे कामयाब होंगे। कृषि वैज्ञानिक डॉ. केसी नागर ने बताया कि आधुनिक कृषि से आपको इस डिप्लोमा कार्यक्रम में पारंगत कर भारत के प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप किसानों की आय दुगुनी करने एवं उच्च तकनीकी को अपनाकर अपने-अपने क्षेत्र मे प्रसार सलाह कृषकों की सेवा करने का अवसर मिलें।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उपनिदेशक कृषि प्रतिनिधि गोपाल शर्मा ने प्रशिक्षण उद्घाटन सत्र में चर्चा करते हुए आदान विक्रेताओं से आह्वान किया कि आपको कृषि प्रसार की प्रथम कड़ी के रूप में जिम्मेदारी दी जा रही है। आदान विक्रेता सीधे कृषकों से जुड़े होने के कारण किसानों को सरकारी अनुदान की सम्पूर्ण जानकारी दे सकते हैं। विभाग आपकी दुकान पर एक प्रसार आउटलेट खोलकर उसमें विभिन्न प्रकार के कृषि साहित्य अनुदान फार्म एवं अन्य जानकारियॉ उपलब्ध कराएगा जिन्हे कृषकों तक पहुंचाना आदान विक्रेता का कर्तव्य होगा। इससे किसान आपसे सीधा जुड़कर आर्थिक रूप से सक्षम हो सकेगा।
कार्यक्रम में कृषि वैज्ञानिक डॉ. एलएल पंवार, डॉ. रामअवतार एवं डॉ. सुचित्रा दाधीच उपस्थित रहे।

अखंड ज्योत यात्रा का किया स्वागत

 


भीलवाड़ा (हलचल)। श्रीश्याम युवा मित्र मंडल समिति के अध्यक्ष विवेक बेरीवाला ने बताया कि फागुन शुक्ल द्वादशी को बाबा श्याम की अखण्ड ज्योत खाटूधाम से लेकर 10 श्याम प्रेमी यात्रा पर निकले हैं। 
श्रीश्याम आराधना अखंड ज्योति यात्रा का नेतृत्व जयपुर से गिरिराज शरण कर रहे हैं जो इस यात्रा को पूरे भारत में ले जाकर बाबा श्याम के नाम की हर गांव-गांव घर-घर में अलख जगाएंगे। यात्रा के दौरान मंगलवार शाम यात्रा भीलवाड़ा पहुंची जिसका आरजिया चौराहे पर श्री श्याम युवा मित्र मंडल समिति भीलवाड़ा के सदस्यों ने स्वागत किया। शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए यह यात्रा सी सेक्टर, शास्त्री नगर स्थित श्याम मंदिर पहुंची जहां भजन संध्या का आयोजन किया गया।

प्रत्याशियों के नामांकन पत्रों की जांच, पीतलिया सहित 6 फार्म खारिज

 


भीलवाड़ा । सहाड़ा विधानसभा सीट के लिए भाजपा, कांग्रेस, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी सहित 21 प्रत्याशियों ने 25 नामांकन पत्र दाखिल किए। रिटर्निंग अधिकारी (उपखंड अधिकारी) गंगापुर विकास पंचौली ने चुनाव पर्यवेक्षक अमित कुमार घोष की उपस्थिति में बुधवार सुबह सभी फार्मों की जांच की। जांच में छह प्रत्याशियों के छह नामांकन पत्र विभिन्न कारणों से खारिज कर दिए गए। 16 प्रत्याशियों के फार्म सही पाए गए हैं। भाजपा से बगावत करने वाले लादूलाल पीतलिया का भाजपा प्रत्याशी के तौर पर भरा गया नामांकन पत्र निरस्त हो गया। इस फार्म के साथ पार्टी का सिंबल नहीं था। पार्टी ने अपना अधिकृत उम्‍मीदवार पूर्व मंत्री डॉ.रतनलाल जाट को बनाया था। पार्टी सिंबल भी उन्हीं के नाम पर जारी हुआ। हालांकि पीतलिया का निर्दलीय के तौर पर भरा गया फार्म सही पाया गया। पीतलिया के अलावा अन्य 5 उम्‍मीदवारों के नामांकन पत्र भी खारिज हुए। विधानसभा चुनाव लडऩे के लिए अभ्‍यर्थी की न्यूनतम उम्र 25 वर्ष होनी चाहिए। निर्दलीय रूपचंद गाडरी व नारायण लाल जाट की उम्र कम थी। निर्दलीय अरुण कुमार शर्मा ने नामांकन पत्र के साथ वोटर लिस्ट नहीं लगाई।
भगवतीलाल कुमावत के नामांकन पत्र में दस प्रस्तावकों के हस्ताक्षर होने चाहिए, जबकि नौ ही थे। इंडियन नेशनल पार्टी के शिवप्रसाद पुत्र पुरुषोत्‍‍तम लाल ने फार्म में न तो प्रस्तावकों के नाम भरेे और न ही अमानत राशि जमा की रसीद लगाई। इस कारण इन सभी के नामांकन रद्द हो गए। वहीं भाजपा प्रत्याशी डॉ.रतनलाल जाट तथा कांग्रेस प्रत्याशी गायत्रीदेवी त्रिवेदी द्वारा अपनी-अपनी पार्टी से भरे एक से अधिक फार्मों को एक मान लिया गया। जांच के दौरान भाजपा के नगर महामंत्री संतोष पारीक, कांग्रेस के ब्‍लॉक अध्यक्ष शंकरलाल जाट, निर्दलीय प्रत्याशी भगवती लाल कुमावत भी उपस्थित थे।
इन 16 प्रत्याशियों के नामांकन सही पाए 
डॉ.रतनलाल जाट भाजपा, गायत्री देवी त्रिवेदी कांग्रेस, बद्रीलाल जाट राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, मिठू सिंह ऑल इंडिया हिंदुस्तान कांग्रेस पार्टी, दिनेश कुमार शर्मा, रामेश्वरलाल बैरवा, मांगीलाल पालीवाल, मुबारिक हुसैन, ईश्वर चौधरी, लादूलाल पीतलिया, ई.रामकुमार चावला, हीरालाल बैरवा, मोतीराम रैगर, रतनलाल खारोल, विमला देवी शर्मा, विकास पारीक सभी निर्दलीय।
रिटर्निंग अधिकारी विकास पंचोली ने बताया कि 3 अप्रैल तक उम्‍मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे। इसके
बाद चुनाव में शेष रहे अभ्‍यथिर्‍यों की सूची जारी कर चुनाव चिह्न आवंटित किए जाएंगे। 17 अप्रैल को प्रात: 7 बजे से सायं 6 बजे तक मतदान होगा। मतगणना 2 मई को तिलक नगर स्थित राजकीय पॉलोटेिनक कॉलेज में करवाई जाएगी।

आईकार्ड दिलाने की मांग को लेकर प्राचार्य को सौंपा ज्ञापन

 



भीलवाड़ा (हलचल)। माणिक्य लाल वर्मा राजकीय महाविद्यालय में छात्रनेता तिलकराज खटीक के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने आईकार्ड दिलाने की मांग को लेकर प्राचार्य को ज्ञापन सौंपा।
पूर्वी ब्लॉक सचिव विजेश खोईवाल ने बताया कि नियमित छात्र-छात्राओं को आईकार्ड के अभाव में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पार्किंग वाला बिना आईकार्ड के वाहन पार्क करने की एवज में पैसा लेता है। आईकार्ड होने से उन्हें इसमें छूट मिलेगी।
ज्ञापन देते समय सुनील खटीक, शुभम मल्होत्रा, विक्की सोलंकी, गौतम खोईवाल, छगन माली, हरीश सालवीं, अनिल रेगर, विशाल खोईवाल, गुंजन चौहान, संजू सेन, अंजली पारीक, टीना ओझा, सायमा खान आदि मौजूद थे।

पांच लाख तक का इलाज अब होगा किसी भी अस्पताल में मुफ्त, रजिट्रेशन कल से


जयपुर : राजस्थान के लोगों को बीमारियों पर होने वाले भारी-भरकम खर्च से मुक्ति दिलाने के लिए अशाेक गहलोत सरकार 1 मई से चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करेगी । इसके तहत प्रत्येक परिवार को सरकारी और सम्बद्ध निजी अस्पतालों में भर्ती होने वाले रोगियों को प्रतिवर्ष 5 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा मिलेगी । इसके लिए 1 अप्रैल से ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर लगाए जाएंगे, जिनमें कोई भी व्यक्ति रजिस्ट्रेशन करा कर इस योजना का लाभ उठा सकेगा। 

इस योजना का मिल सकेगा नि:शुल्क लाभ 

सामाजिक-आर्थिक जनगणना के पात्र परिवारों और राष्ट्रीय खाघ सुरक्षा अधिनियम का लाभ उठा रहे लोगों को रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं होगी। इसके साथ ही सरकारी विभागों में कार्यरत संविदाकर्मियों, कघु व सीमांत किसानों को भी इस योजना का नि:शुल्क लाभ मिल सकेगा ।

चिकित्सा एवं वित्त विभाग के अधिकारी जुटे

 

इसके अलावा अन्य परिवारों को बीमा प्रीमियम की 50 फीसदी राशि जमा कराने पर 5 लाख तक की चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल सकेगा। उन्हे स्वत:ही इस योजना में शामिल कर लिया जाएगा। योजना लागू करने को लेकर चिकित्सा एवं वित्त विभाग के अधिकारी तैयारियों में जुटे हैं। इस पर होने वाले खर्च  एवं योजना में सम्बद्ध होने वाले अस्पतालों को लेकर मुख्य सचिव निरंजन आर्य लगातार निगरानी कर रहे हैं।

इलाज  पर होने वाले खर्च से बचा जा सकेगा

 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि इस योजना से इलाज पर होने वाले बड़े खर्च से बचा जा सकेगा। सरकारी अस्पतालों के साथ ही निजी अस्पतालों में भी इस योजना का लाभ मिल सकेगा,कोई भी व्यक्ति जहां चाहे वहां अपना इलाज करा सकेगा।

पात्र परिवार को ध्यान से काम करना होगा

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोई भी पात्र परिवार इस योजना से वंचित नहीं रह जाए, इस बात को ध्यान में रखकर काम करना होगा। उल्लेखनीय है कि गहलोत ने अपने पहले कार्यकाल में नि:शुल्क दवा योजना और दूसरे कार्यकाल में सरकारी अस्पतालों में फ्री:जांच की सुविधा आम लोगों को दी थी।

कोरोना पर सख्ती: राजस्थान में अब रात 10 बजे से नाइट कफ्र्यू, रात 9 बजे होंगे बाजार बंद, आठवीं तक स्कूल बंद करने की तैयारी

 

जयपुर। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने और सख्ती शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को कोरोना कोर ग्रुप की बैठक में नई गाइडलाइन को मंजूरी दी गई। गृह विभाग अब नई गाइडलाइन जारी करेगा। राजधानी जयपुर सहित कोरोना प्रभावित आठ शहरों में 11 की जगह अब रात 10 बजे से नाइट कफ्र्यू लगाने का फैसला किया गया है। प्रदेश में सभी शहरों में रात 9 बजे से ही बाजार बंद होंगे। पहले यह समय 10 बजे का था।
बैठक में आठवीं तक के स्कूलों को बंद करने पर भी विचार किया गया है। कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल को लेकर भी सख्ती बढ़ाने का फैसला किया है। गृह विभाग की गाइडलाइन में कोचिंग बंद करने या विद्यार्थी संख्या को लेकर सख्त पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। स्वीमिंग पूल को लेकर भी नई पाबंदियां लगना तय हैं।
इससे पहले 21 मार्च को गृह विभाग ने कोरोना गाइडलाइन जारी कर पांबदियां लगाई थीं, जिनमें आठ शहरों में रात 11 बजे से नाइट कफ्र्यू लगाने का फैसला किया था। 22 मार्च से राजधानी जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा और कुशलगढ़ में नाइट कफ्र्यू है। रात 10 बजे से बाजार बंद करने की पाबंदी भी इसी दिन लगाई थी। अब कोरोना मामले बढऩे के बाद फिर से नई गाइडलाइन जारी हो रही है। 21 मार्च को जब पाबंदियां लगाई थीं, उस दिन 476 कोरोना केस थे, अब केस दोगुने हो चुके हैं और लगातार बढ़ रहे हैं।
बिना मास्क वाले को सामान दिया तो दुकान सीज
बाजारों सहित हर जगह नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए गए हैं। कोई भी दुकानदार अगर बिना मास्क रहता है या बिना मास्क वाले को सामान देगा तो उसके खिलाफ  जुर्माना लगाने के साथ उसकी दुकान सीज की जा सकती है।
जिलेवार एक्शन प्लान बनेगा
मुख्यमंत्री ने बैठक में कोविड कंट्रोल को लेकर जिलेवार एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टरों को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग व माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने पर फोकस करने को कहा है।
किसी भी कीमत पर कोई कम्प्रोमाइज नहीं करेंगे: गहलोत
कोरोना समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा—नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जाए। लोगों का जीवन बचाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। आज की स्थिति में बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए हम किसी भी कीमत पर कोई कम्प्रोमाइज नहीं करेंगे और जरूरी फैसले लिए जाएंगे। टीकाकरण की गति को और बढ़ाया जाएगा।

इशरत जहां एनकाउंटर के 3 अफसर बरी

गुजरात के चर्चित इशरत जहां एनकाउंटर केस में CBI कोर्ट ने क्राइम ब्रांच के दो पूर्व अधिकारियों गिरीश सिंघल, तरुण बारोट और मौजूदा एसआई अंजू चौधरी को बरी कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि इशरत जहां, लश्कर-ए-तैयबा की आंतकी थी, इस खुफिया रिपोर्ट को नकारा नहीं जा सकता। इसलिए तीनों अधिकारियों को निर्दोष मानते हुए बरी किया जाता है।
2004 के बाद गुजरात सरकार ने IPS जीएल सिंघल, रिटायर्ड DSP तरुण बारोट और असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर अंजू चौधरी के खिलाफ इशरत जहां एनकाउंटर मामले में कार्रवाई करने से इंकार कर दिया था। बुधवार को इसी मामले में दायर अर्जी पर सुनवाई हुई। इस मामले में कोर्ट कहा कि इस बात के सबूत हैं कि इशरत जहां आतंकी थी और क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने अपनी ड्यूटी निभाई।

ये है पूरा मामला
15 जून, 2004 को अहमदाबाद में कोतरपुर वाटरवर्क्स के पास पुलिस एनकाउंटर में इशरत जहां, जावेद शेख, अमजद राम और जीशान जौहर मारे गए थे। खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक ये सभी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे और गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या के इरादे से आए थे। इशरत जहां की मां समीमा कौसर और जावेद के पिता गोपीनाथ पिल्लई ने हाईकोर्ट में अर्जी दायर कर मामले की CBI जांच की मांग की थी। इसके बाद हाईकोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए SIT बनाई थी। इस मामले में कई पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया था।

भीलवाड़ा में तीन महीने बाद फिर कोरोना ब्लास्ट, नए 40 संक्रमित मिले


भीलवाड़ा (हलचल)। भीलवाड़ा में बुधवार को कोरोना ब्लास्ट हुआ है। 40 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. घनश्याम चावला ने बताया कि 860 सैंपलिंग में 40 कोरोना संक्रमित मिले हैं। करीब तीन महीने बाद कोरोना का आंकड़ा 40 तक पहुंचा है। इससे पहले भीलवाड़ा में दो जनवरी को 44 कोरोना संक्रमित पाए गए थे। चिकित्सा विभाग का कहना है कि कोरोना यदि इसी प्रकार रफ्तार पकड़ता रहा तो आने वाले समय में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढऩा तय है और स्थिति भयावह होने से इनकार नहीं किया जा सकता।
यह गंभीरता दिखाने का समय
पिछले साल दिसंबर तक कोरोना केस कम होने के बाद से लोग लापरवाही बरतने लगे हैं। मास्क नहीं लगाते, दो गज की दूरी का पालन नहीं करते और सफाई पर भी ध्यान नहीं दे रहे। ऐसे में कोरोना का संक्रमण रोकने के कोई भी प्रयास करना बेमानी है। पिछले साल लॉकडाउन के दौरान सभी ने भीलवाड़ा को रोल मॉडल बनाने में योगदान दिया, उसकी दुनिया में तारीफ हुई और अब जब कहा जा रहा है कि यह कोरोना की दूसरी लहर है और पहली से ज्यादा खतरनाक है फिर भी लापरवाही बरत रहे हैं। बाजार में लोग कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा रहे हैं लेकिन उन्हें रोकने व टोकने वाला कोई नहीं है। पुलिस प्रशासन भी इनके आगे शक्तिहीन हो रहा है। प्रशासन को सख्ती बरतनी होगी नहीं तो लॉकडाउन, कफ्र्यू, फिर महाकफ्र्यू और वे ही हालात... जिन्हें लोग आज भी याद नहीं करना चाहते।

सरकारी कर्मचारियों को मिल सकेगा 30 लाख रुपए तक का दुर्घटना बीमा कवर

 

जयपुर। राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग द्वारा राज्य सरकार के कार्मिकाें को समूह व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना के तहत अब 30 लाख रुपए तक के दुर्घटना बीमा के चयन का विकल्प उपलब्ध कराया गया है ।

राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग के अतिरिक्त निदेशक (साधारण बीमा निधि) सुनील बंसल ने बताया कि राज्य सरकार के कार्मिक 220 रुपए प्रीमियम पर 3 लाख रुपए बीमा एवं 700 रुपए प्रीमियम पर 10 लाख रुपए बीमा तथा 1400 रुपए प्रीमियम पर 20 लाख रुपए बीमा और 2100 रुपए प्रीमियम पर 30 लाख रुपये बीमाधन में से किसी एक विकल्प का चयन कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि कार्मिक द्वारा दिए गए विकल्प के अनुसार आहरण एवं वितरण अधिकारी अप्रेल माह के वेतन से समस्त कार्मिकों की प्रीमियम कटौती करना सुनिश्चित करेंगे।

बंसल ने बताया कि समूह व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना के अन्तर्गत कार्मिकों द्वारा पूर्व में ऑनलाइन प्रस्ताव पत्र (मनोनयन पत्र) पूर्ति किए गए हैं। अब प्रत्येक कार्मिक के लिये ऑनलाइन प्रीमियम विकल्प देना अनिवार्य होगा। उन्होंने बताया कि जिन कार्मिकाें द्वारा पूर्व में ऑनलाइन प्रस्ताव पत्र (मनोनयन पत्र) भरा जा चुका है एवं जिसमें किसी प्रकार के संशोधन की आवश्यकता नहीं है उनसे केवल प्रीमियम विकल्प लिया जाएगा। राजस्थान केडर के अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों सहित राज्य सरकार के समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों के दुर्घटना बीमा के लिए राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग द्वारा प्रतिवर्ष जी. पी. ए. पॉलिसी जारी की जाती है जिसके तहत कार्मिकों के अप्रेल माह के वेतन से प्रीमियम कटौती की जाती है।

आज निकले 40 कोरोना संक्रमित त्यौहार और सभाओ से फुट सकता है कोरोना बम !


भीलवाड़ा (हलचल )होली के बाद कोरोना संक्रमण की संख्या बढ़ने लगी है और अगर लोग ऐसे ही लापरवाह रहे तो आने वाले दिनों में हालात बिगड़ सकते हैं भीलवाड़ा में बुधवार को 40 कोरोना संक्रमित सामने आये है।
होली के बाद लगातार कोरोना संक्रमित की संख्या बढ़ रही है आने वाले दिनों में शीतला सप्तमी रंग पंचमी नाहर नृत्य के साथ ही कई पर्व आ रहे हैं वही सहाड़ा विधानसभा उपचुनाव को लेकर भी सभाएं और रैलियों का आयोजन लगातार हो रहा है ऐसे में कोरोना का बम कभी भी फूट सकता है।

सांसद बहेडिया सहित 30 नेता विधानसभा उपचुनावों के लिए भाजपा स्टार प्रचारक

भीलवाड़ा (,भूपेन्द्र औझा) l भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय नेतृत्व ने राजस्थान विधानसभा के उपचुनावों  के लिए स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी है।उसमे भाजपा आलानेताऔ के साथ भीलवाड़ा भाजपा सांसद सुभाष बहेडिया को उसमे शामिल किया गया है।बहेडिया के अलावा भीलवाड़ा जिले मे अन्य किसी भाजपा नेता को उपचुनाव भाजपा स्टार प्रचारक सूची में नहीं है।
 भाजपा स्टार प्रचारकों की सूची में राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, प्रदेश सह प्रभारी एवं सांसद भारतीबेन,
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव, सांसद ओमप्रकाश माथुर, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर, उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, कैलाश चौधरी, किशन लाल गुर्जर, राष्ट्रीय मंत्री डॉ. अलका गुर्जर, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, विधायक वासुदेव देवनानी, नारायण सिंह देवल, जोगेश्वर गर्ग, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, मदन दिलावर सुशील कटारा, दीया कुमारी, सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा, राजेंद्र गहलोत, कनक मल कटारा, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं सांसद सीपी जोशी,  राहुल कस्वा, पूर्व सांसद नारायण लाल पंचारिया शामिल हैंl यह प्रदेश में मौजूदा तीन विधानसभा सहाड़ा, राजसंमद, सुजानगढ उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में चुनाव सभा एवम प्रचार का कार्य करेंगे।

आठवीं बोर्ड परीक्षा : 6 से 25 मई तक होंगे पेपर

 


बीकानेर। प्रारंभिक शिक्षा एवं पंचायत राज विभाग ने आठवीं बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल जारी कर दिया है। 6 मई से शुरू होकर 25 मई तक होने वाले हर पेपर में दो से चार दिन का गैप दिया गया है। प्रदेश के करीब साढ़े बारह लाख बच्चे आठवीं बोर्ड परीक्षा में बैठेंगे। परीक्षा का समय दोपहर दो बजे से शाम साढ़े चार बजे तय किया गया है। प्रवेश पत्र संबंधित विद्यालय से मिलेंगे। परीक्षा केंद्र पर जाकर छात्र-छात्राओं को परीक्षा देनी होगी।
हिन्दी में अंतराल ज्यादा, सामाजिक विज्ञान में कम
परीक्षा कार्यक्रम में अंतराल हिन्दी में सर्वाधिक चार दिन का है। बच्चों के अनुसार तैयारी के लिए सबसे ज्यादा समय सामाजिक विज्ञान में चाहिए लेकिन इस विषय के लिए केवल दो दिन दिए गए हैं। इसी तरह गणित के लिए तीन दिन का गैप दिया गया है। संस्कृत के लिए दो दिन का ही अंतराल है।
तारीख        विषय
6 मई        अंग्रेजी
11 मई        हिन्दी
15 मई        गणित
19 मई        विज्ञान
22 मई        सामाजिक विज्ञान
25 मई        तृतीय भाषा (संस्कृत/उर्दू/सिंधी/गुजराती/पंजाब)

एम. पी. एस. के शिक्षकों ने महिलाओं के सम्मान हेतु दायर की याचिका, सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकारी

 


भीलवाड़ा(हलचल) | गत 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित विचार गोष्ठी में आज़ाद नगर स्थित माहेश्वरी पब्लिक स्कूल (गर्ल्स) के शिक्षकों द्वारा महिलाओं के सम्मान की रक्षा हेतु सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गयी | विदित है कि भारत सरकार के सांख्यिकी विभाग द्वारा प्रतिवर्ष कई विषयों से संबंधित आंकड़े जारी किए जाते हैं जिसमे मातृत्व दर को दर्शाने के लिए सदैव अंग्रेज़ी के शब्द 'female fertility rate' और 'sterile' जैसे अमान्य शब्दों का प्रयोग किया जाता है जिनका हिंदी अर्थ क्रमशः 'महिला उपजाऊपन दर' एवं 'बाँझ' होता है ।
इस बात पर अमूमन किसी का ध्यान नहीं जाता पर एम्. पी. एस. के शिक्षकों ने इस पर संज्ञान लेकर आपत्ति जताई  । इसके लिए विद्यालय शिक्षकों द्वारा भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की केंद्रीय मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी, माननीय प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र मोदी जी एवं सुप्रीम कोर्ट को शिकायती पत्र लिखे गए जिनमे सभी शिक्षकों द्वारा एक महिला के लिए ऐसे हीन शब्दों के प्रयोग पर रोक लगाने की बात कही गयी । पत्र में लिखा गया कि एक महिला कोई खेत- खलिहान या भूमि नही होती जिसके उपजाऊ होने या न होने का हिसाब रखा जाए । साथ ही मातृत्व सिर्फ महिला से नही जुड़ा होता बल्कि माता- पिता दोनों ही इसके लिए ज़िम्मेदार होते हैं, तो फिर क्यों महिला को ही समाज मे हीनता का सामना करना पड़े । इस विषय मे लिखे गए पत्र में इस बात पर ज़ोर दिया गया कि  प्रत्येक सरकारी डॉक्यूमेंट में से महिलाओं के लिए प्रयुक्त ऐसे हीन शब्दों को हटाया जाए एवं इनके स्थान पर 'मातृ एवं पितृत्व दर', 'motherhood', 'parenthood' आदि शब्दों का इस्तेमाल किया जाए ।
गौरतलब है कि इस पर तुरंत संज्ञान लेते हुए विद्यालय के शिक्षकों को माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा सन्देश के रूप में आश्वासन प्राप्त हुआ है जिसमे बताया गया है कि इस याचिका को सुप्रीम कोर्ट की अधिकृत वेबसाइट पर रजिस्टर कर लिया गया है एवं इस पर कार्यवाही की प्रक्रिया शुरू हो गयी है ।
विद्यालय परिवार इस त्वरित कार्यवाही पर भारत सरकार एवं सुप्रीम कोर्ट का आभारी है । इस याचिका पर उचित कार्यवाही करके इसका निराकरण करना इस देश की प्रत्येक महिला के सम्मान हेतु आवश्यक है ।
इससे पूर्व भी एम. पी. एस.  के शिक्षक एवं विद्यार्थी समय समय पर सामाजिक मुद्दों पर अपनी आआवज़ उठाते रहे हैं । चाहे विधानसभा का स्थगन हो, या लोकल इंफ्रास्ट्रक्चर से संबंधित कोई समस्या हो या भारत की विलुप्त होती कलाओं के पुनरुद्धार की ओर सरकार का ध्यान दिलाना हो, एम. पी. एस. हमेशा ही इसमें जागरूक एवं अग्रणी रहकर पत्राचार करता रहा है जिसपर सरकार द्वारा त्वरित कार्यवाही भी की गई है । विद्यालय का मानना है कि ऐसा करने से आम जन के मन में सरकार एवं सिस्टम के प्रति विश्वसनीयता बनी रहती है |

 

जहरीली शराब से 6 लोगों की मौत

 


दिल्ली ।बिहार में जहरीली शराब से मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। अब एक बड़ी घटना नवादा जिले में हो गई है। दावा किया जा रहा है कि यहां जहरीली शराब ने छह लोगों की जान चली गई है। बीती रात से अभी तक ये घटनाएं गोंदपुर और खरीदी बीघा गांवों में हुईं हैं। कई बीमार लोगों का इलाज अलग-अलग अस्‍पतालों में चल रहा है। परिवार वालों के अनुसार गोंदपुर के रामदेव यादव, अजय यादव, खरीदी बीघा के दिनेश उर्फ शक्ति, शैलेंद्र उर्फ शलो यादव, लोहा सिंह ठठेरा, प्रभाकर गुप्‍ता और सि‍सवा के गोपाल कुमार की मौत जहरीली शराब पीने की वजह से हो गई है।

लुटेरों ने फिर दी दस्तक, बुजुर्ग महिला से पता पूछने के बहाने लूटे गहने, लातों से की मारपीट

 

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। गांवों के सुनसान रास्तों पर बुजुर्ग ग्रामीणों को लूटने वाली गैंग ने बुधवार को एक बार फिर दस्तक देते हुये एक महिला के गहने लूट लिये। ताजा वारदात बड़लियास थाना इलाके में हुई है।, जहां पता पूछने के बहाने इन बदमाशों ने महिला से लूटपाट और मारपीट की। पुलिस अब बदमाशों तक पहुंचने के लिए इलाके में लगे सीसी टीवी फुटेज खंगाल रही है। वहीं दिनदहाड़े इस लूट की वारदात से ग्रामीणों में दहशत है। आये दिन इस तरह की वारदात हो रही है, लेकिन लुटेरे पुलिस के हाथ नहीं लग पा रहे हैं। ऐसे में ग्रामीण इलाकों के बुजुर्ग घरों से निकलने में भी डरने लगे हैं। 
जानकारी के अनुसार, खजीना निवासी गीता (70) पत्नी मांगीलाल सुथार बुधवार सुबह घर से खेत की ओर जा रही थी। खजीना-आकोला मार्ग पर सुनसान जगह पर गीता को बाइक से आये तीन बदमाशों ने रोक लिया। गीता से इन बदमाशों ने किसी का पता पूछते हुये उसे अकेला पाकर रामनामी, मांदलिया और नथ लूट ली। पीडि़ता का कहना है कि बदमाशों ने उसे लातों से मारा। इसके बाद वे, बाइक से फरार हो गये। तीन में से एक लुटेरा सफेद शर्ट पहने था और उसके बाल भी लंबे थे।  उधर, लूट की शिकार महिला ने इस वारदात की जानकारी ग्रामीणों के जरिए पुलिस को दी। पुलिस ने बदमाशों के बारे में जानकारी जुटाते हुये जिले में नाकाबंदी करवाई, लेकिन अभी तक बदमाशों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस क्षेत्र में लगे सीसी टीवी फुटेज खंगाल कर बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। उल्लेखनीय है कि ये बदमाश जिले में आये दिन वारदातों को अंजाम देकर ग्रामीणों में दहशत फैला रहे हैं।  

शाहपुरा रामद्वारा में तीसरे दिन भी निकला वाणी जी का जुलूस

 

शाहपुरा,(मूलचन्द पेसवानी) । रामनिवास धाम में रामस्नेही संप्रदाय के वार्षिक उत्सव फूलडोल महोत्सव के आज तीसरे दिन भी महाप्रभु रामचरण जी महाराज की वाणी जी की शोभायात्रा रामकोटेज से सूरजपोल तक निकाली गई । रामस्नेही अनुरागी राम नाम सुमिरन तथा वाणी जी की पंक्तियों का जयघोष करते हुए पहुंचे। सूरजपोल पर रामस्नेही संप्रदाय के वरिष्ठ संत रामनारायण जी महाराज तथा भंडारी संत शंभू राम जी महाराज ने शोभा यात्रा की अगवानी की बाद में वाणी जी व चढ़ावे को बारादरी में आचार्य श्री राम दयाल जी महाराज को समर्पित किया गया।
बारादरी में रामस्नेही संप्रदाय के पीठाधीश्वर जगतगुरु आचार्य श्री रामदयाल महाराज ने वर्चुअल प्रवचन देते हुए कहा कि महाप्रभु रामचरण महाराज के आदर्श आज भी प्रासंगिक है विश्व की तमाम समस्याओं का समाधान उन आदर्शों पर चलने से ही ही संभव है उन्होंने कहा कि कोरोना काल में राम सनेही अनुरागी घर बैठकर ही राम नाम सुमिरन करें और वही से प्रणाम भी करें।
इससे पहले आज प्रातः रामधुनी आरती वंदना के अलावा संतों के प्रवचन भी वर्चुअल ही हुए संप्रदाय के पीठाधीश्वर जगतगुरु आचार्य श्री रामदयाल जी महाराज ने संतो के साथ महाप्रभु के समाधि स्तंभ जी के यहां पहुंचकर विश्व में कोरोना की मुक्ति के लिए कामना करते हुए दंडवत प्रणाम किया।
फूलडोल महोत्सव के आज तीसरे दिन बारादरी में आचार्य श्री का अगला चतुर्मास कराने के लिए संतो ने अर्जियों का वाचन भी किया।

भारत को जल्द मिल सकती है तीसरी कोरोना वैक्सीन

 


नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के खिलाफ भारत की लड़ाई और मजबूत होने वाली है। देश को जल्द ही तीसरी वैक्सीन मिल सकती है। रूसी वैक्सीन Sputnik V को आपात इस्तेमाल की सिफारिश को लेकर सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) की आज बैठक होने वाली है। अगर एसईसी आपात इस्तेमाल की सिफारिश कर देती है, तो अंतिम मंजूरी के लिए इसे देश के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआइ) वीजी सोमानी के पास भेजा जाएगा। वह इसके इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत देंगे। भारत में इस वैक्सीन का निर्माण डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज कर रही है। उसने थर्ड फेज के ट्रायल के डेटा पहले ही जमा कर दिए हैं। रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी तीसरे चरण के ट्रायल में 91.6 फीसद असरदार साबित हुई।

बता दें कि देश में कोरोना टीकाकरण जारी है। अब तक कोरोना टीके की 6.30 करोड़ डोज दी जा चुकी है। टीकाकरण के लिए दो टीकों इस्तेमाल हो रहा है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित वैक्सीन को भारत में पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोविशील्ड के नाम से तैयार किया है। वहीं दूसरा टीका पूरी तरह से स्वदेशी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन है। देश में 16 जनवरी को टीकाकरण का शुरू हुआ था। पहले स्वास्थ्यकर्मियोंं और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया। इसके बाद 60 साल से ऊपर और गंभीर बीमारी वाले 45 साल से ऊपर के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ। अब एक अप्रैल से 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीका लगने लगेगा।  

देश में सात और कोरोना वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल जारी-  हर्षवर्धन 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को जानकारी दी कि देश में सात और कोरोना वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली हर्ट एवं लंग इंस्टीट्यूट में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली। इसके बाद ही उन्होंने यह बता कही। उन्होंने आगे बता या कि सात में से कुछ टीके ट्रायल एडवांस स्टेज में हैं और दो दर्जन से अधिक वैक्सीन अभी प्री-क्लीनिकल ट्रायल स्टेज में हैं। 


भैंरूकुंड के पास मिली अज्ञात युवक की लाश, हत्या या आत्महत्या, नहीं हुआ खुलासा

 


 भीलवाड़ा विजय गढ़वाल। मेनाल के भैंरू कुंड के पास बुधवार सुबह एक अज्ञात युवक की लाश पाई गई। मृतक के मुंह से झाग निकल रहे हैं। ऐसे में पुलिस को आशंका है कि या तो इस युवक को कोई यहां फैंक गया या फिर उसने जहरीली वस्तु का सेवन किया है। वहीं दूसरी और मौके पर कोई जहरीली वस्तु पुलिस को नहीं मिली है। पुलिस शव की पहचान के प्रयास कर रही है। अभी यह पता नहीं चल पाया कि युवक की हत्या हुई या फिर उसने आत्महत्या की है। पुलिस इसे लेकर जांच कर रही है। 
बेगूं थाने के महिपाल सिंह ने हलचल को बताया कि मेनाल के भैंरूकुंड के पास लोगों ने आज सुबह एक अज्ञात युवक की लाश पड़ी देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची। जहां 40 वर्षीय एक अज्ञात युवक की लाश पाई गई। मृतक के मुहं से झाग निकल रहे थे। मौके पर युवक के तड़पने  के निशान भी मिले हैं। ऐसे में पुलिस का मानना है कि घटना बीती रात की है। साथ ही आशंका है कि इस युवक को किसी ने यहां डाल दिया या फिर उसने कोई जहरीली वस्तु का सेवन किया है। लेकिन जहरीली कोई भी वस्तु मृतक के पास और घटना स्थल के आस-पास नहीं मिली है। फिल्हाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी में सुरक्षित रखवाया है। मृतक की पहचान के पुलिस प्रयास कर रही है। पहचान के बाद ही पुलिस की जांच आगे बढ़ पायेगी। मृतक पेंट शर्ट और काले रंग की जर्सी पहने है। उसके पास एक शॉल/ साफी भी मिली है। 

देश में नहीं कोरोना का कोई भारतीय वैरिएंट: आईसीएमआर

 


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का असर दिख रहा है। देश के कई राज्यों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। इस बीच भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा कि देश में कोरोना वायरस का एक भी भारतीय वैरिएंट केस सामने नहीं आया है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने घोषणा की है कि देश में अब तक कोरोना वायरस का एक भी ऐसा वैरिएंट नहीं पाया गया है जिसमें भारतीय संस्करण मिला हो। आईसीएमआर के महासचिव बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस का कोई भारतीय वैरिएंट नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन ने यूके और ब्राजील के वेरिएंट के खिलाफ  अपना असर दिखाया है। जबकि दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट की वैक्सीन पर अभी भी काम चल रहा है। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि जब भी कोई वायरस अपनी जगह से शिफ्ट होता है, तो वह महत्वपूर्ण परिवर्तन से गुजरता है। इसलिए वैक्सीन का इस पर करना जरूरी होता है जिससे ये पता चल सके कि वायरस के खिलाफ  वैक्सीन कारगर है या नहीं।
कोरोना का डबल म्यूटेंट वैरिएंट 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को जानकारी दी है कि भारत में कोरोना वायरस के एक नए डबल म्यूटेंट वेरिएंट का पता चला है। मंत्रालय ने बताया था कि कई वेरिएन्ट्स ऑफ  कंसन्र्स देश के 18 राज्यों में पाए गए हैं। इसका मतलब हुआ कि कोरोना वायरस के विभिन्न प्रकार का अलग-अलग जगहों पर पता चला है जो स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डाल सकते हैं। इस बीच, नई चेतावनी ऐसे समय आई है जब भारत में संक्रमण के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं और कई राज्य नए सिरे से लॉकडाउन लागू करने के मुहाने पर खड़े हैं। 
कितना खतरनाक है डबल म्यूटेंट वेरिएन्ट?
डबल म्यूटेंट वेरिएन्ट खतरनाक है क्योंकि ये न सिर्फ  शरीर के इम्यून सिस्टम से बच सकता है बल्कि शरीर में तेजी से संक्रमण को फैला भी सकता है। ये वेरिएन्ट इस मायने में भी खतरनाक हो सकता है क्योंकि वायरस की एक ही शक्ल में दो तब्दीली हुई है।

गर्मियों में डाइजेशन दुरुस्त रखना है और चाहते हैं कि पेट भी नहीं बढ़े तो नाश्ते में इन्हें करें शामिल


सुबह का नाश्ता अगर आप सही तरीके से और हेल्दी करते हैं तो आप कई बीमारियों से दूर रहने के साथ मोटापे की समस्या को भी काबू में कर सकते हैं। ज्यादातर लोग इस बात की अहमियत नहीं समझते लेकिन जब आप हेल्दी नाश्ता करते हैं तो इससे आपका पेट फुल रहता है जिससे बीच-बीच में कुछ भी खाने की जरूरत महसूस नहीं होती। यही चीज़ मोटापे से बचाती है। लेकिन यहां ये भी ध्यान दें कि भर पेट नाश्ता करने से मतलब ये बिल्कुल भी नहीं कि पराठे, पूड़ी या इस तरह की चीज़ें खाई जाएं। तो इसके लिए क्या ऑप्शन्स रहेंगे बेस्ट, आइए जानते हैं इसके बारे में..

पोहा

बाद जब हेल्दी नाश्ते की होती है तो उसमें पोहा जरूर शामिल होता है। बनाने में आसान और स्वाद में लाजवाब पोहा विटामिन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर और एंटी-ऑक्सीडेट्स से भरपूर होता है जिससे न्यूट्रिशन तो मिलता ही है साथ ही पाचन भी ठीक रहता है। साथ ही कैलोरी कम होने से वजन भी काबू में रहता है। 

सत्तू का शरबत 

नाश्ते में शरबत लेने का सोचकर चौंकने की जरूरत नहीं। सत्तू का एक गिलास शरबत पीने से पेट फुल हो जाता है। दिनभर के लिए जरूरी एनर्जी मिल जाती है और पेट भी ठंडा रहता है। 

फ्रूट सैलेड 

फ्रूट्स में कई जरूरी विटामिन, आयरन, फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो हमें सेहतमंद बनाए रखने का काम करते हैं। गर्मियों में होने वाले डिहाइड्रेशन और पाचन संबंधी समस्याओं से भी छुटकारा दिलाते हैं। तो केला, सेब, तरबूज, पपीता, कीवी सबको मिलाकर सैलेड तैयार करें। 

ओट्स 

ओट्स डाइजेशन दुरुस्त करने और फैट करने का बहुत ही बेहतरीन ऑप्शन होता है। जिसे आप और हेल्दी बना सकते हैं इसमें सूरजमूखी, अलसी के बीज और ड्राई फ्रूट्स मिला कर। ओट्स एक प्रोबायोटिक होने से आंतों में गुड़ बैक्टीरिया बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही पेट भरा होने की वजह से भूख भी नहीं लगती, जिससे वजन कंट्रोल करना आसान होता है। 

सुबह इस वक्त करते हैं नाश्ता तो बढ़ सकता है डायबिटीज़ का ख़तरा

 

लाइफस्टाइल डेस्क।  एक नए शोध के अनुसार, जो लोग सुबह जल्दी उठकर अपने दिन की शुरुआत करते हैं, उन्हें न सिर्फ पूरे दिन को सही तरीके से प्लान करने का पर्याप्त समय मिलता है, बल्कि उनका ब्लड शुगर लेवल भी अच्छा होता है। ENDO 2021 में प्रकाशित हुई एक नई रिसर्च के मुताबिक, सुबह के समय जल्दी नाश्ता कर लेने से लोअर इंसुलिन प्रतिरोध और टाइप-2 डायबिटीज़ का जोखिम कम हो जाता है। 

ये निष्कर्ष उपवास पर हो रहे एक अध्ययन का ही हिस्सा थे, लेकिन वैज्ञानिकों ने पाया कि आप चाहे उपवास न भी कर रहे हों, लेकिन सुबह जल्दी नाश्ता करना काफी फायदेमंद हो सकता है। शोध में साबित हुआ कि जो लोग सुबह का नाश्ता जल्दी कर लेते हैं, उनमें बल्ड शुगर स्तर कम होता है और इंसुलिन प्रतिरोध भी कम होता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे इंटरमिटेंट फास्टिंग कर रहे हैं या नहीं।

इंटरमिटेंट फास्टिंग 

एक राष्ट्रीय सर्वेक्षण में अमेरिका के 10,575 वयस्कों के डेटा का विश्लेषण किया गया था ये देखने के लिए कि खाना खाने के समय और इंसुलिन व ब्लड शुगर के स्तर में क्या संबंध है। शोध में यह पाया गया कि आंतरायिक उपवास यानी इंटरमिटेंट फास्टिंग या 10 घंटे से कम के प्रतिबंधित समय के दौरान खाना उच्च इंसुलिन प्रतिरोध से जुड़ा हुआ था। इसका मतलब ये हुआ कि उपवास करने वाले लोग इंसुलिन के प्रति कम संवेदनशील थे। इंसुलिन, वह हार्मोन है, जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। इंसुलिन प्रतिरोध टाइप 2 मधुमेह के विकास के लिए एक जोखिम कारक है।

हालांकि, शोध में ये भी पाया गया कि जिन लोगों ने दिन का पहला खाना सुबह 8:30 बजे से पहले किया, उनमें इंसुलिन प्रतिरोध का स्तर निचला रहा, फिर भले ही उन्होंने उपवास किया हो या नहीं। उपवास से रक्त शर्करा के स्तर पर कोई फर्क नहीं पड़ता, बल्कि नाश्ता किस समय किया जा रहा है इसका पड़ता है। जिन लोगों ने सुबह 8:30 बजे अपना नाश्ता खाया, उनमें रक्त शर्करा का स्तर कम था, इससे ये साबित होता है कि सुबह सही वक्त पर नाश्ता करने से अधिक चयापचय लाभ होते हैं।

 

एक अच्छा नाश्ता आपका स्वस्थ वज़न बनाए रखेगा और शरीर को पर्याप्त ऊर्जा भी देगा। ये ज़रूरी नहीं कि सुबह का नाश्ता आपके लिए सबसे ज़रूरी हो, लेकिन ये आपको दिनभर के लिए अच्छी ऊर्जा दे सकता है।  

अलग-अलग तरह के प्रोटीन, फाइबर और होल फूड्स के साथ दिन की शुरुआत करना सबसे अच्छा है। आप दही के साथ फल खा सकते हैं और ड्राइफ्रूट्स या अंडे के साथ सब्ज़ियां खा सकते हैं।

Disclaimer:लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

 

 

ग्रांम पंचायतो में सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव किया

   निम्बाहेड़ा हलचल। निकटवर्ती ग्रांम पंचायत टाई एवं बरड़ा के अरनिया माली, बोरखेड़ी, ढावलिया,  पेमडीया गाव में बुधवार को कारोना महामारी सेे बचा...