60 साल से अधिक उम्र वाला कोई भी ले सकेगा बूस्टर खुराक !

 

केंद्र सरकार ने देश में 60 साल या उससे अधिक उम्र वालों को कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज लगाने की अनुमति तो दे दी है लेकिन फिलहाल यह सिर्फ उन्हें दी जा रही है, जो गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं या जिन्हें जान का खतरा ज्यादा है। हालांकि, अब खबर है कि केंद्र जल्द ही बूस्टर खुराक लेने की इच्छा रखने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए इस शर्त को खत्म कर सकती है। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि यह शर्त इसलिए रखी गई थी ताकि सबसे ज्यादा जोखिम वाले लोगों को वैक्सीन की मांग बढ़ने से पहले ही बूस्टर खुराक मिल जाए।

मौजूदा समय में, 60 से अधिक उम्र वाले उन लोगों को तीसरी डोज मिल रही हैं जो बीमार हैं, तो वहीं कम से कम 9 महीने पहले वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके फ्रंटलाइन और हेल्थकेयर वर्करों को भी प्रिकॉशन डोज दी जा रही है। 10 जनवरी से ही इन लोगों को एहतियाती डोज मिलनी शुरू हुई है। तीन जनवरी को सरकार ने 15 से 18 साल के बच्चों के लिए भी वैक्सीनेशन शुरू कर दिया था।

नाम न बताने की शर्त पर एक सूत्र ने हमारे सहयोगी हिन्दुस्तान टाइम्स से कहा कि वैक्सीन की कमी को ध्यान में रखते हुए नैशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन (NTGAI) के एक्सपर्ट स्टैंडिंग ग्रुप ने 15 से 18 साल के बच्चों के लिए वैक्सीन और प्रिकॉशन डोज का चरणबद्ध तरीके से विस्तार करने का सुझाव दिया था।

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?