खत्म नहीं होगी सरकारी नौकरियों में साक्षात्कार की प्रक्रिया, गहलोत सरकार ने की बेरोजगार महासंघ की मांग खारिज

 

राजस्थान की गहलोत सरकार ने स्पष्ट कर दिया है सरकारी नौकरियों में साक्षात्कार की प्रक्रिया जारी रहेगी। राज्य के कार्मिक विभाग ने राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर (आरपीएससी) की ओर से लिखे गए पत्र के जवाब में कहा है किसी भी पद हेतु भर्ती सेवा संबंधित सेवा नियमों के अनुसार ही की जाती है। सेवा नियमों में संशोधन का कार्य आयोग स्तर पर न किया जाकर शासन स्तर पर किया जाता है। शासन स्तर से कार्मिक विभाग को साक्षात्कार समाप्त करने के निर्देश नहीं मिले हैं। मुख्यमंत्री शासन सचिवालय जयपुर ने आरपीएससी को इस संबंध में एक पत्र लिखा था। जिसके बाद आरपीएससी ने राज्य के कार्मिक विभाग को पत्र लिखकर दिशा-निर्देश मांगे थे। कार्मिक विभाग ने आरपीएससी को वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया है। सरकारी नौकरियों में साक्षात्कार की प्रक्रिया समाप्त करने का निर्णय शासन स्तर पर किया जाता है। शासन स्तर से इस संबंध कार्मिक विभाग को किसी तरह के निर्देश नहीं मिले हैं। सरकार की दोनों संस्थाओं के पत्र व्यवहार से स्पष्ट है कि फिलहाल गहलोत सरकार ने राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंग की चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता के लिए साक्षात्कार समाप्त करने की मांग को खारिज कर दिया है। 

साक्षात्कार में नंबर दिलाने के नाम पर सक्रिय दलाल गिरोह

दरअसल, राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर में साक्षात्कार में अधिक नंबर दिलाने के नाम पर लाखों रुपये की घूस का मामला सामने आया था। इसके बाद साक्षात्कार की प्रक्रिया को समाप्त करने की मांग तेजी से उठी थी। राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंग के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने राजधानी जयपुर के शहीद स्मारक पर हजारों अभ्यर्थियों के धरना दिया था। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया कि राज्य सरकार को इंटरव्यू की प्रक्रिया समाप्त कर देनी चाहिए। उपेन यादव के अनुसार आरएएस भर्ती 2018 के इंटरव्यू में विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। गहलोत सरकार को भर्तियों में इंटरव्यू समाप्त कर पारदर्शिता स्थापित करनी चाहिए। साक्षात्कार में अधिक नंबर दिलाने के नाम पर प्रदेश में दलाल गिरोह सक्रिय है।

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?