उन्नत नस्ल के पशु पालकर कमाएं लाभ: जाट

भगवानपुरा (कैलाश शर्मा)। किसानों को चाहिए कि वे उन्नत नस्ल के पशु पालकर दूध की ज्यादा मात्रा प्राप्त करें और पशुओं से प्राप्त दूध को डेयरी में दें ताकि उन्हें डेयरी द्वारा दूध की अच्छी राशि मिल सके और डेयरी द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ लें सके। उक्त विचार शुक्रवार को राजस्थान सरकार के राजस्व मंत्री एवं मांडल विधायक रामलाल जाट ने ग्राम पंचायत केरिया में आयोजित बोनस वितरण कार्यक्रम एवं राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय केरिया में डीएमएफटी मद द्वारा 60 लाख रुपए की लागत से बने सात हॉलो के लोकार्पण समारोह में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए ।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के हित के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रखी हैं जिसमें डेयरी में पशुओं का बीमा, बोनस एवं लाभांश व अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं अत: किसान उन्नत नस्ल के दुधारू पशु पालकर अधिक मात्रा में दूध प्राप्त कर डेयरी से लाभान्वित होते हुए अपनी आय में वृद्धि करें। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि प्रत्येक पंचायत मुख्यालय पर सीनियर उच्च माध्यमिक विद्यालय हैं जहां ग्रामीण क्षेत्रों के सभी अभिभावकों को चाहिए कि वे अपने बालक बालिकाओं को उच्च माध्यमिक शिक्षा अपने गांव में ही उपलब्ध करवाएं।
इस अवसर पर सर्व प्रथम राजस्व मंत्री का ग्राम पंचायत केरिया में पहुंचने पर सरपंच मानवेंद्र प्रताप सिंह ने सभी का स्वागत करते हुए केरिया स्थित डेयरी एवं पशुपालकों की विभिन्न जानकारियां उपलब्ध करवाई । इस अवसर पर केरिया डेयरी में  सात लाख रु का बोनस वितरण एवं एक लाख चालीस हजार के बर्तन भी वितरित किए गए । कार्यक्रम में भीलवाड़ा सरस डेयरी के मैनेजिंग डायरेक्टर विपिन शर्मा ,सरस डेयरी प्रबंधक आशा , मांडल प्रधान शंकर लाल कुमावत ,आसींद प्रधान प्रतिनिधि उदय लाल खटीक ,तालेड़ा ( बूंदी ) प्रधान मोहन लाल गुर्जर ,आलमास सरपंच प्रतिनिधि  विजेंद्र सिंह ,बावड़ी सरपंच प्रतिनिधि कैलाश शर्मा, मोड़ का निंबाहेड़ा सरपंच प्रतिनिधि राजू लाल माली, विकास अधिकारी अब्बास अली खान, तहसीलदार मांडल अजीत सिंह राठौड़, प्रधानाचार्य प्रभु लाल खटीक सहित कई उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?