जम्मू-कश्मीर, लद्दाख के न्यूनतम तापमान में सुधार

 


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में हल्की बर्फबारी होने और रात भर आसमान में बादल छाए रहने के चलते सोमवार को न्यूनतम तापमान में कुछ सुधार देखने को मिला। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था, "जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में न्यूनतम तापमान हिमांक बिंदू से नीचे बना रहेगा। 4 फरवरी तक यहां बर्फबारी और बारिश होने की संभावनाएं बनी रहेंगी, हालांकि इसके बाद न्यूनतम तापमान में सुधार देखने को मिलेगा।"

रविवार को घाटी में कड़ाके की ठंड रही। इस दिन श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 8.8 डिग्री नीचे चला गया था, जो कि तीस सालों में अब तक का सबसे सर्द मौसम रहा। इस दौरान अधिकतम तापमान सिर्फ 0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यहां के स्थानीय लोग कड़ाके की ठंड में पाइपों के फट जाने की समस्या से परेशान हैं, जिससे पीने के पानी की आपूर्ति में दिक्कतें आ रही हैं। इनमें उन ब्रांडों के पाइप भी शामिल हैं, जो शून्य से 25 डिग्री नीचे के तापमान में भी ठीक रहने का दावा करते हैं।

पहलगाम और गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान क्रमश: शून्य से 6.1 और 8.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है। जबकि श्रीनगर में यह शून्य से 3.1 डिग्री सेल्सियस नीचे हैं।

लद्दाख के लेह शहर में रात के वक्त का न्यूनतम तापमान इस वक्त शून्य से 8.5 डिग्री सेल्सियस नीचे, कारगिल में शून्य से 18.4 डिग्री सेल्सियस नीचे और द्रास में शून्य से 18.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

इनके अलावा, जम्मू व कटरा में तापमान क्रमश: 7.8 और 8.2 डिग्री सेल्सियस है। बटोत में यह 5 डिग्री सेल्सियस है। बनिहाल में 0.8 और भदेरवाह में न्यूनतम तापमान शून्य से 0.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है।