Friday, February 5, 2021

जहरीली शराब कांड: संभागीय आयुक्त पहुंची सारण का खेड़ा, हथकढ़ शराब न बनाने, न पीने और न पिलाने की दी सीख

 


 भीलवाड़ा हलचल। संभागीय आयुक्त डॉ. वीणा प्रधान मुख्यमंत्री के निर्देश पर शुक्रवार को शराब दुखान्तिका की जांच के लिए सारण खेड़ा पहुंची, जहां वे, मृतक पांच लोगों के परिजनों से मिली और उन्हें सांवत्वना देते हुये भविष्य में हथकढ़ शराब न बनाने, न पीने और न पिलाने की सीख दी।  
डॉ. प्रधान ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आज वे, सारण का खेड़ा में जहरीली शराब से जान गंवाने वाले 5 मृतक आश्रितों से मिली। उन्हें पेंशन दी है। चार बच्चों से समझाइश की कि आपको, अब न तो दारू बनानी है, न खुद पीनी है और न पिलानी है। उन्होंने बताया कि सभी 5 मृतकों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता दे दी गई है। वहीं भर्ती मरिजों को 50-50 हजार रुपये दे दिये गये हैं। यह राशि उनके खातों में आ चुकी है। इसके अलावा डॉ. प्रधान ने यह भी कहा कि इन परिवारों को बकरी पालन के लिए भी दस-दस हजार रुपये दिये गये हैं, ताकि ये शराब का धंधा छोड़कर बकरी पालन व्यवसाय से जुड़कर अपना गुजारा कर सके। डॉ.प्रधान ने कहा कि जिन परिवारों के पास अस्थायी घर है, उन्हें स्थायी पक्का मकान मिल सके, इसके लिए काम शुरू कर दिया गया है। इतना ही नहीं ऐसे परिवारों के लिए कई और काम किये जा रहे हैं। इसके बाद अगर ये परिवार न हथकढ़ शराब बनायेंगे, न पीयेंगे और न पिलायेंगे तो एक उदाहरण बनेगा और ये परिवार खुशहाल जीवन जी सकेंगे। उधर, डॉ. प्रधान के साथ जिला कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।