Monday, February 15, 2021

आशा सहयोगिनों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कलेक्ट्रेट के सामने धरना, सीएम के नाम डीएम को सौंपा ज्ञापन

 


 भीलवाड़ा संपत माली। भारतीय आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ और आशा सहयोगिनी कर्मचारी संघ ने अपनी मांगों को लेकर सोमवार को कलेक्ट्रेट के सामने धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया। 
आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की प्रदेश उपाध्यक्ष राधा शर्मा ने कहा कि आज प्रदेशस्तरीय धरना कार्यक्रम के तहत आज कलेक्ट्रेट के सामने धरना दिया। शर्मा ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मिनी कार्यकर्ता, सहायकों को स्थाई कर राज्य कर्मचारी बनाने, वेतन बढ़ाने, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का दर्जा देने, पदोन्नति, ईएसआई, ईपीएफ, पेंशन, ग्रेज्यूटी सहित 14 सूत्रीय मांगों, जबकि आशा सहयोगिनी कर्मचारी संघ ने भी राज्य कर्मचारी का दर्जा देने, पदोन्नति सहित 12 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दिया। 

सरकार चेत जाये तो अच्छा है, नहीं तो लाठी-गोली खाने के लिए हम तैयार हैं
राधा शर्मा ने कहा कि धरने से सरकार चेत जाये तो अच्छा है। नहीं तो हम घेराव करेंगे। हमकों को लाठी-गोली खाने से कोई नहीं रोक सकता। सरकार भी नहीं। आज भी हो जाये पुलिसवालों से हो जाये दो-दो हाथ, हम नहीं डरते। उन्होंने कहा कि सरकार हमें नियमित करें। नहीं करे, तब तक 18 हजार मासिक तनख्वाह दें। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मिलने वाली साड़ी 2015 से नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से 600 रुपये आते हें, लेकिन ये बीच में खा गये। साल में 600 रुपये साड़ी के आ रहे हैं, लेकिन अब तक मात्र दो ही बार साड़ी दी। वो भी ऐसी साड़ी दी कि पहन के बाहर निकले तो शर्म आती है। ऐसी साड़ी 50 से 80 रुपये में मिल जाती है। 

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...