गुरुग्राम में फेक कॉल सेंटर का भंडाफोड़, एक व्यक्ति गिरफ्तार


गुरुग्राम । गुरुग्राम पुलिस की साइबर क्राइम टीम ने गुरुग्राम के सरस्वती विहार इलाके में संचालित एक अवैध कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने शनिवार को बताया कि कॉल सेंटर ने अमेजन सुरक्षा सहायता सेवा के नाम पर अमेरिकी नागरिकों को ठगने का काम किया।

अपने ग्राहकों को धोखा देने के लिए वे खुद को कंपनी का सर्विस प्रोवाइडर बताते थे।

पुलिस के अनुसार, इंस्पेक्टर आजाद सिंह के नेतृत्व में साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन की एक टीम ने सरस्वती विहार इलाके में कॉल सेंटर पर छापा मारा। छापेमारी के दौरान पुलिस ने आरोपी अंकित चौधरी को गुरुग्राम के सरस्वती विहार हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में गिरफ्तार किया।

चौधरी ने खुलासा किया कि वह नासिर उर्फ चांद और सुमित चौहान के रूप में पहचाने जाने वाले अपने दो सह-सहयोगियों के साथ फर्जी कॉल सेंटर चलाता था।

छापेमारी के दौरान पुलिस ने 5 पुरुषों और 5 महिलाओं को पकड़ा, जो फर्जी कॉल सेंटर में काम कर रहे थे और अमेरिकी नागरिकों के साथ बातचीत कर रहे थे। हालांकि, पूछताछ के बाद पुलिस ने वहां काम कर रहे युवकों को रिहा कर दिया।

पुलिस अधिकारी ने कहा, "हमें विशिष्ट इनपुट मिले कि एक फर्जी कॉल सेंटर ने क्षेत्र में अमेजन सिक्योरिटी सपोर्ट सर्विस प्रोवाइडर के नाम पर कई अमेरिकी नागरिकों को धोखा दिया। युवाओं को कॉल सेंटर में नियुक्त किया गया था, जो दूरसंचार विभाग (डीओटी) द्वारा जारी लाइसेंस के बिना संचालित किया जा रहा था।"

भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और आईटी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत एक प्राथमिकी साइबर अपराध पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है।