प्रदर्शन स्थलों पर बढ़ी पुलिस की नाकाबंदी, शौचालय और पानी की बुनियादी सुविधाओं के लिए तरस रहे किसान

 


दिल्ली । बॉर्डरों पर विरोध कर रहे किसानों को अब शौच करने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है, वहां मौजूद किसानों का कहना है कि दिल्ली पुलिस विरोध को कमजोर करने के लिए बुनियादी जरूरतों में कटौती कर रही है। सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर मौजूद प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वहां की गई उच्च स्तर की किलेबंदी ने शौचालय, स्वच्छ सुविधाओं और पानी तक उनकी पहुंच को खत्म कर दिया है।

 29 जनवरी को सिंघु बॉर्डर पर कुछ लोगों ने खुद को स्थानीय बताकर पुलिस की उपस्थिति में किसानों के साथ गतिरोध पैदा किया। उसके बाद से पुलिस ने वहां बैरिकेडिग बढ़ा दी है और अतिरिक्त रास्ते भी बंद कर दिए है। इसका मतलब 8 किलोमीटर की लंबी जगह पर विरोध कर रहे किसानों को अब शौचालय का इस्तेमाल करने के लिए या पानी पीने के लिए लंबा रास्ता लेकर जाना पड़ता है।प

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक