Saturday, February 13, 2021

हत्या के पीछे क्या थी असली वजह, अब क्राइम ब्रांच करेगी जांच

 


नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने शनिवार को कहा कि मंगोलपुरी में कुछ दिन पहले एक लैब टेक्नीशियन की हत्या की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है। 25 वर्षीय रिंकू शर्मा एक निजी अस्पताल में काम करते थे। बुधवार देर रात बाहरी दिल्ली इलाके में उनके इलाके के कुछ लोगों ने उनकी चाकू मारकर हत्या कर दी थी।

दिल्ली पुलिस इस मामले में पांच आरोपियों - दानिश, इस्लाम, जाहिद, मेहताब और ताजुद्दीन को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। रिंकू के परिजनों का दावा है कि यह एक घृणा अपराध था और रिंकू की हत्या पुरानी रंजिश के कारण की गई। राइट विंग से जुड़े रिंकू को पिछले साल दशहरे के दौरान इन्हीं आरोपियों से कथित तौर पर धमकी मिली थी। हालांकि, पुलिस ने मामले में किसी भी सांप्रदायिक कोण से इनकार किया है। उसका कहना है कि व्यापारिक प्रतिद्वंद्विता के कारण हत्या की गई।

एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है जहां आरोपी को बुधवार की रात रिंकू के घर की ओर आते देखा जा सकता है। आरोप है कि उसके तुरंत बाद रिंकू को चाकू मार दिया गया। पीड़ित परिवार द्वारा मोबाइल वीडियो की कुछ क्लिप भी पुलिस को सौंपी गई है जिसमें रिंकू के घर पर हमला और उसके बाद हाथापाई दिखाई गई थी।

वीडियो क्लिप में एक आरोपी को गैस सिलेंडर छीनते हुए भी देखा जा सकता है, जबकि रिंकू की मां विरोध करने की कोशिश कर रही है। इस हत्याकांड को लेकर सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाओं की एक बाढ़ सी आ गई है। हैशटैग 'जस्टिस फॉर रिंकू शर्मा' ट्रेंड कर रहा है। कई राजनेताओं और कार्यकतार्ओं ने रिंकू के परिवार से मुलाकात की है।

तनाव के बीच एहतियात के तौर पर मंगोलपुरी में अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया था। दिल्ली पुलिस के पीआरओ चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि 10 फरवरी को कुछ लड़के जन्मदिन की पार्टी मनाने के लिए एक रेस्तरां में गए थे। उस दौरान एक रेस्तरां बंद करने से संबंधित कुछ व्यापारिक प्रतिद्वंद्विता पर हाथापाई शुरू हो गई। इसके बाद लड़ाई में शामिल कुछ लड़के रिंकू के घर पहुंचे और उसे चाकू मार दिया।

परिवार ने दावा किया है यह एक घृणित अपराध (हेट क्राइम) है और रिंकू की कथित तौर पर 'जय श्री राम' बोलने के लिए हत्या की गई। इस दावे के बारे में पुलिस अधिकारी ने कहा कि हम पीड़ित परिवार के संपर्क में हैं। लेकिन जांच से पता चलता है कि जन्मदिन की पार्टी के दौरान ही हाथापाई हुई थी। जांच अब क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है।

भाई का दावा- राम मंदिर के कार्यक्रम के बाद से मिल रही थी धमकी

रिंकू के भाई ने कहा कि वह इसलिए निशाने पर था। क्योंकि वो राम मंदिर निर्माण से जुड़ा था और बीजेपी के कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता था। परिवार वाले की मानें तो हत्यारों ने घर पर धावा बोल दिया। रिंकू के साथ-साथ बुजुर्ग माता-पिता पर भी हमले किए।

AAP ने कहा- हत्या को सांप्रदायिक रंग न दिया जाए

इस हत्या को लेकर आम आदमी पार्टी ने बयान दिया है उन्होंने कहा जिन्होंने यह अपराध किया है, उन्हें सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए। उन्हें जेल में डालना चाहिए और हिंदुस्तान के कानून में जो भी सबसे कठिन धारा है। उसके हिसाब से कार्रवाई होनी चाहिए. आम आदमी पार्टी यह भी कहना चाहती है कि इसे सांप्रदायिक रंग न दिया जाए, धार्मिक मामला न बनाया जाए और जो भी दोषी हो उसे फांसी की सजा दी जाए।

गजब है... नकली रेमडेसिविर लेने से ठीक हो गए 90 फीसदी कोरोना मरीज, पुलिस भी हैरान

  भोपाल ।कोरोना की दूसरी लहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग में एका-एक बढ़ोतरी हो गई है। हालांकि, इस बीच कई राज्यों में नकली रेमडेसिविर बेच...