Saturday, February 13, 2021

सड़क हादसे में प्रौढ़ की मौत, भाई ने पुलिस वाहन से दुर्घटना का लगाया आरोप, हंगामा, तीन थानों की पुलिस मौके पर पहुंची, किये जा रहे हैं समझाइश के प्रयास

 

बागौर बरदीचंद जीनगर। कस्बे के नजदीक बीती रात सड़क हादसे में एक प्रौढ़ की मौत हो गई। सुबह बड़ी संख्या में ग्रामीण अस्पताल की मोर्चरी पर जमा हो गये। मृतक के भाई ने पुलिस वाहन से दुर्घटना और तथ्य छिपाने के आरोप लगाये। इसके बाद लोगों ने हंगामा किया। हालत के मद्देनजर मांडल व करेड़ा पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। फिल्हाल समझाइश चल रही है।  
बागौर थाने के दीवान कैलाशचंद्र ने हलचल को बताया कि पुरोहित खेड़ा निवासी पप्पू (45) पुत्र रामचंद्र आचार्य शुक्रवार रात बाइक पर बागौर से अपने गांव जा रहा था। इस बीच, मॉडर्न स्कूल व नया हॉस्पिटल के बीच एक वाहन ने बाइक को चपेट में ले लिया। हादसे में बाइक सवार पप्पू गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर एंबुलेंस मौके पर पहुंची। एंबुलेंस स्टॉफ ने पप्पू को बागौर अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव मोर्चरी में सुरक्षित रखवा दिया। शनिवार सुबह परिजन, समाजजन और गांव के लोग बागौर अस्पताल स्थित मोर्चरी के बाहर जमा हो गये। मृतक के भाई गजांनद ने आरोप लगाया कि उसके भाई की मौत पुलिस वाहन की टक्कर से हुई है। पुलिस ने सबूत मिटाने के लिए बाइक को साइड में कर दिया और करीब 20 किलोमीटर दूर से एंबुलेंस बुलाकर पप्पू को अस्पताल पंहुंचाया, जबकि पुलिस मौके पर ही थी। ऐसे में पुलिस अपने वाहन से पप्पू को अस्पताल क्यूं नहीं ले गई। इतना ही नहीं, परिजनों ने पुलिस पर सूचन नहीं देने का आरोप भी लगाया है।  इन आरोपों के चलते कुछ महिलाओं व लोगों ने पुलिस से बहस करते हुये हंगामा भी किया। उधर, हंगामा बढ़ता देखकर बागौर थाना प्रभारी छोटूलाल, करेड़ा थाना प्रभारी जगदीश व मांडल थाना प्रभारी राजेंद्र गोदारा भी पुलिस जाब्ते के साथ बागौर पहुंच गये। सीआई गोदारा ग्रामीणों से समझाइश कर रहे हैं। 

गजब है... नकली रेमडेसिविर लेने से ठीक हो गए 90 फीसदी कोरोना मरीज, पुलिस भी हैरान

  भोपाल ।कोरोना की दूसरी लहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग में एका-एक बढ़ोतरी हो गई है। हालांकि, इस बीच कई राज्यों में नकली रेमडेसिविर बेच...