अवैध शराब निर्माण की सूचना देने वाले को अब मिल सकेंगे एक लाख रूपए

 

चित्तौड़गढ़। अवैध शराब निर्माण को रोकने के लिए राज्य सरकार ने अभिनव पहल की है। अवैध शराब निर्माण की सूचना देने वाले को आबकारी विभाग की ओर से अब एक लाख रूपए (1,00,000 रु.) की प्रोत्साहन राशि दी जा सकेगी। यही नहीं, सूचना देने वाले व्यक्ति के नाम को पूरी तरह गोपनीय भी रखा जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि अब आबकारी विभाग ने प्रदेश में मुखबीर प्रोत्साहन योजना शुरू कर दी है। चित्तौड़गढ़ जिले में भी अवैध शराब के कारोबार को जड़ से ख़त्म करने के लिए प्रभावी ढंग से कार्य किया जा रहा है। मुखबीर प्रोत्साहन योजना के तहत अवैध शराब के सम्बन्ध में सूचना देने पर प्रोत्साहन का प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त अभियान की अवधि में अवैध मदिरा के संग्रहण, भंडारण, परिवहन और बिक्री के सूचना देने पर सूचना देने वाले को सूचना सही पाए जाने पर एक लाख रूपए (1,00,000 रु.) दिए जा रहे हैं। इस राशि का वितरण जिला कलक्टर द्वारा लेब की जांच से प्रमाणीकरण करने के बाद किए जाने का प्रावधान रखा गया है। साथ ही अवैध शराब निर्माण, विक्रय और परिवहन के सम्बंधित सूचना देने के लिए आबकारी विभाग ने हेल्प लाइन भी शुरू की है जो कि 24 घंटे संचालित है।


Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक