राहुल का केंद्र पर हमला, पूछा- दिल्ली को किले में क्यों बदला जा रहा, जो किसान भोजन देते हैं, सरकार उन्हें क्यों धमका रही

नई दिल्‍ली । राहुल गांधी ने बुधवार को केंद्र सरकार पर करारा हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि किसानों ने दिल्ली को घेर लिया है। दिल्ली को किले में क्यों बदला जा रहा है? जो किसान हमें भोजन देते हैं... हम उन्हें क्यों धमका रहे हैं, मार रहे हैं। सरकार उनसे बात क्यों नहीं कर रही है और समस्या का समाधान क्‍यों नहीं किया जा रहा है? यह समस्या देश के लिए अच्‍छी बात नहीं है। राहुल गांधी ने सरकार की ओर से पेश किए गए बजट को लेकर भी सवाल उठाए। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने संवादददाता सम्‍मेलन में कहा कि सबसे पहला सवाल यह है कि सरकार किलाबंदी क्यों कर रही है? क्या सरकार किसानों से डरती है? क्या किसान दुश्मन हैं? किसान देश की ताकत हैं। इनको मारना, धमकाना सरकार का काम नहीं है। सरकार का काम बातचीत करना और समस्या का समाधान निकालना है। मैं किसानों को बहुत अच्छे से जानता हूं। किसान पीछे हटने वाले नहीं हैं। सरकार को ही पीछे हटना होगा। 

राहुल ने कहा कि सरकार को ही अपने कदम वापस लेने होंगे। सबका फायदा इसी में है कि सरकार इन कृषि कानूनों को वापस ले। प्रधानमंत्री कहते हैं कि प्रस्ताव बरकरार है कि कानूनों के क्रियान्वयन को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया जाए। मेरा मानना है कि इस समस्या का समाधान जल्द करना जरूरी है। किसान पीछे नहीं हटेंगे। अंत में सरकार को पीछे हटना पड़ेगा। इसमें सबका भला है कि सरकार आज ही पीछे हट जाए।

राहुल ने वित्त वर्ष 2021-22 के आम बजट को लेकर सवाल किया कि रक्षा खर्च में भारी-भरकम बढ़ोतरी नहीं करके देश का कौन सा भला किया गया है। सरकार को चीन को स्पष्ट संदेश देना होगा। उम्मीद थी कि सरकार देश के 99 फीसदी लोगों की आर्थिक मदद करेगी लेकिन नया बजट केवल एक फीसदी आबादी का बजट है। बजट में किसानों, मजदूरों, मध्य वर्ग, छोटे कारोबारियों और सशस्त्र बलों के हक का पैदा कुछ उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया गया। 

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्‍यसभा में कहा कि लाल किले पर हिंसा की घटना में दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन इसमें निर्दोष किसानों को निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए।

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि किसानों की ताकत देश की सबसे बड़ी ताकत है और उनसे लड़ाई कर हम किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते। 1900 के दशक में पंजाब में हुए किसान आंदोलनों के दौरान लोकप्रिय गीत 'पगड़ी संभाल जट्टा पगड़ी संभाल' की लाइनों का हवाला देते हुए कांग्रेस नेता कहा कि किसानों ने अंग्रेज सरकार को भी अपने कानून वापस लेने के लिए मजबूर कर दिया था। 

 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक