Friday, February 5, 2021

तृणमूल के कार्यक्रम में ममता का गुस्सा, भाषण रोका, फिर बोलीं, मैं भगवान नहीं कि हर ख्वाहिश पूरी कर दूं

 


कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से पहले कोलकाता के कसबा स्थित गीतांजलि स्टेडियम में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जैसे ही भाषण देने के लिए खड़ी हुईं, तो कुछ महिलाओं ने अपनी मांगों को लेकर आवाज उठानी शुरू कर दी. इससे मुख्यमंत्री बिफर गयीं.

ममता बनर्जी ने भाषण देने से इनकार कर दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि जब तक ये लोग चुप नहीं होते, तब तक वह भाषण नहीं देंगी. इसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा, मैं भगवान नहीं हूं कि हर ख्वाहिश पूरी कर दूं. भगवान भी हर ख्वाहिश पूरी नहीं करते. मैंने अपनी क्षमता के अनुसार जितना करना चाहिए था, किया है. अभी भी इतनी मांगें क्यों.इसके साथ ही तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि कुछ लोग उनकी सभा में जान-बूझ कर इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम देते हैं. यह साजिश के तहत किया जा रहा है. हालांकि, मुख्यमंत्री ने बाद में आवाज उठाने वाली महिलाओं को बुलाकर उनकी बातों को सुना. बताया गया है कि वह महिलाएं शिक्षिका हैं और मुख्यमंत्री के समक्ष समान काम, समान वेतन सहित कई मांगें रखी हैं.