Saturday, February 13, 2021

राजस्थान में भूकंप के तगड़े झटके, बीकानेर, जयपुर, कोटा, अलवर व सीकर में भी धरती हिली


राजस्थान के विभिन्न हिस्सों सहित देशभर में शुक्रवार रात 10.24.34 बजे भूकंप के जोरदार झटके महसूस किए गए। पहले भूकंप का केंद्र पंजाब का अमृतसर से 21 किलोमीटर दूर बताया गया। शुक्रवार देर रात NCS ने ही इसे बदलकर तजाकिस्तान कर दिया। पहले भूकंप की गहराई अमृतसर में दस किलोमीटर बताई गई लेकिन बाद में इसे तजाकिस्तान में 74 किलोमीटर बताया गया। जब अमृतसर केंद्र बताया गया तब रिएक्टर स्केल पर 6.1 आंका गया लेकिन बाद में यह 6.3 बताते हुए अपडेट किया गया। यह खतरनाक श्रेणी में आता है। पंजाब से सटे राजस्थान के विभिन्न जिलों में भूकंप महसूस किया गया। खासकर बीकानेर संभाग के बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ क्षेत्रों में भूकंप महसूस किया गया है। सीकर में भी भूकंप का अहसास हुआ है।कोटा में भी भूकंप का अहसास हुआ है। जहां लोग घरों से बाहर आ गए। वार्ड 59 में श्रीरघुनाथ मंदिर रोड पर सुधा सागर कॉम्प्लेक्स से लोग बाहर आ गए। ऐसा ही दृश्य वैष्णवी पैलेस और मंगलायतन सोसायटी पर भी देखने काे मिला।राजस्थान में शुक्रवार रात आए भूकंप के बाद से किसी तरह के नुकसान की अब तक कोई सूचना नहीं है। भूकंप के झटके पंजाब से सटे जिलों श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ के अलावा बीकानेर, चूरू, झुंझुनूं, सीकर, जयपुर व अलवर में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। कहीं से कोई हताहत होने की सूचना अब तक नहीं है।राजस्थान में वर्ष 2021 में भूकंप का यह पहला झटका है। वैसे नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी (NCS) की मानें तो भारत में ही 13 जनवरी के बाद किसी भूकंप को रिएक्टर स्केल पर 6.1 तक नहीं आंका गया है। भारत व आसपास के क्षेत्रों में 17 जनवरी को 5.3 स्केल पर भूकंप आया था। भारत, पाकिस्तान, तजाकिस्तान व अफगानिस्तान में इस साल का यह सबसे बड़ा झटका है।

ग्रांम पंचायतो में सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव किया

   निम्बाहेड़ा हलचल। निकटवर्ती ग्रांम पंचायत टाई एवं बरड़ा के अरनिया माली, बोरखेड़ी, ढावलिया,  पेमडीया गाव में बुधवार को कारोना महामारी सेे बचा...