अस्थायी जेल से भागे एक युवक ने पी ली जहरीली दवा, अस्पताल में भर्ती, दूसरा फरार, केस दर्ज

 


   भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। शहर के पंचवटी इलाके में स्थित अस्थायी जेल के बाथरूम की जाली तोड़कर गुरुवार रात दो युवक फरार हो गये। इनमें से एक आरोपित ने गांव जाने के बाद जहरीली दवा पी ली। इससे तबीयत बिगड़ गई। उसे जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है, जबकि दूसरे आरोपित का अभी तक कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग पाया। कोतवाली पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ न्यायिक अभिरक्षा से भागने का केस दर्ज कर लिया।  
 मिली जानकारी के अनुसार, मंगरोप थाना पुलिस ने सातलियास निवासी भवानीराम ने 2 मई 20 को मंगरोप थाने में रिपोर्ट दी थी। इस रिपोर्ट में बताया गया कि कुछ लोगों ने परिवादी के घर में घुसकर लाठियों व डंडों से उसके साथ मारपीट की। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों  को गिरफ्तार किया था।  पुलिस ने इन सभी को न्यायालय में पेश किया जहां से इन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिये। इनकी कोरोना जांच करवाई गई, जिसकी रिपोर्ट आने तक इन्हें जिला जेल के बजाय पंचवटी सामुदायिक भवन स्थित अस्थायी जेल में रखा गया था। जहां से गुरुवार रात करीब दस बजे पांच में से दो आरोपित सुवाणा निवासी कैलाश पुत्र मांगीलाल जाट व अगरपुरा निवासी गोपाल पुत्र नारायण लाल जाट अस्थायी जेल के बाथरूम की जाली तोड़कर फरार हो गये। यह दोनों  आरोपित  15 दिसंबर से  इस अस्थायी जेल में थे। 
उधर, कोतवाली थाने के सब इंस्पेक्टर मूलचंद ने हलचल को बताया कि अस्थायी जेल से भागे दोनों युवकों के खिलाफ न्यायिक अभिरक्षा से भागने संबंधित केस दर्ज कर लिया। इस बीच,  एक आरोपित गोपाल जाट अस्थायी जेल से भागकर अपने गांव सुवाणा पहुंचा, जहां उसने किन्हीं कारणों के चलते जहरीली दवा पी ली। इससे गोपाल की हालत बिगड़ गई। उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस का कहना है कि दूसरे आरोपित कैलाश जाट का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। 
बता दें कि न्यायिक अभिरक्षा के आदेश हो चुके ऐसे करीब 30 लोगों को इस अस्थायी जेल में रखा गया है और उनकी सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी भी तैनात है। इसके बावजूद दोनों आरोपित वहां से भागने में सफल रहे।