हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड के एनजीटी प्रकरणों को लेकर बैठक आयोजित

 



भीलवाड़ा, । माननीय राष्ट्रीय हरित अधिकरण, प्रधान न्याय पीठ, नई दिल्ली द्वारा ओमपुरी बनाम हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड एवं अन्य में पारित आदेशों की अनुपालना में शुक्रवार को जिला कलक्टर  आशीष मोदी की अध्यक्षता में जिला कलेक्ट्रट सभागर में बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक के दौरान विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। जिनमें हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड, आगूचा माइंस लीज एरिया के कोर तथा बफर क्षेत्र में स्थित गांवो के खेतों की मिट्टी जो मृदा लवणता एवं क्षारीयता से प्रभावित हैं का उपचार किया जाना है। इसके लिए जिला कलक्टर ने कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक को आवश्यक कार्रवाई करने निर्देशित किया।
 
प्रभावित क्षेत्र के सभी गांवो में स्थित राजकीय भवनों (यथा विद्यालय, आंगनवाडी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, राजकीय कार्यालय भवन आदि समस्त राजकीय भवन) में रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर स्थापित करने के लिए निर्देशित किया गया।

  मोदी ने सीएमएचओ डॉ मुश्ताक खान को डोर टू डोर हेल्थ सर्वे के लिए पैरामीटर के साथ माइक्रो प्लान बनाने के लिए निर्देशित किया। बैठक में हिंदुस्तान जिंक प्रबंधन को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, गुलाबपुरा को मॉडल अस्पताल के रूप में विकसित करने के लिये भवन एवं आधारभूत संरचना, सुविधा विकास, आवश्यक चिकित्सा उपकरणों, मशीनो की उपलब्धता तथा अस्थायी आधार पर, निरंतर आवश्यकतानुसार, परिस्थिति विशेष के दौरान आउटसोर्सिंग द्वारा विशेषज्ञ चिकित्सा अधिकारी की सेवाएं क्षेत्र के लोगों को उपलब्ध करवाया जाना शामिल हैं।
परिवेशी वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए वृक्षारोपण, ग्रीन बेल्ट विकास तथा चारागाह विकास एरिया के अलावा प्रभावित गांवो में फलदार तथा उत्तरजीविता वाले पौधो के वृक्षारोपण के लिये निर्देशित किया गया तथा उपखंड अधिकारी, गुलाबपुरा के निर्देशन वन विभाग से समन्वय कर राजकीय रिकॉर्ड में चारागाह दर्ज/अन्य उपयुक्त किस्म की पडत राजकीय भूमि में चारागाह विकसित करने के लिए आगे की कार्रवाई के लिए निर्देशित किया।

इस दौरान एडीएम सिटी   ब्रह्मा लाल जाट, प्रदूषण मंडल के क्षेत्रीय अधिकारी विनय कट्टा संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड प्रबंधन प्रतिनिधि मौजूद रहे।
 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना