परिवहन निगम की 3 लग्जरी बसें धूं-धूं कर जली, 3 करोड़ से अधिक का नुकसान

 

लखनऊ। परिवहन निगम की तीन लग्जरी बसों में आग लग गई, जो जलकर ढांचे में तब्दील हो गई हैं। आग लगने के कारणों का पता नहीं चला है। ये बसें बंथरा थाना क्षेत्र में स्थित स्कैनिया वर्कशॉप में खड़ी थीं। एक बस की कीमत एक करोड़ रुपए से अधिक बताई जा रही है। बता दें कि जिस स्थान पर आग लगी वहीं कुछ ही दूरी पर पेट्रोल पंप भी था, यदि आग वहां तक पहुंचता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

बंथरा थाना क्षेत्र में नेशनल हाईवे-25 कानपुर रोड पर दरोगा खेड़ा में पेट्रोल पंप है। इसी से कुछ दूरी पर उत्तर प्रदेश परिवहन का वर्कशॉप है। जहां तीन बसों में आज अचानक आग लग गई।

<p>आग इतनी भीषण थी कि आसपास अफरा तफरी मच गई। राहगीरों की सूचना पर बंथरा थाना पुलिस मौके पर पहुंची। इसके अलावा फायर ब्रिगेड को बुलाया गया।<br />
 </p>

 

आग इतनी भीषण थी कि आसपास अफरा तफरी मच गई। राहगीरों की सूचना पर बंथरा थाना पुलिस मौके पर पहुंची। इसके अलावा फायर ब्रिगेड को बुलाया गया।
 

<p>बताते हैं कि जब तक दमकल वाहन मौके पर पहुंचा, तब तक तीनों बसें जलकर राख हो गईं। अगर आग पेट्रोल पंप तक पहुंचती तो बड़ा हादसा हो सकता था।<br />
 </p>

 

बताते हैं कि जब तक दमकल वाहन मौके पर पहुंचा, तब तक तीनों बसें जलकर राख हो गईं। अगर आग पेट्रोल पंप तक पहुंचती तो बड़ा हादसा हो सकता था।
 

<p>परिवहन निगम के अधिकारियों का कहना है कि ये तीनों बसें अनुबंध के रुप में चलाने के लिए मंगाई गई थी। बताते हैं कि निगम प्रबंधन ने मुंबई के एक ऑपरेटर को 32 लग्जरी बसों का संचालन करने का आदेश दिया था। लेकिन बाद में प्रॉफिट को लेकर दोनों में विवाद हो गया तो यह मामला कोर्ट तक पहुंच गया था।<br />
 </p>

 

परिवहन निगम के अधिकारियों का कहना है कि ये तीनों बसें अनुबंध के रुप में चलाने के लिए मंगाई गई थी। बताते हैं कि निगम प्रबंधन ने मुंबई के एक ऑपरेटर को 32 लग्जरी बसों का संचालन करने का आदेश दिया था। लेकिन बाद में प्रॉफिट को लेकर दोनों में विवाद हो गया तो यह मामला कोर्ट तक पहुंच गया था।
 

<p>ऑपरेटर इन बसों को संचालित करने के लिए सितंबर में लखनऊ लाया था। तभी से ये बसें कानपुर रोड पर स्थित वर्कशॉप में खड़ी थीं। <br />
 </p>
ऑपरेटर इन बसों को संचालित करने के लिए सितंबर में लखनऊ लाया था। तभी से ये बसें कानपुर रोड पर स्थित वर्कशॉप में खड़ी थीं।