अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह ने चुराई थी धनोप माता मंदिर से 40 किलो चांदी, तीन बदमाश गिरफ्तार

 


भीलवाड़ा (प्रेमकुमार गढ़वाल) । जिले के प्रमुख शक्तिपीठ धनोप मातेश्वरी मंदिर में हुई चोरी का पुलिस ने राजफाश करते हुए सिरोही जिले के अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह के तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनमें दो आरोपी सगे भाई बताये गये है। 
फूलिया थाना प्रभारी भागीरथ सिंह ने हलचल को बताया कि 7 दिसम्बर को धनोप मातेश्वरी मंदिर पर चोरों ने धावा बोलकर निज मंदिर से 40 किलो चांदी के मुकुट, छत्र व पाट चुरा लिये थे। इसे लेकर पुुलिस ने केश दर्ज किया। पुलिस अधीक्षक प्रीति चन्द्रा ने वारदात को गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई कर गिरोह का राजफाश करने व माल बरामदगी के निर्देश दिए थे। साथ ही वारदात का खुलासा करने के लिए एएसपी शाहपुरा विमल सिंह नेहरा, डीएसपी शाहपुरा भरत सिंह के निर्देशन में एक टीम का गठन किया। इस टीम ने अथक प्रयास के बाद गुरूवार को वारदात का खुलासा करते हुए सिरोही जिले के मालप गांव निवासी मोतीराम पुत्र कालाराम गरासिया व इसके भाई लालाराम गरासिया व अशोक पुत्र हुसा गरासिया को गिरफ्तार कर लिया। 
कई मंदिरों में कर चुके है चोरियां :
थाना प्रभारी सिंह ने बताया कि यह गिरोह देश के कई राज्यों में स्थित मंदिरों में चोरियों कर चुके है। ये आरोपी मंदिर में निर्माण कार्य करके या निर्माण कार्य में कार्य करने वाले मजदूरों के सहयोग से पूर्ण रैकी कर चोरी की योजना बनाते है। इसके बाद निजी वाहन या किराये की टेक्सी का इस्तेमाल कर वारदात को अंजाम देते है।
150 सीसीटीवी फुटेज व 20 हजार मोबाईल नम्बर खंगाले  :
पुलिस ने इस बड़ी वारदात का खुलासा करने के लिए 150 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगाले। साथ ही 20 हजार मोबाईलों का विश्लेषण कर सौ संदिग्ध नम्बरों को चिन्हित किया। साथ ही मंदिर निर्माण कार्यों पर लगे दो सौ से ज्यादा मजदूरों से पूछताछ की। साथ ही 70 से ज्यादा आपराधिक प्रवृत्ति के बदमाशों से इस वारदात को लेकर गहनता से पूछताछ की गई। इसके अलावा टोल प्लाजा व रास्तों पर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले गये। 
दो राज्यों में दबिशों के बाद मिली सफलता :
पुलिस ने इस गिरोह को पकडऩे के लिये सिरोही, गुजरात, पालनपुर, अहमदाबाद , पुणे के कई स्थानों पर लगातार दबिश दी। इस दौरान पुलिस को यह सफलता हाथ लगी। 
18 से ज्यादा मुकदमें दर्ज :
पुलिस का कहना है कि अशोक उर्फ अखिया काफी शातिर नकबजन है जिसके खिलाफ पिंडवाड़ा थाने में 18 मुकदमें दर्ज है। इनमें ज्यादातर मंदिरों में चोरी से संबंधित है। यह गिरोह टीम बनाकर राजस्थान के बाहर भी नकबजनी व लूट की वारदात को अंजाम देते है। पुलिस ने इस गिरोह को अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह बताया है। साथ ही गिरोह से नकबजनी की कई और वारदातें खुलने की संभावना जताई है। 
अहमदाबाद में बेची चोरी की चांदी :
 पुलिस का कहना है कि धनोप माता मंदिर से चुराई गई चांदी इस गिरोह ने अहमदाबाद के किसी सर्राफा व्यवसायी को बेचना कबूल किया है। पुलिस जल्द ही अहदाबाद से चोरी का माल बरामद करने का प्रयास कर रही है। 
ये थे टीम में :
भागीरथ सिंह थाना प्रभारी, दीवान भीमराज, सियाराम, सत्यनारायण, महेन्द्र सिंह, कांस्टेबल प्रदीप, नौरतमल, नेतराम, भगवान सिंह, मनीष कुमार, ऋषीकेश, हेमंत, बनवारी लाल और किशनगोपाल शामिल थे।