धनोप माता मंदिर में चोरी का मामला- 41 साल के शातिर चोर अशोक के जेल में कट चुके हैं 20 साल

 



 भीलवाड़ा हलचल।  प्रमुख शक्तिपीठ धनोप मातेश्वरी मंदिर में चोरी के आरोप में पकड़ा गया अशोक गरासिया शातिर चोर है कि उसके खिलाफ प्रदेश ही नहीं दूसरे प्रदेशों में भी चोरी के केस दर्ज हैं। खास बात यह है कि अशोक  अपनी आधी उम्र जेलों में काट चुका है। यह खुलासा आरोपित से पूछताछ और पुलिस की तहकीकात में सामने आई है। 
फूलियाकलां थाना सूत्रों के अनुसार 7 दिसम्बर को धनोप मातेश्वरी मंदिर पर चोरों ने वारदात को अंजाम दिया।  निज मंदिर से चोरों ने 40 किलो चांदी के मुकुट, छत्र व पाट चुरा लिये थे। इसे लेकर पुुलिस ने केश दर्ज किया। पुलिस ने गुरूवार को वारदात का खुलासा करते हुए सिरोही जिले के मालप गांव निवासी मोतीराम पुत्र कालाराम गरासिया व इसके भाई लालाराम गरासिया व अशोक पुत्र हुसा गरासिया को गिरफ्तार किया था। 
पुलिस ने आरोपितों से पूछताछ और तफ्तीश की तो सामने आया कि 41 वर्षीय आरोपित अशोक गरासिया के खिलाफ अब तक प्रदेश ही नहीं बल्कि दूसरे प्रदेश में भी चोरियों के कुल 18 केस दर्ज हैं। पुलिस का कहना है कि अशोक के खिलाफ पिंडवाड़ा, नाना, सापला जालोर, रामनगर कर्नाटक, जवाहरनगर जयपुर, आबूरोड़, अनादरा, रोहट पाली आदि थानों में ये केस दर्ज हैं। चोरियों के कुछ मामलों में अशोक अपनी आधी जिंदगी यानि की 20 साल जेल में रह चुका है। वहीं दूसरे साथियों के खिलाफ भी चोरी के केस विभिन्न पुलिस थानों में दर्ज होने की बात पुलिस जांच में सामने आई है। 

तीनों आरोपित अदालत में पेश
धनोप माता मंदिर में चोरी के मामले में गिरफ्तार,मोतीराम, लालाराम व अशोक गरासिया को फूलिया पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच शुक्रवार को अदालत में पेश किया, जहां से तीनों को 6 दिन रिमांड पर भेज दिया गया। 
पुलिस ने करवाई मौका तस्दीक
पुलिस ने तीनों आरोपितों से वारदातस्थल की मौका तस्दीक करवाई। इस दौरान आरोपितों ने पुलिस को बताया कि वे किस रास्ते से आये और किस रास्ते से गये। मंदिर में केसे घूसे और कैसे वारदात की।