गत्ता फैक्ट्री में लगी भीषण आग, सिलेंडरों के धमाकों से दहला उद्योग कुंज

   

कानपुर । कानपुर के दादा नगर उद्योग कुंज में बुधवार देर रात गत्ता फैक्ट्री में भीषण आग गई। इससे अंदर रखे चार सिलेंडर भी तेज धमाके के साथ फट गए। आनन-फानन में लोगों ने सूचना कंट्रोल रूम पर दी। मौके पर दमकल की आठ गाड़ियां पहुंचीं और चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग से करीब एक करोड़ का नुकसान बताया जा रहा है।

गुजैनी निवासी संजय कुमार गुप्ता की दादा नगर साइड -5 में गत्ता फैक्ट्री है। रात करीब तीन बजे फैक्ट्री में आग लग गई। आग की लपटों को देख रात की ड्यूटी में मौजूद गार्ड बाबू सिंह पाल ने फैक्ट्री के मालिक और कंट्रोल रूम पर दी, लेकिन तभी फैक्ट्री में रखे चार सिलेंडर भी आग लगते ही तेज धमाकों के साथ फट गए। धमाकों से उद्योगकुंज फैक्ट्री एरिया दहल गया। कंट्रोल रूम की सूचना पर फजलगंज की चार गाड़ियां पहुंचीं, लेकिन आग की लपटों ने फैक्ट्री के बगल में बने इलेक्ट्रॉनिक धर्मकांटा को भी चपेट में ले लिया था।

आग की भयावहता को देख अन्य फायर स्टेशन से भी चार दमकल की गाड़ियां मंगाई गई। इसके बाद दमकलकर्मियों ने जेसीबी की मदद से फैक्ट्री की दीवार और टीनशेड तुड़वाकर करीब चार घण्टे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। फैक्ट्री मालिक का कहना है कि शार्ट सर्किट से आग लगी है। आग से पेपर रोल, मशीन सहित एक करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है।