कृषि बिल मील का पत्थर साबित होगा- देवनानी

 



भीलवाड़ा (हलचल)। सरकार किसानों की आय 2022 तक दुगनी करने के लक्ष्य को लेकर केंद्रीय कृषि बिल लेकर आई है संसद में पास हुए कृषि विधेयक 70 वर्ष बाद के अन्य दाताओं को बिचौलियों से पूर्णता मुक्ति मिलेगी साथ ही अपनी उपज को इच्छा अनुसार मूल्य पर कहीं पर भी बेचने की आजादी मिलेगी इस नए कानून से कृषि में आमूलचूल परिवर्तन आएगा तेज विकास होगा तथा रोजगार के अवसर तेजी से बढ़ेंगे किसानों का एक देश एक बाजार( वन नेशन वन मार्केट) का सपना भी पूरा होगा  भारतीय जनता पार्टी जिला कार्यालय में अजमेर विधायक एवं पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने पत्रकारों से मुखातिब होते हुए कहीं । इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राजस्थान में किसानों का संपूर्ण कर्ज माफी का वादा कर कांग्रेस सत्ता में आई लेकिन आज दिन तक राजस्थान के किसानों का कर्ज माफ होने का इंतजार कर रहा है । विगत भाजपा सरकार ने किसानों को राहत देते हुए विद्युत बिलों में ₹10000 तक की छूट दी थी जिसे कांग्रेस सरकार के आते ही समाप्त कर दी गई कांग्रेसी सरकार किसानों की घोर विरोधी है।

प्रेस वार्ता के दौरान भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष लादू लाल तेली ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि किसानों को अपनी उपज की एमएसपी मिलती थी मिलती है मिलती रहेगी।  अब किसानों के पास एमएसपी के अतिरिक्त भी अपनी उपज बेचने के कई विकल्प होंगे। देश के किसानों को ₹6000 प्रति वर्ष भाजपा सरकार द्वारा हस्तांतरित किए गए जो पीएम किसान योजना के तहत संभव हुआ है जिससे 10.62 करोड किसान लाभान्वित हुई है । तेली ने कहा कि किसान कल्याण विधेयक में किसान हित सर्वोपरि रहेगा विपक्ष द्वारा किसानों को भ्रमित कर उन्हें गलत रास्ते ले जाया जा रहा है। इससे पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष लादू लाल तेली का कार्यकाल सफलतम1 वर्ष पूर्ण करने पर सभी ने बधाइयां दी । प्रेस वार्ता में भाजपा जिला प्रभारी दिनेश भट्ट जिला प्रमुख बरदी भील जिला महामंत्री बाबूलाल टाक मुरलीधर जोशी प्रवक्ता कैलाश सोनी उपस्थित थे।