आधी रात को नारियल व दुग्ध लेने के बहाने आये लुटेरों ने  कारोबारी पर हमला कर लूटे नकदी व गहने

 

 भीलवाड़ा हलचल। शहर कोतवाली इलाके के आदर्श विहार में आधी रात को नारियल और दुग्ध लेने के बहाने आये दो बदमाशों ने सर्राफा कारोबारी पर हमला कर नकदी और गहने लूट लिये। घायल कारोबारी का जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया गया है।  बता दें कि पीडि़त सर्राफा कारोबार के साथ-साथ घर पर परचूनी दुकान भी चलाता है और इसी परचूनी दुकान पर लुटेरों ने वारदात को अंजाम दिया है। वहीं पुलिस इस मामले को फिलहाल संदिग्ध मान रही है। अभी पीडि़त पक्ष की कोई रिपोर्ट भी पुलिस को नहीं मिली हैं, हालांकि पुलिस ने वारदातस्थल का जायजा लिया है।  
 पीडि़त के भाई राहुल सोनी ने पुलिस को बताया कि आदर्श विहार में उनके सर्राफा कारोबारी भाई युगलकिशोर सोनी अपने परिवार के साथ रहते है। उन्होंने हाल ही में घर के ही एक कमरे में परचूनी दुकान भी खोली है।  बीती रात करीब 1से 3 बजे के बीच दो नाकाबपोश  युगल किशोर के घर पहुंचे और उन्हें को आवाज देकर जगाया। 
युगल किशोर कमरे से बाहर आये तो दोनों व्यक्तियों ने नारियल, अगरबत्ती व दूध की थैली मांगी।  सोनी ने दरवाजा खोला तो दोनों ने युगलकिशोर का मुंह दबा दिया और उनका  सिर लोहे के दरवाजे से भिड़ा दिया।  इससे वे अचेत हो गये।  दोनों बदमाशों ने बैडरूम में जाकर आलमारी से  सवा लाख रुपये , 50 ग्राम का सोने का हार,  अंगुठियो सहित 10 तोला वजनी गहने लूटकर फरार हो गये। 
इस घटना का पता तब चला जब पड़ौस में रहने वाले अजय सोनी, विष्णु सोनी पानी की मोटर चलाने के लिए उठे और दरवाजा खुला देख कर अंदर गए। जहां युगलकिशोर गेट के नजदीक अचेत पड़े थे। उनकी पत्नी पिंकी व बच्ची नींद में सोये हुये थे।  पड़ौसियों ने दोनों को नींद से उठाकर युगलकिशोर को महात्मा गांधीअस्पताल पहुंचाया।  प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छूट्टी दे दी गई। उधर, वारदात की सूचना मिलने पर कोतवाल नेमीचंद चौधरी भी मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। फिलहाल इस वारदात को लेकर कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है। 
कोतवाल चौधरी का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला संदिग्ध प्रतित हो रहा है। व्यापारी की मानसिक स्थिति अभी ठीक नहीं है। उनसे बातचीत करने के बाद ही जैसी रिपोर्ट मिलेगी, उसके आधार पर कार्रवाई की जायेगी। 



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना