अब पाठशालाओ के आसपास का क्षेत्र होगा तंबाकू मुक्त

 

 राजसमन्द ( राव दिलीप सिंह ) वैश्विक महामारी कोरोना के साथ मानव जाति के जारी संघर्ष के बीच, कोरोना संक्रमण में सहायक तंबाकू उत्पाद का प्रयोग तथा  इनके सेवन के बाद पीक थूकने पर, अब प्रतिबंध लगाया जाएगा ! वैसे तो कोरोना जैसी महामारी के संक्रमण में सार्वजनिक स्थानों पर पीक थूकने पर  पाबंदी व दंड का प्रावधान है, लेकिन अब देश के भावी भविष्य विद्यार्थियों तथा विद्यालयों को तंबाकू से मुक्त करने के लिए , सरकारी स्कूलों के आसपास के क्षेत्र को पूरी तरह से तंबाकू मुक्त क्षेत्र के रूप में विकसित किया जाएगा ! इसके लिए सरकारी स्कूल के चयनित शिक्षकों को प्रशिक्षण देकर, इन्हें मास्टर ट्रेनर या दक्ष प्रशिक्षक के रूप में लगाया जाएगा ! शिक्षा निदेशालय माध्यमिक की ओर से इस आशय के लिए आदेश जारी किए गए हैं ! शुक्रवार को वेबीनार के माध्यम से राज्य के संपूर्ण शिक्षा अधिकारियों को यह जानकारी दी गई है ! ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं प्रशिक्षण के लिए नामित ट्रेनर को बताया कि तंबाकू मुक्त क्षेत्र बनाने का अभियान अगले माह अगस्त से प्रारंभ हो जाएगा ! इस तंबाकू तंबाकू मुक्ति अभियान के दौरान मास्टर ट्रेनर के माध्यम से स्कूल के समीप तंबाकू उत्पादों की बिक्री नहीं करने के लिए, दुकानदारों को समझाया जाएगा ! इसके नहीं मानने पर ऐसे दुकानदारों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही के लिए पुलिस की सहायता ली जाएगी ! हालांकि सन 2004 में भी राज्य सरकार द्वारा 100 मीटर के दायरे में तंबाकू उत्पादों के बेचान व सेवन पर रोक लगने के आदेश जारी हुए थे , लेकिन आदेशों के जारी होने का यह क्रम जारी है ! शायद  इस बार जारी आदेशों की अक्षरसह अनुपालना होगी ! राज्य सरकार द्वारा जारी इस प्रकार के पर्यावरणहितकारी  व स्वास्थ्यवर्धक कदम की राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) राजसमंद के पदाधिकारियों ने स्वागत किया है ! शिक्षक नेता कैलाश सामोता सभा अध्यक्ष कुंभलगढ़, मुकेश कुमार वैष्णव सभा अध्यक्ष आमेट, बाबूलाल ऐचरा अध्यक्ष चारभुजा, सूरजमल मीणा मंत्री  चारभुजा, विक्रम सिंह मंत्री कुंभलगढ़ , गणपत लाल जाट आमेट, धर्मेंद्र सालवी नाथद्वारा, प्रियदर्शनी शर्मा भीम, रामचंद्र शेषमा रेलमगरा, देवनारायण मीणा देवगढ़, दिलीप सिंह चौधरी भीम ने शिक्षा विभाग की इस पहल की सराहना की है !


 


 इनका कहना है -


              शिक्षा निदेशालय द्वारा तंबाकू उत्पादों के बेचान पर रोक के आदेश कोरोनारोधक , स्वास्थ्यवर्धक तथा पर्यावरण हितकारी हैं ! अतः आदेश की अक्षरसह अनुपालना होना जरूरी है ! 


कैलाश सामोता ब्लॉक अध्यक्ष कुंभलगढ़  राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय), राजस्थान



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना