कलेक्टर नकाते ने मरीजों के जान हाल, अस्पताल की देखी व्यवस्था,की हौसला अफजाई

 

 भीलवाड़ा।जिला कलक्टर   शिवप्रसाद एम नकाते ने रविवार को महात्मा गांधी चिकित्सालय का सघन निरीक्षण किया। साढ़े तीन घंटे से ज्यादा लंबे मेराथन निरीक्षण में उन्होंने पूरे चिकित्सालय का निरीक्षण किया तथा कोविड तथा गैर कोविड-19 मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही चिकित्सा सुविधाओं की समीक्षा की। उन्होंने मरीजों तथा डाक्टर्स के साथ भी विस्तार के चर्चा की तथा जायजा लिया।
         जिला कलक्टर ने निरीक्षण के दौरान कारोना महामारी से निपटने के लिये जिले में अब तक किये गये प्रयासों तथा आगे की कार्ययोजना के बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. मुशताक खान, मेडिकल काॅलेज के प्रिंसिपल डा. राजन नंदा, एमजी अस्पताल के पीएमओ डा. अरुण गौड के साथ विस्तार से चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिये कि जिला चिकित्सालय सहित जिले के सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक केन्द्रों पर भी कोरोना महामारी से निपटने के लिये आवश्यक इंतजाम व दवाइयों की हर समय उपलब्धता सुनिश्चित की जाये।
        उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी संक्रमण से निपटने के लिये सावधानी के उपाय करने तथा आमजन को जागरुक करने की आवश्यकता भी है। उन्होंने कहा कि बचाव ही श्रेष्ठ उपाय है। इसके लिये लोगों को जागरुक करने के लिये जगह-जगह कोरोना संक्रमण से बचाव सम्बंधित जानकारी देने वाले हाॅर्डिंग व फ्लेक्स लगाये जाने चाहियेे। राज्य सरकार तथा चिकित्सा विभाग द्वारा जारी गाइड-लाइन की पालना कराया जाना भी सुनिश्चित किया जाय।
        जिला कलक्टर ने महात्मागांधी चिकित्सालय में ओ.पी.डी., पीडियाट्रिक वार्ड, एम.आर.आई सेंटर, सर्जरी आउटडोर, मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा वितरण केन्द्र, मुख्यमंत्री निःशुल्क जांच योजना, हैपेटाइटस ट्रीटमेंट सेंटर, ईसीजी कक्ष, आई आउटडोर, बायोकेमिस्ट्री लेब, आॅपरेशन थियेटर आदि का गहनता से निरीक्षण किया तथा आवश्यक निर्देश प्रदान किये।
       उन्होेने सर्जिकल आईसीयू, सीसीयू, डायलिसिस सेंटर, कार्डियक डे केयर सेंटर आदि का भी निरीक्षण किया तथा वहां उपलब्ध सविधाओं, सुविधाओं के विस्तार आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। जिला कलक्टर ने वहां मौजूद डाक्टर तथा नर्सिंग स्टाफ से बातचीत करते हुए उन्हें अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए जनसेवा करने को प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि डाॅक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ को आयुर्वेदिक काढे के साथ योगा को भी अपनाना चाहिये ताकि वे बेहतर सेवा दे सके।
        जिला कलक्टर ने मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र तथा मदर मिल्क बैंक का भी निरीक्षण किया। उन्होंने मदर मिल्क बैंक की व्यवस्थाओं को सराहा तथा लेबर रुम, नवजात शिशु वार्ड में सुविधाओं को और बेहतर बनाने के निर्देश दिये। जिला कलक्टर ने ब्लड बैंक में सिंगल डोनर प्लेटलेट तथा कंपोनेंट मशीन को भी देखा तथा उनकी कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी ली। उन्होंने आॅक्सीजन गैस सिलेंडर की उपलब्धता निरंतर बनाये रखने, चिकित्सालय में मरीजों के लिये लिफ्ट सुविधा चालू रखने, सुरक्षा एवं सिक्यूरिटी स्टाफ, मोर्चरी आदि के बारे में भी पीएमओ डा. गौड से जानकारी प्राप्त की।
        जिला कलक्टर ने कोविड सेंपल कलेक्शन सेंटर पर सेंपल देने आए मरीजो से बातचीत कर उनके बारे में जानकारी ली। मरीज द्वारा स्वप्रेरणा से सेम्पल देने आने की कहने पर जिला कलक्टर ने उसकी हौंसला अफजाई की तथा सेंपल देने के बाद 14 दिन तक अपने घर पर ही रहने को कहा। जिला कलक्टर ने नवप्रसूताओं से भी उनके तथा नवजात शिशु के स्वास्थ्य की जानकारी ली। नवप्रसुताओं ने किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होने और दवाइयां निःशुल्क उपलब्ध होने की जानकारी जिला कलक्टर को दी।
        अपने परिचित के इलाज के लिए आये सहाड़ा विधायक कैलाश त्रिवेदी जिला कलक्टर के आईसीयू निरीक्षण के दौरान साथ रहे। त्रिवेदी की उपस्थिति में जिला कलक्टर ने कार्डियक सेंटर में 50 हजार मूल्य की उपयोगी मशीन का शुभारम्भ किया।
        जिला कलक्टर के निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. मुश्ताक खां, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अरुण गौड, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डा. राजन नंदा, डाॅ. देवकिशन, डॉ.मुकटराज शक्तावत सहित नर्सिंग स्टाॅफ भी उपस्थित था।
        प्रारंभ में
               जिला कलक्टर श्री एन शिवप्रसाद मदान ने बाद में मेडिकल काॅलेज का निरीक्षण किया तथा कहा कि मेडिकल काॅलेज में भवन, जांच सुविधा तथा स्टाफ सहित सभी समस्याओं का त्वरित समाधान केे प्रयास किये जाएंगे। आमजन को राहत प्रदान करते हुए सुशासन देने की राज्य सरकार की मंशा तथा प्राथमिकता के अनुसार कार्य किया जायेगा।
                 जिला कलक्टर ने मेडिकल काॅलेज के निरीक्षण के दौरान कहा कि एम सी आई के नियमों के अनुसार काॅलेज में सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के गंभीर प्रयास किये जायेंगे। यदि और भी कोई नये प्रस्ताव या सुझाव हो तो उन्हें भी प्रस्तुत किया जाय।
        जिला कलक्टर ने मेडिकल काॅलेज के विस्तार सहित रिनोवेषन कार्यो के प्रस्ताव डिटेल के तैयार कर भिजवाने के निर्दश दिये। मेडिकल काॅलेज के प्रिंसीपल डा. राजन नंदा ने मेकेनिकल लॉन्ड्री, इमरजेंसी विंग सहित अन्य सुविधाओं एवं विस्तार की आवश्यकता जताई।
कोविड केयर सेंटर पर उपलब्ध सुविधाओं को जांचा
जिला कलक्टर ने महाप्रज्ञ भवन स्थित कोविड केयर सेंटर का भी निरीक्षण किया। सेंटर पर उपलब्ध खाने-पीने एवं अन्य सुविधाओं को लेकर उन्होंने यहां भर्ती संक्रमितों से बात की। संक्रमितों ने सभी व्यवस्थाओं की भरपूर सराहना करते हुए डॉक्टर्स के व्यवहार की प्रशंसा की। इस पर जिला कलक्टर ने डॉक्टर्स की टीम का उत्साहवर्धन किया।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार