कोरोना से बचाने में मददगार साबित होंगे आयुर्वेद के यह 3 नुस्खे

 

कोरोना वायरस का खतरा अभी कम नहीं हुआ है और संक्रमण के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं और पूरे भारत में अब तक 6 लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इस वायरस से बचने के लिए डॉक्टरों के द्वारा तरह-तरह की इलाज प्रक्रिया के बारे में भी बताया जा रहा है जो प्रभावी रूप से मददगार भी साबित हो रहे हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद भी घर इलाज करके ही इस वायरस के संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं।


इसी बीच आयुर्वेद के बारे में विशेष जानकारी रखने वाले अनुभवी डॉक्टर गिरिधर काजे के द्वारा कुछ आयुर्वेदिक इम्युनिटी बूस्टर टिप्स के बारे में बताया गया है जो कोरोना वायरस को खत्म करने में प्रभावी रूप से मददगार साबित हो सकती है। जो लोग संक्रमण से ग्रसित नहीं हैं और अपनी इम्युनिटी को मजबूत बनाए रखना चाहते हैं तो उन्हें इन टिप्स को जरूर फॉलो करना चाहिए।


​आयुर्वेदिक तरीकों से मजबूत होगी इम्युनिटी


NBT


डॉक्टर गिरिधर काजे इस बारे में जानकारी देते हुए बताते हैं कि आयुर्वेद में ऐसे कई तरीके हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए प्रभावी रूप से मददगार साबित हो सकते हैं। यही वजह है कि कोरोना वायरस से बचे रहने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में भी आयुर्वेद काफी मददगार साबित हो सकता है। डॉक्टर काजे अपने अनुभव के आधार पर इस बारे में विशेष जानकारी दी है, आइए इसके बारे में आपको पूरी जानकारी देते हैं।


सबसे पहले अपनाएं यह तरीका


NBT


कोरोना वायरस के इस दौर में मौसम बदलने के कारण भी लोगों को सर्दी, जुकाम और तरह-तरह की समस्याओं से गुजरना पड़ रहा है। इस दौरान इम्युनिटी को मजबूत बनाए रखने के लिए नीचे बताई जा रही टिप्स को जरूर फॉलो करें।



  • कोविड से बचने के लिए सबसे पहले हमें गर्म पानी पीने की आदत डालनी होगी।

  • स्टोव पर स्टील के कंटेनर में पीने के पानी को अच्छी तरह से उबालें।

  • अंत में, चार या पांच पेपरमिंट के पत्ते, एक छोटा अदरक का टुकड़ा और लौंग डालें और इसे 3-4 मिनट तक उबलने दें।

  • सुबह में एक बार इस पानी के मिश्रण को तैयार करें और इसका सेवन करें।

  • पूरे दिन साधारण पानी पीने के बजाय इस पानी को पीने के लिए इस्तेमाल करें।


आयुर्वेद के अनुसार इम्युनिटी बूस्ट के लिए करें चीज इनका सेवन


आयुर्वेद में तुलसी के पौधे का प्रत्येक भाग का उपयोग सेहतमंद बने रहने के लिए किया जाता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए यह निम्न प्रकार से कारगर साबित होगी।



  • लगभग एक लीटर पानी में तुलसी के पत्ते को अच्छी तरह उबाल लें। तुलसी के पत्तों को तब तक उबालें, जब तक एक लीटर पानी, एक चौथाई न हो जाए।



  • अब एक चौथाई पानी के बचे होने पर 4-6 दाने काली मिर्च, थोड़ा सा गुड़ और एक चम्मच नींबू रस डालकर इसे तैयार किया जा सकता है।



  • इसे हर्बल चाय के रूप में आप दिन में एक या दो बार भी पी सकते हैं। बुखार के लक्षणों की शुरुआत में केवल कुछ दिनों के लिए इसका सेवन कर सकते हैं।



  • आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का कहना है कि निरंतर सेवन किया जाना ठीक नहीं है। इसलिए 5 से 6 दिन के बाद इसका एक बार सेवन जरूर कर सकते हैं।


सर्दी, खांसी होने पर क्या करें ?


कोरोना वायरस के प्रमुख लक्षणों में देखा जाए तो सर्दी, खांसी भी शामिल है। ऐसी स्थिति में इस आयुर्वेदिक टिप्स को अपनाकर फायदा देखा जा सकता है। इसके लिए आपको अदरक के कटे हुए छोटे हुए टुकड़े, 1/2 चम्मच जीरा, 1/2 चम्मच हल्दी और एक चम्मच नींबू रस को एक कप पानी में मिलाकर इसका सेवन करना है। सर्दी, खांसी से पीड़ित लोगों में इस आयुर्वेदिक ड्रिंक का फायदा बड़ी तेजी से देखने को मिलेगा। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाती है और कोरोना वायरस के इस लक्षण को भी ठीक करने के काम आ सकती है।


​छोटे बच्चों का भी रखें विशेष ध्यान


कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ रहे मामले को देखते हुए जरूरी नहीं है कि यह केवल बड़ों और युवाओं पर ही असर दिखाएगा बल्कि घर में रहने वाले छोटे बच्चे भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। इसलिए घर में रहने वाले छोटे बच्चों का भी विशेष ध्यान रखें।



  • छोटे बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए इस आयुर्वेदिक टिप्स को फॉलो कर सकते हैं।



  • पेपरमिंट के तेल को ग्रॉसरी शॉप से खरीद लें। अब दो से तीन बूंद पिपरमेंट को एक चम्मच शहद में मिलाएं और इसे छोटे बच्चों को चाटकर खाने के लिए कहें।



  • यह न केवल बच्चों के लिए, बल्कि वयस्कों के लिए भी एक बेहतरीन आयुर्वेदिक घरेलू उपचार है।



  • आयुर्वेद विशेषज्ञों का मानना है कि इस टिप्स में न केवल शरीर की प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने की क्षमता है, बल्कि यह मानव शरीर की श्वसन प्रणाली को भी कोरोना वायरस से सुरक्षा प्रदान करने के लिए मददगार साबित हो सकती है।


​बुजुर्गों का रखें विशेष ध्यान


कोरोना वायरस की चपेट से बुजुर्गों को बचाए रखना बहुत जरूरी है। खासकर अगर आपके घर में डायबिटीज और ब्लड प्रेशर से जुड़ी हुई समस्याओं से ग्रसित बुजुर्ग हैं तो उनकी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए ऊपर बताई गई टिप्स को जरूर फॉलो करें। उन्हें नियमित रूप से योग और एक्सरसाइज करने के लिए भी कहें ताकि उनकी इम्युनिटी इस तरह से भी मजबूत की जा सके। इन टिप्स को फॉलो करके आप रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में भी सफल रहेंगे और कोरोना वायरस का खतरा भी कम होगा।


​लंच के बाद न सोएं


लंच के बाद सोने की आदत अगर आपको भी है तो यह आपकी सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक साबित हो सकता है। लंच करने के तुरंत बाद सोने के कारण पाचन क्रिया ठीक तरीके से ना होने पर आपके शरीर को जरूरी पोषक तत्व भी नहीं मिलेंगे। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर बना सकता है। इस कारण आप कोरोना वायरस की चपेट में आने के साथ-साथ अन्य बीमारियों से भी ग्रसित हो सकते हैं। इसलिए दोपहर में सोने की आदत को पूरी तरह छोड़ दें।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना