कोरोना की जांच करानी है तो दिखाना होगा आधार या वोटर कार्ड, लोग लिखा रहे फर्जी पते तो कैसे ट्रेस हो संक्रमण


दिल्ली । कोरोना का जांच कराने वालों को अब आधार, वोटर आईडी कार्ड जैसे सरकारी दस्तावेज वाले पहचान पत्र दिखाने होंगे। आपके द्वारा लिखाऐए गए मोबाइल नंबर की भी मौके पर जांच की जाएगी। सटीक निगरानी के लिए आईसीएमआर के निर्देश के बाद दिल्ली सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। मुख्य सचिव विजय देव की ओर से जारी जांच आदेश में कहा गया है कि सरकार की ओर से जारी पहचान पत्र दिखाना होगा उसके बाद ही जांच की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।


दरअसल दिल्ली एनसीआर के साथ ही देश के अन्य शहरों से खबर आ रही थी कि लोग जांच कराते समय अपना पता और मोबाइल नंबर गलत दे रहे हैं। जिसके चलते जांच रिपोर्ट आने पर वह बताए गए पते पर नहीं मिलते तो उनकी ट्रेसिंग में दिक्कत आती है। दिल्ली सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार यदि किसी मरीज की ट्रेसिंग नहीं हो पाती है तो उससे संक्रमण का खतरा और बढ़ जाता है। इससे जिस उद्देश्य से टेस्टिंग हुई उसके मायने नहीं रह जाते।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना