जनवरी 2022 से बदल जायेंगे ये नियम, जानना आपके लिए है बहुत जरूरी

 


साल का अंतिम महीना अपने अंतिम पड़ाव पर है. कुछ दिनों के बाद हम नये साल यानी 2022 में प्रवेश कर जाएंगे. इसलिए आपको ये जानना जरूरी है कि नया साल अपने साथ कई तरह के बदलावों को भी साथ लेकर आ रहा है. इनमें वित्तीय बदलाव भी शामिल हैं. जनवरी, 2022 से आम आदमी के दैनिक जीवन से जुड़े कई नियमों में बदलाव नजर आने लगेगा. इन नियमों में एटीएम से कैश निकासी और बैंक से पैसे निकालने से लेकर जमा करने तक से जुड़े नियम शामिल हैं. आइए, इन बदलावों पर डालते हैं एक नजर.

एटीएम ट्रांजेक्शन : पैसा निकालना होगा महंगा

नये साल से ग्राहकों को फ्री एटीएम ट्रांजेक्शन लिमिट पार करने पर अधिक भुगतान वसूला जाएगा. बैंक अभी ग्राहकों को हर महीने गैर मेट्रो शहरों में पांच बार फ्री निकासी की सुविधा देते हैं. इसके बाद हर निकासी पर चार्ज करते हैं. अब यह चार्ज और महंगा होगा़ जीएसटी भी लगेगा.

कैश लिमिट : पोस्ट पेमेंट बैंक से कैश निकालना महंगा

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के ग्राहकों को एक लिमिट से कैश निकालने व डिपॉजिट करने पर अब चार्ज देना होगा. बैंक के मुताबिक बेसिक सेविंग्स अकाउंट से हर महीने चार बार ही फ्री कैश निकासी की सुविधा है. इसके बाद हर निकासी पर कम से-कम 25 रुपया चार्ज देना पड़ सकता है.

बढ़ेगा टैक्स : एक हजार से कम के कपड़े-जूते हो सकते हैं महंगे

जनवरी से कुछ सामानों पर जीएसटी के स्लैब में भी बदलाव होगा. इसके चलते 1000 रुपये से कम दाम वाले कपड़ों पर जीएसटी की दर पांच फीसदी से बढ़ कर 12 फीसदी हो जायेगी. इसी तरह 1000 रुपये से कम के जूते भी महंगे हो जाएंगे, क्योंकि अब इन पर भी पांच फीसदी के बजाय 12 फीसदी जीएसटी लगेगा.

रसोई गैस की कीमत

आपको बता दें कि सरकारी तेल कंपनियां हर महीने की एक तारीख को रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों पर फैसला लेती है. इस महीने यानी साल 2021 के आखिरी महीने दिसंबर में देश के लाखों लोगों को महंगाई का तगड़ा झटका लगा था. भारत की सबसे बड़ी सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) ने 19 किलो वाले कॉमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत में 103.50 रुपये का इजाफा किया था.

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?