तुलसी दिवस पर रामधाम व सेमुमा स्कूल में 250 तुलसी गमले वितरित

 


भीलवाड़ा  हम हमारी परंपरा, हमारी संस्कृती, हमारी धरोहर की सुरक्षा बनाए रखने में सहयोग करें। बच्चों का कल्याण हो ऐसा काम करें। हमारी परंपरा को आगे बढ़ाएं।जन्मदिन उत्सव पर जप, तप व कीर्तन और भागवत कथा जैसे आयोजन करें। आज हम पाश्चात्य संस्कृति की ओर बढ़ रहे हैं जो गलत है। यह बात श्री रामधाम रामायण मंडल ट्रस्ट, केशव स्मृति सेवा प्रन्यास एवं पर्यावरण संवर्धन संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में तुलसी दिवस के उपलक्ष में रामधाम में आयोजित कार्यक्रम में विश्व प्रसिद्ध मार्केड्य आश्रम ओंकारेश्वर के स्वामी प्रणवानंद सरस्वती ने कही। स्वामी ने कहा कि आज उत्सव, जन्मदिन व त्यौहारो पर तुलसी जैसे पौधे, गीता जैसे साहित्य, सचित्र भगवान लीलाओं की पुस्तके देकर मनाने का आग्रह करें। पर्यावरण संवर्धन संस्थान के अध्यक्ष गोविंद प्रसाद सोडाणी ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान भक्तों में 150 तुलसी के गमले भी वितरित किए गए।  प्रतिभा मानसिंहका ने कहा कि हम तुलसी घर ले जाकर बच्चों को तुलसी पौधे को जल देना सिखाएं। बंशीलाल सोडाणी, वीणा मानसिंहका, नंदू देवी लड्ढा, ओम प्रकाश लड्ढा, शंभू जोशी, अभिषेक अग्रवाल, दामोदर अग्रवाल, ओम शर्मा, शिव जोशी, संजीव गुप्ता आदि मौजूद थे।

सेमुमा कन्या विद्यालय में 100 तुलसी गमले वितरित

उक्त संस्थानों की ओर से सेठ मुरलीधर मानसिंहका कन्या विद्यालय में 100 तुलसी गमले वितरित किये गए। पर्यावरण संवर्धन संस्थान की ओर से विद्यालय मैदान को हरा-भरा करने के लिए 10 ट्रिप पीली मिट्टी डलवाई गई। प्रिंसिपल आशा लड्ढा ने विद्यालय स्टाफ को गमले वितरित करने पर संस्थानों का आभार जताया। इस मौके पर विद्यालय परिवार की पिंकी राठौड़, मीरा मेहता, अनीता जैन, विजय कुमार पारीक भारती, आशा जाट, कौशल्या सुवालका, पूजा उपाध्याय, अनीता कच्छावा, रुकसाना बानो आदि मौजूद थे। तुलसी पौधा वितरण के दौरान खास बात यह रही कि सुवाणा तहसील ब्लाक की सभी महिलाएं तुलसी ले गई और काफी प्रसन्न हुई उनका कहना था कि ग्रामीण क्षेत्र में तुलसी आसानी से नहीं मिलती है।

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?