अब अखबारी कागज पर नहीं परोसा जाएगा खाना, ,कैंसर फैलाने वाली होती है इसकी स्याही

 


मुंबई: महाराष्ट्र के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) ने खाने के सामान को अखबारी कागज में देने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि अखबारी कागज में खाने का कोई भी आइटम न बेचा जाए, क्योंकि इसकी स्याही सेहत के लिए बेहद खतरनाक है।

राज्य के सभी कारोबारियों को खाने का सामान अखबारी कागज में देने पर तुरंत रोक लगाने का आदेश दिया गया है। खासकर वड़ा पाव, पोहा, मिठाई और भेल जैसे सामान, जो ठेले पर बिकते हैं, वहां प्लेट की जगह अखबार के कागज का ही इस्तेमाल किया जाता है। नए आदेश के मुताबिक अखबारी कागज में सामान देने पर उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सड़क किनारे ज्यादातर आइटम कागज पर मिलते हैं
दरअसल सड़क किनारे बिकने वाले खाने के ज्यादातर आइटम कागज में ही लपेटकर दिए जाते हैं। FDA ने कहा कि इसे अगर तुरंत बंद नहीं किया जाता है तो कड़ी कार्रवाई के लिए विक्रेता तैयार रहें। FDA ने आदेश में कहा कि अखबारी कागज में जो स्याही इस्तेमाल की जाती है, उसमें केमिकल की मिलावट होती है। इसलिए इस तरह के कागज में खाने वाले आइटम नहीं दिए जा सकते हैं।

 

2016 में जारी किया गया था आदेश
FDA के संयुक्त आयुक्त शिवाजी देसाई ने कहा कि 2016 में फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने पूरे देश के लिए एक एडवाइजरी जारी की थी। इस एडवाइजरी में फूड आइटम को अखबारी कागज में लपेटने पर बैन लगाया गया था। हमें इस संबंध में काफी शिकायतें मिली हैं कि अभी भी न्यूजपेपर में खाने वाले आइटम दिए जा रहे हैं। इसलिए यह आदेश जारी किया गया है

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?