आबकारी आयुक्त पहुंचे सारण का खेड़ा, लिया जायजा, चेक वितरण किये

 


भीलवाड़ा हलचल। जिले के सारण का खेडा ग्राम में जहरीली शराब दुखान्तिका में कांग्रेस प्रदेश उपाध्‍यक्ष रामलाल जाट और जिला कलेक्‍टर शिव प्रसाद एम नकाते ने मृतकों के आश्रितों को मुख्‍यमंत्री सहायता कोष से 2-2 लाख रूपये और घायलों को 50-50 हजार के चैक सौंपे। इस दौरान वहां पर आबकारी आयुक्‍त जोगाराम ने पहुंचकर मौका-मुआयना किया। उन्‍होने हाथों-हाथ कार्यवाही करते हुए जिला आबकारी अधिकारी सहित 8 अधिकारियों को सस्‍पेंड किया गया। मृतकों का गमगीन महौल के बीच अन्तिम संस्‍कार कर दिया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा, पूर्व विधायक विवेक धाकड, माण्‍डलगढ प्रधान सतीश जोशी और पूर्व जिला प्रमुख शक्ति सिंह हाडा व कन्‍हैयालाल धाकड भी मौजूद रहे। 

            आबकारी आयुक्‍त उदयपुर जोगाराम ने कहा कि यह बडी दुखद घटना है। इसका हम निरिक्षण करने पहुंचे है और इसके लिए जिम्‍मेदारी व्‍यक्तियों पर कार्यवाही की गयी है। जिसमें जिला आबकारी अधिकारी मुकेश देवपुरा, सहायक आबकारी अधिकारी निरोधक दल महिपाल सिंह, मांडलगढ़ के आबकारी निरीक्षक विकासचंद्र शर्मा, प्रहराधिकारी निरोधक दल सरदार सिंह, जमादार नरेंद्र सिंह, सिपाही राजेंद्र सिंह, जगदीश प्रसाद, अरुण कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। कांग्रेस प्रदेश उपाध्‍यक्ष रामलाल जाट ने कहा कि मुख्‍यमंत्री द्वारा मृतकों के परिवारों को दिये गये 2-2 लाखों रूपये के चैक भी प्रदान किये है। इसके साथ ही हथकड शराब निर्माण करने वालों को भी हम नवजीवन योजना के माध्‍यम से समाज की मुख्‍य धारा में जोडने का काम भी हम शुरू कर रहे है। 

              प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष व शिक्षा मंत्री गोविन्‍द सिंह डोटासरा ने संवेदना व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि इस प्रकार की घटनाऐं नहीं होनी चाहिए मगर घटना होने के बाद में जो सरकार एक्‍शन लेती है उससे पता चलता है कि राज्‍य में सुशासन कितना है।