मामी की हत्या करने वाला आरोपी गिरफ्तार

जयपुर/  जिले के  शाहपुरा इलाके में 27 जनवरी की देर रात हुई महिला की हत्या का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने मृतका के सगे भांजे रामजी लाल मीणा (21) को गिरफ्तार किया है। रामजी लाल अपनी ममेरी बहन यानी मृतका संज्या देवी (35) की बेटी को फोन करके बार-बार परेशान करता था। मामी ने उसे फोन करने की मना किया तो उसने गला रेतकर उनकी हत्या कर दी।
पुलिस ने बताया कि शाहपुरा इलाके में 28 जनवरी की सुबह संज्या मीणा नाम की महिला का शव उनके घर के पास खेत में मिला था। गले पर धारदार हथियार के निशान थे। पुलिस ने मृतका के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल्स खंगाली। तब उनकी भांजे रामजी लाल से वारदात से पहले बातचीत का पता चला। पुलिस ने रामजी लाल का पता किया तो वह घर से गायब मिला। उसने मोबाइल फोन भी बंद कर रखा था। बाद में 12 घंटे के भीतर ही लोकेशन ट्रेस कर पुलिस ने रामजीलाल को शाहपुरा से धरदबोचा। उसने पूछताछ में हत्या करना स्वीकार कर लिया।

 
जयपुर ग्रामीण एसपी शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि रामजी लाल परसाला की ढाणी, तन कांट थाना शाहपुरा का रहने वाला है। उसके मामा शाहपुरा में ही ढाणी नरसिंगावाली तन घासीपुरा में रहते हैं। इस कारण रामजीलाल का उनके यहां काफी आना जाना था। लॉकडाउन के दौरान भी रामजीलाल ज्यादातर वक्त अपने मामा के घर ही रुका था।

इसके बाद जब वहां से गया तो आरोपी अपनी मामा की बेटी को बार-बार फोन कर परेशान करने लगा। तब बेटी ने अपनी मां संज्या देवी को बताया कि रामजीलाल भैया उसे फोन कर परेशान करते हैं। मामी ने उसे कई बार समझाया कि वह उनकी बेटी को फोन करके परेशान नहीं करे। लेकिन रामजी ने फोन करना बंद नहीं किया। तब संज्या ने उसे सबक सिखाने की धमकी दी तो रामजीलाल ने भी उसे देख लेने की धमकी दे डाली।
कोटपूतली एएसपी रामकुमार कस्वां ने बताया कि रामजीलाल ने अपनी मामी को सबक सिखाने के लिए हत्या की साजिश रची। 27 जनवरी की रात को 10 बजे मामी को फोन कर घर के बाहर बातचीत करने के लिए बुलाया। मामी संज्या अपने खेत में पहुंची तब उनकी रामजीलाल से कहासुनी हो गई। इससे रामजीलाल ने संज्या का मुंह दबाकर चाकू से गला काट दिया। वह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़ी। तब भी रामजीलाल ने संज्या के गले पर चाकू से कई वार किए। इससे संज्या की मौत हो गई। फिर आरोपी वहां से भाग निकला।