अनुसूचित जाति के लोगों पर अत्याचार के मामलों में कार्रवाई की मांग, सीएम के नाम एसडीएम को दिया ज्ञापन

 

 भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा और बाड़मेर जिले में अनुसूचित जाति जनजाति के लोगों पर आये दिन अत्याचार व मारपीट और पूर्वजों की समाधियों पर तोडफ़ोड़ के मामलों को लेकर भारतीय मेघवाल युवासंघ ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री के नाम आसींद एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। 
भीलवाड़ा जिलाध्यक्ष राहुल देव ने ज्ञापन में बताया कि बाड़मेर जिले में मेघवाल समाज अनुसूचित जाति के पूर्वजों की समाधियों पर स्वर्ण जाति के लोगों द्वारा तोडफ़ोड़ करने व जातिगत शब्दों का प्रयोग कर समाज में द्वेषता फैलाने का काम किया गया। इसे लेकर समाज में रोष है। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाये। ज्ञापन में बताया गया है कि भीलवाड़ा जिले के मांडलगढ़ थाना क्षेत्र में बलाई जाति के व्यक्ति पर बकरी चोरी का आरोप लगाकर गंभीर मारपीट की गई। इसी तरह रायपुर थाने के नांदशा में सरपंच पति रामचंद्र बलाई से राजपूत समाज के लोगों ने मारपीट कर उसे अपमानित किया गया। रायपुर थाने में एससीएसटी एक्ट में रिपोर्ट दी, पर पुलिस ने शांतिभंग में गिरफ्तार कर कार्रवाई में टालमटोल किया गया। इसे लेकर भी रोष है। आसींद के गोविंदपुरा में मुकेश खटीक को फिल्मी अंदाज में अगवा कर बंधक बनाकर मारपीट के मामले में भी पुलिस राजनैतिक दबाव के चलते आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। ज्ञापन में इन सभी मामलों में न्याय की मांग की है। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक