23 साल के क्रिकेट करियर का अंत: हरभजन सिंह ने सभी फॉर्मेट से लिया संन्यास

 


नई दिल्ली। 2016 से ही टीम इंडिया से बाहर चल रहे दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है। खबरों की माने तो वह IPL की किसी फ्रेंचाइजी के सपोर्ट स्टाफ या कोच बन सकते हैं। हरभजन मेगा ऑक्शन में भी टीम के लिए अहम भूमिका निभा सकते हैं।
1998 में खेला था पहला टेस्ट
पंजाब से आने वाले हरभजन सिंह ने अपना पहला टेस्ट मैच 1998 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट 2015 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। वहीं भज्जी ने अपना पहला वनडे मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ 1998 में खेला था। उनका आखिरी वनडे मुकाबला 2015 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ था।
भारत के लिए 103 टेस्ट मैच खेल चुके हैं भज्जी
भज्जी निकनेम से मशहूर हरभजन सिंह ने टीम इंडिया के लिए 103 टेस्ट मैच खेले हैं। उनके नाम 417 विकेट दर्ज है। वनडे में उन्होंने 236 मैचों में 269 विकेट लिए हैं। टी-20 में भज्जी ने भारत के लिए 28 मुकाबले खेले हैं। इनमें उन्होंने 25 विकेट झटके हैं।
2016 एशिया कप में अपना आखिरी मुकाबला खेला था
2016 में हरभजन ने यूएई के खिलाफ एशिया कप में अपना आखिरी टी-20 मैच खेला था। IPL में हरभजन के नाम 163 मैच में 150 विकेट दर्ज है। वे मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेल चुके हैं। 41 साल के हरभजन इस IPL सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स का हिस्सा थे। हालांकि, IPL 2021 के दूसरे फेज में उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। हरभजन ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच 2016 में खेला था।

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?