रामधाम में संत समागम, एक दर्जन संतों का शॉल ओढ़ाकर किया सम्मान

 

भीलवाड़ा । तुलसी दिवस की पूर्व संध्या पर रामधाम में शुक्रवार शाम अद्भुत संत समागम हुआ। एक दर्जन संतों का श्री रामधाम रामायण मंडल ट्रस्ट की ओर से शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। यह जानकारी देते हुए ट्रस्ट के सचिव अभिषेक अग्रवाल एवं रामपाल शर्मा ने बताया की सम्मान समारोह के दौरान विश्व प्रसिद्ध मार्केडय आश्रम ओकारेश्वर के स्वामी प्रणवानंद सरस्वती जी ने कहा कि हम आदर सत्कार सम्मान देना सीखे। जितना हम आदर सत्कार दूसरों को देंगे उतना ही वापस लौट कर आएगा। हमें प्रतिदिन तुलसी पर जल चढ़ाना चाहिए और दीपक लगाना चाहिए। हमे साधु से सद्गुण, सदाचार,  सत्संग,  सरल व्यवहार, नम्रता, ज्ञान वैराग्य, ईश्वर भक्ति में लीन रहना आदि सीखना चाहिए। दुर्व्यवहार अभिमान आलस्य विषय भोग आदि से दूर रहकर सदैव त्याग करना ही अपना धर्म समझना चाहिए। उपाध्यक्ष हेमंत मानसिंहका एवं दीपक मानसिंहका ने रामधाम में पिछले 63 वर्षों से सनातन संस्कृति के प्रचार प्रसार की जानकारी दी। ट्रस्ट के दामोदर अग्रवाल ने बताया कि इस मौके पर स्वामी प्रणवानंद सरस्वती, स्वामी किशोर चैतन्य,स्वामी ओम चैतन्य, स्वामी अवरागा नन्द, स्वामी दामोदर नंद, स्वामी केशवानंद, सूरज गिरी महाराज, मोहन चैतन्य, अनूप चैतन्य, प्रवीण पुरी, बाबा मित्यानन्द महाराज आदि का सम्मान वरिष्ठ सदस्य बंशीलाल सोडाणी, वीणा मानसिंहका, सरिता सोमानी, आशीष सोमानी, आशीष मानसिंहका, गोपाल अग्रवाल आदि ने किया। कार्यक्रम का संचालन ट्रस्ट के प्रवक्ता गोविंद प्रसाद सोडानी ने किया। प्रवक्ता सोडाणी ने बताया कि संतों की विदाई शनिवार सुबह 9:15 बजे होगी। संत मंडली शक्करगढ़, प्रतापपुरा स्थित सन्यास आश्रम जाएगी। संयोजक कन्हैयालाल मूंदडा व नवरत्न पारीक ने बताया कि रामधाम में प्रतिदिन सुबह 9:30 से 10:00 बजे तक स्वामी अनन्तदेव गिरि महाराज के मुखारविंद से शुद्ध उच्चारण वाली गीता का पाठ होगा। 

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?