रोडवेज बस स्टैंड के पास तीन बालकों को भिक्षावृत्ति से मुक्त करवा शेल्टर होम में आश्रय दिलाया

 


भीलवाड़ा (हलचल)। भारत सरकार के महिला व बाल विकास मंत्रालय की परियोजना चाइल्डलाइन 1098 भीलवाड़ा पर बाल श्रमिक की सूचना प्राप्त होने पर मानव तस्करी विरोधी इकाई व चाइल्डलाइन 1098 ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए रोडवेज बस स्टैंड के पास पॉलीथिन व कचरा बीन रहे व भिक्षावृत्ति में लिप्त तीन बालकों को रेस्क्यू किया गया। इस कार्यवाही में मानव तस्करी विरोधी यूनिट के सब इंस्पेक्टर विजय सिंह, सहायक उप निरीक्षक ओमप्रकाश, कांस्टेबल जितेंद्र सिंह व चाइल्डलाइन सदस्य राजेश खोईवाल शामिल थे। तीनों बालकों को बाल कल्याण समिति के सदस्य डॉ. राजेश छापरवाल के समक्ष प्रस्तुत किया गया जहां से तीनों को एवरेस्ट शेल्टर होम में आश्रय दिलवाया गया।

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?