जय जवान-जय किसान अभियान का आयोजन

 


भीलवाड़ा । कृषि विज्ञान केन्द्र भीलवाड़ा एवं अरणिया घोडा शाहपुरा पर आजादी का अमृत महोत्सव के तहत् जय जवान जय किसान अभियान का आयोजन 23 से 25 दिसम्बर 2021 तक किया गया। केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञनिक एवं अध्यक्ष डाॅ. सी. एम. यादव ने बताया कि 23 दिसम्बर को भारत के पाँचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह एवं 25 दिसम्बर को प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिवस होने के उपलक्ष में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है। डाॅ. यादव ने बताया कि चौधरी चरण सिंह ने किसानों के जीवन और उनकी स्थिति को बेहतर बनाने के लिए कई अहम् नीतियाँ बनाई और योजनाएँ चलाई। अतः प्रतिवर्ष 23 दिसम्बर को किसान दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।
केन्द्र के प्रोफेसर के. सी. नागर ने केन्द्र की गतिविधियों से अवगत कराते हुए किसानों की आमदनी बढ़ाने हेतु समन्वित कृषि प्रणाली, उन्नत बीज उत्पादन एवं जैविक खेती करने की तकनीकी जानकारी दी। प्रोफेसर नागर ने सुरक्षित अनाज भण्ड़ारण कर उचित समय एवं उचित कीमत पर फसल उत्पाद बेचने का सुझाव दिया।

कृषि महाविद्यालय भीलवाड़ा के मृदा वैज्ञानिक डाॅ. रविकान्त शर्मा ने मृदा की जाँच करवा कर स्वास्थ्य कार्ड की सिफाारिशें के अनुसार कृषि कार्य करने करने तथा मृदा की जाँच हेतु मिट्टी नमूना लेने की विधि बताई। पशुपालन वैज्ञानिक डाॅ. हीरा लाल बुगालिया ने कृषि में डेयरी को सम्मिलित  कर आमदनी बढ़ाने का मन्त्र दिया। 

फार्म मैनेजर महेन्द्र सिंह चुण्ड़ावत एवं गोपाल टेपन ने जय जवान-जय किसान अभियान की की थीम उन्नत खेती, उत्तम किसान को स्पष्ट करते हुए खेती में गुणवत्ता युक्त बीज, बीजोपचार, मृदा की जाँच, सूक्ष्म सिंचाई, कृषि यन्त्रो ंएवं जैव उर्वरकों का उपयोग करने का सुझाव दिया।  सहायक कृषि अधिकारी नन्द लाल सेन ने केन्द्र पर स्थापित सजीव इकाईयों मुर्गीपालन, डेयरी, वर्मीकम्पोस्ट, मशरूम, अजोला एवं नर्सरी इकाई का भ्रमण करवाया। कार्यक्रम में 138 कृषक एवं कृषक महिलाओं ने भाग लिया।  
 

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?