भारत विकास परिषद की प्रांतीय बैठक में सरल सामूहिक विवाह सम्मेलन एवं अन्य आयोजनों पर चर्चा

 


भीलवाड़ा । भारत विकास परिषद की सत्र 2021- 22 की तृतीय प्रांतीय कार्यकारिणी बैठक का आयोजन स्टैचू ऑफ यूनिटी गुजरात में  राष्ट्रीय प्रोजेक्ट संपर्क सेक्रेटरी मालचंद गर्ग की अध्यक्षता एवं राष्ट्रीय मंत्री मुकन सिंह राठौड़ के मार्गदर्शन में किया गया। सर्वप्रथम द्वितीय बैठक की कार्यवाही का अनुमोदन किया गया। जिला सचिव भीलवाड़ा मुकेश  लाठी, जिला अध्यक्ष अजमेर दिलीप  पारीक और जिला सचिव राजसमंद डॉक्टर सुमन बडोला द्वारा अपने अपने जिले की त्रैमासिक रिपोर्ट सदन के समक्ष रखी। प्रांतीय वित्त सचिव गोविंद अग्रवाल द्वारा 18 दिसंबर 2021 तक की प्रांत और प्रांतीय ट्रस्ट की वित्तीय स्थिति का विवरण दिया गया। उन्होंने बताया कि प्रांत द्वारा 500000 रुपये रीजनल भवन हेतु एवं 500000 रुपये संजीवनी प्रकल्प के अंतर्गत प्रांतीय ट्रस्ट मे दिए गए हैं।

प्रांतीय महासचिव सीए संदीप बाल्दी ने प्रांतीय प्रतिवेदन सदन के समक्ष रखा और बताया कि लगातार तीन वर्षों से प्रांत की सदस्य संख्या पूरे देश में सर्वाधिक रही है।  इस वर्ष 2500 सदस्य संख्या के लक्ष्य की तुलना में 2631 सदस्यता संख्या रही है। प्रांत के संपर्क, सेवा, संस्कार और संगठन की रिपोर्ट प्रेषित करते हुए उन्होंने बताया कि प्रांत कि सभी शाखाओं द्वारा प्रकल्पो का आयोजन नीति-नियमों एवं श्रेष्ठता के साथ किया जा रहा है। 2 जनवरी 2022 को आयोजित रीजनल भारत को जानो प्रतियोगिता में प्रांत की टीम की सहभागिता रहेगी, साथ ही उन्होंने सदन को बताया कि 8 व 9 जनवरी 2022 में पहला प्रांतीय हाट बाजार जो महिलाओं में आत्मनिर्भर के बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जा रहा है का आयोजन भीलवाड़ा में आजाद शाखा के माध्यम से किया जा रहा है। बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किया गया की 12 जनवरी 2022 को प्रांत स्तरीय अंतर्महा विद्यालय वाद-विवाद प्रतियोगिता बिजयनगर और प्रांतीय परिषद बैठक 27 फरवरी 2022 को ब्यावर में आयोजित की जाएगी। प्रांतीय महासचिव ने सदन को बताया कि सत्र 2022-23 के लिए शाखा के दायित्वधारियों के चयन हेतु चुनाव पत्र प्रेषित कर दिए गए हैं और सभी से निवेदन किया गया कि 15 फरवरी 2022 तक शाखाएं अपने चुनाव के कार्य पूरा कर ले और 15 मार्च 2022 तक सदस्यों का नवीनीकरण शुल्क संग्रहित कर लें।  अन्य प्रस्ताव में प्रांतीय संयोजक दिनेश शारदा ने प्रस्ताव रखा कि शाखा स्तर पर कम जोड़ों के साथ सरल सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाना चाहिए आवश्यक नहीं है कि हम अधिक संख्या पर जोर दें, इस संदर्भ में प्रांतीय अध्यक्ष ने बताया कि परिषद का मूल उद्देश्य सामाजिक समरसता के साथ-साथ सरल सामूहिक विवाह का आयोजन करना है ना कि भव्य सामूहिक विवाह का। अतः 2 से 3 जोडे लेकर भी शाखाएं इस तरीके के आयोजन कर सकती है।भीलवाड़ा जिला अध्यक्ष शिवम प्रहलादका ने प्रस्ताव रखा कि संपर्क एवं सदस्यों में प्रगाढ़ता बढ़ाने की दृष्टि से इसी तरह से आवासीय बैठक का आयोजन भविष्य में भी किया जाना चाहिए जिसकी सभी सदस्यों ने स्वीकृति प्रदान की। हाट बाजार के आयोजन के संदर्भ में डॉ सुमन  ने प्रस्ताव दिया कि इस तरीके के आयोजन अति रियायती दर पर करते हुए महिलाओं को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए और लोक संगीत के माध्यम से मेले को आकर्षक बनाया जा सकता है। 

भीलवाड़ा जिला सचिव मुकेश लाठी ने प्रस्ताव दिया की संजीवनी मित्रों बंधुओं के आईडी कार्ड बनाकर उन्हें सम्मानित किया जाना चाहिए। इस संदर्भ में प्रांतीय अध्यक्ष ने बताया कि संजीवनी मित्र बने कार्यकर्ताओं के आईडी कार्ड बना लिए गए हैं और जल्दी शाखाओं को भेजे जाएंगे एवं निवेदन किया कि शाखाएं अपने स्थानीय कार्यक्रमों में संजीवनी मित्र बंधुओं को सम्मानित करेगी। पारस बोहरा ने आह्वान किया कि रीजनल भवन हम सब का भवन है अतः हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि उसमें हम अपना सहयोग प्रदान करें इसलिए प्रत्येक शाखा से रीजनल भवन के निर्माण हेतु सहयोग किया जाना अपेक्षित है। उन्होंने शाखा प्रभारी से निवेदन किया कि अपनी अपनी शाखाओं से संभावित सहयोग राशि निर्धारित कर प्रांत को सूचित करें।राष्ट्रीय मंत्री मुकुन सिंह राठौड़ ने अपने उद्बोधन में प्रांत द्वारा किए जा रहे कार्यों की भरपूर प्रशंसा करते हुए स्टेचू ऑफ यूनिटी में आयोजित बैठक को नवाचार एवं भविष्य में कार्यकर्ताओं को जोड़ने का आधार बताया।

अध्यक्षीय उद्बोधन में माल चंद गर्ग ने प्रांत द्वारा किए गए कार्य को नजर ना लगे इस भाव के साथ एक सदस्य एक कार्यकर्ता को बढ़ाएं ऐसा आग्रह सदन के समक्ष रखा और राजसमंद जिले में शाखाओं को सक्रिय करने के लिए मार्गदर्शन प्रदान किया।

बैठक समाप्ति पर कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे में वीरगति को प्राप्त हुए हमारे सैनिकों के लिए 2 मिनट का मौन रखा गया। प्रांत स्तर पर यह पहला प्रयास था जब कोई कार्यकारिणी बैठक आवासीय एवं पारिवारिक रखी गई। स्टेचू ऑफ यूनिटी स्थान अपने आप में एकता का प्रतीक है और इस बैठक से यह संदेश परिषद के प्रत्येक सदस्य को पहुंचाने का संकल्प लिया गया।

बैठक में पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष कैलाश अजमेरा, प्रांतीय संरक्षक मुकुट बिहारी जी मालपानी एवं रामेश्वर काबरा का भी सानिध्य मिला। प्रांतीय अध्यक्ष के आभार व राष्ट्रगान के साथ बैठक संपन्न हुई।

 

Popular posts from this blog

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

झटके पे झटका ... कांग्रेस का जिले में बनेगा बोर्ड ?