चलने-फिरने में असमर्थ बच्चे को नहीं मिल पा रही सरकारी सहायता

 


हमीरगढ़ अल्लाउद्दीन मंसूरी
कवि नगर निवासी 15 साल का बालक 8 साल से चलने-फिरने में असमर्थ है। उसकी रीढ़ की हड्डी गल चुकी है और वह बिना सहारे बैठ भी नहीं सकता। ऐसे में बालक को सरकारी सहायता दिलाने के लिए पांच साल से आवेदन किया जा रहा है लेकिन हर बार आवेदन में कोई न कोई कमी बताकर रिजेक्ट कर दिया जाता है। 
बच्चे की माता सुशीला शर्मा ने रूंधे गले से बताया कि मेरा बेटा भैरूलाल शर्मा पहले ठीक था। वह रेलवे स्टेशन स्थित गायत्री विद्यालय में पढ़ने जाता था। उसी दौरान उसे चलने-फिरने में दिक्कत होने लगी और बाद में वह चलने-फिरने में भी असमर्थ हो गया। डॉक्टरों का कहना है कि भैरू की रीढ़ की हड्डी पूरी तरह गल चुकी है। अब तो हालत यह है कि वह बिना सहारे बैठ भी नहीं पाता। उसकी इस बीमारी का कोई इलाज भी नहीं है। डॉक्टरों का दावा है कि यह बीमारी 100 में से एक बच्चे को होती है। सुशीला का कहना है कि उनके तीन बेटियां और एक ही बेटा है। भैरू को सरकारी सहायता दिलाने के लिए वे पांच साल से प्रयास कर रहे हैं लेकिन ई मित्र से आवेदन करने के बाद विभाग द्वारा आवेदन में कोई न कोई कमी बताकर रिजेक्ट कर दिया जाता है। ऐसे में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। परिजन भैरू के भविष्य को लेकर चिंतित हैं।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू