सीएम के आदेश पर कार्रवाई- जिला आबकारी अधिकारी, डीएसपी, एचएचओ सहित 12 कर्मचारी निलंबित


  भीलवाड़ा हलचल। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भीलवाड़ा शराब दुखांतिका पर दुख व्यक्त करते हुये मृतकों व परिवारजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुये उपचाररत व्यक्तियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। मुख्यमंत्री ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुये लापरवाही बरतने के आरोप में आबकारी व पुलिस विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिये हैं। 
मुख्यमंत्री गहलोत के निर्देश पर मांडलगढ़ डीएसपी विनोद कुमार, थाना प्रभारी मनोज कुमार जाट, बीट प्रभारी हैड कांस्टेबल जगदीशचंद्र, कांस्टेबल शिवराजके साथ ही जिला आबकारी अधिकारी मुकेश देवपुरा, सहायक आबकारी अधिकारी निरोधक दल महिपाल सिंह, मांडलगढ़ के आबकारी निरीक्षक विकासचंद्र शर्मा, प्रहराधिकारी निरोधक दल सरदार सिंह, जमादार नरेंद्र सिंह, सिपाही राजेंद्र सिंह, जगदीश प्रसाद, अरुण कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। प्रकरण की प्रशासनिक जांच संभागीय आयुक्त , अजमेर को सौंपी गई है। वे, सभी पहलुओं पर जांच कर 15 दिन में रिपोर्ट राज्य सरकार को देंगे। 
मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री सहायता कोष से दो-दो लाख रुपये मृतक आश्रितों को, जबकि 50-50 हजार रुपये उपचाररत लोगों की आर्थिक सहायता देने की घेषणा की है। गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में अवैध शराब पर सख्त है। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।