Friday, January 29, 2021

भीलवाड़ा में जहरीली शराब पीने से महिला सहित 4 की मौत, 5 की बिगड़ी हालत, पुलिस में मचा हड़कंप, कलेक्टर-एसपी पहुंचे

 

 भीलवाड़ा (हलचल)। प्रदेश के भरतपुर इलाके में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत के बाद अब जहरीली शराब ने भीलवाड़ा में भी कहर बरपाया है। जिले के सारण का खेड़ा गांव में एक महिला सहित चार लोगों की मौत हो गई। वहीं 5 अन्य की हालत बिगड़ गई। इन सभी को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।  उधर, इस शराब कांड से ग्रामीणों में जहां दहशत फैली है, वहीं पुलिस में हड़कंप मच गया है। बता दें कि मांडलगढ़ थाना इलाके के साथ ही जिलेभर में ऐसी हथकढ़ शराब बेरोकटोक बिक रही है, लेकिन पुलिस और जिम्मेदार आबकारी महकमा फौरी कार्रवाई कर मौन धारण किये हुये हैं, यही वजह है जिससे की यह बड़ी घटना घटित हुई है।  

मांडलगढ़ पुलिस के अनुसार, सारण का खेड़ा गांव में जरायमपेशा जाति के लोगों ने यह जहरीली हथकढ़ शराब बनाई थी। इसके बाद इसे ग्राहकों को बैचा गया। इस शराब को पीने से सारण का खेड़ा निवासी सत्तूडी पत्नी पप्पू  कंजर व हजारी पुत्र  कालू बैरवा की वहीं मौत हो गई। वहीं दलेल सिंह पुत्र लादू सिंह व सरदार पुत्र भैंरू भाट ने जिला अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इनके अलावा एक महिला सहित 5 अन्य का उपचार किया जा रहा है। 
 प्रारंभिक तौर पर सामने आया है कि यह इन लोगों ने जो शराब पी, वो जहरीली थी। इसी के चलते यह बड़ी घटना घटी है।  बता दें कि प्रदेश में जहरीली शराब का कहर लगातार बरप रहा है। पिछले पखवाड़े ही प्रदेश के भरतपुर जिले के रूपवास थाना इलाके के चकसामरी गांव में  जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मौत हो गई थी।  

इन दो ने घर पर ही तोड़ा दम 
पुलिस के अनुसार, सत्तूड़ी पत्नी पप्पू कंजर व हजारी पुत्र कालूलाल बैरवा की मौत इनके घरों पर सारण का खेड़ा में हो चुकी थी। दोनों के शव गांव से मांडलगढ़ सीएचसी ले जाये गये हैं। 

इनकी बिगड़ी हालत 
लादूसिंह (65)पुत्र मोतीसिंह राजपूत, भौमसिंह (45) पुत्र कानसिंह राजपूत, नीतू कंवर (60) पत्नी लादूसिंह राजपूत, मंजू (35) पत्नी गुल्ला कंजर , गुल्ला पुत्र रामचंद्र कंजर को हालत बिगडऩे से जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। 

कलेक्टर-एसपी ने पूछी कुशलक्षेम, पहुंचे सारण का खेड़ा
जहरीली शराब कांड की सूचना मिलते ही कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते और जिला पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा रात में ही जिला अस्पताल पहुंच गये। दोनों अधिकारियों ने अस्पताल में भर्ती मरिजों की कुशलक्षेम पूछी और चिकित्सा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। इसके बाद ये अधिकारी सारण का खेड़ा भी गये, जहां उन्होंने घटना की जानकारी ली। 
जिनके यहां बनी थी शराब, उनकी भी गई जान
पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने हलचल को बताया कि सारण का खेड़ा शराब कांड में चार लोगों की मौत हुई है और 5 की तबीयत बिगड़ गई। ये शराब खरीदने के बाद सेवन की गई थी। इस घटना में शराब खरीदकर पीने वालों के साथ ही बनाने वाले लोगों के परिवार में से भी एक की मौत हो गई है। 

शहर के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों में बेखौफ बैची जा रही है शराब
इधर शहर के साथ-साथ गांवों में बिक्री होने वाली अवैध देशी हथकढ़ शराब के प्रति लोगों में काफी रोष व्याप्त है । ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि ग्रामीण इलाके में अवैध हथकढ़ शराब की बिक्री काफी समय से हो रही है, जिसके खिलाफ  पुलिस-प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही कनहीं की गई।  जानकारी के मुताबिक शहर के आस-पास की कॉलोनियों व गांवों के साथ ही जिले के ग्रामीण इलाकों में अवैध हथकड़ शराब का गोरखधंधा चल रहा है।
  
 

 

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...